Editor

Editor

बिग बॉस के घर में मोस्ट एंटरटेनिंग कंटेस्टेंट से मशहूर हुई आवाम की जान अर्शी खान की किस्मत के दरवाज़े खुल गए है। खबरों की माने तो अर्शी को ‘बाहुबली’ फेम प्रभास की फिल्म हाथ लगी है। इस बात की जानकारी उन्होंने ट्वीट करके दी है। अर्शी ने इस ट्वीट में सलमान खान, बिग बॉस और कलर चैनल को धन्यवाद बोला है। अब तक फिल्म में उनका रोल क्या होने वाला है इसके बारे में कुछ पता नहीं चला है लेकिन कुछ दिनों बॉलीवुडलाइफ के साथ हुई मुलाकात में उन्होंने बताया था कि वो साउथ की फिल्मों में काम करना चाहती है। लगता है अब उनका यह सपना पूरा हो चूका है।इतना ही नहीं कुछ दिनों पहले यह खबर आई थी कि बिग बॉस के बाद उन्हें एक और रियलिटी शो हाथ लगा है। ख़बरों की माने तो वो बहुत खतरों के खिलाड़ी में नज़र आ सकती है। जिसके लिए वो काफी मेहनत भी कर रही है। उन्होंने हाल ही में स्विमिंग क्लासेस ज्वाइन किया है। वहीं , ख़बरों की माने तो कलर्स ने अर्शी के साथ दो साल का कॉन्ट्रैक्ट भी साइन किया है। बिग बॉस के शो से बाहर आने के बाद वो ‘एंटरटेनमेंट की रात’ का हिस्सा बनी थी।अर्शी, बिग बॉस में एक ऐसी कंटेस्टेंटेंट थी जिसका अंदाज़ दर्शकों को खूब भाया। शिल्पा शिंदे और आकाश डडलानी के साथ उनकी दोस्ती ने खूब सुर्खियाँ बटोरी। शुरूआती दिनों में अर्शी बिग बॉस के घर में सबके साथ लड़ाईयां करती नज़र आई लेकिन बाद में उन्होंने अपनी इमेग को काफी बदल दिया। अर्शी का जाना दर्शकों के लिए काफी शॉकिंग भरा था। अर्शी की माने तो वो टॉप 4 का हिस्सा होती लेकिन खराब किस्मत के कारण अर्शी इस गेम से बाहर हो गयी।

तैमूर अली खान के बारे में आपने कई सारी खबरें पढ़ी होंगी लेकिन आज हम आपको जो खबर बताने जा रहे हैं, उसे जानकर आप दंग रह जायेंगे। आपको समझ नहीं आयेगा कि इस खबर को पढ़ने के बाद आप क्या प्रतिक्रिया दें ? असल में तैमूर अली खान अब धीरे-धीरे बड़े हो रहे हैं और उम्र के साथ-साथ उनकी शैतनियां भी बढ़ती जा रही हैं। जिस कारण तैमूर के पापा और बॉलीवुड के छोटे नवाब सैफ अली खान परेशान रहने लगे हैं। सैफ अली खान की परेशानी का आलम आजकल यह है कि वो तैमूर को अपने साथ कहीं ले लेकर जाने से भी डरते हैं।सैफ की परेशानी तब और भी बढ़ जाती है जब तैमूर अपनी बुआ सोहा अली खान की छोटी सी बेटी इनाया के आसपास होते हैं। सोहा अली खान ने मीडिया से बात करते हुए तैमूर की शैतानियों पर कहा है कि, ‘तैमूर इस समय उस उम्र में है, जिसमें वो हर एक चीज के बारे में जानना चाहता है। अब वो किसी चीज के अच्छी तरह से पकड़ने भी लगा है। वो अब चीजों को छीनने लगा है और उनको फेंक भी देता है। इनाया अभी काफी छोटी हैं और हम लोगों को हमेशा यह डर सताता रहता है कि तैमूर उसके पास न पहुंच जाये। खास करके भाई (सैफ) तब बहुत परेशान हो जाते हैं जब तैमूर इनाया के करीब जाने की कोशिश करता है।’वैसे तैमूर जिस उम्र में हैं, उसमें हम उनको यह दोष नहीं दे सकते है कि वो गलत कर रहे हैं। छोटे से बच्चे को क्या पता कि क्या गलत है और क्या सही ? ऐसे में पापा सैफ का परेशान होना लाजमी है।जब सोहा से पूछा गया कि तैमूर की वजह से इनाया की परवरिश में उन्हें कितनी मदद हो रही है क्योंकि तैमूर, इनाया से कुछ महीने बड़े हैं ? तो सोहा अली खान ने बताया, ‘जी हां, तैमूर और इनाया में कुछ महीनों का अंतर है। जिसकी वजह से हमें इनाया की परवरिश में काफी मदद हो जाती है। भाई और करीना वक्त-वक्त पर मुझे और काल को काफी अच्छे सुझाव देते रहते हैं।’

रेडी’ और ‘गजिनी’ जैसी सुपरहिट फिल्मों में काम कर चुकी असिन थोट्टुमकल ने कुछ दिनों ने एक बेटी को जन्म दिया था। उन्होंने ट्विटर पर यह गुड न्यूज़ देकर सबको चौका दिया था। उन्होंने अपनी प्रेगनेंसी की खबर मीडिया से छिपाई थी। इतना ही नहीं अपनी बेटी को जन्म देने के बाद यह खबर सोशल मीडिया पर वायरल हुई। अब उन्होंने अपनी बेटी की तस्वीर को सोशल मीडिया पर शेयर किया है। हालांकि, तस्वीर में बेटी का चेहरा तो नज़र नहीं आया लेकिन उनकी बेटी के छोटे नन्हे पांव ज़रूर नज़र आये है। बता दें कि असिन ने तीन साल पहले मोबाइल कंपनी माइक्रोमैक्स के को-फाउंडर राहुल शर्मा से शादी की थी। हिंदू और क्रिश्‍चन रीति रिवाज से शादी के बंधन में बंधने के बाद असिन ने फिल्म इंडस्ट्री से दूरी बना ली थी।बता दें असिन ने अपने इंस्‍टाग्राम अकाउंट पर अपनी बेटी की जन्म की खबर को साझा करते हुए अपने फैन्‍स को बताया है कि वह एक बेटी की मां बन गई हैं। असिन ने लिखा था कि , ‘यह बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि हमारे घर एक नन्‍हीं परी आई है। आप सब के प्‍यार और दुआओं के लिए शुक्रिया। वह मेरे जन्‍मदिन का सबसे प्‍यारा तोहफा है। ‘ बता दें कि उनकी बेटी के जन्‍मदिन के एक दिन बाद यानि 26 अक्‍टूबर को असिन का जन्‍मदिन भी है। आज असिन अपनी शादी की तीसरे साल में एंटर कर रही है। उनके लिए यह ख़ुशी काफी मायने रखती है।असिन और राहुल की मुलाकात अक्षय कुमार ने करवाई थी। इतना ही नहीं शादी के दिन अक्षय कुमार उनके बेस्ट मैन बने थे।

मध्य प्रदेश में 19 नगर पालिका और नगर परिषद अध्यक्ष पद पर हुए चुनावों के नतीजों ने कांग्रेस को थोड़ी राहत की सांस दी है। कुल 19 परिषदों में से 9 भाजपा को, 9 कांग्रेस को और शेष बची एक सीट निर्दलीय ने जीती है। शिवराज सिंह चौहान के रोड शो और जोर-शोर से प्रचार के बावजूद चुनाव नतीजों ने भाजपा के वर्चस्व को कमजोर कर दिया।बीजेपी के कब्जे वाली धार, मनावर, सरदारपुर, धरमपुरी, खेतिया, अंजड़ निकाय को कांग्रेस ने छीन ली। वहीं, कांग्रेस के कब्जे वाली कुक्षी, डही, पीथमपुर, राजपुर और ओंकारेश्वर सीट बीजेपी ने छीनी और जीत हासिल की।यहां मतदान 17 जनवरी को हुआ था। नगरपालिका परिषद और नगर परिषद चुनाव में 69.08 फीसदी वोटिंग हुई थी।
राघौगढ़ में कुल 24 वार्ड में से 20 पर जीती कांग्रेस:-मध्यप्रदेश के गुना जिले की राघौगढ़ नगरपालिका सीट से कांग्रेस की प्रत्याशी आरती शर्मा ने जीत हासिल कर ली। यह वही सीट है, जिस पर पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह ने करीब 50 साल पहले कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर नगरपालिका में अध्यक्ष पद जीत हासिल कर अपने राजनैतिक जीवन की शुरुआत की थी।मुख्य जिला निवार्चन अधिकारी राजेश जैन ने बताया कि कांग्रेस की अध्यक्ष पद की प्रत्याशी आरती महेंद्र शर्मा ने पांच हजार 672 वोटों से विजय हासिल की है। कांग्रेस की आरती शर्मा को 17 हजार 613 वोट मिले, वहीं भारतीय जनता पार्टी प्रत्याशी मायादेवी अग्रवाल को 12 हजार 32 वोट मिले। निर्दलीय प्रत्याशी ऋतु भार्गव ने 780 एवं शमीम बानो ने 313 वोट हासिल किए। राघौगढ़ नगरपालिका के कुल 24 वार्ड में से 20 में पार्षद पद पर कांग्रेस के प्रत्याशी विजयी रहे, जबकि चार में भाजपा के पार्षद चुने गए।
अकोड़ा में जनता ने अध्यक्ष पर जताया भरोसा:-मध्यप्रदेश के भिण्ड जिले की अकोड़ा नगर परिषद में अध्यक्ष को वापस बुलाने के लिए हुए मतदान में मतदाताओं ने वर्तमान अध्यक्ष बहुजन समाज पाटीर् (बसपा) की संगीता यादव पर फिर से भरोसा जताया है। कुछ दिन पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सुश्री यादव के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित किया था। इसके बाद खाली कुसीर् और भरी कुसीर् के लिए मतदान हुआ था। आज इसका परिणाम घोषित हुआ तो संगीता यादव को 676 वोटों से जीत हासिल हुई।बसपा की सुश्री यादव को कांग्रेस का समर्थन भी हासिल था।

पद के लाभ (ऑफिस ऑफ प्रोफिट) मामले में चुनाव आयोग की तरफ से आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य घोषित करने की सिफारिश के फैसले को दिल्ली सरकार ने असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक फैसला बताया है।शनिवार को मीडिया के सामने इस मुद्दे पर आये दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि इस मामले में चुनाव आयोग ने एकतरफा फैसला लिया है। चुनाव आयोग ने इस तरह की सिफारिश करने से पहले ना ही उन विधायकों की बातें सुनी और ना ही गवाही करायी गई।सिसोदिया ने कहा कि वह इस मामले में राष्ट्रपति से समय की मांग कर रहे हैं ताकि उनसे गुजारिश करेंगे कि विधायकों की बातें सुने और उसके बाद ही विधायकों की सदस्यता पर अपना कोई फैसला लें। सिसोदिया ने केन्द्र की सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाया है कि वह पिछले तीन के दौरान दिल्ली सरकार की तरफ से किए गए विकास कार्यों से डर गई है। उधर, विधायकों की सदस्यता के मामले पर शनिवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर में बैठक बुलायी गई। इस बैठक में उन सभी 20 विधायकों को मौजूद करने को कहा गया था। गौरतलब है कि शुक्रवार को चुनाव आयोग ने लाभ के पद पर रहने के आरोप में दिल्ली विधानसभा में आप के 20 विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया। आयोग ने अपनी सिफारिश मंजूरी के लिए राष्ट्रपति को भेज दी। अब यदि राष्ट्रपति सिफारिशों को स्वीकार करते हैं तो दिल्ली एक छोटा विधानसभा चुनाव देख सकती है, जिसमें 70 सदस्यीय सदन की 20 सीटों पर चुनाव होगा।

स्पेशल सीबीआई जज बीएच लोया की 2014 में हुई मौत को लेकर दायर की गई जनहित याचिकाओं पर अब सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अगुवाई वाली बेंच सुनवाई करेगी। इस केस में दायर दो जनहित याचिकाओं में जज लोया की स्वतंत्र जांच की मांग की गई है।जज लोया केस के चलते सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ मीडिया में जाकर उनकी आलोचना करते हुए संवेदनशील केसों को जूनियर जजों को देने का आरोप लगाया था। जज लोया की मौत 1 दिसंबर 2014 को नागपुर में हुई। उस वक्त वे सोहराबुद्दीन शेख फर्जी एनकाउंटर केस की सुनवाई कर रहे थे। वर्तमान भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह का इस केस में नाम था, जिन्हें उसी साल दिसंबर के आखिर में अदालत ने बरी कर दिया।सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री की तरफ से शनिवार को जारी रिलीज में बताया गया कि प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के अलावा इस केस में एएम खांडविल्कर, डीवाई चंद्रचूड़ भी बेंच में शामिल होंगे।इस केस में ट्विस्ट सुप्रीम कोर्ट के चार सीनियर जजों के प्रेस कॉन्फ्रेंस के चार दिन बाद तब आया जब जस्टिस अरूण मिश्रा और जस्टिस एमएम शांतागौदार ने ये कहा कि जस्टिस लोया केस की सुनवाई किसी योग्य बेंच में की जानी चाहिए। जिसके बाद यह कयास लगाए जाने लगे थे कि जस्टिस अरूण मिश्रा ने इस केस से अपना हाथ पीछे खींच लिया।शुक्रवार को प्रधान न्यायाधीश ने अपने आदेश में कहा था कि इस मामले को किसी योग्य बेंच को सौंपा जाएगा। लेकिन बात पर संशय बरकरार था कि इसकी सुनवाई कौन करेगा। याचिकाकर्ता तहसीन पूनावाला और मुंबई के पत्रकार बीआर लोन के वकीलों ने इसे प्रधान न्यायाधीश के सामने रखा। लोन की वकील अनिता शिनोय ने बताया कि वह प्रधान न्यायाधीश के कोर्ट में गयी और उनसे इस केस में आखिरी आदेश के लिए सुनवाई करने की तारीख की मांग की।शिनोय ने बताया कि 16 जनवरी को जस्टिस अरूण मिश्रा ने कहा था कि इस केस को किसी योग्य बेंच के पास एक हफ्ते के बाद सुनवाई करना चाहिए। इसलिए चीफ जस्टिस को लिखा गया थी ऐसे में उन्होंने कहा कि स केस को रोस्टर के हिसाब से बेंच सुनवाई करेगी। सीबीआई जज बीएच लोया की मौत की स्वतंत्र जांच को लेकर दो पीआईएल दायर की गई थी। ये पीआईएल मूलत: जस्टिस अरूण मिश्रा की अध्यक्षता वाली बेंच के सामने लिस्टेड थी।

चुनाव आयोग ने लाभ के पद पर रहने के आरोप में दिल्ली विधानसभा में आम आदमी पार्टी (आप) के 20 विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया है। आयोग ने अपनी सिफारिश मंजूरी के लिए राष्ट्रपति को भेज दी है। अब यदि राष्ट्रपति सिफारिशों को स्वीकार करते हैं तो दिल्ली एक छोटा विधानसभा चुनाव देख सकती है, जिसमें 70 सदस्यीय सदन की 20 सीटों पर चुनाव होगा। आपको बता दें कि आप विधायकों के खिलाफ राष्ट्रपति के पास युवा वकील प्रशांत पटेल ने अर्जी डाली थी। 30 साल के प्रशांत ने साल 2015 में वकालत शुरु की थी। सितंबर 2015 में उन्होंने तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के सामने याचिका दायर कर संसदीय सचिवों की गैरकानूनी नियुक्ति पर सवाल खड़े किए थे।प्रशांत पटेल ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से बीएससी के बाद नोएडा के एक कॉलेज से एलएलबी की है। वह इसके पहले बॉलीवुड एक्टर आमिर खान और डायरेक्टर राजकुमार हिरानी के खिलाफ भी फिल्म PK में हिंदू देवी देवताओं का गलत चित्रण करने को लेकर एफआईआर दर्ज करा चुके हैं। पटेल उत्तर प्रदेश के फतेहपुर के रहने वाले हैं।
आप विधायकों को पक्ष रखने का पूरा मौका दिया गया-पटेल:-चुनाव आयोग के फैसले के बाद पटेल ने आप विधायकों के उन आरोपों बेबुनियाद बताया है है जिसमें कहा गया है कि फैसला देने से पहले उन्हें पक्ष रखने का मौका नहीं दिया गया। पटेल ने बताया कि 14 जुलाई, 2016 से 27 मार्च, 2017 तक इस मामले में कुल 11 सुनवाई हुई। उन्होंने कहा कि सभी सुनवाई ढाई से तीन घंटे की हुई। पटेल ने कहा कि ऐसे में आप विधायकों द्वारा यह कहना कि आयोग में पक्ष रखने का उन्हें मौका नहीं दिया गया, यह काफी हास्यास्पद है। शिकायतकर्ता पटेल ने कहा कि लाभ के पद मामले में सभी 21 विधायक अपने वकीलों के माध्यम से आयोग में पक्ष रख चुके हैं। आयोग ने उन्हें मौखिक व लिखित में पक्ष रखने का भरपूर मौका दिया।पटेल ने आम आदमी पार्टी के उन आरोपों को भी आधारहीन बताया जिसमें कहा गया कि संसदीय सचिव बने विधायकों को एक रुपये भी नगद पैसे नहीं दिए गए, ऐसे में यह लाभ का पद नहीं है। इस बारे में प्रशांत पटेल ने कहा कि सीधे तौर पर पैसे लेना ही लाभ का पद नहीं है। उन्होंने कहा कि संसदीय सचिव बनने के बाद इन विधायकों ने सरकारी फाइलों को देखा और इस आधार पर निजी कंपनियों को टेंडर भी जारी किए। प्रशांत ने कहा कि इस बार में दिल्ली सरकार के ही मुख्य सचिव ने आयोग में 1200 पन्नों का दस्तावेज पेश किया। जिसमें यह बताया गया कि कौन से संसदीय सचिव ने किन फाइलों का मुआयना किया और ठेका जारी किया। जबकि उनको अधिकार नहीं है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद कई क्षेत्रों में अपनी पहचान बनाने वाली 112 महिलाओं को आज सम्मानित कर रहे हैं। इनमें पीटी ऊषा, पी वी सिंधु, सानिया मिर्जा, ऐश्वर्या राय, किरण मजूमदार शॉ जैसी दिग्गज महिलाओं का नाम शामिल हैं। ‘‘फर्स्ट लेडीज’’ नाम की इस पहल में रक्षा बलों, विज्ञान, खेल, उद्योग, मनोरंजन और हॉस्पिटेलिटी जैसे क्षेत्रों से महिलाएं शामिल हैं। इनमें वो महिलाएं भी शामिल हैं जिन्होंने कई तरह की रूढ़ियों को तोड़कर अपनी पहचान बनाई। इनमें मंजू (कूली), छवि रजावत (गांव की सरपंच), हर्षिनी कन्हेकर (पहली महिला दमकल कर्मी), सुनालिनी मेनन (एशिया की पहली पेशेवेर महिला कॉफी-टेस्टर) और शतभी बसु (भारत की पहली महिला बार टेंडर) शामिल हैं।पद्मश्री सुनील डबास को भी पहली महिला का खिताब मिलेगा। राष्ट्रपति भवन में देशभर की 112 महिलाओं के साथ उन्हें यह सम्मान दिया जाएगा। उनका चयन कबड्डी की पहली महिला कोच होने की उपलब्धि पर दिया जा रहा है। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की ओर से विभिन्न क्षेत्रों में देश का नाम रोशन करने वाली महिलाओं को यह खिताब दिया जाएगा। उनके अलावा मंजू यादव भी उन 112 महिलाओं में से एक हैं जिन्हें आज सम्मानित किया जाएगा। वो पेशे से कुली हैं

हरियाणा के यमुनानगर में एक चौंकाने वाली वारदात सामने आई है। यहां के विवेकानंद स्कूल में 12वीं क्लास के एक छात्र ने प्रिंसिपल की गोली मारकर हत्या कर दी है। एसपी राजेश कालिया ने बताया कि आरोपी छात्र को गिरफ्तार कर लिया गया है।बताया जा रहा है कि गोलियां छात्र ने अपने पिता की लाइसेंसी रिवॉल्वर से मारी।खबरों के मुताबिक स्‍कूल की प्रिंसिपल रीतू छाबड़ा को गोली मारने वाला छात्र कॉमर्स साइड का छात्र है। वह प्रिंसिपल की डांट से बहुत नाराज था।घटना दोपहर के करीब हुई जब आरोपी छात्र अपने पिता की लाइसेंसी रिवाल्वर लेकर प्रिंसिपल रितु छाबड़ा के कमरे में पहुंचा और उन पर पास से तीन गोलियां दाग दीं जो उन्हें छाती और टांग पर लगीं। गम्भीर रूप से घायल प्रिंसिपल को तत्काल पास के एक अस्पताल में ले जाया गया जहां उन्होंने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।हमलावर छात्र ने वारदात के बाद फरार होने का प्रयास किया लेकिन उसे स्कूल स्टॉफ और आसपास के लोगों ने दबोच लिया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक राजेश कालिया और सिटी थाना पुलिस मौके पर पहुंची और छात्र को उसके हवाले कर दिया गया।बताया जाता है कि छात्र को स्कूल ने उसकी कम हाजिरी और उसके झगड़ालु रवैये के कारण हाल ही में स्कूल से निकाल दिया था।कालिया ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस घटना में हत्या का मामला दर्ज किया गया है। इसके अलावा छात्र के पिता के खिलाफ भी शस्त्र कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है।

 

 

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद के बेलडांग में शनिवार को कोहरे के कारण एक सड़क हादसा हो गया। मुर्शिदाबाद के आमतल्ला बेलडांगा सड़कमार्ग पर कोहरे के कारण यात्रियों से भरी हुई एक बस तलाब में जा गिरी। इस हादसे में 7 लोगों की मौत और 20 लोगों के घायल होने की पुष्टि हुई है। तलाब में बस के गिरने के बाद आस-पास के लोगों ने पुलिस को इसकी जानकारी दी। फिलहाल गंभीर रुप से घायल लोगों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस जब तक घटनास्थल पर पहुंचती, उससे पहले ही स्थानीय लोगों ने तलाब से लोगों को निकालना शुरू कर दिया था। स्थानीय लोगों ने पुलिस अधिकारियों के साथ मिलकर बस की खिड़की और दरवाजे तोड़कर लोगों को बाहर निकाला। अनुमान लगाया जा रहा है कि, मृतकों की संख्या में इजाफा हो सकता है।मृतकों के शव और घायलों को तालाब से निकालने के बाद पुलिस के प्रशासनिक अधिकारियों ने क्रेन की मदद से बस को बाहर निकाला। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि, यात्रियों से भरी बस शनिवार की सुबह मुर्शिदाबाद के आमतल्ला बेलडांगा सड़कमार्ग से जा रही थी। रास्ते में कोहरा ज्यादा होने के कारण ड्राइवर को आगे का रास्ता नहीं दिखाई दिया और उसने अपना नियंत्रण खो दिया और बस तलाब में जा गिरी।

Page 9 of 2163

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें