नई दिल्ली। भारत और अफगानिस्तान के बीच खेला जाने वाला टेस्ट मैच ऐतिहासिक होने वाला है। क्योंकि अफगानिस्तान के टीम का ये पहला टेस्ट मैच होगा। अफगानिस्तान के लिए तो ये मुकाबला खास होगा ही, लेकिन टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज़ दिनेश कार्तिक के लिए भी ये का मैच बेहद खास होगा। रिद्धिमान साहा के चोटिल होने के वजह से कार्तिक को उनके रिप्लेसमेंट के तौर पर टीम में शामिल किया गया है। इस मैच में कार्तिक को मौका मिला तो वो एक ऐसा रिकॉर्ड बना देंगे जो आजतक कोई भी भारतीय खिलाड़ी नहीं बना सका है।
कार्तिक बनाएंगे ये खास रिकॉर्ड:-दिनेश कार्तिक ने अपना आखिरी टेस्ट मैच जनव:री 2010 को चटगांव में बांग्लादेश के खिलाफ खेला था। इस मुकाबले के बाद से टीम इंडिया 87 टेस्ट मैच खेल चुकी है। अब अगर कार्तिक को 14 जून को अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाले ऐतिहासिक टेस्ट मैच के प्लेइंग इलेवन में शामिल किया जाता है तो वो पार्थिव पटेल के रिकॉर्ड को तोड़ देंगे। दरअसल कार्तिक 8 साल और 87 टेस्ट मैच के लंबे इंतज़ार के बाद भारत के लिए टेस्ट मैच खेलेंगे। अभी भारतीय टेस्ट क्रिकेट इतिहास का सबसे लंबा इंतजार करने का रिकॉर्ड पार्थिव पटेल के नाम दर्ज़ है। पार्थिव ने 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ 83 टेस्ट मैचों के बाद भारतीय टीम में वापसी की थी।
ऐसा रहा है टेस्ट में कार्तिक का रिकॉर्ड:-दिनेश कार्तिक ने अपना टेस्ट डेब्यू नवंबर 2004 में किया था। तब से लेकर अब तक उन्होंने 23 टेस्ट में 1000 रन बनाए हैं। इस दौरान उनके बल्ले से 1 शतक और 7 अर्धशतक भी निकले हैं। टेस्ट क्रिकेट में कार्तिक का सर्वाधिक स्कोर 129 रन का है जो उन्होंने 2007 में बांग्लादेश के खिलाफ ढाका में खेलते हुए बनाया था। अफगानिस्तान के खिलाफ 8 साल बाद मिल रहे इस मौके पर कार्तिक भी बेहतर प्रदर्शन करना चाहेंगे। इन दिनों कार्तिक का बल्ला अच्छा प्रदर्शन कर रहा है और ये कहना गलत नहीं होगा की फिलहाल वो अपने करियर का सर्वोत्तम प्रदर्शन कर रहे हैं।
इनके नाम है सबसे लंबे इंतज़ार का रिकॉर्ड:-टेस्ट क्रिकेट इतिहास में सबसे लंबा इंतजार करने की बात करें को ये रिकॉर्ड इंग्लैंड के गैरेथ बैटी के नाम है। बैटी ने इंग्लैंड की टीम में लगभग 11 साल और 142 टेस्ट मैच के बाद वापसी की थी। बैटी के बाद मार्टिन बिकनैल का नाम आता है। बिकनैल भी इंग्लैंड के ही खिलाड़ी थे। जिन्होंने अपना डेब्यू मैच तो 1993 में खेला था, लेकिन दो टेस्इट के बाद उन्हें ड्रॉप कर दिया गया और फिर उन्होंने 2003 में इंग्लैंड की टीम में वापसी की। इस बीच इंग्लैंड की टीम ने 114 टेस्ट मैच खेले थे। वेस्टइंडीज़ के फ्लॉइड रेफर ने भी 10 साल के बाद वेस्टइंडीज़ की टीम में वापसी की थी। उन्हें 1999 के बाद फिर से 2009 में वेस्टइंडीज़ की तरफ से खेलने का मौका मिला था। इस बीच कैरिबियाई टीम ने 109 टेस्ट खेले थे। पाकिस्तान के यूनिस अहमद ने 104 टेस्ट के बाद वापसी की थी। इंग्लैंड के डेरेक शेकलेटन ने भी अपनी टीम में 103 टेस्ट मैच के बाद फिर से वापसी की थी। इंग्लैंड के ही लेस जैक्सन ने 96 टेस्ट मैचों के बाद फिर से अपने देश के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला था।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें