नई दिल्ली - दिल्ली की तीस हजारी अदालत ने 2005 के कैश के बदले सवाल स्कैम में ग्यारह पूर्व सांसदों के खिलाफ घूस और आपराधिक षड्यंत्र के आरोप तय किए हैं। विशेष न्यायाधीश किरण बंसल ने सभी ग्यारह सांसद और एक शख्स को ट्रायल में भेज दिया है जिसकी सुनवाई 12 जनवरी से शुरु होगी।
ये सभी पूर्व सांसद हैं- वाईजी महाजन (भाजपा), छतरपाल सिंह लोढ़ा (भाजपा), अन्ना साहब एमके पाटिल (भाजपा), मनोज कुमार (आरजेडी), चन्द्र प्रताप सिंह (भाजपा), रामसेवक सिंह (कांग्रेस), नरेन्द्र कुमार कुशवाहा (बीएसपी), प्रदीप गांदी (बीजेपी), सुरेश चंदेल (भाजपा), लालचंद्र कॉल (बीएसपी) और राजा रामपाल (बीएसपी)।
एक स्टिंग ऑपरेशन उस समय तत्कालीन सांसद के खिलाफ दो पत्रकारों की तरफ से चलाया गया था और इसे एक प्राइवेट न्यूज़ चैनल पर 12 दिसंबर 2005 को प्रसारित किया गया। इस स्टिंग में संसद में सवाल पूछने के लिए पैसे लेते कैमरे पर दिखाया गया जिसे कैश फॉर क्वेरी स्कैम के नाम से जाना जाता है।

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें