खेल

खेल (3297)


नई दिल्ली - पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी के प्रमुख एवं पूर्व क्रिकेटर इमरान खान ने अपनी आध्यात्मिक गुरू 'पीर बुशरा मानेका के साथ तीसरा निकाह किया है। 'पिंकी पीर के नाम से मशहूर बुशरा 47-48 साल की हैं और बुशरा की पहली शादी से उनके पांच बच्चे हैं। उनकी शादी एक वरिष्ठ कस्टम अधिकारी से हुई थी। हाल ही में दोनों अलग हुए हैं। आपको बता दें कि इमरान की पिछली दोनों शादियां तलाक के माध्यम से खत्म हुई हैं।
ज्योतिष, तावीज़, दम-दुरूद जानती हैं बुशरा
40 साल की बुशरा रियाज वाट्टू वंश की रहने वाली हैं। उनकी पहली शादी सीमा शुल्क विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी खावर फरीद मानेका के साथ हुई थी। उनकी दो बेटियां और तीन बेटे हैं। इमरान ख़ान की उनसे पहली मुलाक़ात भी तीन साल पहले तावीज़ और दुआ लेने के दौरान हुई। इमरान ख़ान अध्यात्मिक बुशरा बीबी से 2015 में उस वक़्त प्रभावित हुए जब बुशरा बीबी ने इमरान ख़ान के करीबी जहांगीर तरीन की लोधरा से उप-चुनावों में विजेता होने की भविष्यवाणी की थी।
बुशरा के दो बेटों इब्राहिम और मूसा ने लाहौर के एचिसन कॉलेज से ग्रेजुएशन पूरा किया। वे विदेश से आगे की पढ़ाई कर रहे हैं। बुशरा की तीन बेटियां हैं। इनमें सबसे बड़ी बेटी मेहरू पंजाब (पाकिस्तान) के सांसद मियां अट्टा मोहम्मद मानिका की बहू हैं।
43 साल की उम्र में इमरान ने पहली बार की शादी
1992 में क्रिकेट से संन्यास लेने के तीन साल बाद 1995 में इमरान ने ब्रिटिश उद्योगपति गोल्ड स्मिथ की बेटी जेमिमा गोल्ड स्मिथ से शादी की। जेमिमा से उनके दो बेटे हैं। जेमिमा और इमरान के बीच साल 2004 में तलाक हो गया था। इसके बाद 2014 में इमरान ने टीवी एंकर रेहाम खान से दूसरी शादी की थी। ये शादी सिर्फ 10 महीने ही चल सकी थी। बाद में दोनों तलाक लेकर अलग हो गए।
बेनजीर और जीनत अमान से भी जुड़ चुका है नाम
इमरान ख़ान की बायोग्राफ़ी लिखने वाले क्रिस्टोफ़र सैनफ़ोर्ड के अनुसार पाकिस्तान टीम के कैप्टन होने के समय लड़कियां उन पर जान झिड़कती थीं। इस लेखक के मुताबिक ऑक्सफोर्ड के दिनों में इमरान का अफ़ेयर पाकिस्तान की पूर्व दिवंगत पीएम बेनज़ीर भुट्टो से भी रहा था। 1980 के दशक में एक कामयाब क्रिकेटर के तौर पर इमरान का नाम भारतीय बॉलीवुड अभिनेत्री जीनत अमान से भी जोड़ा गया।


नई दिल्ली - 20 बार के ग्रैंड स्लेम चैंपियन स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर ने शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए दुनिया के पांचवें नंबर के खिलाड़ी बुल्गारिया के ग्रिगोव दीमित्रोव को हराकर रोटरडम टेनिस टूनार्मेंट में तीसरा खिताब जीत लिया। यह उनके करियर का 97वां खिताब था। विश्व रैंकिंग में फिर से शीर्ष स्थान पर पहुंचे फेडरर ने रविवार को खेले गए फाइनल में दीमित्रोव को 55 मिनट में 6-2, 6-2 से मात देकर तीसरी बार रोटरडम टेनिस टूनार्मेंट का खिताब जीत लिया। फेडरर की दीमित्रोव के खिलाफ सात मुकाबलों में सातवीं जीत है।
पिछले महीने ऑस्ट्रेलियन ओपन में अपने खिताब का बचाव करने वाले फेडरर एक दिन पहले ही पांच साल बाद फिर से नंबर वन बने हैं। सोमवार को जारी होने वाली ताजा विश्व रैंकिंग में 36 साल के फेडरर शीर्ष पर पहुंचने वाले दुनिया के सबसे उम्रदराज खिलाड़ी होंगे। फेडरर अब आंद्रे अगासी की पीछे छोड़ते हुए विश्व रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर पहुंचने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन गए। अगासी ने 2003 में 33 साल 131 दिन की उम्र में शीर्ष रैंकिंग हासिल की थी। फेडरर ने कहा कि अब उनका अगला लक्ष्य 100 करियर खिताब जीतने का है।


जोहान्सबर्ग - भारतीय तेज गेंदबाजी के अगुआ भुवनेश्वर कुमार का मानना है कि दक्षिण अफ्रीका के वर्तमान दौरे में भारतीय बल्लेबाजों ने शार्ट पिच गेंदों का अच्छी तरह से सामना किया जो कि टीम की सफलता का एक प्रमुख कारण है। भुवनेश्वर ने भारत की पहले टी20 में जीत के बाद कहा कि दक्षिण अफ्रीका ने इस मैच में शार्ट पिच गेंदों से भारतीय बल्लेबाजों को परेशान करने की कोशिश की लेकिन यह रणनीति उन पर उलटी पड़ गई। भुवनेश्वर ने भारत की 28 रन से जीत के बाद कहा, 'जब भी भारतीय टीम विदेश जाती है तो यह माना जाता है कि उसके बल्लेबाज शार्ट पिच गेंदों को खेलने में पूरी तरह से सक्षम नहीं हैं। इस बार हमने ऐसा नहीं देखा। हम वास्तव में शार्ट पिच गेंदों से अच्छी तरह से निबटे। आज उन्होंने पारी के शुरू में पांच-छह ओवर में काफी शार्ट पिच गेंदें की लेकिन यह रणनीति उन पर उलटी पड़ गई।
उन्होंने कहा, 'हमारी जो भी साख रही हो पिछले कुछ वर्षों में हम उसके विपरीत खेल रहे हैं। हमने इस दौरे में शार्ट पिच गेंदों को अच्छी तरह से खेला। वे शार्ट पिच गेंदें करना चाहते हैं लेकिन इससे उन्हें फायदा नहीं मिल रहा है। भुवनेश्वर ने 24 रन देकर पांच विकेट लिए जिससे भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 20 ओवर में नौ विकेट पर 175 रन ही बनाने दिए। भारत ने इससे पहले पावरप्ले में ताबड़तोड़ रन बटोरकर पांच विकेट पर 203 रन का स्कोर खड़ा किया था। अपने टी20 करियर में पहली बार पांच विकेट लेने वाले भुवनेश्वर ने कहा, 'मैं अपनी गति में परिवर्तन लाने की कोशिश कर रहा हूं। मैं गेंद की गति को नियंत्रित करना चाहता था क्योंकि मैं जानता था कि शाट मारना आसान नहीं है और इसलिए मैंने ऐसा किया। महत्वपूर्ण यह है कि विकेट की प्रकृति के अनुसार आप अपनी गेंदों के साथ कैसे सामंजस्य बिठाते हैं।
उन्होंने कहा, 'उदाहरण के लिए आज हमने काफी धीमी गेंदें की जो इस विकेट पर हमारी रणनीति का हिस्सा था। गति धीमी रखना और रनों पर अंकुश लगाना। लाइन और लेंथ के अलावा आप अपनी गेंदों की गति कैसे नियंत्रित करते हैं यह भी महत्वपूर्ण होता है। भुवनेश्वर पहले भारतीय तेज गेंदबाज हैं जिन्होंने खेल के तीनों प्रारूपों में एक पारी में पांच या इससे अधिक विकेट लिए हैं। उनके लिए यह दौरा काफी सफल रहा है और उन्होंने न सिर्फ गेंदबाजी बल्कि अपने बल्लेबाजी कौशल का भी अच्छा नजारा पेश किया। इस तेज गेंदबाज ने कहा कि व्यस्त कार्यक्रम के बीच खुद को व्यवस्थित रखना और फिटनेस उनकी सफलता की कुंजी हैं।
उन्होंने कहा, 'फिटनेस महत्वपूर्ण है। तीनों प्रारूप में खेलना आसान नहीं है विशेषकर एक दौरे में। इसलिए यहां आने से पहले मैंने व्यस्तता के बीच खुद को व्यवस्थित करना सीखा। मैं खास तरह से अभ्यास करना चाहता था ताकि मेरे शरीर पर अतिरिक्त दबाव नहीं पड़े।


नई दिल्ली - हरमनप्रीत कौर के विश्व कप में बेजोड़ प्रदर्शन के लिये ईएसपीएनक्रिकइन्फो वार्षिक पुरस्कारों में महिला क्रिकेट में वर्ष का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन आंका गया। वहीं कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल भी पुरस्कार हासिल करने वालों में शामिल रहे। कुल 12 पुरस्कारों में से तीन पुरस्कार भारतीय खिलाड़ियों को मिले जो किसी एक देश के खिलाड़ियों को मिले सर्वाधिक पुरस्कार हैं।
हरमनप्रीत ने विश्व कप के दौरान आस्ट्रेलिया के खिलाफ 171 रन की तूफानी पारी खेली थी। इस टूर्नामेंट में भारत उप विजेता रहा था और हरमनप्रीत के प्रदर्शन को महिला बल्लेबाजी में वर्ष का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन आंका गया। लेग स्पिनर चहल को इंग्लैंड के खिलाफ बेंगलुरू में तीसरे टी-20 में 25 रन देकर छह विकेट लेने के कारनामे के लिये वर्ष का सर्वश्रेष्ठ टी-20 गेंदबाजी प्रदर्शन आंका गया।
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धर्मशाला में अपने पदार्पण टेस्ट मैच से सुर्खियों में आने वाले कुलदीप अब भारतीय टीम का अहम अंग हैं। उन्होंने 2017 में तीनों प्रारूपों में 43 विकेट लिये और उन्हें पदार्पण वर्ष में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी का पुरस्कार मिला। वर्ष का कप्तान पुरस्कार पहली बार किसी महिला खिलाड़ी को दिया गया। इंग्लैंड की हीथर नाइट को यह पुरस्कार मिला। उनकी अगुवाई में इंग्लैंड ने विश्व कप जीता था।
नाइट की साथी अन्या श्रबसोले का विश्व कप फाइनल में भारत के खिलाफ 46 रन देकर छह विकेट लेने के लिये महिलाओं में वर्ष का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन आंका गया। ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ को भी पुरस्कार मिला। भारत के खिलाफ पुणे में उनकी 109 रन की पारी को वर्ष की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट पारी माना गया। उनके साथी नाथन लियोन ने बेंगलुरू टेस्ट में 50 रन देकर आठ विकेट लिये जिसे वर्ष का सर्वश्रेष्ठ टेस्ट गेंदबाजी प्रदर्शन आंका गया।
इविन लुईस को किंग्सटन में भारत के खिलाफ 125 रन की पारी के लिये वर्ष का सर्वश्रेष्ठ टी-20 बल्लेबाजी प्रदर्शन पुरस्कार मिला। फखर जमां और मोहम्मद आमिर ने आईसीसी चैंपियन्स ट्राफी फाइनल में पाकिस्तान को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभायी। उन्हें क्रमश: सर्वश्रेष्ठ वन डे बल्लेबाजी और गेंदबाजी प्रदर्शन का पुरस्कार दिया गया। विजेताओं का चयन 18 सदस्यीय ज्यूरी ने किया जिसमें इयान चैपल, रमीज राजा, कर्टनी वाल्स, मार्क बूचर, डेरेल कलिनन, रसेल अर्नोल्ड जैसे क्रिकेटर और पूर्व अंपायर साइमन टफेल भी शामिल थे।


नई दिल्ली - वनडे और टेस्ट में आईसीसी रैंकिंग में नंबर वन पर काबिज टीम इंडिया के पास एक सुनहरा मौका है। भारतीय क्रिकेट टीम अगर अगले 6 टी-20 मैचों में अपना विजयी क्रम जारी रखती है तो वह टी-20 रैंकिंग में भी नंबर वन जाएगी। जिस तरह से कैप्टन विराट कोहली की अगुवाई में प्रदर्शन कर रही है तो माना जा रहा है यह नामुमकिन नहीं है। लेकिन इसके लिए उसे दक्षिण अफ्रीका में तीनों टी-20 मैच जीतने के अलावा इसके बाद श्रीलंका में होने वाली टी-20 ट्राई सीरीज में 6 मार्च को श्रीलंका, 8 मार्च को बांग्लादेश और फिर 12 मार्च को श्रीलंका के खिलाफ भी मुकाबले जीतने होंगे। मतलब यह कि अगली छह लगातार जीत टीम इंडिया को टी-20 रैंकिंग में भी नंबर-1 की पायदान दिला देगी।
आपको बता दें कि टेस्ट, वनडे और टी-20 में एक साथ नंबर वन बनने का कारनामा इससे पहले बस साउथ अफ्रीका की टीम ही कर सकी है। वर्तमान में टीम इंडिया रैंकिंग में तीसरे नंबर पर है। उसके 121 अंक है जबकि पहले स्थान पर काबिज पाकिस्तान के 126 अंक है। हालांकि टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टी-20 मैच में जीत के बाद पाकिस्तान को एक मामले में पीछे छोड़ दिया है। पहला टी-20 वर्ल्ड कप (2007) जीतकर इतिहास रचने वाली टीम इंडिया ने इस छोटे फार्मेट में जीत के प्रतिशत के हिसाब से नंबर वन चुकी है। फिलहाल टीम इंडिया का जीत प्रतिशत 61.54 है।
देश -            जीत का प्रतिशत
भारत-             61.54
पाकिस्तान-       60.98
साउथ अफ्रीका-   59.00
ऑस्ट्रेलिया-      52.53
श्रीलंका-           51.46
न्यूजीलैंड-        50.91
वेस्टइंडीज-       50.00
इंग्लैंड-           48.00


जोहांसबर्ग - भारत और साउथ अफ्रीका के बीच चल रही तीन मैचों की टी-20 सीरीज का पहला मैच न्यू वांडरर्स पार्क में खेले गया। दक्षिण अफ्रीका ने पहले टॉस जीतते हुए भारत को बल्लेबाजी करने का मौका दिया। भारत ने पहले खेलते हुए 204 रनों का लक्ष्य साउथ अफ्रीका के सामने रखा। लेकिन दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ी तीसरे ओवर में ही लड़खड़ाना शुरू हो गए, और एक के बाद एक विकेट गिरते चले गए। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने टी-20 सीरीज के पहले मैच में जीत का श्रेय टीम की बल्लेबाजी और भुवनेश्वर कुमार की शानदार गेंदबाजी को दिया। अपनी शानदार गेंदबाजी के दमपर न्यू वांडरर्स पार्क में खेले गए मैच में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 28 रनों से हराया और पहला मैच अपने नाम कर लिया।
मैच के बाद एक बयान में कोहली ने कहा, 'रोहित और शिखर ने सलामी बल्लेबाजों के रूप में अच्छा प्रदर्शन किया। भुवनेश्वर ने अपनी अनुभवी गेंदबाजी का दम दिखाया। यह टीम का अच्छा प्रयास रहा।' इतना ही नहीं, उन्होंने कहा, 'हम काफी समय से टी-20 प्रारूप में इस प्रकार के प्रदर्शन का इंतजार कर रहे थे। यह हमारे सबसे संतुलित प्रदर्शन में से एक है। हमने 16वें ओवर तक 220 रन बनाने का सोचा था लेकिन महेंद्र सिंह धौनी के आउट होने के साथ इस स्कोर को हासिल नहीं कर पाए। अंत में लक्ष्य जीत था और वह हमने हासिल किया।'

 

दिल्ली - भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली इन दिनों पूरे फॉर्म में नजर आ रहे हैं। हर मैच में वो एक नया रिकॉर्ड अपने नाम कर लेते हैं। उनकी इसी परफॉर्मेंस को देखते हुए बड़े-बड़े दिग्गज उनकी तुलना सचिन तेंदुलकर से करते हैं। और इसी में एक और दिग्गज इंडिया के पूर्व क्रिकेटर गुंडप्पा विश्वनाथ का नाम जुड़ गया है। उनका मानना है कि सचिन का 100 शतक…
क्रिकेट प्रेमियों की जान विराट कोहली और बॉलीवुड की दिवा अनुष्का शर्मा की जोड़ी इस वक्त की सबसे चर्चित जोड़ी है। शादी के बाद भी यह कपल सुर्खियों में बना ही रहता है। अब एक बार फिर इनके प्यार की रवानगी लोगों के बीच चर्चा का विषय है। दरअसल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टीम इंडिया की जीत से खुश कप्तान ने अपने इंटरव्यू के दौरान अपने बढ़िया प्रदर्शन का क्रेडिट…
अकेले दम पर अपनी टीम को जीत की राह पर लौटाना और गलतियों के लिये खुद को कोसना उन पहलुओं में शामिल हैं जो दक्षिण अफ्रीकी कप्तान एडेन मार्कराम भारतीय कप्तान विराट कोहली से सीखना चाहते हैं।मार्कराम ने देखा कि कोहली ने खुद बेहतरीन प्रदर्शन किया जिससे भारत ने दक्षिण अफ्रीका को छह मैचों की वनडे श्रृंखला में 5-1 से हराया। कोहली ने श्रृंखला में तीन शतकों और एक अर्धशतक…
अनुभवी आलराउंडर रूमेली धर को चोटिल झूलन गोस्वामी के स्थान पर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बाकी बचे तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच के लिये भारतीय महिला टीम में शामिल किया गया है। झूलन पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान चोटिल हो गयी थी जिसके कारण महिला चयनसमिति को यह बदलाव करना पड़ा।200 विकेट लेने वाली पहली गेंदबाज है रूमेली...:-यह तेज गेंदबाज हाल में वनडे में 200 विकेट लेने वाली दुनिया…
Page 3 of 236

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें