वाशिंगटन - अमेरिका ने गुरुवार को कर्नाटक में जन्मे इस्लामिक स्टेट (आईएस) ऑपरेटर मोहम्मद शफी अरमर और दो अन्य को विशेष रूप से वैश्विक आतंकवादी (ग्लोबल टेररिस्ट) घोषित कर दिया है और उनके खिलाफ वित्तीय प्रतिबंध भी लगा दिया है।
अमेरिका ने आतंकी अरमर, ओसामा अहमद अतार और मोहम्मद ईसा यूसुफ सकर अल बिनिलि पर प्रतिबंध लगाया है। इन तीनों की आतंकी गतिविधियों से अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा था।
अमेरिका के स्टेट डिपार्टमेंट ने यूएस ट्रेजरी डिपार्टमेंट के साथ मिलकर तीनों आईएस आतंकियों को ऑपरेटिव ऑफ फाइनेंस एसेट्स कंट्रोल की सूची में डाल दिया है। इसके तहत उनकी संपत्ति को ब्लॉक कर दिया गया और अमेरिकी नागरिकों को उनसे कोई संपर्क करने से मना कर दिया गया है।
स्टेट डिपार्टमेंट ने अरमर को भारत में आतंकियों की भर्ती करने वाले विदेशी आतंकवादी संगठन (एफटीओ) का लीडर बताया है। इतना ही नहीं उसे आईएसआईएस ग्लोबल टेररिस्ट भी मना है।
स्टेट डिपार्टमेंट ने कहा है कि अरमर भारत में कई दर्जन आईएसआईएस समर्थकों का समूह बनाया है जो पूरे भारत में आतंकवादी गतिविधियों में शामिल हैं, जैसे कि हमलों की साजिश रचने, हथियार खरीदने और आतंकवादी प्रशिक्षण शिविरों के लिए स्थानों की पहचान करता है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें