जम्मू - कठुआ के रसाना में आठ साल की बच्ची की दुष्कर्म के बाद निर्मम हत्या के मामले के तूल पकड़ने के बाद भाजपा मंत्रियों से इस्तीफे लेने की कार्रवाई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सीधे हस्तक्षेप के बाद हुई। भाजपा के दो कैबिनेट मंत्रियों चंद्र प्रकाश गंगा व चौधरी लाल सिंह ने शुक्रवार शाम को मंत्रिपद से इस्तीफा दे दिया। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सत शर्मा ने उद्योगमंत्री चंद्र प्रकाश गंगा व वनमंत्री लाल सिंह के इस्तीफे स्वीकार कर शाम को इसकी जानकारी भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री राम लाल को दे दी है। मंत्रियों के इस्तीफे मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को सौंपे जाने का फैसला शनिवार दोपहर एक बजे उपमुख्यमंत्री डॉ. निर्मल सिंह के आवास पर होने वाली बैठक में होगा।
दोनों मंत्री कठुआ जिले में आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई के विरोध में हिंदू एकता मंच के प्रदर्शन में शामिल हुए थे। ऐसा कर उन्होंने सहयोगी पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी को नाराज करने के साथ विपक्षी पार्टियों को बड़ा मुद्दा दे दिया था। रसाना मामले के देश भर में मुद्दा बनने के बाद जम्मू कश्मीर में भाजपा-पीडीपी गठबंधन सरकार की नींव हिल गई। ऐसे में सरकार बचाने को हरकत में आए भाजपा हाईकमान ने शुक्रवार को विवादों में घिरे दो मंत्रियों को इस्तीफा देने के निर्देश दे दिए। नेशनल कांफ्रेंस व कांग्रेस ने सरकार के खिलाफ भाजपा के दोनों मंत्रियों की भूमिका पर मुख्यमंत्री व सरकार को सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया था।
शुक्रवार को भी पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने सवाल खड़े किए कि मुख्यमंत्री अपनी कैबिनेट के दो मंत्रियों पर कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है। इस मुद्दे को लेकर गठबंधन के दोनों दलों में दरार सरकार के लिए खतरा बन रही थी। और इस मुद्दे पर दबाव बनाने के लिए मुख्यमंत्री ने शनिवार को श्रीनगर में राज्य कार्यकारिणी की बैठक बुलाई थी। उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार, शुक्रवार दोपहर करीब साढ़े तीन बजे जम्मू में हुई बैठक के दौरान दोनों भाजपा मंत्रियों ने अपने इस्तीफे प्रदेश अध्यक्ष सत शर्मा को सौंप दिए। बैठक में संगठन महामंत्री अशोक कौल व अन्य कुछ वरिष्ठ नेता भी थे। उपमुख्यमंत्री डा निर्मल सिंह कठुआ के बिलावर में होने के कारण इस बैठक में मौजूद नहीं थे।
माना जा रहा है कि भाजपा हाईकमान के इस कदम से भाजपा-पीडीपी के बीच रसाना कांड को लेकर गहरा रही दरार कम होने के आसार हैं। दोनों पार्टियां बच्ची से दुष्कर्म और उसकी निर्मम हत्या करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की पैरवी कर रही थी। फर्क सिर्फ इतना था कि भाजपा अपने आधार क्षेत्र में हुए इस मामले में सीबीआइ जांच की मांग को समर्थन दे रही थी। पीडीपी इस पर अड़ी थी कि राज्य पुलिस की अपराध शाखा ही जांच करेगी। राज्य में मुख्यमंत्री के पास गृह विभाग का जिम्मा है और पुलिस विभाग उनके अधीन है।
हमने पार्टी के कहने पर इस्तीफा दिया
इस्तीफा देने वाले मंत्री लाल सिंह का कहना है कि उन्हें डेढ़ महीने पहले भाजपा ने ही रसाना गांव से पलायन होने से उपजे हालात की जानकारी लेने वहां भेजा था। उनके साथ चंद्र प्रकाश गंगा व पार्टी के छह पदाधिकारी भी थे। हमने किसी का बचाव नहीं किया था और बच्ची के लिए इंसाफ मांगा था। अब पार्टी के कहने पर हमने इस्तीफा दिया है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें