नई दिल्ली - सुबह से ही जेल से रिहा होने का इंतजार कर रहे तलवार दंपति को अभी दो दिन और जेल में ही बिताना होगा। दरअसल सीबीआई की विशेष अदालत में अभी तक इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले की सर्टीफाइड कॉपी नहीं मिली है। अगर शाम साढ़े चार बजे तक कॉपी सीबीआई की विशेष अदालत में नहीं पहुंचती है तो तलवार दंपति को दो दिन और जेल में ही रहना होगा। दरअसल शनिवार और रविवार होने की वजह से दो दिन अब कोर्ट बंद रहेगा।
गुरुवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जब राजेश तलवार और नुपूर तलवार को साक्ष्यों के अभाव में चार साल बाद बरी करने का आदेश सुनाया था तभी से तलवार दंपत्ति लगातार टीवी पर नजर लगाए हुए थे। पल-पल की खबर ले रहे तलवार दंपति ने सुबह जेल में नाश्ता किया और सीबीआई कोर्ट से रिहाई के आदेश का इंतजार करते रहे।
नाम में कुछ हो गई थी गड़बड़ी
बताया जाता है कि एक बजे के करीब तलवार दंपति के वकील को इलाहाबाद हाईकोर्ट की ओर से सर्टिफाइड कॉपी दे दी गई थी लेकिन 173 पन्नों की इस कॉपी में कुछ गलतियां पाई गईं थीं जिसके कारण उसे फिर से सही कराने के लिए जमा करना पड़ा। नई कॉपी मिलने में देरी के कारण ही तलवार दंपति की रिहाई में देरी हुई।
क्लीनिक भी नहीं गए राजेश तलवार
हर रोज जेल में बने अस्पताल में सेवा देने वाले राजेश तलवार शुक्रवार की सुबह क्लीनिक नहीं गए। उन्होंने अपने साथियों से कहा था कि अगर कोई मरीज आता है तो उन्हें बुला लिया जाए। इसके बाद वह हर समय टीवी पर अपनी रिहाई की खबर देखते रहे।

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें