दिल्ली से आ रहे बिसवां, सीतापुर के भाजपा विधायक महेन्‍द्र यादव ने अपने समर्थकों के साथ बरेली में फतेहगंज पश्चिमी टोल प्लाजा पर जमकर गुंडई की। काफिला रोके जाने से नाराज कार्यकर्ताओं ने टोल कर्मचारियों से बदसलूकी की। उनके साथ मारपीट की।इसके बाद विधायक खुद मैदान में कूद पड़े और टोल कर्मचारियों को पीटा। विधायक ने किसी भी वाहन का टोल टैक्स नहीं देने दिया और पूरे काफिले के साथ धमकी देते हुए वहां से रवाना हो गए। पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई है। शिकायत के बाद भी पुलिस ने कार्रवाई नहीं की है। फतेहगंज पश्चिमी टोल प्लाजा पर विधायक की गुंडई का वीडियो 2 दिन बाद वायरल हो गया है। वीडियो वायरल होने के साथ ही पार्टी संगठन इस पर पर्दा डालने की कोशिश में जुट गया। टोल ब्रिज पर उत्पात मचाने वाले विधायक सीतापुर जिले के विसवां विधानसभा से विधायक महेंद्र सिंह यादव बताए जा रहे हैं। सीसीटीवी में जो रिकार्डिंग है, उसमें दिख रहा है कि विधायक अपने काफिले के साथ दिल्ली की तरफ से आ रहे थे। उनके साथ समर्थकों की गाड़ियां भी थीं। सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि टोल प्लाजा पर कर्मचारियों ने विधायक और उनके समर्थकों को रोका। उनसे टोल टैक्स मांगा। फुटेज में साफ तौर पर नजर आता है की टोल ब्रिज पर विधायक की गाड़ी गुजरने के बाद उनके साथ चल रहे काफिले के वाहनों को टोल कर्मचारी रोकते हैं।पहले विधायक के समर्थकों की टोल कर्मचारियों से कहासुनी होती है। इसके बाद टोल का बैरियर पार कर चुकी विधायक की गाड़ी से कुछ लोग उतरते हैं।
विधायक के दबाव में अफसर:-विधायक की गुंडई का वीडियो वायरल होने के बाद भी अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। पुलिस साफ तौर पर सत्ता के दबाव में दिख रही है। भाजपा की सरकार बनने के बाद सत्ता पक्ष के विधायक की खुलेआम गुंडई को एसएसपी, एसपी देहात समेत अन्य अफसर दबाने में जुटे हैं। जबकि फुटेज में साफ दिख रहा है कि टोल प्लाजा पर मारपीट, गुंडई हुई है।
पुलिस ने नहीं लिखा मुकदमा:-घटना की तहरीर थाने में देने के साथ ही आलाधिकारियों को भी सूचना दे दी गई है। इसके बाद भी अब तक कोई कार्रवाई नहीं होना पुलिस की मंशा पर सवाल खड़े कर रहा है। अधिकारियों ने मामले की जांच कराना तक उचित नहीं समझा। सरकार के बेहद करीबी माने जाने वाले जिले के आला अफसर ने तो मामला रफादफा करने के लिए दबाव तक बनाना शुरू कर दिया है।भाजपा के विधायक ने कर्मचारियों के साथ मारपीट की थी। जबरन गाड़ियां वहां से निकाली। टोल टैक्स तक नहीं दिया। इसकी शिकायत फतेहगंज पश्चिमी थाने में की गई है लेकिन अब तक मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है।-वैभव शर्मा, टोल टैक्स मैनेजर
जनप्रतिनिधि हूं, मुकदमे तो होते रहते हैं:-मैं दिल्ली से लौट रहा था। फतेहगंज पश्चिमी टोल प्लाजा पर कर्मचारी दबंगई कर रहे थे। उन्होंने मेरे साथ की गाड़ियों को रोक लिया। उन्हें निकलने नहीं दिया जा रहा था। मेरे गनर ने जाकर कर्मचारियों को बताया। इसके बावजूद वह गाड़ियों को रोके रहे और हंगामा कर अभद्रता करने लगे। काफी देर बाद मैं गाड़ी से उतर कर गया हूं। मैंने बैरियर हटाकर गाड़ियां निकाल दीं। मारपीट के आरोप गलत हैं। टोल प्लाजा वाले एफआईआर करवा रहें हैं तो करवाने दो। जनप्रतिनिधियों पर मुकदमे होते रहते हैं। -महेंद्र यादव, भाजपा विधायक, विसवां विधानसभा सीतापुर

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें