खेल

खेल (4148)

गुरु गुड़, चेला चीनी:-मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, विराट कोहली और महेंद्र सिंह धौनी क्रिकेट जगत के ऐसे नाम हैं जिन्होंने भारतीय क्रिकेट फैन्स को जश्न मनाने के कई मौके दिए हैं। इन चारों ने क्रिकेट जगत में अपना लोहा मनवाया और तमाम पुराने रिकॉर्ड्स तोड़कर नए रिकॉर्ड्स बनाए। मिडिल क्लास फैमिली से आए इन चारों ही क्रिकेटरों को हम सुपरस्टार मानते हैं, लेकिन सुपरस्टार बनाने में इनके गुरुओं का बहुत बड़ा रोल रहा है। इन चारों के कोच ने इनकी प्रतिभा को पहचाना और इन्हें तराशकर कोयले से हीरा बनाया। तेंदुलकर के कोच रमाकांत आचरेकर से लेकर कोहली के कोच राजकुमार शर्मा से जुड़े कुछ ऐसे किस्से हैं जो आपको हैरान कर देंगे।

कोच आचरेकर से मिली तेंदुलकर को सबसे 'कीमती' कमाई:-रमाकांत आचरेकर ने तेंदुलकर की प्रतिभा को बहत पहले ही पहचान लिया था। 80 के दशक में जब तेंदुलकर ट्रेनिंग सेशन में हिस्सा लेने जाते थे तो आचरेकर एक रुपये का सिक्का स्टंप के ऊपर रख देते थे। उस सिक्के के लिए आचरेकर ने एक शर्त रखी थी। उन्होंने कहा था कि जो भी गेंदबाज तेंदुलकर को आउट करेगा वो सिक्का उसका हो जाएगा। वहीं अगर दिनभर तेंदुलकर आउट नहीं हुए तो वह सिक्का उनका हो जाता। तेंदुलकर ने इस तरह से 13 एक रुपये के सिक्के जीते। जिसका मतलब 13 मौकों पर वो सुबह से शाम तक नॉटआउट रहे। तेंदुलकर ने इन 13 सिक्कों को बहुत सहेज कर रखा है।

वीरू का 'विस्फोट' बचपन में ही पहचाना था शर्मा सर ने:-वीरेंद्र सहवाग जब तक खेले अपनी बेखौफ अंदाज वाली बल्लेबाजी से हर गेंदबाज के लिए सबसे बड़ा खौफ बनकर खेले। अमर नाथ शर्मा विकासपुरी जी ब्लॉक गवर्नमेंट ब्वॉयज सीनियर सेकेंडरी स्कूल में कोच थे। 90 के दशक की बात है एक बार वीरू की टीम के खिलाफ विरोधी टीम ने 100 रन से कम का लक्ष्य दिया था। कोच को वीरू पर इतना भरोसा था कि उन्होंने वीरू के साथ एक अन्य सलामी बल्लेबाज को छोड़ा और बाकी पूरी टीम लेकर दूसरा मैच खेलने चले गए। वीरू ने भी कोच का भरोसा नहीं तोड़ा बल्कि बहुत कम समय में लक्ष्य हासिल कर दूसरा मैच शुरू होने से पहले टीम से जुड़ गए। शर्मा सर ने बचपन में ही वीरू की प्रतिभा को परख लिया था और बाद में पूरी दुनिया के गेंदबाजों के लिए यह बल्लेबाज आतंक का पर्याय साबित हुआ।

विराट को अपना बेटा मानते हैं गुरु राजकुमार शर्मा:-टीम इंडिया के टेस्ट कप्तान विराट कोहली के कोच राजकुमार शर्मा को इस साल गुरु द्रोणाचार्य अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। राजकुमार शर्मा विराट को बिल्कुल अपने बेटे की तरह मानते हैं। विराट कोहली 10 साल के थे जब उन्होंने राजकुमार शर्मा का कोचिंग कैम्प ज्वॉइन किया था। विराट कोहली शुरू से ही बहुत एकाग्र होकर खेलते थे और उनकी यही चीज उन्हें बाकी बच्चों से अलग करती थी। राजकुमार शर्मा कोहली के बारे में कहते हैं कि वो बचपन से क्रीज पर लंबे समय तक टिककर बल्लेबाजी करना चाहता था। लगन और एकाग्रता उसका सबसे बड़ा हथियार हैं।

धौनी के फुटबॉल कोच ने उन्हें बनाया क्रिकेटर:-टीम इंडिया के कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धौनी के फुटबॉल प्रेम से हम सभी वाकिफ हैं। स्कूल में धौनी बतौर गोलकीपर फुटबॉल ही खेलते थे। फुटबॉल कोच ने धौनी के अंदर छुपे क्रिकेटर को सबसे पहले पहचाना था। स्टेट और डिस्ट्रिक्ट लेवल पर फुटबॉल खेल चुके धौनी फुटबॉल में बिल्कुल रम चुके थे। उनके फुटबॉल कोच ने उन्हें क्रिकेट खेलने के लिए कहा। कोच ने धौनी से क्रिकेट में विकेटकीपर बनने के लिए कहा। इसके बाद क्या हुआ वो आज हम सबके सामने है। 10वीं क्लास से धौनी ने क्रिकेट खेलना शुरू किया और फिर बस आगे बढ़ते चले गए। देश को आईसीसी की तीनों ट्रॉफी दिलाई।

इंग्लैंड के खिलाफ पाकिस्तान क्रिकेट टीम क्लीन स्वीप से बच गई। पांच मैचों की वनडे सीरीज के आखिरी मैच में पाकिस्तान ने चार विकेट से जीत दर्ज की। पाकिस्तान ने इंग्लैंड से मिले 303 रनों के चुनौतीपूर्ण लक्ष्य को छह विकेट खोकर 10 गेंद शेष रहते हासिल कर लिया।पाकिस्तान 100 रन के भीतर शर्जील खान (1०), बाबर आजम (31) और कप्तान अजहर अली (33) के विकेट गंवा चुका था और बड़े लक्ष्य के आगे ढेर होता नजर आ रहा था। लेकिन इसके बाद शोएब मलिक और सरफराज अहमद ने चौथे विकेट के लिए 163 रनों की साझेदारी कर टीम की जीत की आस जगा दी।

सरफराज और शोएब की जुगलबंदी:-सरफराज ने 73 गेंदों पर तेज पारी खेलते हुए 10 चौके और एक छक्का लगाया और 240 के कुल योग पर पवेलियन लौटे, जबकि शोएब ने 80 गेंदों की संयम भरी पारी में पांच चौके और दो छक्के लगाए और 256 के योग पर पवेलियन लौटे। मोहम्मद रिजवान (नॉटआउट 34) ने सातवें विकेट के लिए वेल्स में जन्में इमाद वसीम (नॉटआउट 16) के साथ 26 रनों की साझेदारी कर टीम को जीत दिला दी।इंग्लैंड के लिए मार्क वुड और लियाम डॉसन दो-दो विकेट हासिल कर सके। इससे पहले, जेसन रॉय (87) और बेन स्टोक्स (75) की शानदार पारियों की मदद से इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने रविवार को खेले जा रहे पांच वनडे मैचों की सीरीज के अंतिम मैच में पाकिस्तान के सामने 303 रनों का चुनौतीपूर्ण लक्ष्य रखा है।

इंग्लैंड ने बनाए 302 रन:-टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड ने निर्धारित 50 ओवरों में नौ विकेट के नुकसान पर 302 रनों का मजबूत स्कोर खड़ा किया। इंग्लैंड को रॉय और एलेक्स हेल्स (23) ने ठीक-ठाक शुरुआत दी और पहले विकेट के लिए 37 रन जोड़े। मोहम्मद आमिर ने हेल्स को पवेलियन भेज पाकिस्तान को पहली सफलता दिलाई। इंग्लैंड ने 92 रन तक आते-आते जो रूट (9) और कप्तान इयोन मोर्गन (10) जैसे महत्वपूर्ण बल्लेबाजों को खो दिया था, लेकिन रॉय दूसरे छोर से रन बनाते जा रहे थे।मोर्गन के जाने के बाद उन्होंने स्टोक्स के साथ चौथे विकेट के लिए 72 रन की साझेदारी की। रॉय और स्टोक्स ने संभल कर बल्लेबाजी की और कोई जोखिम नहीं उठाया। दोनों ने 13 ओवरों में 5.53 की औसत से रन जोड़े। आमिर ने एक बार फिर पाकिस्तान को सफलता दिलाई और 164 के योग पर रॉय को पवेलियन भेजा। रॉय ने अपनी पारी में 82 गेंदों पर आठ चौके और दो छक्के लगाए। रॉय ने इस मैच में वनडे मैचों में अपने एक हजार रन भी पूरे किए। वह ऐसा करने वाले इंग्लैंड के 12वें सलामी बल्लेबाज बन गए हैं।

स्टोक्स-बेयरस्टो की अहम साझेदारी:-स्टोक्स ने जॉनी बेयरस्टो (33) के साथ पारी को आगे बढ़ाया और पांचवें विकेट के लिए 55 रनों की अहम साझेदारी कर टीम को बड़े स्कोर तक पहुंचाने में मदद की। उमर गुल ने बेयरस्टो को 219 के कुल योग पर पवेलियन भेजा। अपने करियर का बेस्ट स्कोर करने वाले स्टोक्स को हसन अली ने 259 के कुल स्कोर पर पवेलियन भेजा। उन्होंने अपनी पारी में 76 गेंदें खेलीं और पांच चौके तथा तीन छक्के लगाए। पाकिस्तान की तरफ से हसन अली ने सबसे ज्यादा चार विकेट अपने नाम किए। उनके अलावा आमिर ने तीन विकेट लिए। गुल और इमाद वसीम को एक-एक विकेट मिला।

टीम इंडिया के कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धौनी को सुप्रीम कोर्ट से एक बड़ी राहत मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को एक मैगजीन के कवर पेज पर विष्णु के रूप में नजर आए धौनी के खिलाफ आपराधिक मामले को खारिज कर दिया है।

क्या है पूरा मामला;-ये पूरा मामला अप्रैल, साल 2013 का है। एक मैगजीन के कवर पेज पर कप्तान धौनी को विष्णु रूप में दिखाया गया था। जिसमें उन्हें 'गॉड ऑफ बिग डील्स' बताया गया। इस कवर फोटो में धौनी के हाथ में कई ब्रांड्स की चीजें नजर आ रही थीं, जिसमें रिबॉक का जूता भी शामिल था। इस कवर पेज को लेकर ही धौनी के खिलाफ लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए केस किया गया था। अगस्त 2015 में कर्नाटक हाईकोर्ट ने इसके लिए धौनी को फटकार भी लगाई थी।साल 2015 में कर्नाटक हाईकोर्ट ने केस पर सुनवाई करते हुए कहा था कि 'धौनी जैसे मशहूर सेलीब्रिटी को इस तरह के विज्ञापन करते समय धार्मिक भावनाओं को ध्यान में रखना चाहिए।' जिसके जवाब में कप्तान धौनी ने सफाई देते हुए कहा था कि उन्होनें भगवान के पोज में कोई ऐड नहीं किया था ना ही मैगजीन से उन्हें किसी प्रकार की कोई रकम मिली।

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के 2019 वर्ल्ड कप के लिए खुद से क्वालीफाई करने की उम्मीदों को करारा झटका लगा है। इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज 1-4 से गंवाने के बाद पाकिस्तान सबसे कम रेटिंग अंक 86 पर पहुंच गया है।पांचवें और अंतिम वनडे में चार विकेट से जीत दर्ज करने के बावजूद पाकिस्तान पर वर्ल्ड कप 2019 के लिए खुद क्वालीफाई करने में नाकाम रहने का खतरा मंडरा रहा है क्योंकि वह अब वह आठवें नंबर पर काबिज वेस्टइंडीज से आठ अंक पीछे है। वेस्टइंडीज आईसीसी रैकिंग में आठवें और पाकिस्तान नौवें स्थान पर है।पाकिस्तान के सीरीज के शुरू में 87 प्वॉइंट थे और 2001 में वर्तमान रैकिंग प्रणाली शुरू होने के बाद वह अब अपने सबसे कम अंकों पर है। पाकिस्तान को अब वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया से वनडे सीरीज खेलनी हैं और उसे आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 के लिए खुद क्वालीफाई करने के लिए काफी मशक्कत करनी होगी।

ऑस्ट्रेलिया ने अपनी स्थिति की और मजबूत:-ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड ने क्रम से श्रीलंका और पाकिस्तान पर 4-1 के समान अंतर से जीत दर्ज करके आईसीसी वनडे टीम रैंकिंग में अपनी स्थिति में सुधार किया है। पल्लेकल में श्रीलंका पर पांच विकेट से जीत दर्ज करने वाले ऑस्ट्रेलिया के अब 123 के बजाय 124 अंक हो गये हैं और वह दूसरे नंबर पर काबिज न्यूजीलैंड से 11 अंक आगे हो गया है।

श्रीलंका की रैंकिंग में बदलाव नहीं:-श्रीलंका ने अपना छठा स्थान बरकरार रखा है लेकिन उसके अब 101 अंक ही रह गए हैं। श्रीलंका के एक अंक कम होने से बांग्लादेश उसके करीब पहुंच गया है। वह अपने इस एशियाई प्रतिद्वंद्वी से केवल तीन अंक पीछे है। बांग्लादेश को अभी अफगानिस्तान और इंग्लैंड दोनों के खिलाफ तीन-तीन वनडे मैचों की सीरीज खेलनी हैं। अगर बांग्लादेश अफगानिस्तान के खिलाफ सभी तीनों मैच जीत लेता है और इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज जीतने में सफल रहता है तो वह अपनी सर्वश्रेष्ठ छठे रैंकिंग पर पहुंच जाएगा। वह अभी सातवें स्थान पर है।

भारत तीसरे नंबर पर:-इंग्लैंड की निगाहें अब 50 ओवरों का अपना पहला आईसीसी खिताब जीतने पर टिकी हैं। पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज में जीत से इंग्लैंड के 106 के बजाय 107 अंक हो गए हैं और वह पांचवें स्थान पर हैं। इंग्लैंड अब भारत और दक्षिण अफ्रीका से तीन अंक पीछे है। इन दोनों के समान 110 अंक हैं लेकन दशमलव में गणना पर भारत तीसरे स्थान पर है। इंग्लैंड और आईसीसी वनडे टीम रैंकिंग में 30 सितंबर 2017 तक टॉप पर रहने वाली सात टीमें वर्ल्ड कप 2019 के लिए सीधे क्वालीफाई करेंगी जबकि बाकी दो टीमों को दस टीमों के आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप क्वालीफायर 2018 में खेलना होगा।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

भारत-ए ने अपने खिलाड़ियों के ऑलराउंड प्रदर्शन की बदौलत फाइनल में रविवार को ऑस्ट्रेलिया-ए को 57 रन से हराकर चतुष्कोणीय वनडे सीरीज जीत ली।टॉस जीतकर पहले बबाजी करने उतरे भारत ने 50 ओवर में चार विकेट पर 266 रन बनाए और फिर मेजबान टीम को 44.5 ओवर में 209 रन पर ढेर कर दिया।भारतीय पारी के हीरो मनदीप सिंह रहे जिन्होंने 108 गेंद में 95 रन बनाए। उन्होंने 11 चौके जड़े। मैन ऑफ द मैच मनदीप ने कप्तान मनीष पांडे (61) के साथ मिलकर भारतीय टीम को चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचाया। श्रेयष अय्यर ने भी 41 रन की उपयोगी पारी खेली।ऑस्ट्रेलिया की ओर से चार गेंदबाजों ने एक-एक विकेट चटकाया इसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया-ए ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए और पूरी टीम 44.5 ओवर में सिमट गई। युजवेंद्र चाहल (34 रन पर चार विकेट) ने चार विकेट चटकाए जबकि धवल कुलकर्णी, करूण नायर और अक्षर पटेल को दो-दो विकेट मिले।ऑस्ट्रेलिया-ए के लिए कप्तान पीट हैंडसकोंब (43) ने एलेक्स रोस (34) के साथ मिलकर टीम को लक्ष्य के करीब पहुंचाने की कोशिश की लेकिन यह जोड़ी टूटने के बाद टीम की पारी को सिमटने में अधिक समय नहीं लगा। टीम ने अंतिम पांच विकेट सिर्फ 26 रन जोड़कर गंवाए।ऑस्ट्रेलिया-ए की ओर से सलामी बल्लेबाज कैमरन बैनक्रॉफ्ट (34) और निक मेडिनसन (31) अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहे। भारत ने पिछली तीन ए सीरीज जीती हैं और हर बार उसने फाइनल में ऑस्ट्रेलिया-ए को हराया है। सीरीज की दो अन्य टीमें दक्षिण अफ्रीका-ए और ऑस्ट्रेलिया नेशनल परफोर्मेंस टीम थी।

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वकार युनिस ने अपनी मॉर्डन वनडे वर्ल्ड XI के लिए ग्यारह खिलाड़ियों का नाम चुना है। टीम इंडिया से उन्होंने महज दो खिलाड़ियों का चयन किया है। साथ ही इस लिस्ट में 12वें खिलाड़ी को भी जगह दी गई है।इस पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर को ऐसे ओपनर्स चाहिए थे जो किसी भी तरह की गेंदबाजी का सामना कर सकें और टीम को बेहतरीन शुरुआत दें। रोहित शर्मा और डेविड वॉर्नर किसी भी बॉलिंग अटैक को बर्बाद करने की क्षमता रखते हैं, इसी वजह से इन्हें वकार की इस लिस्ट में ओपनर्स के तौर पर रखा गया है।तेज शुरुआत के बाद मिडल ऑर्डर की बारी आती है, जिसका जिम्मा विराट कोहली के हाथ में रहेगा। विराट कोहली लगातार वनडे और टी20 क्रिकेट में शानदार तरीके से परफॉर्म कर रहे हैं। पिछले कुछ सालों में विराट ने अपने खेल के साथ-साथ मैदान पर अपने स्वाभाव को भी सुधारा है। कोहली का साथ देने नंबर-4 पर एबी डीविलियर्स आएंगे। दक्षिण अफ्रीका का ये बल्लेबाज बेरोक बैटिंग करता है और कभी-कभी इनकी बल्लेबाजी को समझना भी मुश्किल हो जाता है। दाएं हाथ के बल्लेबाज डीविलियर्स और कोहली आईपीएल में भी एक ही टीम से खेलते हैं और इनके बीच कई बड़ी साझेदारियां भी हो चुकी हैं।वकार ने अपनी टीम के लिए ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ को कप्तान चुना है। इस ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने न सिर्फ बल्लेबाजी से बल्कि कप्तानी से भी प्रभावित किया है। छठे नम्बर पर इंग्लिश बल्लेबाज जो बटलर हैं। बटलर के लिए साल 2016 बेहतरीन साबित हुआ साथ ही वो एक सफल फिनिशर के तौर पर उभरे। बल्लेबाजी के अलावा वो सफल विकेटकीपर भी हैं।7वें नम्बर के लिए वकार ने बेन स्टोक्स को चुना। स्टोक्स ने इंग्लैंड की न सिर्फ बैटिंग लाइन को बल्कि गेंदबाजी को भी कमाल की स्थिरता दी है। इंग्लिश स्पिन मोइन अली ऑलराउंडर के तौर पर इस टीम में शामिल किए गए हैं।गेंदबाजी का दारोमदार ऑस्ट्रेलिया के मिचेल स्टार्क, बांग्लादेश के मुस्तफिजुर रहमान और पाकिस्तान के मोहम्मद आमिर के कंधों पर होगा। वकार इस दुविधा में थे कि वो किसी न्यूजीलैंड क्रिकेटर को टीम से कैसे बाहर रख सकते हैं, इसलिए उन्होंने विस्फोटक बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल को 12वें खिलाड़ी के तौर पर शामिल किया है।

बॉलीवुड के जानेमाने निर्देशक नीरज पांडे टीम इंडिया के कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धौनी की बायोपिक 'एम एस धौनीः द अनटोल्ड स्टोरी' को फिल्माने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते। हकीकत से जुड़ी धौनी की कहानी को पर्दे पर बेहतर दिखाने के लिए नीरज ने रांची स्थित उसी घर में शूट किया जहां धौनी रहा करते थे।इतना ही नहीं, नीरज पांडे ने फिल्म में धौनी के सुशांत के टीचर का…
कभी मैदान पर अपनी बल्लेबाजी के लिए मशहूर टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग आजकल ट्विटर पर धमाकेदार पारी खेल रहे हैं। सहवाग के ट्वीट्स इतने अनोखे होते हैं कि चाहे वो किसी को बर्थडे विश करें या किसी की टांग खीचें, उनका हर ट्वीट वायरल हो जाता है।आज यानी 4 सितंबर को टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी का जन्मदिन है। इस मौके पर भी सहवाग ने…
बीसीसीआई ने अगले साल इंग्लैंड में 01 से 18 जून तक चैम्पियन्स ट्रॉफी के लिए आयोजन लागत के तौर पर लगभग 13 करोड़ 50 लाख डॉलर का बजट आवंटित करने के इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) के फैसले पर आपत्ति जताई है।बीसीसीआई को इस साल 08 मार्च से 03 अप्रैल तक वर्ल्ड टी20 के आयोजन के लिए आईसीसी ने 4 करोड़ 50 लाख डॉलर आवंटित किए थे और ईसीबी को दी…
ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोटिंग को उनके गह राज्य तस्मानिया का ब्रैंड एंबेसडर नियुक्त किया गया है और वह राज्य में सरकार समर्थित व्यापार मिशन से जुड़ेगे जिसका काम निर्यात की अवसर तलाशने होंगे। पोंटिंग दो से 11 सितंबर तक भारत, श्रीलंका, इंडोनिशया और सिंगापुर की यात्राओं के दौरान तस्मानिया के दूत के रूप में काम करेंगे। इस प्रतिनिधिमंडल में शिक्षा, उर्जा, पर्यटन क्षेत्रों से जुड़े प्रतिनिधि होंगे।तस्मानिया के…

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें