खेल

खेल (3297)

विशाखापत्तनम:-राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स के कप्तान महेन्द्र सिंह धौनी ने आईपीएल-9 मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के हाथों मिली हार के बाद कहा कि उनकी टीम को नजदीकी मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ रहा है जिसे पचा पाना बेहद मुश्किल है।धौनी की टीम पुणे को बेहद रोमांचक मुकाबले में हैदराबाद के हाथों मंगलवार को चार रन से नजदीकी हार का सामना करना पड़ा। धौनी ने कहा, टीम को नजदीकी मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ रहा है जिसे पचा पाना बेहद मुश्किल है। कई ऐसी चीजें हैं जो हमारे पक्ष में नहीं हो रही हैं। तीन मैचों में हमने आसानी से जीत हासिल की और जो मुकाबले हम हारे हैं, वे अंतिम ओवर तक चले हैं।अनुभवी कप्तान ने कहा, नई गेंद से शानदार गेंदबाजी हुई और 137 के स्कोर तक विपक्षी टीम को रोकना काफी बेहतरीन था। यदि आप हैदराबाद के गेंदबाजी आक्रमण को हमसे तुलना करेंगे, तो उन्होंने परिस्थितियों का अधिक लाभ उठाया।34 वर्षीय धौनी ने छह विकेट लेकर मैन ऑफ द मैच बने एडम जंपा की तारीफ करते हुए कहा, जंपा ने कमाल की गेंदबाजी की। हम उन्हें पहले ही अंतिम एकादश में लाना चाहते थे लेकिन संयोजन बेहद मुश्किल से बन रहा था। मुझे लगता है कि हम शायद शुरुआती तीन मैचों में अपने सबसे बेहतरीन अंतिम एकादश के साथ खेले। जंपा शानदार हैं और वह ऐसे खिलाड़ी हैं जो टीम को स्थायित्व देते हैं।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

बेंगलुरू:-पंजाब के खिलाफ एक रन की रोमांचक जीत दर्ज करने के बाद उत्साहित लग रही विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर अपने घरेलू मैदान पर बुधवार को मुंबई इंडियन्स के खिलाफ भी यहां आईपीएल मुकाबले में जीत की लय बनाए रखने का प्रयास करेगी।विराट कोहली के टॉप फॉर्म के बावजूद बेंगलोर की टीम कुछ खास प्रदर्शन अब तक नहीं कर सकी है और उसे पिछले मुकाबले में पंजाब के खिलाफ आखिरी ओवर में एक रन से संघर्षपूर्ण जीत हासिल हुई थी जो उसकी नौ मुकाबलों में केवल चौथी जीत है। बेंगलुरू तालिका में फिलहाल छठे स्थान पर है जबकि दो बार की चैंपियन मुंबई की स्थिति भी 50-50 ही है। टीम इंडिया के ओपनर रोहित शर्मा की कप्तानी वाली मुंबई 10 मैचों में पांच जीती है और पांच हारी है तथा पांचवें नंबर पर है।बेंगलुरू की ही तरह मुंबई की टीम में भी निरंतरता की भारी कमी दिख रही है और बेहतरीन खिलाड़ियों की मौजूदगी के बावजूद उसे पिछले मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ अपने नए घर विशाखापट्नम में पहले ही मुकाबले में 85 रन की करारी हार झेलनी पड़ी थी। अपने मजबूत बल्लेबाजी क्रम के लिए चर्चित मुंबई की टीम 92 रन पर ही ढेर हो गई और तीन खिलाड़ियों के अलावा कोई दहाई के आंकड़ों तक भी नहीं पहुंच सका।मुंबई के अंतिम एकादश में रोहित, कीरोन पोलार्ड, अंबाती रायुडू, पार्थिव पटेल जैसे बल्लेबाजों और टिम साउदी, अनुभवी हरभजन सिंह, जसप्रीत बुमराह, मिशेल मैक्लेनगन जैसे गेंदबाज मौजूद हैं लेकिन इसके बावजूद वह अब तक उस लय और रंग में नहीं खेल पाई है जो उसने पिछले सत्रों में दिखाया है। रोहित (388) टीम के सर्वश्रेष्ठ स्कोरर हैं जबकि पार्थिव और अंबाती भी ओपिनग क्रम में अच्छे स्कोरर हैं।मध्यक्रम में बटलर और पोलार्ड से काफी उम्मीदें रहती हैं लेकिन हैदराबाद के खिलाफ मैच में हरभजन के नाबाद 21 रन ही किसी बल्लेबाज का बड़ा स्कोर रहा था। वहीं इससे पहले पुणे के खिलाफ मुंबई ने बेहतरीन प्रदर्शन कर मेजबान टीम को उसी के मैदान पर आठ विकेट से हराया था। अहम पड़ाव पर आकर टीम से इस लापरवाह प्रदर्शन की उम्मीद नहीं की जा सकती है।दूसरी ओर लगातार हार देख रही विराट कोहली की बेंगलुरू अब जीत की पटरी पर लौटती दिखाई दे रही है। बेंगलोर ने पुणे को सात विकेट से हराने के बाद पिछले मैच में पंजाब को कड़े संघर्ष के बाद एक रन से शिकस्त दी थी और लगातार अपनी दूसरी जीत दर्ज की। शुरुआती मैचों में काफी प्रयास के बावजूद एक के बाद एक हार का मुंह देखने के कारण बेंगलोर के लिए अब जीत की इस लय को बनाए रखना काफी अहम हो गया है।पंजाब के खिलाफ जहां बेंगलोर को एक समय मैच हाथ से निकलता दिख रहा था वहीं आखिरी ओवर में क्रिस जॉर्डन ने मैच का रूख बदल कर रख दिया। बेंगलोर की जीत का सूत्र आखिरी समय तक संघर्ष भी रहा जब जॉर्डन ने शुरुआती तीन गेंदों पर 11 रन देने के बाद आखिरी तीन गेंदों पर जिम्मेदारी से गेंदबाजी की। मात्र एक गेंद पर जब पंजाब को चार रन की जरूरत थी तो जॉर्डन ने मात्र दो रन ही दिए और एक रन से बेंगलोर ने जीत अपनी झोली में डाल ली।बेंगलोर की शुरुआत से ताकत उसकी बल्लेबाजी रही है जिसमें जबरदस्त फॉर्म में खेल रहे कप्तान विराट के अलावा क्रिस गेल और ए बी डीविलियर्स जैसे धाकड़ खिलाड़ी हैं। लेकिन उसकी गेंदबाजी में हमेशा ही काफी कमियां रही हैं। वैसे जॉर्डन ने भले ही मैच जिताने में अहम भूमिका निभाई लेकिन चार ओवर में 52 रन लुटाकर वह सबसे महंगे भी साबित हुए। टीम के फिलहाल सबसे सफल गेंदबाजों में ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर शेन वॉटसन हैं जो अब 14 विकेट निकाल चुके हैं और युजवेंद्र चहल भी अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं।विराट अपने गेंदबाजी विभाग की कमियों को जानते हैं और लगातार गेंदबाजी क्रम में फेरबदल कर रहे हैं। वरूण आरोन पिछले पांच मैचों में 154 रन देकर कोई विकेट नहीं ले सके हैं वहीं स्टुअर्ट बिन्नी ने सात मैचों में एक विकेट लिया है। बल्लेबाजों में विराट (561) और एबी (385) टीम के सर्वश्रेष्ठ स्कोरर हैं जबकि लोकेश राहुल और वॉटसन भी बल्ले से योगदान दे रहे हैं।लेकिन क्रिस गेल अब तक फॉर्म में नहीं लौटे हैं और विराट को अपने धाकड़ खिलाड़ी को बाहर बैठाना पड़ रहा है। ऐसे में मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए साफ है कि जीत के लिए बेंगलोर को मुंबई के सामने पूरी ताकत के साथ खेलना होगा।

विशाखापत्तनम:-राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स के कप्तान महेन्द्र सिंह धौनी ने आईपीएल-9 मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के हाथों मिली हार के बाद कहा कि उनकी टीम को नजदीकी मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ रहा है जिसे पचा पाना बेहद मुश्किल है।धौनी की टीम पुणे को बेहद रोमांचक मुकाबले में हैदराबाद के हाथों मंगलवार को चार रन से नजदीकी हार का सामना करना पड़ा। धौनी ने कहा, टीम को नजदीकी मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ रहा है जिसे पचा पाना बेहद मुश्किल है। कई ऐसी चीजें हैं जो हमारे पक्ष में नहीं हो रही हैं। तीन मैचों में हमने आसानी से जीत हासिल की और जो मुकाबले हम हारे हैं, वे अंतिम ओवर तक चले हैं।अनुभवी कप्तान ने कहा, नई गेंद से शानदार गेंदबाजी हुई और 137 के स्कोर तक विपक्षी टीम को रोकना काफी बेहतरीन था। यदि आप हैदराबाद के गेंदबाजी आक्रमण को हमसे तुलना करेंगे, तो उन्होंने परिस्थितियों का अधिक लाभ उठाया।34 वर्षीय धौनी ने छह विकेट लेकर मैन ऑफ द मैच बने एडम जंपा की तारीफ करते हुए कहा, जंपा ने कमाल की गेंदबाजी की। हम उन्हें पहले ही अंतिम एकादश में लाना चाहते थे लेकिन संयोजन बेहद मुश्किल से बन रहा था। मुझे लगता है कि हम शायद शुरुआती तीन मैचों में अपने सबसे बेहतरीन अंतिम एकादश के साथ खेले। जंपा शानदार हैं और वह ऐसे खिलाड़ी हैं जो टीम को स्थायित्व देते हैं।

विशाखापत्तनम:-राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स के कप्तान महेन्द्र सिंह धौनी ने आईपीएल-9 मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के हाथों मिली हार के बाद कहा कि उनकी टीम को नजदीकी मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ रहा है जिसे पचा पाना बेहद मुश्किल है।धौनी की टीम पुणे को बेहद रोमांचक मुकाबले में हैदराबाद के हाथों मंगलवार को चार रन से नजदीकी हार का सामना करना पड़ा। धौनी ने कहा, टीम को नजदीकी मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ रहा है जिसे पचा पाना बेहद मुश्किल है। कई ऐसी चीजें हैं जो हमारे पक्ष में नहीं हो रही हैं। तीन मैचों में हमने आसानी से जीत हासिल की और जो मुकाबले हम हारे हैं, वे अंतिम ओवर तक चले हैं।अनुभवी कप्तान ने कहा, नई गेंद से शानदार गेंदबाजी हुई और 137 के स्कोर तक विपक्षी टीम को रोकना काफी बेहतरीन था। यदि आप हैदराबाद के गेंदबाजी आक्रमण को हमसे तुलना करेंगे, तो उन्होंने परिस्थितियों का अधिक लाभ उठाया।34 वर्षीय धौनी ने छह विकेट लेकर मैन ऑफ द मैच बने एडम जंपा की तारीफ करते हुए कहा, जंपा ने कमाल की गेंदबाजी की। हम उन्हें पहले ही अंतिम एकादश में लाना चाहते थे लेकिन संयोजन बेहद मुश्किल से बन रहा था। मुझे लगता है कि हम शायद शुरुआती तीन मैचों में अपने सबसे बेहतरीन अंतिम एकादश के साथ खेले। जंपा शानदार हैं और वह ऐसे खिलाड़ी हैं जो टीम को स्थायित्व देते हैं।

बेंगलुरू:-पंजाब के खिलाफ एक रन की रोमांचक जीत दर्ज करने के बाद उत्साहित लग रही विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर अपने घरेलू मैदान पर बुधवार को मुंबई इंडियन्स के खिलाफ भी यहां आईपीएल मुकाबले में जीत की लय बनाए रखने का प्रयास करेगी।विराट कोहली के टॉप फॉर्म के बावजूद बेंगलोर की टीम कुछ खास प्रदर्शन अब तक नहीं कर सकी है और उसे पिछले मुकाबले में पंजाब के खिलाफ आखिरी ओवर में एक रन से संघर्षपूर्ण जीत हासिल हुई थी जो उसकी नौ मुकाबलों में केवल चौथी जीत है। बेंगलुरू तालिका में फिलहाल छठे स्थान पर है जबकि दो बार की चैंपियन मुंबई की स्थिति भी 50-50 ही है। टीम इंडिया के ओपनर रोहित शर्मा की कप्तानी वाली मुंबई 10 मैचों में पांच जीती है और पांच हारी है तथा पांचवें नंबर पर है।बेंगलुरू की ही तरह मुंबई की टीम में भी निरंतरता की भारी कमी दिख रही है और बेहतरीन खिलाड़ियों की मौजूदगी के बावजूद उसे पिछले मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ अपने नए घर विशाखापट्नम में पहले ही मुकाबले में 85 रन की करारी हार झेलनी पड़ी थी। अपने मजबूत बल्लेबाजी क्रम के लिए चर्चित मुंबई की टीम 92 रन पर ही ढेर हो गई और तीन खिलाड़ियों के अलावा कोई दहाई के आंकड़ों तक भी नहीं पहुंच सका।मुंबई के अंतिम एकादश में रोहित, कीरोन पोलार्ड, अंबाती रायुडू, पार्थिव पटेल जैसे बल्लेबाजों और टिम साउदी, अनुभवी हरभजन सिंह, जसप्रीत बुमराह, मिशेल मैक्लेनगन जैसे गेंदबाज मौजूद हैं लेकिन इसके बावजूद वह अब तक उस लय और रंग में नहीं खेल पाई है जो उसने पिछले सत्रों में दिखाया है। रोहित (388) टीम के सर्वश्रेष्ठ स्कोरर हैं जबकि पार्थिव और अंबाती भी ओपिनग क्रम में अच्छे स्कोरर हैं।मध्यक्रम में बटलर और पोलार्ड से काफी उम्मीदें रहती हैं लेकिन हैदराबाद के खिलाफ मैच में हरभजन के नाबाद 21 रन ही किसी बल्लेबाज का बड़ा स्कोर रहा था। वहीं इससे पहले पुणे के खिलाफ मुंबई ने बेहतरीन प्रदर्शन कर मेजबान टीम को उसी के मैदान पर आठ विकेट से हराया था। अहम पड़ाव पर आकर टीम से इस लापरवाह प्रदर्शन की उम्मीद नहीं की जा सकती है।दूसरी ओर लगातार हार देख रही विराट कोहली की बेंगलुरू अब जीत की पटरी पर लौटती दिखाई दे रही है। बेंगलोर ने पुणे को सात विकेट से हराने के बाद पिछले मैच में पंजाब को कड़े संघर्ष के बाद एक रन से शिकस्त दी थी और लगातार अपनी दूसरी जीत दर्ज की। शुरुआती मैचों में काफी प्रयास के बावजूद एक के बाद एक हार का मुंह देखने के कारण बेंगलोर के लिए अब जीत की इस लय को बनाए रखना काफी अहम हो गया है।पंजाब के खिलाफ जहां बेंगलोर को एक समय मैच हाथ से निकलता दिख रहा था वहीं आखिरी ओवर में क्रिस जॉर्डन ने मैच का रूख बदल कर रख दिया। बेंगलोर की जीत का सूत्र आखिरी समय तक संघर्ष भी रहा जब जॉर्डन ने शुरुआती तीन गेंदों पर 11 रन देने के बाद आखिरी तीन गेंदों पर जिम्मेदारी से गेंदबाजी की। मात्र एक गेंद पर जब पंजाब को चार रन की जरूरत थी तो जॉर्डन ने मात्र दो रन ही दिए और एक रन से बेंगलोर ने जीत अपनी झोली में डाल ली।बेंगलोर की शुरुआत से ताकत उसकी बल्लेबाजी रही है जिसमें जबरदस्त फॉर्म में खेल रहे कप्तान विराट के अलावा क्रिस गेल और ए बी डीविलियर्स जैसे धाकड़ खिलाड़ी हैं। लेकिन उसकी गेंदबाजी में हमेशा ही काफी कमियां रही हैं। वैसे जॉर्डन ने भले ही मैच जिताने में अहम भूमिका निभाई लेकिन चार ओवर में 52 रन लुटाकर वह सबसे महंगे भी साबित हुए। टीम के फिलहाल सबसे सफल गेंदबाजों में ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर शेन वॉटसन हैं जो अब 14 विकेट निकाल चुके हैं और युजवेंद्र चहल भी अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं।विराट अपने गेंदबाजी विभाग की कमियों को जानते हैं और लगातार गेंदबाजी क्रम में फेरबदल कर रहे हैं। वरूण आरोन पिछले पांच मैचों में 154 रन देकर कोई विकेट नहीं ले सके हैं वहीं स्टुअर्ट बिन्नी ने सात मैचों में एक विकेट लिया है। बल्लेबाजों में विराट (561) और एबी (385) टीम के सर्वश्रेष्ठ स्कोरर हैं जबकि लोकेश राहुल और वॉटसन भी बल्ले से योगदान दे रहे हैं।लेकिन क्रिस गेल अब तक फॉर्म में नहीं लौटे हैं और विराट को अपने धाकड़ खिलाड़ी को बाहर बैठाना पड़ रहा है। ऐसे में मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए साफ है कि जीत के लिए बेंगलोर को मुंबई के सामने पूरी ताकत के साथ खेलना होगा।

बेंगलुरू:-पंजाब के खिलाफ एक रन की रोमांचक जीत दर्ज करने के बाद उत्साहित लग रही विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर अपने घरेलू मैदान पर बुधवार को मुंबई इंडियन्स के खिलाफ भी यहां आईपीएल मुकाबले में जीत की लय बनाए रखने का प्रयास करेगी।विराट कोहली के टॉप फॉर्म के बावजूद बेंगलोर की टीम कुछ खास प्रदर्शन अब तक नहीं कर सकी है और उसे पिछले मुकाबले में पंजाब के खिलाफ आखिरी ओवर में एक रन से संघर्षपूर्ण जीत हासिल हुई थी जो उसकी नौ मुकाबलों में केवल चौथी जीत है। बेंगलुरू तालिका में फिलहाल छठे स्थान पर है जबकि दो बार की चैंपियन मुंबई की स्थिति भी 50-50 ही है। टीम इंडिया के ओपनर रोहित शर्मा की कप्तानी वाली मुंबई 10 मैचों में पांच जीती है और पांच हारी है तथा पांचवें नंबर पर है।बेंगलुरू की ही तरह मुंबई की टीम में भी निरंतरता की भारी कमी दिख रही है और बेहतरीन खिलाड़ियों की मौजूदगी के बावजूद उसे पिछले मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ अपने नए घर विशाखापट्नम में पहले ही मुकाबले में 85 रन की करारी हार झेलनी पड़ी थी। अपने मजबूत बल्लेबाजी क्रम के लिए चर्चित मुंबई की टीम 92 रन पर ही ढेर हो गई और तीन खिलाड़ियों के अलावा कोई दहाई के आंकड़ों तक भी नहीं पहुंच सका।मुंबई के अंतिम एकादश में रोहित, कीरोन पोलार्ड, अंबाती रायुडू, पार्थिव पटेल जैसे बल्लेबाजों और टिम साउदी, अनुभवी हरभजन सिंह, जसप्रीत बुमराह, मिशेल मैक्लेनगन जैसे गेंदबाज मौजूद हैं लेकिन इसके बावजूद वह अब तक उस लय और रंग में नहीं खेल पाई है जो उसने पिछले सत्रों में दिखाया है। रोहित (388) टीम के सर्वश्रेष्ठ स्कोरर हैं जबकि पार्थिव और अंबाती भी ओपिनग क्रम में अच्छे स्कोरर हैं।मध्यक्रम में बटलर और पोलार्ड से काफी उम्मीदें रहती हैं लेकिन हैदराबाद के खिलाफ मैच में हरभजन के नाबाद 21 रन ही किसी बल्लेबाज का बड़ा स्कोर रहा था। वहीं इससे पहले पुणे के खिलाफ मुंबई ने बेहतरीन प्रदर्शन कर मेजबान टीम को उसी के मैदान पर आठ विकेट से हराया था। अहम पड़ाव पर आकर टीम से इस लापरवाह प्रदर्शन की उम्मीद नहीं की जा सकती है।दूसरी ओर लगातार हार देख रही विराट कोहली की बेंगलुरू अब जीत की पटरी पर लौटती दिखाई दे रही है। बेंगलोर ने पुणे को सात विकेट से हराने के बाद पिछले मैच में पंजाब को कड़े संघर्ष के बाद एक रन से शिकस्त दी थी और लगातार अपनी दूसरी जीत दर्ज की। शुरुआती मैचों में काफी प्रयास के बावजूद एक के बाद एक हार का मुंह देखने के कारण बेंगलोर के लिए अब जीत की इस लय को बनाए रखना काफी अहम हो गया है।पंजाब के खिलाफ जहां बेंगलोर को एक समय मैच हाथ से निकलता दिख रहा था वहीं आखिरी ओवर में क्रिस जॉर्डन ने मैच का रूख बदल कर रख दिया। बेंगलोर की जीत का सूत्र आखिरी समय तक संघर्ष भी रहा जब जॉर्डन ने शुरुआती तीन गेंदों पर 11 रन देने के बाद आखिरी तीन गेंदों पर जिम्मेदारी से गेंदबाजी की। मात्र एक गेंद पर जब पंजाब को चार रन की जरूरत थी तो जॉर्डन ने मात्र दो रन ही दिए और एक रन से बेंगलोर ने जीत अपनी झोली में डाल ली।बेंगलोर की शुरुआत से ताकत उसकी बल्लेबाजी रही है जिसमें जबरदस्त फॉर्म में खेल रहे कप्तान विराट के अलावा क्रिस गेल और ए बी डीविलियर्स जैसे धाकड़ खिलाड़ी हैं। लेकिन उसकी गेंदबाजी में हमेशा ही काफी कमियां रही हैं। वैसे जॉर्डन ने भले ही मैच जिताने में अहम भूमिका निभाई लेकिन चार ओवर में 52 रन लुटाकर वह सबसे महंगे भी साबित हुए। टीम के फिलहाल सबसे सफल गेंदबाजों में ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर शेन वॉटसन हैं जो अब 14 विकेट निकाल चुके हैं और युजवेंद्र चहल भी अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं।विराट अपने गेंदबाजी विभाग की कमियों को जानते हैं और लगातार गेंदबाजी क्रम में फेरबदल कर रहे हैं। वरूण आरोन पिछले पांच मैचों में 154 रन देकर कोई विकेट नहीं ले सके हैं वहीं स्टुअर्ट बिन्नी ने सात मैचों में एक विकेट लिया है। बल्लेबाजों में विराट (561) और एबी (385) टीम के सर्वश्रेष्ठ स्कोरर हैं जबकि लोकेश राहुल और वॉटसन भी बल्ले से योगदान दे रहे हैं।लेकिन क्रिस गेल अब तक फॉर्म में नहीं लौटे हैं और विराट को अपने धाकड़ खिलाड़ी को बाहर बैठाना पड़ रहा है। ऐसे में मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए साफ है कि जीत के लिए बेंगलोर को मुंबई के सामने पूरी ताकत के साथ खेलना होगा।

विशाखापत्तनम:-राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स की ओर से खेल रहे ऑस्ट्रेलिया के लेग स्पिनर एडम जंपा ने आईपीएल में खेलने को विशेष अनुभव बताया है।जंपा ने मंगलवार को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ अपने ट्वेंटी-20 करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 19 रन देकर छह विकेट झटके और इसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। हालांकि पुणे को इस नजदीकी मुकाबले में चार रन से हार का सामना करना पड़ा।मैच के…
कराची:-टी20 कप्तान सरफराज अहमद और उमर अकमल समेत पाकिस्तान के कई शीर्ष क्रिकेटर ट्रेनर ग्रांट लुडेन द्वारा तय जरूरी फिटनेस स्तर को पाने में नाकाम रहे हैं।अन्य खिलाड़ी जो फिटनेस मानदंडों पर खरे नहीं उतर सके हैं, उनमें शोएब मकसूद, स्पिनर सईद अजमल और जुल्फिकार बाबर हैं।पीसीबी के एक अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तानी टीम के फिटनेस ट्रेनर ग्रांट लुडेन और उनकी टीम ने फिटनेस टेस्ट के लिए अंक व्यवस्था…
कराची:-पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड बायें हाथ के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर के लिए विशेष मामले में ब्रिटेन का वीजा हासिल करने की कोशिश में जुटा है ताकि वह टीम के साथ इंग्लैंड दौरे पर जा सके।पीसीबी सूत्रों के अनुसार अध्यक्ष शहरयार खान और अन्य आला अधिकारियों ने कानूनी सलाहकारों से बात की है और वे इंग्लैंड तथा वेल्स क्रिकेट बोर्ड और ब्रिटिश उच्चायोग से संपर्क में हैं।एक सूत्र ने कहा कि…
नई दिल्ली:-लेग स्पिनर एडम जम्पा (19 रन पर छह विकेट) के आईपीएल इतिहास के सबसे सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स ने बल्लेबाजों ने पानी फेर दिया और महेंद्र सिंह धौनी की टीम को सनराइजर्स हैदराबाद के हाथों आईपीएल नौ मुकाबले में मंगलवार को चार रन से हार का सामना करना पड़ा।युवा लेग स्पिनर जम्पा ने हैदराबाद आठ विकेट पर 137 रन के स्कोर पर रोक दिया था लेकिन पुणे…

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें