मुस्लमानों को पाकिस्तानी कहने वालो को हो सजा : जुनैद काजी

08 February 2018
Author 


*एस.सी. /एस.टी. एक्ट जैसा बने कानून
न्यूयॉर्क (हम हिन्दुस्तानी)- इंडियन नैशनल ओवरसीज कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और हाल ही में पी.एम. नरेंद्र मोदी के 'सबका साथ सबका विकास' से प्रभावित हुए जुनैद काजी ने भारतीय मुस्लमानों पर पाकिस्तान का नाम लेकर उन्हें अपमानित किए जाने पर सख्त आपत्ति जताते हुए कहा है कि अब मुस्लमानो को पाकिस्तान का नाम लेकर अपमानित करने का फैशन सा बन गया है। उन्होंने कहा भारत में पैदा हुए किसी भी मुसलमान को पाकिस्तानी कहना न सिर्फ उसके आत्म सम्मान को ठेस पहुंचाना है बल्कि उसकी कई पीढिय़ों की देशभक्ति पर सवाल खड़े करने जैसा है। जुनैद काजी ने कहा कि देश में कुछ लोग पाकिस्तान का प्रचार करने के लिए बार-बार लोग मुस्लमानों को पाकिस्तानी कहकर अपमानित करते हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय मुस्लमान को पाकिस्तानी कहने वालों के खिलाफ अब तक किसी सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की है। श्री काजी ने कहा कि यदि कोई भी नेता या अधिकारी किसी भी मुस्लमान को बिना किसी ठोस सबूत और आधार के पाकिस्तानी कैसे कह सकते हैं। उन्होंने कहा कि एस.सी./एस.टी. एक्ट की तरह एक ऐसा कानून भी बनना चाहिए जिसमें यदि कोई किसी मुस्लमान के लिए पाकिस्तानी शब्द का इस्तेमाल करे या उसे पाकिस्तान जाने की सलाह दे तो उसके खिलाफ मुकद्दमा दर्ज कर उसे जेल भेजा जा सके। श्री काजी ने कहा कि हमारा संविधान यह हक किसी को नहीं देता कि कोई भी नेता या अन्य कोई किसी भी मुसलमान को पाकिस्तानी या मुस्लमानों को पाकिस्तान जाने के लिए कह सके। इसके बावजूद मुस्लमानों पर पाकिस्तान का नाम लेकर दबाव बनाने की कोशिशें होती रही हैं लेकिन अब इसका अंत होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पहले मुस्लमानों की तरह अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों के साथ भी जाति सूचक शब्दों का इस्तेमाल करके उन्हें अपमानित किया जाता था लेकिन अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निरोधक) अधिनियम, 1989 अमल में आने के बाद ऐसे मामलो में तेजी से गिरावट आई है। श्री काजी ने कहा कि अब मुस्लमानों के हितों के संरक्षण के लिए भी ऐसे ही एक कानून की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि वे जल्दी ही इस मामले में कानून बनाए जाने के लिए बड़े स्तर पर मुहिम शुरू करेंगे। श्री काजी ने भारत के मुस्लिम बुद्धजीवियों को इस मुहिम को आगे बढ़ाने व आगे आने की अपील करते हुए कहा कि वे मुस्लमानों के हितों के संरक्षण के लिए कानून बनाने की मांग को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पी.एम. नरेंद्र मोदी तथा सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखेंगे ।

जुनैद काजी द्वारा उठाए गए मुद्दे के समर्थन में आए ओवैसी, संसद में उठाया मुद्दा
इंडियन नैशनल ओवरसीज कांग्रेस (यू.एस.ए.) के पूर्व अध्यक्ष जुनैद काजी द्वारा भारतीय मुस्लमानों को पाकिस्तानी कहने वालों को सजा दिलाने के लिए एस सी/एसटी एक्ट की तर्ज पर कानून बनाने की मांग को आगे बढ़ाते हुए ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (ए.आई.एम.आई.एम.) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने संसद में यह मुद्दा उठाया। बता दें कि सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने श्री काजी की मांग को संसद में उठाते हुए कहा कि केंद्र सरकार को ऐसा कानून लाए जिसमें भारतीय मुस्लमान को पाकिस्तानी कहे जाने पर 3 साल की सजा का प्रावधान हो।

101 VIEWS
Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें