नई दिल्ली - विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है कि भारत उस 12 साल के बच्चे के माता-पिता को वीजा देने के लिए तैयार है जिसके बारे में माना जा रहा है कि वह पाकिस्तान का है। बीएसएफ ने इस साल मई महीने में इस लड़के को हिरासत में लिया था और उसे फरीदकोट के एक निगरानी में रखा गया था। सुषमा ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी।
नागरिकता की पुष्टि का इंतजार
कई ट्वीट्स में सुषमा ने लिखा और जानकारी दी कि भारत, पाकिस्तान द्वारा लड़के की नागरिकता की पुष्टि के इंतजार में है। पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार की एक प्रतिक्रिया ने सुषमा का ध्यान खींचा था। तरार ने कहा था कि पाकिस्तान के सियालकोट के पासुर क्षेत्र से हम्माद हसन कुछ महीने पहले लापता हुआ है। सुषमा ने कहा, फरीदकोट के निगरानी र में करीब 12 साल का एक बच्चा है। मई 2017 में बीएसएफ ने उसे हिरासत में लिया था। हम पाकिस्तान की तरफ से उसकी नागरिकता पुष्टि करने का इंतजार कर रहे हैं। सुषमा ने आगे लिखा, मेरी जानकारी यह कहती है कि मास्टर हम्माद हसन साल 2013 से लापता है और नाबालिग हमारे पास साल 2017 से है। मंत्री ने कहा कि अगर लड़के के माता-पिता को लगता है कि वह उनका बेटा है तो भारत उन्हें वीजा देने के लिए तैयार है और वह भारत आकर बच्चे से मिल सकते हैं।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें