खेल

खेल (4286)

दांबुला। तेज गेंदबाज कागिसो रबादा और बायें हाथ के कलाई के स्पिनर तबरेज शम्सी की शानदार गेंदबाजी तथा जेपी डुमिनी के तेजतर्रार अर्धशतक से दक्षिण अफ्रीका ने पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में श्रीलंका को 114 गेंदें शेष रहते हुए पांच विकेट से शिकस्त दी।रबादा ने 41 रन देकर चार और चाइनामैन गेंदबाज शम्सी ने 33 रन देकर चार विकेट लिये जिससे पहले बल्लेबाजी का फैसला करने वाली श्रीलंकाई टीम 34.3 ओवर में 193 रन पर ढेर हो गयी। दक्षिण अफ्रीका ने 31 ओवर में पांच विकेट पर 195 रन बनाकर पांच मैचों की श्रृंखला में शुरुआती बढ़त बनाई। डुमिनी ने 32 गेंदों पर नाबाद 53 रन बनाए।टेस्ट श्रृंखला के दोनों मैचों में पारी के अंतर से हार झेलने वाली दक्षिण अफ्रीकी टीम ने इस तरह से सीमित ओवरों में अच्छी वापसी की। रबादा ने श्रीलंका के शीर्ष क्रम को झकझोरने में देर नहीं लगाई जिसके पांच बल्लेबाज 36 रन तक पवेलियन लौट चुके थे। श्रीलंका अगर सम्मानजनक स्कोर तक पहुंच पाया तो इसका श्रेय कुसाल परेरा (81) और तिसारा परेरा (49) की पारियों को जाता है।दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही। उसने 31 रन के योग तक हाशिम अमला (17) और एडिन मार्करम (शून्य) के विकेट गंवा दिए थे लेकिन क्विटंन डिकॉक (47), कप्तान फाफ डु प्लेसिस (47) और डुमिनी की पारियों से टीम आसानी से लक्ष्य तक पहुंचने में सफल रही। डुमिनी ने अपनी पारी में छह चौके और दो छक्के लगाए। अब इस सीरीज़ का दूसरा वनडे एक अगस्त को इसी मैदान पर खेला जाएगा।इस मैच में द. अफ्रीका के स्पिनर तबरेज़ शम्सी ने 33 रन पर चार विकेट लिए और उन्हें उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए मैन आफ द मैच का पुरस्कार मिला।

 

 

नई दिल्ली। भारत व इंग्लैंड के बीच खेले जाने वाले पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले जो खिलाड़ी सबसे ज्यादा विवादों में रहा वो हैं इंग्लैंड के स्पिनर आदिल रशीद। आदिल राशीद को भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज से लिए खासतौर पर इंग्लिश टेस्ट टीम में शामिल किया गया वो भी तब जब वो दो वर्ष पहले ही उन्होंने टेस्ट प्रारूप से संन्यास ले लिया था। आदिल राशीद को भारत के खिलाफ टेस्ट टीम में शामिल करना कई पूर्व इंग्लिश दिग्गज को रास नहीं आया और उन्होंने खुलकर इसकी आलोचना तक कर दी। हालांकि कुछ खिलाड़ियों ने बोर्ड के इस फैसले को सही भी बताया पर आदिल राशीद के नाम पर जमकर विवाद हुआ। इन तमाम विवादों के बीच आदिल राशीद इंग्लैंड टेस्ट टीम का हिस्सा हैं और क्या भारतीय बल्लेबाजों को उनसे टेस्ट सीरीज में डरने की जरूरत है।
आखिर टीम में क्यों शामिल हुए राशीद;-इंग्लैंड की टीम में भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए खासतौर पर आदिल राशीद को शामिल किया गया। इसके पीछे चयनकर्ताओँ की सोच शायद ये है कि इस वक्त इंग्लैंड में जिस तरह का वातावरण है उसमें वो भारतीय टीम के खिलाफ काफी कारगर साबित हो सकते हैं। इसके अलावा इंग्लैंड टेस्ट टीम में स्पिनर के नाम पर सिर्फ मोइन खान हैं। राशीद के होने से टीम में दो स्पिनर हो जाएंगे और किसी मैच में जरूरत पड़ने पर दोनों खिलाड़ियों को अंतिम ग्यारह में शामिल किया जा सकता है। यही नहीं अगर किसी वजह से मोइन गेंद से अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं तो राशीद को उनकी जगह आजमाया जा सकता है। वहीं टेस्ट सीरीज से पहले इंग्लैंड ने भारत के खिलाफ टी 20 व वनडे सीरीज खेली थी। इन दोनों सीरीज में आदिल राशीद की गेंदबाजी अच्छी रही थी यानी उनका ये प्रदर्शन भी टेस्ट टीम में वापसी का आधार हो सकता है। राशीद ने भारत के खिलाफ तीन टी20 में सिर्फ दो विकेट लिए थे जबकि तीन वनडे मैचों की सीरीज में 6 विकेट चटकाए थे और काफी इकॉनामी रहे थे।
भारत के खिलाफ आदिल राशिद का टेस्ट में प्रदर्शन:-आदिल राशीद का टेस्ट करियर काफी छोटा है। वर्ष 2015 में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत करने वाले राशीद ने सिर्फ तीन देशों के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेली है जिनमें पाकिस्तान, बांग्लादेश और भारत शामिल है। भारत के खिलाफ उन्होंने वर्ष 2016 में भारतीय धरती पर ही पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेली थी। इस टेस्ट सीरीज में आदिल राशीद का प्रदर्सन काफी अच्छा रहा था। इन पांच टेस्ट मैचों में उन्होंने 7,6,5,4,1 विकेट लिए थे यानी उन्होंने कुल 23 शिकार किए थे। हालांकि राशीद ने इंग्लैंड में भारत के खिलाफ कोई टेस्ट सीरीज नहीं खेली है और अपनी धरती पर टीम इंडिया के खिलाफ ये उनकी पहली टेस्ट सीरीज होगी।
राशिद का टेस्ट करियर:-आदिल राशीद का टेस्ट करियर 13 अक्टूबर 20:15 के दिन अबू धाबी में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच के साथ शुरू हुआ था। पाकिस्तान के खिलाफ इस वर्ष उन्होंने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जिसका आखिरी मैंच 1 नवंबर 2015 के हुआ था। इस टेस्ट सीरीज के बाद वो लगभग एक वर्ष तक टेस्ट टीम से बाहर रहे। 20 अक्टूबर 2016 को उन्हें बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए टीम में वापस बुलाया गया। उन्हें टेस्ट में सिर्फ एशियाई देशों के खिलाफ ही आजमाया गया है। 16 दिसंबर 2016 के चेन्नई में भारत के खिलाफ उन्होंने टेस्ट मैच खेला था और उसके बाद टीम में लगातार मौका ना मिलने की वजह से उन्होंने टेस्स से संन्यास ले लिया पर वनडे व टी 20 में इंग्लैंड के लिए खेलते रहे। राशिद ने अब तक अपने देश के लिए 10 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उनके नाम पर सिर्फ 38 विकेट हैं।
कितने खतरनाक साबित हो सकते हैं राशिद;-ये तो तय है कि टेस्ट सीरीज में अगर आदिल राशीद को उनके हिसाब का पिच मिल गया तो भारतीय बल्लेबाज को वो परेशान कर सकते हैं। हालांकि इंग्लैंड में ये उनकी पहली टेस्ट सीरीज है तो जाहिर है उन पर अच्छे प्रदर्शन का दबाव जरूर होगा। भारत में तो वो काफी चले थे और ये बात भारतीय बल्लेबाजों के जहन में जरूर होगी। भारतीय बल्लेबाजों के हक में एक बात ये जाती है कि वो स्पिनर्स के खिलाफ अच्छा खेलते हैं और राशिद के खिलाफ टीम ने कुछ रणनीति तो जरूर बनाई होगी। उन्हें टेस्ट सीरीज में संभलकर धैर्य से खेलने की जरूरत होगी।

नई दिल्ली। इंग्लैंड में टी20 और वनडे सीरीज में प्रदर्शन को लेकर पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी की काफी आलोचना की गई लेकिन इन सबसे बावजूद उनकी लोकप्रियता में कोई कमी नहीं आई है। एक सर्वे के मुताबिक धौनी सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले खिलाड़ियों की सूची में पूर्व भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और तूफानी बल्लेबाज विराट कोहली से आगे हैं। एक साइट ने सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले खिलाड़ियों को लेकर सर्वे किया जिसमें धौनी को पांचवां जबकि सचिन व विराट को छठा और आठवां स्थान मिला। इस सूची में अंतरराष्ट्रीय फुटबॉलर लियोन मेसी और क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने भी जगह बनाई है। वहीं इंग्लैंड के पूर्व फुटबॉलर डेविड बेकहम ने भी भारत से सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले खिलाड़ियों की सूची में जगह बनाई है। इस सर्वे की माने तो धौनी इस वक्त देश में सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले खिलाड़ी हैं। इस सर्वे को वेबसाइट Yougov.co.uk ने करवाया था जिसमें धौनी से ज्यादा पसंद किए जाने वालों की सूची में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं। ये वेबसाइट साल में एक बार दुनिया के सबसे प्रशंसित व्यक्ति के बारे में ये सर्वे करवाती है। ये सर्वे इस वर्ष की शुरुआत में करवाया गया था। जिस वक्त ये सर्वे हुआ उस वक्त भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट सीरीज खेल रही थी और धौनी टीम का हिस्सा नहीं थे।

नई दिल्ली। किसी भी टूर्नामेंट में भारत का पाकिस्तान से मुकाबला दर्शकों में बहुत ही रोमांच पैदा करता है। काफी दिनों से भारत और पाकिस्तान के आपसी रिश्ते बेहतर न होने के कारण दोनों देशों के बीच बाइलेटरल सीरीज नहीं खेली गई है। जिससे आइसीसी के टूर्नामेंट में होने वाले भारत बनाम पाक मैचों में दोनों देशों के दर्शकों का मैच के प्रति कुछ ज्यादा ही रोमांच बढ़ जाता है। एशिया कप में दोनों टीमें एक बार फिर से मुकाबले के लिए तैयार हैं। इस मुकाबले में विराट के नेतृत्व में भारतीय टीम दुनिया की टॉप की टीमों में से एक है, जबकि पाकिस्तान की टीम मौजूदा समय में युवा खिलाड़ियों के दम पर लगातार बेहतर प्रदर्शन कर रही है। आने वाले सितंबर महीने में दोनों टीमें एक-दूसरे को पस्त करने के उद्देश्य से उतरेंगी इस दौरान भारतीय टीम के गेंदबाजों को पाकिस्तान के फखर जमां और इमाम उल हक सरीखे खिलाड़ियों से सावधान रहना होगा।अगर हम पाकिस्तान क्रिकेट की बात करें तो पिछले कुछ सालों में पाकिस्तान क्रिकेट में काफी बदलाव दिखाई दिया है। टीम में पुराने दिग्गजों के संन्यास लेने के बाद से पाक टीम में कई नए खिलाड़ियों को टीम में शामिल होने का मौका मिला है, जिनमें कुछ खिलाड़ियों ने तो अपनी बेहतरीन क्रिकेट से क्रिकेट जगत को ही हैरत में डाल दिया। हम बताएंगे आपको मौजूदा पाकिस्तानी टीम के इन दो युवा बल्लेबाजों की जिन्होंने अपनी दमदार पारियों की बदौलत जिम्बॉब्वे को उसके घर में क्लीन स्वीप किया और पाकिस्तान के लिए कई नए कीर्तिमान भी स्थापित किए।

कोलकाता। ईडन गार्डेंस स्टेडियम टीम इंडिया के लिए हमेशा से ही लकी रहा है लेकिन जब-जब पड़ोसी मुल्क के एक खिलाड़ी ने इस मैदान पर कदम रखा तो ईडन में यह मिथक टूट गया। वह शख्स कोई और नहीं, दुनिया के सर्वोत्तम ऑलराउंडर में शुमार पाकिस्तान के इमरान खान हैं। दुनिया उन्हें इमरान खान के नाम से जानती थी लेकिन साथी खिलाड़ियों के लिए वे उनके ‘कप्तान’ थे। सामने से नेतृत्व करने वाला नायक। ईडन में इमरान का हमेशा ही दबदबा रहा।करीब दो दशक लंबे शानदार करियर के दौरान उन्होंने एशिया के इस विशालतम क्रिकेट ग्राउंड में पांच अंतरराष्ट्रीय मैच खेले। तीनों वनडे और एक टेस्ट में उन्होंने पाक टीम का नेतृत्व किया और एक टेस्ट आसिफ इकबाल की कप्तानी में खेला।
पहले ही मैच से छा गए थे ‘आइके’:-पूर्व भारतीय चयनकर्ता संबरन बनर्जी ने बताया, ‘1980 में पाकिस्तान के भारत दौरे के समय इमरान ने आसिफ इकबाल की कप्तानी में ईडन में पहला टेस्ट खेला। उस मैच में इमरान ने पहली पारी में चार और दूसरी पारी में पांच विकेट चटकाए थे। मैच ड्रॉ रहा था लेकिन इमरान छा गए। इसके सात साल बाद 1987 के भारत दौरे में उन्होंने बतौर कप्तान यहां अपना दूसरा टेस्ट खेला। बेनतीजा रहे उस मैच में उन्होंने दो विकेट चटकाए थे।
वनडे में और भी शानदार रिकॉर्ड:-ईडन में वनडे में इमरान का बतौर कप्तान 100 फीसद रिकॉर्ड रहा है। ईडन में सबसे पहला मैच भारत-पाक के बीच पहला मैच 18 फरवरी, 1987 को खेला गया था। इमरान की कप्तानी में पाकिस्तान ने उस ऐतिहासिक मैच को दो विकेट से जीता था। इमरान ने उस मैच में दो विकेट लिए थे। इसके बाद 1989 में इमरान की कप्तानी में पाकिस्तान ने इसी मैदान में भारत को फिर एमआरएफ वल्र्ड सीरीज टूर्नामेंट (नेहरू कप) के मैच में 77 रनों से मात दी थी। इमरान ने उस मैच में गेंदबाजी तो नहीं की लेकिन 39 गेंदों पर नाबाद 47 रन की आतिशी पारी खेलकर मैन ऑफ द मैच बने थे।
पाकिस्तान को जिताया खिताब:-इसके बाद इसी मैदान पर वेस्टइंडीज के खिलाफ टूर्नामेंट के फाइनल में इमरान ने तीन विकेट झटककर और नाबाद 55 रनों की शानदार पारी खेलकर पाकिस्तान को खिताब जिताया था और यहां दूसरी बार यहां मैन ऑफ द मैच बने थे। ईडन में वनडे में इमरान का बल्लेबाजी औसत 100 से ऊपर (104.0) रहा है। दो साल पहले ईडन में भारत-पाक के बीच हुए टी-20 विश्वकप के मैच के दौरान उन्हें क्रिकेट एसोसिशन आफ बंगाल (कैब) की तरफ से सम्मानित भी किया गया था।

 

नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड के बीच एक अगस्त से खेले जाने वाले पहले टेस्ट मैच के लिए इंग्लैंड की टीम ने अपने 13 खिलाड़ियों के नाम का एलान कर दिया है। इस टीम में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास का एलान कर देने वाले आदिल राशीद को भी मौका दिया गया है। राशीद ने अपना आखिरी टेस्ट मैच दो साल पहले 2016 में भारत के खिलाफ चेन्नई में खेला था। राशीद ने अभी तक इंग्लैंड के लिए 10 टेस्ट मैच खेले हैं और इन मैचों में उन्होंने 38 बल्लेबाज़ों का शिकार किया है। इेग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (इसीबी) ने गुरुवार को पहले टेस्ट मैच के लिए टीम की घोषणा की।
राशिद की इसलिए हुई संन्यास से वापसी:-नए राष्ट्रीय चयनकर्ता एड स्मिथ की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने दिसंबर 2016 में भारत दौरे के बाद टेस्ट से संन्यास लेने वाले राशिद को लगभग दो साल बाद फिर लाल गेंद सौंपने का फैसला किया है। राशिद अपने लेग स्पिन से भारतीय बल्लेबाजों को मुसीबत में डाल सकते हैं।
राशीद ने वनडे सीरीज़ में किया था शानदार प्रदर्शन:-राशीद ने वनडे सीरीज़ में दमदार प्रदर्शन किया था। राशीद ने पहले मैच में 62 रन देकर एक विकेट लिया था, तो दूसरे वनडे मैच में उन्होंने 38 रन देकर 2 शिकार किए थे। तीसरे मैच में उन्होंने अपनी गेंदबाज़ी से टीम इंडिया की कमर ही तोड़ दी थी। तीसरे वनडे में उन्होंने जिस तरह कप्तान विराट कोहली को आउट किया, उसे लोग बॉल ऑफ द सेंचुरी भी कहने लगे हैं। 3 वनडे मैचों में 6 विकेट लेने वाले राशीद ने अपनी टीम को सीरीज जिताने में अहम भूमिका निभाई थी। राशिद भारत के खिलाफ तीसरे वनडे में तीन विकेट लेकर मैन आफ द मैच बने थे।
राशीद ने कही थी ये बात:-उन्होंने वनडे और टी-20 फॉर्मेट में ध्यान लगाने के लिए टेस्ट क्रिकेट से दूरी बना ली थी। टेस्ट में वापसी को लेकर राशीद ने भी कहा था कि मैं टेस्ट क्रिकेट छोड़ चुका हूं लेकिन अगर टीम को मेरी जरुरत होगी तो मैं इस बारे में जरूर सोचूंगा।
जेमी पोर्टर को भी मिला मौका:-मेजबान इंग्लैंड ने एसेक्स के तेज गेंदबाज जेमी पोर्टर को पहली बार टीम में मौका दिया है। 25 साल के पोर्टर ने 61 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं। पोर्टर ने 2017 में पहले काउंटी चैंपियनशिप में 75 विकेट हासिल किए थे। उन्हें चोट से उबर रहे क्रिस वोक्स की जगह टीम में शामिल किया गया है।
मोइन अली को भी मिली जगह:-इसीबी ने अपने स्पिन विभाग को मजबूती देने के लिए राशिद के अलावा मोइन अली को भी शामिल किया है। मोइन ने 2014 में भारत के खिलाफ अपने पहले टेस्ट सीरीज में कुल 19 विकेट चटकाए थे। इंग्लैंड के लिए 50 टेस्ट मैच खेल चुके मोइन ने मार्च में न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी टेस्ट मैच खेला था।
पहले टेस्ट के लिए इंग्लैंड की टीम:-जो रूट (कप्तान), एलिस्टर कुक, कीटन जेनिंग्स, डेविड मलान, जॉनी बेयरस्टो (विकेटकीपर), बेन स्टोक्स, मोइन अली, जोस बटलर, आदिल राशीद, सैम कुर्रन, स्टूअर्ड ब्रॉड, जेम्स एंडरसन, जेमी पोर्टर।

 

 

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज दिनेश कार्तिक को साहा की गैरमौजूदगी में इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय टेस्ट टीम में शामिल किया गया। कार्तिक को इंग्लैंड के खिलाफ उनकी सरजमीं पर खेलने का अनुभव है साथ ही पिछले दिनों उनका प्रदर्शन भी अच्छा रहा है और यही वजह है कि उन्हें टेस्ट टीम का हिस्सा बनाया गया। कार्तिक ने टेस्ट सीरीज से पहले अभ्यास मैच में एसेक्स के खिलाफ…
नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को दूसरी बार बार्मी-आर्मी ने इंटरनेशनल क्रिकेटर ऑफ द ईयर के खिताब से नवाजा। विराट को ये खिताब बुधवार को बार्मी-आर्मी की तरफ से एसेक्स के खिलाफ खेले जा रहे तीन दिवसीय अभ्यास मैच के पहले दिन का खेल खत्म होने के बाद दिया गया। विराट पिछले कुछ वर्ष में लगातार भारतीय टीम के लिए क्रिकेट के हर प्रारूप में लगातार…
नई दिल्ली। एशिया कप में भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले मुकाबले की तारीख बदली जा सकती है। 19 सितंबर को ये महामुकाबला खेला जाना है, लेकिन अब इसकी तारीख में बदलाव हो सकता है।इसकी वजह है कि बीसीसीआइ इन दोनों कट्टर विरोधियों के बीच होने वाले इस मैच की तारीख से नाराज़ है।बीसीसीआइ ने एशिया कप के कार्यक्रम में भारत और पाकिस्तान के मैच की तारीख पर आपत्ति…
नई दिल्ली। भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ से पहले एसेक्स के खिलाफ एकमात्र अभ्यास मैच खेल रही है। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ की शुरुआत एक अगस्त से होनी है, लेकिन इससे पहले टीम इंडिया एसेक्स के खिलाफ तीनदिवसीय अभ्यास मैच खेल रही है। इस टीम में दो ऐसे भारतीय खिलाड़ी खेल रहे हैं जो कभी एक दूसरे के दुश्मन थे। लेकिन इस मुकाबले में दोनों ही भारतीय…
Page 7 of 307

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें