जयपुर - लव जिहाद का मुद्दा समय-समय पर गरमाता रहा है। इसी से जुड़ा एक प्रकरण बुधवार को राजस्थान के राजसमंद में सामने आया। इस प्रकरण में एक व्यक्ति की बड़ी बेरहमी से हत्या कर शव को जला दिया गया। चौंकाने वाली बात यह है कि हत्यारे ने हत्या कर शव जलाते हुए मोबाइल से वीडियो भी बनवाया और उसे वायरल कर दिया। मामले में डीजीपी ओपी गल्होत्रा ने बताया कि आरोपी के खिलाफ हत्या की धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। जांच के साथ और भी गंभीर धाराएं जोड़ी जाएंगी। उन्होंने कहा कि यह जघन्य अपराध है, यकीन नहीं होता कि एक इंसान इस तरह की वारदात को अंजाम दे सकता है।
घटना बुधवार दिन की है, लेकिन रात में इस घटना का वीडिया वायरल होने के बाद गुरुवार सुबह से ही राजसमंद सहित आसपास के क्षेत्रों में तनाव फैल गया। तनाव को देखते हुए प्रशासन ने जिले में इंटरनेट सेवा पर रोक लगाने के साथ ही भारी पुलिस बल तैनात किया है। आसपास के चार जिलों की पुलिस को राजसमंद जिले के विभिन्न क्षेत्रों में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए तैनात किया गया है।
राज्य के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने इस मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर शीघ्र जांच के लिए कहा है। गृहमंत्री ने गुरुवार सुबह इस मामले में पुलिस एवं प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक ली। पुलिस महानिदेशक ओ.पी. गहलोत्रा के अनुसार वीडियो सामने आने के बाद पुलिस ने राजसमंद के ही रैगर मोहल्ला निवासी आरोपी शंभुदयाल रैगर को गुरुवार 9:30 बजे कैलावा पुलिस थाना क्षेत्र में गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने हत्या कर शव को जलाने की बात को स्वीकार किया है।
पुलिस ने इस मामले में शंभुदयाल रैगर का सहयोग करने के आरोप में दो संदिग्धों को भी पकड़ा है। पुलिस के अनुसार दोनों संदिग्धों में से एक व्यक्ति ने वीडियो बनाया और दूसरे ने उसे अपने घर में शरण दी। कुछ अन्य लोगों से भी पूछताछ की जा रही है। परिजनों ने आरोपी शंभुदयाल को मानसिक रोगी बताया है। पुलिस ने मनोचिकित्सक को बुलाकर उसकी जांच करवाई है।
जिला पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार चौधरी के अनुसार हत्या का आरोपी शंभुदयाल रैगर से हुई पूछताछ में सामने आया कि वह पश्चिम बंगाल के मालदा जिला निवासी 50 वर्षीय मजदूर अफराजुल उर्फ भुट्टू को दोस्ती का हवाला देकर एक खेत में ले गया और फिर कुल्हाड़ी से वार कर उसकी हत्या कर दी। शंभुदयाल ने मृतक अफरजुल पर कुल्हाड़ी से लगातार कई वार किए, जिससे उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया। हत्या के बाद आरोपी ने अफराजुल के शव पर पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी। शव को अधजला छोड़कर वह मौके से फरार हो गया। मौके से शव के पास ही कुल्हाड़ी, पेट्रोल की खाली बोतल और एक बाइक बरामद की गई।
रात भर चली तलाशी के बाद आरोपी को गुरुवार सुबह केलवा पुलिस थाना क्षेत्र में गिरफ्तार कर देलवाड़ा पुलिस थाने में लाकर पूछताछ के लिए रखा गया। आरोपी भवन निर्माण का ठेकेदार है, वहीं मृतक मजदूरी करता था। आरोपी ने पुलिस को बताया कि अफराजुल उसकी बहन पर गंदी नजर रखने के साथ ही अन्य महिलाओं को भी परेशान करता था, इसलिए उसकी हत्या की दी।
घटना के बारे में जानकारी मिलते ही गुरुवार को राजसमंद में तनाव के हालात उत्पन्न हो गए। तनाव को देखते हुए प्रशासन ने पूरे जिले में इंटरनेट पर रोक लगाने के साथ ही भारी पुलिस बल तैनात कर दिया। आसपास के चार जिलों से पुलिस बल मंगवाया गया है। पुलिस प्रथमदृष्टया इस मामले को आपसी रंजिश का मान रही है, लेकिन लव जिहाद से जुड़ा होने की संभावनाओं को लेकर भी जांच की जा रही है।
वीडियो और पत्र में लव जिहाद के खिलाफ बयानबाजी
अफराजुल की हत्या कर शव जलाने के पूरे घटनाक्रम का वीडियो बनाया गया। एक वीडियो स्वयं आरोपी शंभुदयाल द्वारा बनाया गया, वहीं दूसरा वीडियो एक अन्य मोबाइल से उसके साथी द्वारा बनाया गया। वीडियो में 8 से 10 साल की एक बच्ची भी दिखाई दे रही है। एक वीडियो में हत्या का शव जलाने का पूरा घटनाक्रम है, वहीं दूसरे वीडियो में शंभुदयाल लव जिहाद के खिलाफ लम्बी बयानबाजी करता दिखाया गया है। वह देशभक्ति की बातें भी करता है। वह कह रहा है कि बहन की बेइज्जती का बदला ले रहा है। शव के पास से तीन पेज का एक पत्र भी मिला है, जिसमें लव जिहाद के खिलाफ कई बातें लिखी गई है। अब पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि वीडियो में दिखाई दे रही बच्ची का इस हत्याकांड से क्या संबंध है और वीडियो क्यों वायरल किया गया।
मानवाधिकार आयोग ने रिपोर्ट मांगी
राजस्थान मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष जस्टिस प्रकाश टाटिया ने इस प्रकरण में राज्य के गृह सचिव एवं पुलिस महानिदेशक से रिपोर्ट मांगी है। आयोग का कहना है कि एक व्यक्ति की हत्या कर वीडियो सार्वजनिक होना बड़ा मामला है, इस पर पुलिस क्या कार्रवाई कर रही है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें