खेल

खेल (4296)

लंदन। नॉटिंघम टेस्ट में इंग्लैंड की पहली पारी 161 रन पर ढेर हो गई। इसकी सबसे बड़ी वजह रही भारतीय ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या। पांड्या ने इंग्लैंड के बल्लेबाज़ों को छकाते हुए पांच विकेट हासिल किए। ये उनके टेस्ट करियर का पहला फाइव विकेट हॉल भी रहा। खास बात ये है कि पांड्या ने पहली बार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पांच विकेट हासिल किए वो भी इंग्लैंड के खिलाफ उनके ही घर में। टेस्ट क्रिकेट में पांच विकेट लेने के बाद पूर्व भारतीय कप्ताव कपिल देव से अपनी तुलना को लेकर कहा कि वो उनसे अपनी तुलना नहीं करना चाहते।
'किसी से नहीं करना चाहता तुलना':-इंग्लैंड के खिलाफ हार्दिक ने दूसरे दिन 28 रन देकर मेजबान टीम की पहली पारी में पांच विकेट लिए थे। ऐसे में दूसरे दिन अपने प्रदर्शन के बाद पांड्या ने कहा कि वह अन्य खिलाड़ियों के साथ अपनी तुलना से थक गए हैं। हार्दिक पांड्या का कहना है कि वह दिग्गजों में शुमार कपिल देव से अपनी तुलना नहीं करना चाहते। हार्दिक चाहते हैं कि दुनिया उन्हें उनके नाम से ही जाने और वह कपिल नहीं बनना चाहते।हार्दिक ने कहा, 'सबसे बड़ी समस्या यह है कि आप एक खिलाड़ी की तुलना दूसरे से करते हो और अचानक अगर कुछ गलत हो जाता है, तो लोग कहते हैं कि अरे यह तो कपिल की तरह नहीं है। मैं कभी भी कपिल नहीं बनना चाहता। मुझे हार्दिक पांड्या ही रहने दें। मैं अपनी पहचान के साथ ही खुश हूं।'भारतीय टीम के हरफनमौला खिलाड़ी ने कहा, 'मैंने अभी तक अपने करियर में 40 वनडे, 10 टेस्ट मैच खेले हैं और मैं अब भी हार्दिक ही हूं, कपिल नहीं हूं। उस युग में कई दिग्गज निकले। ऐसे में मुझे हार्दिक ही रहने दें। किसी और के साथ मेरी तुलना करना बंद करें। अगर आप मेरी तुलना बंद कर देंगे, तो मुझे खुशी होगी।'

नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे नॉटिंघम टेस्ट के तीसरे दिन भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इतिहास रच दिया। कोहली ने नॉटिंघम टेस्ट की दूसरी पारी में भी अर्धशतक जमाया। इसी के साथ विराट कोहली ने एक ऐसा काम कर दिया जो सिर्फ दुनिया में तीन ही खिलाड़ी कर सके हैं।
कोहली का एक और 'विराट' रिकॉर्ड:-नॉटिंघम टेस्ट की पहली पारी में विराट कोहली 97 रन बनाकर आउट हो गए थे। भारत की दूसरी पारी में कोहली तीसरे दिन लंच तक 54 रन बनाकर नाबाद रहे। दूसरी पारी में अर्धशतक जमाते ही विराट कोहली ने वो काम कर दिया, जो आजतक कोई भी भारतीय कप्तान नहीं कर सका था। विराट कोहली ने इस टेस्ट की दोनों पारियों में 50 से ज़्यादा रन बनाए और उन्होंने ऐसा दूसरी बार किया है। बतौर भारतीय कप्तान विराट कोहली ऐसे पहले खिलाड़ी बन गए हैं, जिन्होंने इंग्लैंड में दो बार एक टेस्ट की दोनों पारियों में 50 से ज़्यादा का स्कोर बनाया। इससे पहले कोहली ने मौजूदा सीरीज़ के पहेल मैच की पहली पारी में 149 और दूसरी पारी में 51 रन बनाए थे।
दुनिया में सिर्फ तीन खिलाड़ी कर सके हैं ऐसा:-विराट कोहली दुनिया के ऐसे तीसरे कप्तान बन गए जिन्होंने इंग्लैंड में दो बार एक टेस्ट की दोनों पारियों में 50 से ज़्यादा का स्कोर बनाया है। कोहली से पहले ये कमाल ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज कप्तान रहे एलन बॉर्डर ने किया था और उनके बाद इस उपलब्धि को द. अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ ने हासिल की थी।
पहली पारी में शतक से चूके थे कोहली:-भारतीय कप्तान विराट कोहली पहली पारी में सिर्फ तीन रन से शतक लगाने से चूक गए थे। 97 रन के स्कोर पर आदिल राशिद की गेंद पर स्लिप परर खड़े बेन स्टोक्स ने उनका कैच पकड़ा था। अगर वह शतक बना लेते तो वह इस सीरीज में उनका दूसरा और टेस्ट करियर का 23वां शतक होता। हालांकि कोहली के पास अब भी मौका है इंग्लैंड में अपना दूसरा शतक लगाने का, क्योंकि दूसरी पारी में भी वो अर्धशतक जड़ चुके हैं।

नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में हार्दिक पांड्या ने अपने टेस्ट करियर में पहली बार पांच विकेट चटकाए। हार्दिक ने सिर्फ 28 रन देकर ये पांच विकेट हासिल किए। खास बात ये रही कि हार्दिक ने ये पांच विकेट सिर्फ छह ओवर की गेंदबाज़ी करते हुए चटकाए। लेकिन पांड्या के पांच विकेट लेने के बाद भारतीय टीम के सीनियर खिलाड़ी रहे हरभजन सिंह सोशल मीडिया पर ट्रोल हो गए।
इस वजह से ट्रोल हुए भज्जी:-हार्दिक पांड्या ने पांच विेकेट लिए तो उनके फैंस ने हरभजन सिंह को सोशल मीडिया पर ट्रोल करना शुरू कर दिया। दरअसल लॉर्ड्स टेस्ट में हार के बाद हार्दिक पांड्या की काफी आलोचना हो रही थी। यहां तक की उन्हें भारतीय खिलाड़ियों ने ही कोसना शुरू कर दिया था। भारत के सबसे सफल ऑफ स्पिनर हरभजन ने हार्दिक को लताड़ लगाते हुए कहा था कि उनके नाम की आगे ऑलराउंडर लगाना बंद कर देना चाहिए। वह ऑलराउंडर का दर्जा पाने का हकदार नहीं है। लेकिन जब पांड्या ने नॉटिंघम में पांच विकेट चटकाए तो हरभजन सिंह ने ट्वीट कर पांड्या को बधाई दी।हरभजन सिंह के इस ट्वीट के बाद क्रिकेट फैंस ने उन्हे ट्रोल करना शुरू कर दिया, क्योंकि टेस्ट मैच से पहले तो वो पांड्या से ऑलराउंडर का टैग तक वापस लेना चाहते थे और उनके पांच विकेट लेने के बाद अब भज्जी खुद ट्वीट कर उन्हें बधाई दे रहे थे।

नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरे टेस्ट के दूसरे दिन भारत ने अपनी पकड़ मजबूत कर ली है। भारत ने पहली पारी में 329 रन बनाने के बाद इंग्लैंड की पहली पारी को केवल 161 रन पर समेट दिया। दूसरे दिन भारत ने दूसरी पारी में खेल खत्म होने तक 2 विकेट के नुकसान पर 124 रन बना लिए हैं। चेतेश्वर पुजारा 33 और विराट कोहली 8 रन बनाकर नाबाद है। दूसरी पारी में शिखर धवन ने भी 44 रन की महत्वपूर्ण पारी खेली लेकिन इसके बाद भी वह एक शर्मनाक रिकॉर्ड बना बैठे।दरअसल दूसरी पारी में धवन 44 रन के स्कोर पर आदिल राशिद की गेंद पर स्टंप आउट हो गए। उस गेंद को धवन खेलने के चक्कर में क्रीज से बाहर आ गए लेकिन गेंद और बल्ले का कोई संपर्क नहीं हुआ और बेयरस्टो ने आसानी से उन्हें स्टंप आउट कर दिया। अब टेस्ट में स्टंप आउट होने बहुत बड़ा अपराध माना जाता है लेकिन क्या आपको पता है कि भारत का कोई भी ओपनर 66 साल बाद इंग्लैंड में स्टंप आउट हुए है।धवन से पहले साल 1952 में पंकज रॉय लीड्स में स्टंप आउट हुए थे और अब धवन ने 66 साल बाद वही शर्मनाक रिकॉर्ड बनाया है। पकंज रॉय से पहले साल 1936 में मुश्ताक अली इंग्लैंड में स्टंप आउट होने वाले ओपनर थे। मुश्ताक भारत के पहले ओपनर है जो इंग्लैंड में स्टंप आउट हुए है। रिकॉर्ड बनाने के बावजूद शिखर धवन ने भारत को एक अच्छी शुरुआत दिलाई। धवन ने केएल राहुल के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए तेज तर्रार 60 रन जोड़े। इन दोनों बल्लेबाजों ने टेस्ट की पहली पारी में भी 60 रन की साझेदारी की थी। हालांकि दोनों ही पारियों में धवन और राहुल बड़ी पारियां नहीं खेल पाए। पहली पारी में धवन ने 35 और राहुल ने 23 रन बनाए, वहीं दूसरी पारी में धवन ने 44 और राहुल ने 33 रन बनाए।

नई दिल्ली। हार्दिक पांड्या ने नॉटिंघम टेस्ट में अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में पहली बार एक पारी में पांच विकेट हासिल किए। नॉटिंघम में इंग्लैंड की पहली पारी को पांड्या ने तहस-नहस कर दिया। उन्होंने 6 ओवर में 28 रन देकर इंग्लैंड के पांच बल्लेबाज़ों का शिकार किया। पांड्या की धारदार गेंदबाज़ी की वजह से ही इंग्लिश टीम पहली पारी में 161 रन पर ढेर हो गई।
पांड्या ने की ज़हीर और भुवी की बराबरी:-नॉटिंघम में भारतीय टीम के लिए पांच विकेट लेकर हार्दिक पांड्या ने ज़हीर खान और भुनवेश्वर कुमार की बराबरी कर ली। पांड्या से पहले ये दोनों तेज़ गेंदबाज़ ही भारत की ओर से इस मैदान पर पांच विकेट ले सके थे।
पांड्या का ऐसे उड़ रहा मज़ाक:-तीसरे टेस्ट में पांड्या के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद भी सोशल मीडिया पर उनका मज़ाक उड़ाया जा रहा है। आप खुद ही देखिए कि फैंस उनके लिए कैसे-कैसे पोस्ट कर रहे हैं-
पांड्या ने आलोचकों को दिया करार जवाब:-लॉर्ड्स टेस्ट में हार के बाद हार्दिक पांड्या की काफी आलोचना हो रही थी। यहां तक की उन्हें भारतीय खिलाड़ियों ने ही कोसना शुरू कर दिया था। भारत के सबसे सफल ऑफ स्पिनर हरभजन ने हार्दिक को लताड़ लगाते हुए कहा था कि उनके नाम की आगे ऑलराउंडर लगाना बंद कर देना चाहिए। वह ऑलराउंडर का दर्जा पाने का हकदार नहीं है। भज्जी के बाद अब वेस्टइंडीज ने महान तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग ने भी कह दिया है कि पांड्या अभी टेस्ट मैचों के लिए तैयार नहीं है। होल्डिंग ने कहा कि हार्दिक ना तो बल्ले से प्रभावित कर पा रहे हैं और ना ही गेंदबाजी से। गेंदबाजी में उनके अंदर नियंत्रण और निरंतरता की कमी है। लेकिन पांड्या ने नॉटिंघम में पांच विकेट लेकर दिखा दिया है कि इस खिलाड़ी में कुछ कर गुजरने की इच्छा है।

 

 

नई दिल्ली। नॉटिंघम टेस्ट के पहले दिन भारतीय टीम ने शानदार खेल दिखाया और पहले दिन का खेल खत्म होने तक 6 विकेट खोकर 307 रन बनाए। रिषभ पंत अभी भी नाबाद 22 रन बनाकर क्रीज़ पर मौजूद हैं। ये इस सीरीज़ में पहला मौका रहा जब भारत ने किसी भी पारी में 300 रन का आंकड़ा पार किया और इसकी वजह रही भारतीय कप्तान विराट कोहली और उपकप्तान अजिंक्य रहाणे की दमदार पारियां। हालांकि ये दोनों ही खिलाड़ी अपने-अपने शतक से चूक गए, लेकिन आउट होने से पहले वो भारत को अच्छी स्थिति में पहुंचा गए। इस मैच में विराट कोहली 97 रन पर आउट हो गए। वो इंग्लैंड में अपने दूसरे टेस्ट शतक से तो चूक गए, लेकिन उन्होंने टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (दादा) का एक रिकॉर्ड जरुर तोड़ दिया।
कोहली ने तोड़ा गांगुली का रिकॉर्ड:-नॉटिंघम में भारतीय कप्तान ने 152 गेंदों का सामना करते हुए 97 रन की पारी खेली। इस पारी के दौरान उन्होंने 11चौके लगाए और अजिंक्य रहाणे (81) के साथ मिलकर 159 रन की साझेदारी की। इन दोनों ने दूसरे सत्र में कोई विकेट नहीं गिरने दिया और 107 रन बनाए। इस सीरीज़ में ये भारत के लिए सबसे बेहतर के साथ-साथ पहला सत्र रहा जब भारत ने कोई विकेट नहीं गंवाया। इस पारी के दौरान कोहली ने सौरव गांगुली के बतौर भारतीय कप्तान विदेश में सबसे ज़्यादा रन बनाने के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। दादा ने भारत की कप्तानी करते हुए विदेश में 28 टेस्ट में 1693 रन बनाए थे। इस दौरान उनके बल्ले से तीन शतक निकले थे, लेकिन कोहली ने सौरव का ये रिकॉर्ड सिर्फ 19 टेस्ट मैचों में ही तोड़ दिया। नॉटिंघम में 97 रन बनाने वाले कोहली अब विदेशों में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले भारतीय कप्तान बन गए। कोहली के नाम अब विदेश में 19 टेस्ट मैच में 1731 रन हो गए हैं। इस दौरान कोहली ने आठ सैंकड़े जड़े हैं।
दूसरी बार नर्वस नाइंटीज का हुए शिकार:-अपने टेस्ट करियर के दौरान दूसरी बार विराट कोहली नर्वस नाइंटीज का शिकार हुए हैं। इस टेस्ट मैच में 97 रन पर आउट होने से पहले कोहली 2013 में द. अफ्रीका में खिलाफ 96 रन पर आउट हुए थे।
ये खिलाड़ी कोहली को रहा है रोक-97 रन पर खेल रहे कोहली आदिल राशिद की लेग ब्रेक गेंद पर आउट हो गए। उन्होंने स्लिप पर खड़े बेन स्टोक्स को आसान सा कैच थमा दिया। मौजूदा सीरीज़ में ये दूसरी मौका है जब राशिद ने कोहली को आउट किया। इस बार उन्होंने विराट को 97 रनों पर तो पहले टेस्ट में 149 रनों पर आउट किया। आपको बता दें की टेस्ट मैचों में विराट कोहली ने पहली पारी खेलते हुए जब भी 50 से ज़्यादा स्कोर बनाए हैं, उसमें ये दूसरा मौका रहा जब वो शतक जड़ने से पहले ही आउट हो गए। इससे पहले वो इसी साल द. अफ्रीका के खिलाफ खेले गए जोहानिसबर्ग टेस्ट मैच में 54 रन पर आउट हो गए थे।

नई दिल्ली। भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने कहा कि लॉर्ड्स टेस्ट मैच की दोनों पारियों में फेल होने के बाद मैंने अपनी बल्लेबाजी के बारे में काफी सोच-विचार किया। अपनी इसी चिंतन की वजह से मैं ट्रेंट ब्रिज में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में 81 रन की पारी खेलने में कामयाब हो पाया। पहले दिन रहाणे ने विराट को साथ अच्छी साझेदारी…
नई दिल्ली।भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरे टेस्ट में मेजबान टीम के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने भारत की पहली पारी में ना केवल 3 विकेट झटके बल्कि एक बड़ा रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया। हालांकि ये रिकॉर्ड उन्होंने पहले दिन हार्दिक पांड्या का विकेट लेकर ही बना लिया था।दरअसल एंडरसन ने भारत के खिलाफ अपने 100 शिकार पूरे कर लिए हैं। भारत के खिलाफ विकेट का शतक बनाने…
नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज मिचेल जॉनसन ने क्रिकेट के सभी प्रारूप से संन्यास की घोषणा कर दी है, इसका मतलब है कि वह अब आइपीएल में भी नहीं खेलते दिखाई देंगे। जॉनसन ने संन्यास की घोषणा करते हुए कहा कि मुझे उम्मीद थी कि मैं अगले साल तक अलग अलग देशों में होने वाली टी-20 में खेल सकता हूं लेकिन सच तो ये हैं कि मेरा शरीर…
नई दिल्ली। घरेलू सत्र में लगातार अच्छा प्रदर्शन करके टी-20 और टेस्ट टीम में जगह बनाने के बाद ट्रेंट ब्रिज में पहली बार टेस्ट कैप हासिल करने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत का सफर आसान नहीं रहा है। उन्होंने यहां तक पहुंचने के लिए दिल्ली के मोती बाग गुरुद्वारे में रात बिताई और लंगर में खाना खाया। रिषभ सहित रमन लांबा, आकाश चोपड़ा, आशीष नेहरा, शिखर धवन सहित दर्जनों क्रिकेटर…
Page 1 of 307

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें