मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा तेंदुलकर पिछले कुछ दिनों से काफी सुर्खियां बटोर रही हैं। दरअसल, हाल ही में एक शख्स ने सारा से शादी करने का दावा किया तो दूसरा उनका फेक ट्विटर अकाउंट बनाने के चलते पकड़ा गया। कुछ समय पहले सारा का पीछा और फोन करके परेशान करने के लिए देबकुमार मैटी को गिरफ्तार किया गया था। देब ने अपने हाथ पर 'DEB SARA' का टैटू भी करा रखा है।
आसमानी बिजली ने किया इशारा...:-मैटी ने सारा को लेकर पुलिस से कुछ ऐसी अजीबों-गरीब बातें कही हैं, जिसे सुनकर हर कोई हैरान है। मैटी ने दावा किया कि सारा उसकी पत्नी है और इस बात की पुष्टि खुद कुदरत ने की है। हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक मैटी ने पुलिस को बताया, 'मैंने आसमान की ओर देखा और पूछा क्या सारा तेंदुलकर मेरी पत्नी है?' उसके बाद जोर से बिजली कड़की, जिससे मुझे इस बात का यकीन हो गया कि ये सच हैं। जब मैंने तेंदुलकर के ऑफिस में फोन किया तो मैंने यह बताया था."
सचिन के ऑफिस पर किया था शादी के प्रपोज...:-इसके बाद मैटी ने 20 साल की सारा को फोन कॉल्स किए और मास्टर ब्लास्टर के ऑफिस में जाकर सारा से शादी का प्रस्ताव भी रखा। इससे पहले सारा ने मैटी के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी। शिकायत के बाद पुलिस ने मैटी को पूर्वी मिदनापोर से गिरफ्तार किया। उसके परिवार ने मैटी की इन हरकतों की वजह उसकी असंतुलित मानसिक स्थिति को बताया।
हाथ पर बनवाया है टैटू...:-पश्चिम बंगाल के इस 32 साल शख्स ने पहली बार सचिन तेंदुलकर की बेटी को टेलीविजन पर देखा था, तभी वो उसके प्यार में पड़ गया था। अपनी कलाई पर 'देब एंड सारा' नाम से छपे टैटू को दिखाते हुए मैटी ने कहा, 'सारा तेंदुलकर मेरी पत्नी है और मैं उससे शादी करना चाहता हूं'।" उसने कहा कि 2011 में जब सारा केवल 13 साल की ही थी, तभी उसने यह टैटू अपने हाथ में बनवा लिया था।मैटी ने आगे कहा, "मेरे देखते ही जहाज, रेलगाड़ियां रुक जाती हैं। यहां तक की मैं दुनिया में सबसे अच्छा हूं। मुझे अपने किसी भी फैसले पर कोई पछतावा नहीं है।"बता दें कि मैटी ही पहला ऐसा शख्स नहीं है जिसने सचिन तेंदुलकर की बेटी को परेशान किया। हाल ही में सारा तेंदुलकर का एक फर्जी ट्विटर हैंडल बनाने के आरोप में एक 39 साल के तकनीकी कर्मचारी नितिन शिशोदे को भी साइबर पुलिस ने हिरासत में लिया था।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें