नई दिल्ली - टीडीपी के बाद अब तमिलनाडु की सत्ताधारी पार्टी AIADMK राष्ट्रपति चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) उम्मीदवार के समर्थन का ऐलान किया है। एआईएडीएमके के अम्मा धड़े ने राष्ट्रपति चुनाव में उसे समर्थन देने का ऐलान कर दिया। एआईएडीएमके (अम्मा) के खेमे में 38 सांसद, 124 विधायक और असेंबली स्पीकर हैं। बीजेपी शीर्ष नेतृत्व उम्मीद कर रहा है कि पार्टी का दूसरे धड़ा यानि पन्नीरसेल्वम ग्रुप भी सपोर्ट करेगा। इस स्थिति में एनडीए का वोट शेयर 55 पर्सेंट हो जाएगा।
इससे पहले शुक्रवार को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार पर आम राय बनाने के लिए बीजेपी की एक समिति ने आज कांग्रेस और वाम दलों के शीर्ष नेताओं से मुलाकात की। साथ ही वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के साथ विचार विमर्श किया। लेकिन समिति द्वारा किसी उम्मीदवार का नाम नहीं लिए जाने पर विपक्ष ने इस कवायद पर सवाल उठाया। समिति के दो सदस्यों केंद्रीय मंत्रियों राजनाथ सिंह तथा एम वेंकैया नायडू ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, माकपा महासचिव सीताराम येचुरी से मुलाकात की।
सूत्रों ने बताया कि दोनों मंत्रियों ने आडवाणी को सूचित किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के निर्देश पर पैनल ने अन्य नेताओं के साथ बातचीत शुरू की है, लेकिन किसी संभावित उम्मीदवार का जिक्र नहीं किया गया।
सीताराम येचुरी ने की बीजेपी की आलोचना
माकपा महासचिव येचुरी ने किसी नाम का प्रस्ताव नहीं करने पर बीजेपी की आलोचना करते हुए कहा कि विपक्षी दलों के साथ बीजेपी की बैठकें महज प्रचार है। उन्होंने एक बार फिर अपनी पार्टी का रूख दोहराया कि मजबूत धर्मनिरपेक्ष साख वाला व्यक्ति ही अगला राष्टपति होना चाहिए। मंत्रियों के सोनिया गांधी से मुलाकात करने के बाद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि बीजेपी नेताओं ने कोई नाम प्रस्तावित नहीं किया और कांग्रेस नेताओं से अपने विकल्प के बारे में बताने को कहा।
उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद थी कि बीजेपी नेता राष्टपति पद के लिए एक-दो नाम के साथ आएंगे ताकि कांग्रेस उस पर कोई फैसला कर सके। लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। समिति के तीसरे सदस्य अरूण जेटली अभी देश से बाहर हैं। सूत्रों ने कहा कि सिंह और नायडू ने विपक्षी नेताओं से कहा कि मोदी के 24 जून को विदेश रवाना होने से पहले पार्टी उम्मीदवार के नाम को अंतिम रूप देना चाहेगी। बीजेपी प्रधानमंत्री के रवाना होने के दो तीन दिन पहले अपने उम्मीदवार को अंतिम रूप दे सकती है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें