खेल

खेल (2823)


तिरुवनंतपुरम - भारत ने न्यूजीलैंड को तीसरे और निर्णायक टी20 मुकाबले में 6 रन से हराकर तीन मैचों की सीरीज पर 2-1 से कब्जा कर लिया। भारत ने वर्षा बाधित मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 8 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 67 रन बनाए। जवाब में कीवी टीम 8 ओवर में 6 विकेट गवांकर 61 रन ही बना सकी। भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह ने दो व भुवनेश्वर कुमार और कुलदीप यादव ने एक-एक विकेट लिया। न्यूजीलैंड टीम के दो बल्लेबाज रन आउट हुए। जसप्रीत बुमराह को 'मैन आॅफ द मैच' और 'मैन आॅफ द सीरीज' खिताब से नवाजा गया।
भारत द्वारा दिए गए 68 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी कीवी टीम के लिए पारी की दूसरी ही गेंद पर कॉलिन मुनरो ने भुवनेश्वर कुमार को छक्का जड़ दिया। इसके बाद भुवनेश्वर ने अपने इसी ओवर में मार्टिन गप्टिल को एक धीमी गेंद पर बोल्ड कर न्यूजीलैंड के पहले विकेट का पतन किया। अगले ओवर में जसप्रीत बुमराह ने सिर्फ तीन रन दिए और कॉलिन मुनरो का विकेट लिया। मुनरो ने बुमराह की गेंद को लॉन्ग ऑन पर खेलने की कोशिश की, जहां रोहित शर्मा ने छलांग लगाते हुए उनका शानदार कैच पकड़ा।
इसके बाद कप्तान केन विलियमसन और ग्लेन फिलिप्स ने मिलकर पारी को संभालने की कोशिश की लेकिन कुलदीप यादव के एक ही ओवर में दो विकेट गवांकर कीवी टीम बैकफुट पर आ गई। कुलदीप के इस ओवर में विलियमसन हार्दिक पंड्या के सीधे थ्रो पर 8 रन बनाकर रन आउट हो गए। अगली गेंद पर फिलिप्स ने लंबा शॉट खेलने की कोशिश की लेकिन डीप स्क्वॉयर लेग बाउंड्री पर शिखर धवन के हाथों कैच आउट हो गए।
न्यूजीलैंड टीम की उम्मीदें अब हेनरी निकल्स और डी ग्रैंडहोम पर टिकीं थी। हेनरी निकल्स सिर्फ 2 रन बनाकर आउट हो गए। बुमराह की गेंद को स्वीप करने के चक्कर में उन्होंने फाइन लेग पर अय्यर को कैच थमा दिया। अय्यर ने आगे दौड़कर बढ़िया कैच पकड़ा और कीवी टीम को 5वां झटका दिया। कीवी टीम को आखिरी 2 ओवरों में 29 रनों की जरूरत थी। 7वां ओवर बुमराह ने किया। कीवी टीम ने इस ओवर में खतरा उठाकर रन चुराने के कई प्रयास किया। इसका उन्हें खमियाजा भी भुगतना पड़ा। टॉम ब्रूस ने विकेटकीपर के हाथ में गेंद जाने पर एक रन दौड़कर ले लिया। धोनी ने गेंद बुमराह की ओर फेंकी। बुमराह ने गेंद थ्रो की लेकिन वह चूक गए। कीवी बल्लेबाज एक और रन के लिए दौड़ पड़े। हार्दिक पंड्या ने सीधा धोनी के हाथ में थ्रो किया और उन्होंने एक पल में गिल्लियां बिखेर दीं। ब्रूस 4 रन बनाकर पविलियन लौट गए।
भारतीय पारी
भारत ने बारिश से बाधित तीसरे और निर्णायक टी-20 मैच में मंगलवार को न्यूजीलैंड के सामने 68 रनों का लक्ष्य रखा। ग्रीनफील्ड स्टेडियम में खेले जा रहे इस मैच से पहले बारिश आ गई थी और इसी कारण मैदान गिला होने के कारण मैच में देरी हुई। देरी के चलते मैच 20 ओवरों से घटाकर आठ ओवर का कर दिया। भारत ने इन आठ ओवरों में पांच विकेट खोकर 67 रन बनाए हैं। कम ओवरों के मैच में भारत की कोशिश तेजी से रन बटोरते हुए बड़ा स्कोर खड़ा करने की थी। भारत की शुरुआत खराब रही। उसने तीसरे ओवर की दूसरी और तीसरी गेंद पर शिखर धवन (6) और रोहित शर्मा (8 ) के विकेट खो दिए।
इन दोनों को टिम साउदी की गेंद पर मिशेल सैंटनर ने 15 के कुल स्कोर पर लपका। हालांकि कप्तान विराट कोहली पर इसका असर नहीं पड़ा। उन्होंने अगला ओवर लेकर आए ईश सोढ़ी के ओवर में एक छक्का और एक चौका जड़ा, लेकिन एक और बड़ा शॉट मारने के प्रयास में वह डीप मिडविकेट पर ट्रेंट बाउल्ट के हाथों लपके गए। उन्होंने 6 गेंद में 13 रन बनाए। छह गेंदों में छह रन बनाने वाले श्रेयस अय्यर सोढ़ी की गेंद पर मार्टिन गुप्टिल द्वारा लपके गए। 11 गेंदों में एक चौके और एक छक्के की मदद से 17 रन बनाने वाले मनीष पांडे को सैंटनर और कोलिन ग्रांडहोम की जोड़ी ने शानदार कैच पकड़ते हुए पविलियन भेजा। हार्दिक पंड्या 10 गेंदों में एक छक्के की मदद से 14 रन बनाकर नाबाद लौटे। किवी टीम के लिए सैंटनर और सोढ़ी ने दो-दो विकेट लिए। बाउल्ट को एक सफलता मिली।


तिरुवनंतपुरम - टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और महान बल्लेबाज रह चुके सुनील गावस्कर अब महेंद्र सिंह धौनी के बचाव में उतर गए हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ राजकोट में भारत की हार के लिए धौनी को जिम्मेदार ठहराया जा रहा था, जिसके बाद पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण और अजित अगारकर ने यहां तक कहा था कि धौनी को अब ट्वंटी20 फॉरमैट को छोड़ देना चाहिए और यंगस्टर को मौका देना चाहिए।
कीवी टीम के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज भारत ने 2-1 से जीती। बुधवार को खत्म हुई सीरीज के बाद कप्तान विराट कोहली भी धौनी के सपोर्ट में खुलकर बोलते नजर आए। कोहली ने साफ कहा कि किसी को हक नहीं है कि वो धौनी को बताए कि कब तक उनका शरीर क्रिकेट खेलने लायक है। वहीं गावस्कर ने धौनी का तो बचाव किया ही साथ ही हार्दिक पांड्या को भी कटघरे में खड़ा कर दिया।
गावस्कर ने कहा कि पांड्या राजकोट ट्वंटी20 मैच में सस्ते में निपट गए थे, लेकिन लोग धौनी पर इल्जाम लगाने में इतना व्यस्त थे कि पांड्या की गलती पर किसी की नजर ही नहीं गई। राजकोट में भारत को 40 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। धौनी 37 गेंद पर 49 रन बनाकर आखिरी ओवर में आउट हुए थे। धौनी ने कई गेंद डॉट खेली थीं, जिसको लेकर उनकी काफी आलोचना हुई।
गावस्कर ने कहा, 'जब कोई 30 साल की उम्र पार कर लेता है, तो हर कोई उसके खेल में गलतियां ढूंढने लग जाता है। राजकोट में पांड्या गुगली गेंद समझ नहीं पाए थे और सस्ते में आउट हो गए थे, लेकिन किसी का ध्यान उनकी गलती पर नहीं गया। सलामी बल्लेबाजों ने अच्छा स्टार्ट नहीं दिया। उसको हमने नहीं देखा।'
गावस्कर ने कहा, 'लक्ष्मण और अजित की बात अपनी जगह पर ठीक है। उन्होंने देश के लिए काफी वक्त तक क्रिकेट खेला है और ऐसा (धौनी के बारे में) उनका सोचना है। जरूरी नहीं कि वैसा ही चयनकर्ता और कप्तान सोचें। हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा कि आगे क्या होता है।' इससे पहले विराट ने भी मैच के बाद धौनी की आलोचना को लेकर काफी कुछ कहा।

नई दिल्ली - 5 बार की विश्व चैम्पियन एम सी मेरीकॉम ने वियतनाम की हो चि मिन्ह सिटी में आयोजित एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में 5वें गोल्ड मेडल की ओर कदम बढ़ाते हुए मंगलवार को फाइनल में प्रवेश कर लिया। जबकि सोनिया लाथेर ने भी खिताबी मुकाबले में जगह बनाई। हालांकि भारत के लिये आज का दिन निराशाजनक रहा, जब चार बार की गोल्ड मेडल विजेता सरिता देवी (64 किलो) को ब्रॉन्ज मेडल से ही संतोष करना पड़ा। वो सेमीफाइनल में चीन की दोउ डैन से हार गईं।
मेरीकॉम ने जापान की सुबासा कोमुरा को 5-0 से हराया। वह छह में से पांचवीं बार इस टूनार्मेंट के फाइनल में पहुंची है जहां उनका सामना उत्तर कोरिया की किम हयांग मि से होगा। हयांग ने मंगोलिया की एन म्यांगमारदुलाम को मात दी। फाइनल जीतने पर यह 48 किलोवर्ग में उनका पहला एशियाई स्वर्ण होगा। 
ओलंपिक ब्रॉन्ज मेडल विजेता की मेरीकॉम पांच साल 51 किलो में भाग लेने के बाद 48 किलोवर्ग में लौटी है। जापानी मुक्केबाज ने उनके खिलाफ काफी रक्षात्मक खेल दिखाया। मेरीकॉम ने दूसरे राउंड में रफ्तार में इजाफा किया और आक्रामक खेल दिखाकर जीत दर्ज की। 
सोनिया ने काफी आक्रामक प्रतिद्वंद्वी उजबेकिस्तान की योदगोरोय मिजार्एवा को हराया। शिक्षा (54 किलो) ने अपने वर्ग में ब्रॉन्ज मेडल जीता, जिसे चीनी ताइपै की पूर्व युवा विश्व चैम्पियन लिन यू तिंग ने सेमीफाइनल में हराया। प्रियंका चौधरी (60 किलो) को भी कांस्य पदक मिला। उसे सेमीफाइनल में कोरिया की ओ यिओंजी ने मात दी।

नई दिल्ली - भारत और न्यूजीलैंड के बीच तीसरा और आखिरी टी-20 मैच तिरुवनंतपुरम में मंगलवार को खेला जायेगा। इस मैच के लिये दोनों टीमें सोमवार को पहुंच गयी थी। इस मैच से पहले टीम इंडिया के स्पिन गेंदबाज यजुवेन्द्र चहल ने और न्यूजीलैंड के बेहतरीन गेंदबाज ईश सोढ़ी शतरंज खेलते नजर आये। 
चहल क्रिकेट में पदार्पण से पहले शतरंज में भी इंटरनेशनल लेवल पर भारत की ओर से खेल चुके हैं। सात साल की छोटी उम्र से ही चहल को शतरंज और क्रिकेट दोनों में गहरी रुचि थी। वे अंडर-12 में नेशनल चेस चैंपियन रहे। 
चहल और सोढ़ी के बीच खेले गये शतरंज के मुकाबले में चहल ने जीत हासिल की। बीसीसीआई ने अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर चहल और सोढ़ी का चेस खेलते हुए फोटो पोस्ट किया। चहल ने फ्लाइट के अंदर सोढ़ी के साथ चेस का मैच खेलते हुए फोटो पोस्ट किया। चहल अंडर-12 वर्ग में नेशनल चैंपियन रह चुके हैं। उन्होंने कोझिकोड में एशियन यूथ चैंपियनशिप में हिस्सा लिया था और यूनान में वर्ल्ड यूथ शतरंज चैंपियनशिप में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया था।

नई दिल्ली - टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर वीवीवीएस लक्ष्मण और अजीत अगारकर ने महेंद्र सिंह धौनी को लेकर एक ऐसा बयान दिया है, जिस पर बवाल मच गया है। लक्ष्मण और अगारकर के मुताबिक धौनी को अब ट्वंटी20 नहीं खेलना चाहिए और यंगस्टर को मौका देना चाहिए। भारत और न्यूजीलैंड के बीच जारी तीन मैचों की ट्वंटी20 सीरीज का दूसरा मैच भारत ने 40 रनों से गंवा दिया था। जिसके बाद उन्होंने ये बयान दिया।
लक्ष्मण के इस बयान पर धौनी के फैन्स काफी भड़क गए हैं। ट्विटर पर इस बयान को लेकर लक्ष्मण पर जमकर निशाना साधा जा रहा है। कोई कह रहा है कि धौनी का बैटिंग ऑर्डर बदलकर तो देखो, तो कोई कह रहा है कि लक्ष्मण को ऐसा बयान देने का कोई हक नहीं है। 
दूसरे ट्वंटी20 मैच में टीम इंडिया के शुरुआती विकेट गिरने के बाद विराट कोहली और धौनी बैटिंग कर रहे थे। फैन्स को उम्मीद थी कि धौनी और कोहली मैच जिता देंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। धौनी काफी दबाव में नजर आ रहे थे और 49 रन बनाकर आउट हुए। धौनी ने 37 गेंदों पर 49 रनों की पारी खेली थी और आखिरी ओवर में आउट हुए थे।
लक्ष्‍मण ने कहा, 'टी-20 में महेंद्र सिंह धौनी की जगह नंबर 4 पर बनती है क्योंकि उन्हें क्रीज पर ज्यादा समय बिताने की जरूरत है। अब धौनी को युवा खिलाड़ियों को मौका देना चाहिए क्योंकि यही वो मौके हैं जिनके जरिए वो इंटरनेशनल क्रिकेट में अपनी जगह बना सकते हैं।' अगारकर ने कहा, 'मेरे हिसाब से भारत को अब और ऑप्शन्स पर ध्यान देना चाहिए। वनडे में वो जो रोल निभा रहे हैं, उससे वे खुश हो सकते हैं। जब आप टीम के कप्‍तान थे तो बात अलग थी लेकिन ये सोचने वाली बात है कि केवल एक बल्‍लेबाज के तौर पर टीम इंडिया उन्‍हें मिस करेगी। मुझे ऐसा नहीं लगता।'

नई दिल्ली - टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर और मौजूदा समय में सबसे मशहूर कमेंटेटरों में शुमार वीरेंद्र सहवाग को सोशल मीडिया पर लोगों के गुस्से का शिकार होना पड़ा। दरअसल वीरू ने एक दिव्यांग एथलीट के लिए आर्थिक मदद मांगते हुए ट्वीट किया, जिस पर लोगों ने जवाब दिया कि इतना पैसा है, खुद ही क्यों नहीं हेल्प कर लेते।
संजीव कुमार बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। उनकी नजर 2020 ओलंपिक पर है, जो टोकियो में खेला जाएगा। वीरू ने संजीव की फोटो शेयर करते हुए लिखा, 'संजीव का सपना पूरा करने में उनकी मदद करें। उन्हें 8 किलो की ग्रैंडस्लैम बैडमिंटन व्हीलचेयर की जरूरत है, जिसकी कीमत करीब 4 लाख रुपये है। चलिए हम उनके सफर को अपना सफर बनाएं, और मदद करें।'
वीरू के इस ट्वीट पर लोगों ने कमेंट करना शुरू कर दिया कि खुद इतना कमाते हैं, तो क्यों नहीं उनकी मदद अकेले ही कर देते। हालांकि वीरू ने इन ट्वीट्स का जवाब भी दिया। उन्होंने अपने जवाब में लिखा, 'मुझे मालूम है आप में से ज्यादातर लोग सोचेंगे कि मैं खुद ही क्यों नहीं अकेले ये मदद कर रहा हूं। मैं जब किसी मकसद के लिए कुछ देता हूं तो आपको बताने की जरूरत नहीं होती।'
वीरू ने एक और ट्वीट में लिखा, 'जब मुझे लगता है कि किसी मकसद में लोगों को शामिल किया जाना चाहिए तो मैं आपका सपोर्ट मांगता हूं। सोचिए कितना अच्छा लगेगा जब हम सब साथ में उनकी मदद करेंगे।'

नई दिल्ली - एशिया कप विजेता भारतीय महिला हॉकी टीम एफआईएच ताजा वर्ल्ड रैंकिंग में दो पायदान चढ़कर टॉप 10 में पहुंच गई है। जापान में हुए एशिया कप में खिताबी जीत दर्ज करने के बाद भारतीय महिला हॉकी टीम सोमवार देर रात स्वदेश लौटी। एयरपोर्ट पर टीम का जोरदार स्वागत हुआ।भारत ने जापान के काकामिगहरा में खेले गए फाइनल में चीन को पेनल्टी शूटआउट में 5-4 से हराकर 13…
देहरादून - अंतर्राष्ट्रीय महिला क्रिकेटर एकता बिष्ट को इस साल का खेल रत्न पुरस्कार से नवाजा गया है। सरकार ने उनके कोच लियाकत अली को द्रोणाचार्य पुरस्कार देने का निर्णय लिया गया है। सोमवार को सरकार की ओर से खेल रत्न और द्रोणाचार्य पुरस्कार की घोषणा की गई। हालांकि अभी लाइफ टाइम एचीवमेंट अवार्ड और वैटर्न अवार्ड की घोषणा नहीं की गई है। खेल रत्न और द्रोणाचार्य पुरस्कार की फाइल…
नई दिल्ली - भारतीय महिला हॉकी टीम ने रविवार को एशिया कप जीतकर विश्व कप के लिये क्वालीफाई किया और कप्तान रानी ने कहा कि टीम के लिये मेरिट के आधार पर इस बड़े टूनार्मेंट में जगह बनाना महत्वपूर्ण है। रानी ने भारत की चीन पर फाइनल में पेनल्टी शूटआउट में 5-4 से जीत के बाद कहा, हम बहुत खुश हैं कि हम एशिया कप जीतने और मेरिट के आधार…
नई दिल्ली - भारतीय महिला हॉकी टीम ने एशिया कप के फाइनल में चीन को हराकर इतिहास रच दिया। इससे पहले पुरूष हॉकी टीम ने भी एशिया कप 2017 में खिताबी जीत हासिल की। अब एशिया कप के दोनों वर्गों में भारत का कब्जा हो गया है। महिला टीम को अपने दूसरे एशिया कप के लिये 13 साल का लंबा इंतजार करना पड़ा। उसने इससे पहले 2004 में खिताब जीता…
Page 7 of 202

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें