US पहुंचा परिवार के साथ बदसलूकी का मामला, प्रदर्शनकारियों ने कहा- चप्‍पल चोर पाकिस्‍तान

11 January 2018
Author 


न्यूयॉर्क (हम हिंदुस्तानी)-सोमवार को वॉशिंगटन डीसी में स्थि‍त पाकिस्तानी दूतावास के सामने भारतीय-अमेरिकी और बलूचों के एक समूह ने 'चप्पल चोर पाकिस्तान' का बैनर लेकर प्रदर्शन किया.पाकिस्तान में कुलभूषण जाधव के परिवार के साथ हुई बदसलूकी के बाद हो रहे विरोध की आग अमेरिका तक पहुंच गई है. अमेरिका में रह रहे भारतीय और बलूच लोगों ने प्रदर्शन किया. इस दौरान लोगों ने पाकिस्तान की गलत हरकत के विरोध में इस्तेमाल किए गए जूते भी दान किए. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि यह विरोध प्रदर्शन कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी के साथ हुए दुर्व्यवहार के विरोध में है.पाकिस्तान के पास खुद के पास पहनने के लिए चप्पल भी नहीं है इसलिए उसने कुलभूषण जाधव की पत्नी और मां के चप्पल भी ले लिया है.

पाकिस्तान का मतलब है अमेरिका से डॉलर कमाना, और हिंदूस्तान से जूते खाना. कुलभूषण परिवार के साथ जो व्यवहार हुआ है उससे पाकिस्तान की संकीर्ण मानसिकता का पता चलता है. इस दौरान प्रदर्शनकारी पाकिस्‍तान को देने के लिए चप्‍पल लेकर भी आए. प्रदर्शनकारियों ने कहा कि उन्‍होंने कुलभूषण जाधव की पत्‍नी की चप्‍प तब चुराई जब वह संकट में थी.
प्रदर्शनकारी ने कहा कि मुझे उम्‍मीद है कि ये इन चप्‍पलों का भी इस्‍तेमाल करेंगे. उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान का मतलब क्‍या है? अमेरिका से डॉलर ले, हिन्‍दुस्‍तान के जूते खा. इस दौरान लोगों ने पाकिस्तान की गलत हरकत के विरोध में इस्तेमाल किए गए जूते भी दान किए. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि यह विरोध प्रदर्शन कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी के साथ हुए दुर्व्यवहार के विरोध में है. कुलभूषण परिवार के साथ जो व्यवहार हुआ है उससे पाकिस्तान की संकीर्ण मानसिकता का पता चलता है.

145 VIEWS
Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें