कोलकाता। कभी सुनील नारायण आइपीएल के सबसे अबूझ गेंदबाज थे, आज उनकी टीम आइपीएल की सबसे अबूझ टीम बन गई है। दिनेश कार्तिक की अगुआई वाली कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) कब कैसा खेल दिखा दे, ये तो शायद बड़े-बड़े क्रिकेट पंडित भी न बता पाए। पिछले दो मैचों को ही ले लें। पहले मुंबई के खिलाफ कोलकाता महज 108 रनों पर ढेर हो गई, जो इस सत्र का दूसरा न्यूनतम टीम स्कोर है। फिर पंजाब के खिलाफ अगले ही मैच में इसी टीम ने 245 रन बना डाले, जो इसी सत्र का सर्वाधिक टीम स्कोर है। यह टीम कभी बुरी तरह हारती है तो कभी शानदार जीत दर्ज करती है लेकिन आगे हारने से बिल्कुल नहीं चलेगा। हर हाल में जीतना ही होगा और रन रेट को भी बेहतर बनाए रखना होगा, खासकर पंजाब और राजस्थान से बेहतर क्योंकि प्लेऑफ की बाकी दो टीमें बनने की दौड़ में ये ही कोलकाता के सामने सबसे बड़ी चुनौती हैं। हैदराबाद और चेन्नई पहले ही प्लेऑफ में पहुंच चुकी हैं। राजस्थान के लिए भी हर मैच नॉकआउट जैसा ही है। जीत और बेहतरीन रन रेट ही उसे प्लेऑफ में पहुंचा सकती है।
केकेआर के घर में आखिरी लीग मैच:-मंगलवार को जब कोलकाता ईडन गार्डेंस में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मैच खेलने उतरेगी तो यह घर में उसका आखिरी लीग मैच होगा। हालांकि सत्र का आखिरी लीग मैच उसे हैदराबाद के खिलाफ उसी के मैदान में खेलना है। कोलकाता अगर बाकी दोनों मैचों में अच्छी जीत दर्ज करती है तो उसका प्लेऑफ में पहुंचना तय है। ऐसा होने पर उसे नॉकआउट राउंड में घरेलू परिस्थितियों का फायदा मिल सकता है क्योंकि एलिमिनेटर और एक प्लेऑफ मैच ईडन में ही होना है। कोलकाता और राजस्थान आइपीएल में अबतक 14 बार भिड़ी हैं, जिनमें दोनों को सात-सात बार जीत मिली है।
नारायण से फिर विस्फोटक पारी की उम्मीद;-सुनील नारायण का बल्ला फिर से चल गया तो कोलकाता के लिए काफी आसानी हो जाएगी। नारायण ने पंजाब के खिलाफ पिछले मैच में 36 गेंदों पर 75 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली थी। एक अच्छी बात यह भी है कि उनके कैरेबियाई साथी आंद्रे रसेल भी रनों के बीच लौट आए हैं। पिछले मैच में रसेल ने 3 विकेट भी झटके थे। कप्तान दिनेश कार्तिक ने भी 23 गेंदों पर 50 रनों की आतिशी पारी खेलकर मध्यक्रम को मजबूती दी है।
बटलर को करना होगा फेल:-कोलकाता के गेंदबाजों के सामने सबसे बड़ी चुनौती जोस बटलर को रोकने की होगी। इस अंग्रेज विकेटकीपर बल्लेबाज ने पिछले पांच मैचों में पांच पचासे जड़कर वीरेंद्र सहवाग के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है और ईडन में इसे तोडऩे के लिए भी बेशक कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।बटलर ने पिछली पांच पारियों में क्रमश:67, 51, 82, नाबाद 95 और नाबाद 94 रन बनाए हैं। उनके अलावा राजस्थान की टीम में बेन स्टोक्स जैसा खतरनाक आलराउंडर भी है। कप्तान अजिंक्य रहाणे का बल्ला फिलहाल नहीं चल रहा लेकिन ईडन दूसरों की तरह उनपर भी मेहरबान हो ही सकता है। रहाणे ने पिछली 12 पारियों में 28 की औसत से महज 280 रन बनाए हैं।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें