टोरंटो। नमक हमारे भोजन का स्वाद बढ़ाने का काम करता है। भोजन में अगर नमक न हो, तो इसका स्वाद फीका लगने लगता है। हलक से नीचे ही नहीं उतरता। लेकिन, सवाल यह है कि दिन भर में कितना नमक हमारे लिए जरूरी होता है। ज्यादा नमक न केवल मुंह का स्वाद बिगाड़ता है, बल्कि सेहत के लिहाज से भी इसे सही नही ठहराया जा सकता। इसलिए आपको इस बात की जानकारी होना बहुत जरूरी है कि कितना नमक है आपके लिए जरूरी।भारत समेत 18 देशों में किए गए एक अध्ययन में पाया गया है कि रोजाना पांच ग्राम तक नमक खाना हृदय के लिए सुरक्षित हो सकता है। इससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा नहीं बढ़ता है। कनाडा की मैकमास्टर यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अनुसार, नमक में मौजूद सोडियम से सेहत को होने वाले किसी भी खतरे को फलों, सब्जियों, दुग्ध उत्पादों, आलू और पोटेशियम से भरपूर अन्य खाद्य पदार्थो के सेवन से खत्म किया जा सकता है।यह निष्कर्ष 18 देशों में 35 से 70 साल के 94 हजार लोगों पर किए गए अध्ययन के आधार पर निकाला गया है। इसमें यह पाया गया कि पांच ग्राम से ज्यादा सोडियम खाने की सूरत में ही हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा बढ़ सकता है।अध्ययन से पता चला कि चीन इकलौता ऐसा देश है जहां करीब 80 फीसद लोग रोजाना पांच ग्राम से ज्यादा नमक खाते हैं। बाकी देशों में ज्यादातर लोग तीन से पांच ग्राम नमक का सेवन करते हैं। मैकमास्टर के शोधकर्ता एंड्रयू मेंट ने कहा कि डब्ल्यूएचओ दो ग्राम से कम सोडियम खाने की सलाह देता है।
अधिक नमक के नुकसान
हाइपरटेंशन की समस्‍या:-अधिक नमक खाने से हाइपर टेंशन और हाई ब्लड प्रेशर हो जाता है। लगातार हाइपर टेंशन के बने रहने से हृदय रोग, स्ट्रोक और किडनी की बीमारियां होने की आशंका बढ़ जाती हैं।
मोटापे का बढ़ना:-ज्यादा नमक खाने से रक्त में आयरन की मात्रा कम हो जाने से पेट में एसिडिटी बढ़ जाती है। इससे भूख नहीं लगने पर भी भूख का एहसास होता है। जिससे ज्यादा कैलोरी शरीर में जाती है और हम मोटापे का शिकार हो जाते है।
पेट का कैंसर;-नमक में मौजूद सोडियम अधिक मात्रा में शरीर में जाने से पेट का कैंसर होने की आशंका काफी बढ़ जाती है। सेहतमंद रहने के लिए जरूरी है कि नमक का सेवन कम करें।
ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा;-खाने में नमक की अधिकता से टखने में सूजन और मोटापे की समस्या बढ़ती है। इसके कारण हड्डियां पतली होने लगती हैं, जिससे ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा भी बढ़ जाता है

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें