नई दिल्ली - भारत और श्रीलंका के बीच तीन मैचों की सीरीज का आखिरी टेस्ट दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेला गया। मैच ड्रॉ पर खत्म हुआ और इसके साथ ही भारत ने सीरीज 1-0 से अपने नाम कर ली। कप्तान विराट कोहली को मैन ऑफ द सीरीज और मैन ऑफ द मैच चुना गया। विराट ने इस मैच में 243 और 50 रनों की पारी खेली, जबकि पूरी सीरीज के दौरान 610 रन ठोके।
विराट ने मैच के बाद कहा, 'मेरे लिए और पूरी टीम के लिए ये सीरीज बहुत अच्छी रही। मुझे ये जानकर अच्छा लगा कि मैं जिस तरह से वनडे में खेलता हूं वैसे ही टेस्ट में भी खेल सकता हूं। आजकल किसी फॉरमैट का कोई सेट पैटर्न नहीं है। अगर आपको अपने ऊपर भरोसा है तो आप किसी भी फॉरमैट में कोई भी उपलब्धि हासिल कर सकते हैं। जब मैं कप्तान नहीं था, तो परिस्थितियों के बारे में सोचना मुश्किल होता था। जब मैं टेस्ट क्रिकेट में अपने पांव जमा रहा था, तो थोड़े दबाव में था। जब मुझे माइलस्टोन मिलते गए मैं रिलैक्स्ड होता गया। अब चीजें बहुत बदल चुकी हैं।'
विराट ने कहा, 'हमें हमेशा इस बात का भरोसा रहा है कि वो लोअर मिडिल ऑर्डर में आकर अपने दम पर मैच पलट सकता है। मुझे बहुत खुशी है, जिस तरह से बल्लेबाज बैटिंग कर रहे हैं। हर बल्लेबाज हर सीरीज में रन नहीं बना सकता है। कुछ ऐसे क्षेत्र हैं, जिसमें हमें अभी काम करना होगा।' इस मैच में टीम इंडिया 20 विकेट नहीं चटका पाई और मैच ड्रॉ पर खत्म हुआ।
इसको लेकर विराट ने कहा, 'अगर आप चौथे दिन टीम के तीन विकेट झटकने के बाद अगले दिन उन्हें ऑलआउट नहीं कर पाते हैं, तो ये निराशाजनक लगता है। लेकिन हमें उन्हें भी क्रेडिट देना होगा। श्रीलंकाई बल्लेबाजों ने आत्मविश्वास से बल्लेबाजी की। पिच से भी आखिरी दिन मदद नहीं मिली। अगर हमने पहली पारी में उन्हें मौका नहीं दिया होता तो मैच का रिजल्ट कुछ और होता। हमें इसे बेहतर करना होगा। स्लिप कैचिंग और फील्डिंग पर हमें काम करना होगा।'
स्लिप में कैचिंग को लेकर विराट बोले, 'करियर के शुरुआती दिनों से अजिंक्य रहाणे ने गली में फील्डिंग की है, वहां फील्डिंग करना आसान नहीं होता है। तो हमें उन पर वहां भरोसा रहता है। पहली और दूसरी स्लिप की बात करें तो अगर आप प्रैक्टिस करें तो आप बेहतर होते जाते हैं। हमें इस पर काम करना होगा।'
श्रीलंका के खिलाफ वनडे और ट्वंटी20 सीरीज से मिले आराम के बारे में विराट ने कहा, 'पिछली बार जब मुझे आराम मिला था, तो ये मेरे लिए हैंडल करना मुश्किल था। लेकिन अभी मेरे शरीर को इसकी बहुत जरूरत है। पिछले कुछ समय में वर्कलोड बहुत ज्यादा रहा है, मुझे आराम की जरूरत है। दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले आराम का ये सबसे अच्छा मौका है।'

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें