खेल

खेल (3297)

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच चल रहे 6 मैचों की सीरीज में भारत भले ही चौथा वन डे हार गया, लेकिन विराट की सेना अभी भी 1-3 से आगे है। यानी टीम इंडिया को इतिहास रचने के लिए सिर्फ एक जीत की दरकार है। लेकिन सवाल उठता है कि प्रोटियाज को लगातार तीन मैचों में हराने वाली ब्लू जर्सी वाली विराट की सेना दक्षिण अफ्रीका की पिंक जर्सी से कैसे हार गई। अगर पूरे मैच पर गौर करें तो टीम इंडिया हार की कई वजहें रहीं। तो आइए एक-एक जानते हैं आखिर वो कौन से कारण रहें जिससे दक्षिण अफ्रीका की गुलाबी गैंग फिर से वापसी कर गई। बार-बार बारिश के कारण खेल में बाधा आने के बावजूद दक्षिण अफ्रीका ने 15 गेंद पहले ही लक्ष्य हासिल कर भारत को पांच विकेट से हरा दिया। इस मैच में मेहमान टीम की ओर से क्लासेन (43) और मिलर (39) की बेहतरीन बल्लेबाजी की मदद से दक्षिण अफ्रीका ने इस जीत के बाद 6 मैचों की सीरीज का स्कोर 1-3 कर लिया। इससे पहले भारतीय पारी में सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (109) के करियर के 100वें मैच में शतक और कप्तान विराट कोहली (75) की हाफ सेंचुरी से टीम इंडिया ने 7 विकेट पर 289 रन बनाकर 290 रनों का लक्ष्य दिया था, न्यू वांडर्स की पीच पर टीम इंडिया की हार में कोई एक विलेन नहीं रहा बल्कि कई ऐसे कारण रहे जिनसे टीम इंडिया हार गई।
ये है टीम इंडिया की हार की वजह
1. स्पीनर्स का फ्लॉप शो:-हालांकि भारत के कलाई के स्पिनरों की जोड़ी युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने पिछले तीन मुकाबलों में दक्षिण अफ्रीकी बैटिंग लाइनअप की कमर तोड़ दी और भारत की जीत में शानदार भूमिका निभाई। लेकिन चौथे वन डे मैच में चहल और कुलदीप सबसे महंगे गेंदबाज साबित होंगे ये उनलोगों ने सपने में भी नहीं सोचा होगा। इस मैच में दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज इन दोनों स्पिनर्स के फिरकी में नहीं फंसे और खूब रन बटोरो। अब आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि चहल ने इस मैच में कितने रन लुटाए होंगे। चहल ने इस मैच में 5.3 ओवर गेंदबाजी की, जिसमें उन्होंने 68 रन खर्च कर सिर्फ 1 विकेट लिया। यानी प्रति ओवर 12 से भी ज्यादा। वहीं चाइनामैन कुलदीप ने 8.50 रन प्रति ओवर खर्च किए। उनका बॉलिंग विश्लेषण भी कुछ इस प्रकार रहा। कुलदीप ने 6 ओवर में दो विकेट लेकर 51 रन खर्च कर दिये। मजे की बात है कि पहले तीन वनडे में चहल और कुलदीप की गेंदों पर कुल 13 बाउंड्री लगी, जिनमें 4 छक्के शामिल रहे। लेकिन अकेले चौथे वनडे में साउथ अफ्रीकी बल्लेबाजों ने 14 बाउंड्री जड़ दी, जिनमें 8 छक्के भी हैं।वहीं मौजूदा वनडे सीरीज में ये दोनों स्पिनर्स 12-12 विकेट लेकर शीर्ष पर हैं। शुरुआती तीन वनडे में दोनों की फिरकी इस कदर चली कि अफ्रीकी लगातार ढेर होते गए और टीम इंडिया ने छह वनडे मैचों की सीरीज में 3-0 की बढ़त हासिल कर ली।
2. भारी पड़ी चहल की गलती :-चहल की एक और गलती भारी पड़ी, जब मिलर को चहल ने बोल्ड कर दिया था, लेकिन वह नो बॉल थी। नो बॉल से मिलर को जीवनदान मिल गया। उस वक्त वो महज 7 रन पर थे। आखिरकार मिलर ने 39 रन बनाकर टीम को जीत दिला दी। चहल ने इस मैच में 5.3 ओवर गेंदबाजी की, जिसमें उन्होंने 68 रन खर्च कर सिर्फ 1 विकेट लिया। यानी प्रति ओवर 12 से भी ज्यादा।
3. शिखर का आउट होना:-चौथे मैच में भारत की हार में मौसम भी विलेन बन कर उभरा। इस मैच में बारिश और कम रौशनी की वजह से खेल को बार-बार रोकना पड़ा। मैच रुकने की वजह से भारत को गंभीर नतीजे भुगतने पड़े। इन फॉर्म चल रहे शिखर धवन भी बारिश के बाद दोबारा खेल शुरू होने के बाद आउट हो गए। जब बारिश के कारण खेल रुका, तब टीम इंडिया 34.2 ओवर में दो विकेट खोकर 200 रन बना चुकी थी। तब यह लग रहा था कि कोहली का विकेट खोने के बावजूद टीम इंडिया करीब 350 रन का स्कोर बनाएगी। शिखर धवन और अजिंक्य रहाणे ब्रेक के समय क्रमशः 107 व 5 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद थे।ब्रेक के बाद जब मैच शुरू हुआ, तो टीम इंडिया ने धवन और रहाणे के विकेट जल्दी-जल्दी गंवा दिए। इससे टीम इंडिया का रनरेट धीमा हुआ और दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजों को हावी होने का मौका मिला। अगले 15 ओवर में टीम इंडिया सिर्फ 89 रन जोड़ सकी जबकि उसने 5 विकेट गंवा दिए। टीम इंडिया का स्कोर 289/7 रहा, जो स्थिति को देखते हुए काफी कम लगा।इससे पहले शिखर ने अपने 100 वें वनडे में शानदार खेल का प्रदर्शन कर सेंचुरी जड़ी। इस पारी के साथ शिखर धवन ने खुद को खास क्लब में शामिल करा लिया। शिखर धवन इस पारी के साथ दुनिया के उन बल्लेबाजों में शामिल हो गए, जिन्होंने अपने 100वें वनडे मुकाबले में शतक जड़कर मैच को यादगार बना दिया। वास्तव में किसी भी बल्लेबाज के लिए अपने 100वें मैच को यादगार बनाने का इससे बेहतर तरीका नहीं हो सकता। इस वनडे सीरीज में शिखर धवन का बल्ला लगातार बोला। शिखर ने किंग्समीड में पहले वनडे में 35, सेंचुरियन में नाबाद 51 और केपटाउन में तीसरे वनडे में 76 रन बनाए थे और अब न्यूवांडर्स में शतक ठोकर अपने वनडे करियर का 13वां शतक जड़ डाला।
4. गेंदबाजी और फिल्डिंग की गलतियां:-टीम इंडिया की चौथे वन-डे में कई खामियां देखने को मिली। विराट कोहली पहले तीन वन-डे में हवाई शॉट्स खेलते नहीं दिखे, लेकिन शनिवार को उन्होंने कई बार बड़े शॉट्स खेलने का प्रयास किया। मोरिस की गेंद पर उन्होंने एक रिस्की शॉट खेला, जिसका खामियाजा टीम को भुगतना पड़ा और डेविड मिलर ने उनका आसान कैच लपका। वहीं गेंदबाजी में भी खिलाड़ियों का जोश पहले के तीन वन-डे की तुलना में कम नजर आया। चहल ने दो नो बॉल डाली, जिसमें से एक पर मिलर का विकेट मिला जबकि दूसरे पर क्लासेन ने छक्का जड़ दिया।टीम इंडिया का दिन खराब ही मान सकते हैं क्योंकि फील्डिंग भी उसकी टॉप लेवल की नजर नहीं आई, जिसके लिए वह जानी जाती है। श्रेयस अय्यर ने चहल की गेंद पर स्क्वायर लेग में 'किलर मिलर' का कैच टपका दिया। टीम इंडिया इन गलतियों के चलते मैच गंवा बैठी।
5.ओवर्स का घटना:-खराब मौसम के कारण जब दूसरी बार मैच रुका, तब यह तय हो गया कि पूरे 50 ओवर का मैच नहीं होगा। दूसरे ब्रेक के दौरान दक्षिण अफ्रीका का स्कोर 7.2 ओवर में 1 विकेट पर 43 रन था। फिर ब्रेक के बाद उसे 28 ओवर में 202 रन का संशोधित लक्ष्य मिला।कई लोग यह कह सकते हैं कि प्रोटियाज टीम पर दबाव बढ़ा होगा, लेकिन सच्चाई यह रही कि स्थिति उनके पक्ष में गई।मौजूदा दक्षिण अफ्रीकी टीम टी20 प्रारूप में काफी अनुभवी है। यही हुआ कि रिस्ट स्पिनर्स से खौफ खाने वाले अफ्रीकी बल्लेबाजों ने मैदान के चारों कोनों में शॉट्स घुमाए और कुलदीप-चहल की जमकर पिटाई की। इस दौरान मिलर और क्लासेन अलग ही रूप में नजर आए।
6. मैदान का गीला होना पड़ गया भारी:-जब वांडरर्स मैदान पर बारिश हुई तो स्क्वायर के आकार को कवर कर दिया गया जबकि शेष मैदान पानी से भीगता रहा।जब मैच दोबारा शुरू हुआ तो आउटफील्ड काफी गीली थी। इससे टीम इंडिया को दो बड़ी मुश्किलें हुई; पहली कि स्पिनर्स की ग्रिप पर पकड़ नहीं बनी और दूसरी फील्डिंग भी चुनौती बन गई।चहल और 'चाइनामैन' कुलदीप यादव जो अब तक टीम इंडिया के ट्रंप कार्ड साबित हुए, उनकी खूब पिटाई हुई। वह गेंद को स्पिन नहीं करा पाए। उनकी गेंद पिच पर पड़ने के बाद फिसली नहीं और सीधे बल्ले पर जाकर लगी। गीले मैदान के कारण कुछ मिसफील्डिंग देखने को मिली, जिससे टीम इंडिया को काफी नुकसान हुआ।
7. डीविलियर्स की वापसी:-पिंक डे पर दक्षिण अफ्रीका की जीत की परंपरा नहीं टूटी और प्रोटियाज ने भारत को 5 विकेट से हरा दिया। इस जीत में एबी डीविलियर्स की वापसी को भी अहम माना जा रहा है। इस मैच में डीविलियर्स ने अपनी चुस्त फील्डिंग के दम पर कई रन बचाए और शिखर का कैच भी लिया। डीविलियर्स ने इस मैच में सिर्फ 18 गेंदों का सामना किया और दो छक्के और 1 चौका लगा 26 रन बनाए। एबी को पांड्या की गेंद पर रोहित ने लपका।

 


कोलंबो - हाल ही में श्रीलंका की टी-20 में न चुने जाने के बाद तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा खेल से संन्यास के बारे में सोच रहे हैं। मलिंगा का इस तरह का फैसला लेने के पीछे दो कारण हो सकते हैं। इनमें इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-2018 और बांग्लादेश के खिलाफ टीम में न चुना जाना है। आईपीएल में किसी भी फ्रेंचाइजी द्वारा न खरीदे जाने के बाद मलिंगा को मौजूदा विजेता मुंबई इंडियंस ने अपना गेंदबाजी मेंटर नियुक्त किया है। वेबसाइटक्रिकइंफो ने मलिंगा के हवाले से लिखा, 'मैं इस बात को लेकर आश्वस्त नहीं हूं कि मैं भविष्य में कब तक खेल पाऊंगा। अभी मैं चोटों को परखने के लिए घरेलू वनडे क्रिकेट में खेलने के बारे में सोच रहा हूं, लेकिन मैंने अभी तक फैसला नहीं लिया है।'
बता दें कि मलिंगा ने यह बात स्विट्जरलैंड में आइस क्रिकेट मैच के लिए रवाना होने से पहले कही थी। मलिंगा ने मुंबई का मेंटर बनने पर कहा, 'मैंने अपने करियर में क्रिकेट और गेंदबाजी के बारे में काफी कुछ सीखा है। इसलिए यह अच्छा है कि मैं उस जानकारी को दूसरों को दे पाऊंगा। मैंने पहले भी आईपीएल में जसप्रीत बुमराह के साथ जानकारी बांटी है। अगर श्रीलंका टीम मुझे चाहती है तो यह मेरे लिए अच्छा होगा कि मैं आने वाली पीढ़ी की मदद कर सकूं।'


नई दिल्ली - अंडर-19 वर्ल्डकप का खिताब जीतने वाली टीम इंडिया का एक खिलाड़ी गलत कारणों की वजह से खबरों में हैं। बता दें कि वो खिलाड़ी हैं अनुकूल रॉय । मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बिहार के रहने वाले और झारखंड की ओर से खेलने वाले अनुकूल रॉय पर आरोप लगाया गया है कि वो ओवरएज होने के बावजूद अंडक 19 वर्ल्डकप में खेलें।
बता दें कि अंडर 19 वर्ल्डकप में अनुकूल रॉय ने अपनी स्पिन गेंदबाजी से सबको प्रभावित किया था। अनुकूल ने 6 मैच में 14 विकेट हासिल किए थे।
लेकिन अब अनुकूल की उम्र को लेकर आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग का खुलासा करने वाले याचिकाकर्ता आदित्य वर्मा ने नया चौंकाने वाला दावा किया है। उन्होंने बीसीसीआई के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है।
आदित्य वर्मा ने अमिताभ चौधरी पर आरोप लगाते हुए कहा है कि बीसीसीआई ने बिना अनुकूल की उम्र को जाने उसे वर्ल्डकप में खेलने की इजाजत दी। उन्होंने इसके लिए अमिताभ चौधरी को जिम्मेदार बताया।
आदित्य वर्मा ने मामले पर आईसीसी चेयरमैन शशांक मनोहर और बीसीसीआई के प्रशासको की समिति के सदस्य विनोद रॉय ने इस मामले को संज्ञान में लेते हुए एक नोटिस जारी कर दिया है।


सेंट मोरित्ज - क्रिकेट ग्राउंड की जगह बर्फ के मैदान पर क्रिकेट खेलना कितना मुश्किल है, ये तो आप मैच देखकर ही अंदाजा लगा सकते हैं। स्विट्जरलैंड के सेंट मोरित्ज में शाहिद अफरीदी की टीम रॉयल्स और वीरेंद्र सहवाग की टीम पैलेस डायमंड्स के बीच टी20 मैच खेला गया, जिसमें शाहिद अफरीदी रॉयल्स इलेवन ने आइस क्रिकेट सीरीज 2-0 से जीत ली। इस दौरान पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी करोड़ों भारतीयों का दिल जीतने में भी कामयाब रहे। इसके साथ ही उन्होंने क्रिकेट के ग्राउंड में कुछ ऐसा कर दिया, जो उनके फैंस खुश हो गए। दरअसल, दूसरे मैच के बाद अफरीदी हिंदुस्तान के तिरंगे का सम्मान करते नजर आए, जिसका वीडियो खूब वायरल हो रहा है।
क्रिकेट ग्राउंड की जगह बर्फ के मैदान पर क्रिकेट खेलना कितना मुश्किल है, ये तो आप मैच देखकर ही अंदाजा लगा सकते हैं। स्विट्जरलैंड के सेंट मोरित्ज में शाहिद अफरीदी की टीम रॉयल्स और वीरेंद्र सहवाग की टीम पैलेस डायमंड्स के बीच टी20 मैच खेला गया, जिसमें शाहिद अफरीदी रॉयल्स इलेवन ने आइस क्रिकेट सीरीज 2-0 से जीत ली। इस दौरान पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी करोड़ों भारतीयों का दिल जीतने में भी कामयाब रहे। इसके साथ ही उन्होंने क्रिकेट के ग्राउंड में कुछ ऐसा कर दिया, जो उनके फैंस खुश हो गए। दरअसल, दूसरे मैच के बाद अफरीदी हिंदुस्तान के तिरंगे का सम्मान करते नजर आए, जिसका वीडियो खूब वायरल हो रहा है।
तिरंगे के प्रति इतना सम्मान देखने के बाद उनका ये वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। वे काफी तारीफें बटोर रहे हैं। इस वीडियो में खास बात यह है कि मैच जीतने के बाद जब शाहीद अफरीदी लोगों से मिले तो पाकिस्तानी फैंस के साथ इंडियन फैंस भी उनसे मिलने के लिए उतने ही बेताब नजर आए। अफरीदी भी खुद को नहीं रोक पाए उन्होंने बारी-बारी से फैंस के साथ फोटो खिंचवाईं और ऑटोग्राफ दिए।


प्योंगयोंग - Winter Olympics 2018 की शुरुआत 9 फरवरी से साउथ कोरिया के प्योंगचैंग में हो चुकी हैं। और इसी के साथ स्वीडन की कैरोलेट काला ने प्योंगयोंग शीतकालीन ओलंपिक खेलों के पहले दिन शनिवार को महिलाओं की क्रॉस कंट्री स्की स्पर्धा जीतकर इन खेलों का सर्वप्रथम स्वर्ण पदक अपने नाम किया। काला ने महिलाओं की 7.5 किलोमीटर प्लस 7.5 किलोमीटर स्कायथलॉन में शीर्ष स्थान के साथ स्वर्ण जीता। वहीं नोवेर् की मारित जोगेर्न विजेता से 7.8 सेकंड पीछे रहीं और रजत जीता जबकि फिनलैंड की क्रिस्टा पारमाकोस्की ने कांस्य जीता।


नई दिल्ली - भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच चल रही ODI सीरीज का चौथा मैच जोहान्सबर्ग के वांडरर्स स्टेडियम में खेला जाएगा। पिछले तीन मैचों में दक्षिण अफ्रीका को करारी हार मिली है। चौथे मैच में भी मेजबानों के लिए भारतीय टीम से निपटना खासी चुनौतीपूर्ण रहेगा। लेकिन ये मैच दक्षिण अफ्रीका के लिए अलग महत्व रखता है। क्योंकि, यह पिंक वनडे होगा जो स्तन कैंसर के प्रति जागरूकता के लिए खेला जाता है। इस दौरान अफ्रीकाई टीम पिंक जर्सी पहनकर खेलने उतरेगी।
पिंक जर्सी पहनकर नहीं हारा कोई मैच...
पिंक जर्सी पहनने के बाद दक्षिण अफ्रीकी टीम ने आज तक कोई भी मैच नहीं हारा है और टीम को उम्मीद है कि वह इस बार भी पिंक जर्सी में जीत की राह पर लौटेगी। पहला पिंक वनडे साल 2011 में खेला गया था और यह छठा पिंक वनडे होगा।
डिविलियर्स की वापसी...
तीन वनडे मैचों में बाहर बैठने वाले अब्राहम डिविलियर्स इस मैच में मैदान पर उतर सकते हैं। वह उंगली में चोट के बाद वापसी कर रहे हैं। लेकिन, उनका मैच में खेलना शुक्रवार दोपहर में होने वाले फिटनेस टेस्ट पर निर्भर करेगा।

देहरादून - स्टार क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी का ससुराल देहरादून में है। यहां नेमी रोड पर धोनी की पत्नी साक्षी के परिवार वाले रहते हैं। पिछली बार की तरह धोनी ने बेटी जीवा का तीसरा बर्थडे उसके ननिहाल में ही सेलिब्रेट किया गया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक महेंद्र सिंह धोनी की बेटी जीवा का तीसरा जन्मदिन 6 फरवरी को सेलिब्रेट किया गया। जीवा ने नानी और मां संग बर्थडे मनाया।…
नई दिल्ली - मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर भी इंटरनेशनल क्रिकेट में एंट्री मारने के लिए कमर कसकर तैयार हो रहे हैं। सचिन महान क्रिेकेटर रहे हैं और इसका काफी दबाव उनके बेटे पर भी है। सचिन ने अपने बेटे का साथ खुद की तुलना पर कहा कि उसे 'अर्जुन' ही होना चाहिए।सचिन का मानना है, 'अर्जुन को अर्जुन रहना चाहिए, और उन पर मेरे नाम का…
नई दिल्ली - फुटवियर कंपनी बाटा ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम की स्टार बल्लेबाज स्मृति मंधाना को अपना ब्रांड एंबेसेडर चुना है। 21 साल की मंधाना दक्षिण अफ्रीका के दूसरे वनडे इंटरनेशनल मैच में बुधवार को 135 रन की अपने करियर की बेस्ट पारी खेली।उन्होंने 129 गेंदों पर 135 रन की अपनी पारी में 14 चौकों और एक छक्का लगाया। उनकी इस सेंचुरी की बदौलत भारतीय महिला टीम ने तीन…
स्विट्जरलैंड - क्रिकेट के मैदान पर वीरेंद्र सहवाग के चौके छक्के तो आपने बहुत देखे होंगे, लेकिन बर्फ के मैदान पर उनकी बल्लेबाजी देखना बिल्कुल अलग रहा। स्विट्जरलैंड के सेंट मोरिट्ज में शाहिद अफरीदी की टीम रॉयल्स और वीरेंद्र सहवाग की टीम पैलेस डायमंड्स के बीच टी20 मैच खेला गया। अफरीदी बर्फ के मैदान पर बिना खाता खोले आउट हुए, जबकि वीरू ने तेज हाफसेंचुरी जड़ी। हालांकि बावजूद इसके सहवाग…
Page 7 of 236

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें