दिल्ली - भारत और श्रीलंका के बीच तीन मैचों की सीरीज का आखिरी टेस्ट ड्रॉ पर खत्म हुआ। 410 रनों के टारगेट के सामने श्रीलंका ने पांच विकेट पर 299 रन बनाए। इस तरह से भारत ने तीन मैचों की सीरीज पर 1-0 से कब्जा कर लिया। इसके साथ ही भारत ने लगातार 9 टेस्ट सीरीज में जीत हासिल करके ऑस्ट्रेलिया की बराबरी कर ली है। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के नाम लगातार सबसे ज्यादा टेस्ट सीरीज जीतने का रिकॉर्ड दर्ज था।
श्रीलंकाई बल्लेबाज धनंजय डी सिल्वा टेस्ट करियर का तीसरा शतक जड़ने के बाद 119 रन बनाकर रिटायर्ड हर्ट हुए थे। इसके बाद डेब्यू मैच खेलने वाले रौशन सिल्वा ने नॉटआउट 74 रनों की पारी खेली। डिकवेला 44 रन बनाकर नॉटआउट लौटे। इससे पहले आर अश्विन ने कप्तान दिनेश चंडीमल का विकेट लेकर भारत को मैच में वापसी दिलाई थी। चंडीमल 36 रन बनाकर बोल्ड हुए और इस तरह से श्रीलंका ने 147 रनों पर पांचवां विकेट गंवाया था।
धनंजय और रौशन सिल्वा की साझेदारी तोड़ने के लिए कप्तान विराट कोहली खुद भी गेंदबाजी करने के लिए आ गए। इतना ही नहीं मुरली विजय ने भी एक छोर से गेंदबाजी की।
पांचवें दिन लंच ब्रेक तक श्रीलंका ने चार विकेट खोकर 119 रन बना लिए थे। चंडीमल जब 24 रन पर खेल रहे थे, तो रविंद्र जडेजा की गेंद पर बोल्ड हुए थे, लेकिन वो नोबॉल करार दी गई थी। पांचवें दिन का खेल शुरू होने के कुछ ही देर बाद ही एंजलो मैथ्यूज रविंद्र जडेजा का तीसरा शिकार बने थे। इस तरह से श्रीलंका ने 35 रनों पर चौथा विकेट गंवाया था। पहली पारी में सेंचुरी बनाने वाले मैथ्यूज इस पारी में महज एक रन का योगदान दे पाए।
मैथ्यूज जिस गेंद पर आउट हुए, वो नोबॉल थी। अंपायर इस पर ध्यान नहीं दे पाए। धनंजय अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं। तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में भारत 1-0 से आगे चल रहा है।
बता दें कि मैच के चौथे दिन श्रीलंका ने दूसरी पारी में 410 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए 16 ओवर में 31 रनों तक ही तीन विकेट गंवा दिए थे। खराब रौशनी के चलते मैच को समय से कुछ देर पहले ही खत्म करना पड़ा। रविंद्र जडेजा ने एक ही ओवर में दिमुथ करुणारत्ने और सुरंगा लकमल को आउट कर भारत को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया है। करुणारत्ने 13 रन जबकि नाइटवॉचमैन के तौर पर आए लकमल बिना खाता खोले ही आउट हो गए। धनंजय डी सिल्वा और एंजलो मैथ्यूज फिलहाल क्रीज पर मौजूद हैं।
अगर भारत यह मैच जीतता है तो लगातार 9 सीरीज जीतने के वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी कर लेगा। बता दें कि फिलहाल यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के नाम है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें