कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड (सीएसएल) के परिसर में ओएनजीसी के एक पोत में मरम्मत के दौरान मंगलवार को हुए विस्फोट में पांच लोगों की मौत हो गई। शुरुआती रिपोर्ट के मुताबिक मारे गए लोग निविदा पर कार्य करने वाले कर्मचारी हैं।सीएसएल के एक प्रवक्ता ने बताया कि पोत के अंदर फंसे 11 लोगों को बचा लिया गया। उन्हें शहर के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। इनमें से तीन लोगों को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिनमें एक 40 फीसदी से अधिक झुलसा है और उसकी हालत गंभीर है।घटनास्थल पर पहुंचे कोच्चि के पुलिस आयुक्त एमपी दिनेश ने कहा, सागर भूषण नामक पोत में यह हादसा हुआ। पोत में फंसे लोगों को निकाल लिया गया है। अब स्थिति नियंत्रण में है। उन्होंने कहा, शुरुआती जानकारी के मुताबिक विस्फोट पोत के अगले हिस्से में मौजूद पानी की टंकी में हुई। यह घटना मंगलवार सुबह दस बजे की है, जब कर्मी नाश्ते के लिए पोत से उतरने वाले थे।सूत्रों ने बताया कि हादसे के वक्त कार्यरत सभी निविदा और दैनिक वेतन भोगी कर्मी थे। उन्होंने बताया कि हादसों की वजह के लिए विस्तृत जांच की आवश्यकता है। शुरुआती जांच के मुताबिक इन लोगों की मौत टैंकर में धुएं से दम घुटने की वजह से हुई।गौरतलब है कि कोचिन शिपयार्ड का परिचालन 1978 में शुरू हुआ था और देश में पोतों के मरम्मत का यह सबसे पुराना और प्रमुख केंद्र है।
गडकरी ने जताया शोक:-जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने कोच्चि शिपयार्ड में सागर भूषण पोत में मरम्मत के दौरान हुए विस्फोट और पांच लोगों की मौत पर गहरा शोक जताया है। उन्होंने ट्वीट किया, कोच्चि शिपयार्ड में विस्फोट के कारण लोगों की मृत्यु दुभार्ग्यपूर्ण है। पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। मैंने कोच्चि शिपयार्ड के महाप्रबंधक से फोन पर बात की और पीड़ितों को जरूरी चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने को कहा है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें