इस्लामाबाद - पाकिस्तान के गृह मंत्री अहसान इकबाल ने बुधवार को संयुक्त राज्य अमेरिका से कहा कि वह चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर (सीपीईसी) को भारत के नजरिए से न देखें। पाकिस्तान का यह बयान तब आया है जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खक्कान अब्बासी ने कहा कि भारत सीपीईसी के खिलाफ बेबुनियाद प्रचार कर रहा है।
अमेरिकी रक्षा सचिव जेम्स मैटिस ने पहले ही कहा था कि वन बेल्ट, वन रोड परियोजना एक विवादित क्षेत्र से गुजर रही है, जो शांति स्थापित करने की राह में रुकावट की तरह है। मैटिस ने कहा कि विश्व में इस प्रकार के कई बेल्ट और सड़क हैं, इसलिए कोई भी देश 'वन बेल्ट, वन रोड' की तानाशाही नहीं अपना सकता है।
इकबाल ने वाशिंगटन से आग्रह किया कि वह अन्य राज्यों और अन्य मुद्दों पर बहस करने के बजाए इस्लामाबाद पर अपने तरीके से डील करे। सीपीईसी को लेकर इकबाल ने कहा, " यह परियोजना किसी के खिलाफ साजिश नहीं है, यह आर्थिक समृद्धि की एक योजना है।"
बता दें कि चीन 2013 में वन बेल्ट वन रोड (ओबीओआर) के साथ सामने आया था। इस परियोजना में रेलवे, सड़कों और पाइपलाइनों का एक नेटवर्क शामिल है जो चीन के झिंजियांग प्रांत से पाकिस्तान के बंदरगाह शहर ग्वादर से से जुड़ जाएगा।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें