खेल

खेल (4013)


नई दिल्ली - आइपीएल की फ्रेंचाइजी टीम कोलकाता नाइट राइडर्स के मालिक और बॉलीवुड किंग शाहरुख खान की बेटी सुहाना इन दिनों सुर्खियों में हैं। वैसे तो सुहाना अक्सर सोशल मीडिया में अपनी नई-नई तस्वीरों को लेकर चर्चा में रहती हैं लेकिन इस बार वो एक अलग कारण से सुर्खियों में हैं।
तो इंतजार किस बात का है चलिए आपको हम बता ही देते हैं वो किस वजह से चर्चा में हैं। दरअसल आइपीएल के इस सीजन में पंजाब के बल्लेबाज शुभमन गिल ने भी शिरकत की है और खबरें ऐसी आयीं हैं कि शुभमन पर सुहाना का क्रश है क्रश की इस चर्चा के बाद मीडिया में दोनों के अफेयर के चर्चे भी आम हो गए हालांकि इस बात की अबतक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।
आपको बता दें कि इस साल अंडर 19 विश्वकप में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले शुभमन गिल पर आइपीएल की टीम केकेआर ने दांव लगाया था। आइपीएल के इस सीजन में किंग खान के शूटिंग में बिजी होने के वजह से ज्यादातर मैचों में सुहाना ही मैचों के दौरान स्टेडियम में अपनी टीम को चियर करती नजर आयीं। आइपीएल के इस सीजन में केकेआर ने प्लेऑफ तक अपनी जगह बनाई, और एलिमिनेटर में राजस्थान रॉयल्स हो हराकर दूसरे क्वॉलिफायर तक जा पहुंची, लेकिन दूसरे क्वालिफायर में उसे सनरारइजर्स हैदराबाद के खिलाफ शिकस्त झेलनी पड़ी।


देहरादून - भारत के खिलाफ बैंगलोर टेस्ट से ठीक पहले अफगानिस्तान की टीम बांग्लादेश के खिलाफ यहां तीन टी20 मैचों की सीरीज खेलेगा। भारत के खिलाफ टेस्ट से पहले अभी अफगानिस्तान के पास दो हफ्ते का वक्त है और इस सीरीज के जरिए उनकी नजर अच्छी तैयारी पर भी है। अफगानिस्तान और भारत के बीच खेले जाने वाले टेस्ट मैच की घोषणा इस वर्ष जनवरी में की गई थी वहीं बांग्लादेश के खिलाफ राजीव गांधी इंटरनैशनल क्रिकेट स्टेडियम में होने वाले टी20 मैचों की सीरीज के बारे में पिछले महीने ही जानकारी दी गई थी। अफगानिस्तान की टीम टेस्ट और टी20 सीरीज के लिए एक साथ तैयारी कर रही है। दोनों प्रारूपों के मुकाबले के लिए अफगानिस्तान की टीम दो बैच में ट्रेनिंग ले रही है। टेस्ट मैच के लिए टेस्ट टीम को सुबह में जबकि टी 20 मैच के लिए टीम को शान में ट्रेेनिंग करनी पड़ रही है।
अफगानिस्तान की टीम में सिर्फ पांच खिलाड़ी ही ऐसे हैं जो बांग्लादेश और भारत के खिलाफ टी 20 और टेस्ट मैच खेलेंगे। इन खिलाड़ियों में टीम के कप्तान असगर स्टेनिजई, मो. शहजाद, राशिद खान, मुजीब जरदान और मो. नबी शामिल हैं। टीम के कोच फिल सिमंस का कहना है कि भारत के खिलाफ टेस्ट मैच के लिए इस टीम को और ज्यादा तैयारी की जरूरत है लेकिन सुबह की शिफ्ट में खिलाड़ी बेहतरीन तरीके से अभ्यास कर रहे हैं। किसी भी टीम के लिए एक ही समय में टेस्ट और टी 20 टीम के तौर पर ट्रेनिंग लेना आसान नहीं होता। आम तौर पर टेस्ट मैच पहले होता है और फिर सिमिति ओवरों के मैचों की सीरीज खेली जाती है। हालांकि मैं दोनों प्रारूपों के लिए तय टीम के साथ पिछले दस दिनों से जब से टीम अपने दूसरे होम ग्राउंड पर आई है कड़ी मेहनत कर रहा हूं।
अफगानिस्तान की टीम इससे पहले ग्रेटर नोएडा की गर्म वातावरण के साथ देहरादून में प्रैक्टिस कर चुकी है और खिलाड़ी यहां की कंडीशन के साथ पूरी तरह से घुलमिल चुके हैं। देहरादून रविवार को भारत का 51वां इंटनैशनल वेन्यू बन जाएगा। हालांकि रमजान के महीने में खिलाड़ियों के लिए फास्टिंग के दौरान प्रैक्टिस करना काफी चुनौतीभरा है।
टी20 मैचों में अफगानिस्तान ने बांग्लादेश का सामना इससे पहले सिर्फ एक बार किया है। वर्ष 2014 टी20 विश्व कप में ये दोनों टीमें क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में एक-दूसरे के आमने-सामने आए थे। इस मैच में बांग्लादेश ने अफगानिस्तान को 9 विकेट से हराया था। युद्ध से प्रभावित अफगानिस्तान की टीम अब उस वक्त से काफी आगे निकल आई है और वो इस स्थिति में है कि वो टॉप की टीमों को भी आश्चर्यचकित कर सकती है। इस टीम के स्टार स्पिनर राशिद खान टीम के लिए इस सीरीज में अहम भूमिका निभाएंगे। राशिद खान पिछले दिनों लॉर्ड्स में आइसीसी वर्ल्ड इलेवन की तरफ से वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच खेलने गए थे और उम्मीद है कि वो मैच से पहले टीम के साथ जुड़ जाएंगे।
बांग्लादेश की टीम इस सीरीज के लिए चार दिन पहले ही देहरादून आ गई थी और यहां कि कंडीशन के साथ उसके खिलाड़ी ताममेल बिठाने की कोशिश कर रहे हैं। बांग्लादेश की टीम में टीम के स्टार गेंदबाज मुस्ताफिजुर रहमान नहीं है। आइपीएल के दौरान इंजर्ड होने की वजह से रहमान इस सीरीज से बाहर हो गए थे। उम्मीद की जा रही है कि इन दोनों देशों के बीच लाइट्स के अंदर होने वाले इस मैच को देखने के लिए बड़ी संख्या में दर्शक आ सकते हैं। इस स्टेडियम की क्षमता 25000 लोगों की है।


नई दिल्ली - बीसीसीआइ में पदाधिकारियों और प्रशासकों की समिति (सीओए) के बीच चल रही रस्साकशी ने शुक्रवार को नया मोड़ ले लिया, जब विनोद राय की अगुआई वाली समिति ने मान्यता प्राप्त इकाइयों की 22 जून को होने वाली विशेष आम बैठक (एसजीएम) को रोकने का निर्देश जारी किया। बीसीसीआइ के पुराने अधिकारी और मौजूदा अधिकारी हालांकि अपने रुख से पीछे हटने को तैयार नहीं हैं और उनका मानना है कि बैठक पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होगी।
सीओए ने हालांकि कर्मचारियों से कहा है कि वे एसजीएम से जुड़े राज्य इकाइयों के किसी भी बिल का भुगतान नहीं करें। सीओए बैठक को गैरकानूनी मानता है क्योंकि 15 मार्च के दिशानिर्देशों के अनुसार इसके लिए कोई स्वीकृति नहीं मांगी गई। इन दिशानिर्देशों के अनुसार, एसजीएम के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त समिति की पूर्व स्वीकृति की जरूरत होती है। दोनों पक्षों के बीच पिछले कुछ समय से खींचतान चल रही है, लेकिन पदाधिकारी जिस चीज से नाराज हैं वह पत्र की सामग्री है, जिसमें बैठक के लिए मौजूद रहने वाले अधिकारियों के यात्रा और महंगाई भत्ते एवं विमान किराये का भुगतान रोकने की रणनीति अपनाई गई है।
सीओए ने कर्मचारियों को लिखे ईमेल में कहा, ‘22 जून को होने वाली एसजीएम के संदर्भ में ना तो सीओए से स्वीकृति मांगी गई और ना ही दी गई है। सीओए से आगे के निर्देश मिलने तक यह निर्देश दिए जाते हैं कि कोई भी कर्मचारी या सलाहकार या रिटेनर या सेवा प्रदाता इस एसजीएम से जुड़े ना तो कोई कागजात तैयार करे और ना ही इसे बांटे या किसी तरह से आगे की कार्रवाई करे या नोटिस में मदद करे।’
यह बैठक उस समय बुलाई गई जब 15 से अधिक राज्य इकाइयों ने कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना को एसजीएम बुलाने के लिए पत्र लिखा। इसके जवाब में खन्ना ने कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी को तीन हफ्ते के समय में एसजीएम बुलाने का नोटिस जारी करने को कहा। बीसीसीआइ के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा कि सीओए के पास एसजीएम को रोकने का अधिकार नहीं है, क्योंकि यह सदस्यों का अधिकार है। एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा, ‘अगर संवाद जारी करने वाले को संवाद जारी करने का अधिकार नहीं है तो इस संवाद को किसी अधिकारी के साथ लागू नहीं किया जा सकता।


नई दिल्ली - क्रिकेट जगत में 1 जून का दिन बड़े हादसे का गवाह है आज से 16 साल पहले सन 2002 को आज के ही दिन दक्षिण अफ्रीका के कप्तान हैंसी क्रोन्ये की विमान दुर्घटना में मौत हो गई थी। क्रिकेट के इतिहास में हैंसी को दो तरह से याद किया जाता है एक तो उनकी बेहतरीन और शातिर कप्तानी के लिए और दूसरा क्रिकेट जगत में मैच फिक्सिंग के लिए।
मैच फिक्सिंग प्रकरण के बाद क्रोन्ये पर आजीवन बैन लगा दिया गया लेकिन अभी इसे एक साल भी नहीं बीता था कि ये हादसा हो गया। आज हम आपको क्रोन्ये की पुण्यतिथि पर उनके जीवन से जुडी खास बातें आपसे साझा करेंगे।
हैंसी क्रोन्ये का क्रिकेट करियर
साल 1992 के आइसीसी क्रिकेट विश्वकप में 22 वर्षीय हैंसी क्रोन्ये ने साउथ अफ्रीका के लिए वनडे मैचों में डेब्यू किया था। यह विश्वकप ऑस्ट्रेलिया में खेला गया था। क्रोन्ये ने अपना पहला मैच 26 फरवरी को सिडनी में मेजबान टीम के खिलाफ खेला। साल 1994 में दक्षिण अफ्रीका के कप्तान कैप्लर वैसल्स के चोटिल हो जाने के कारण क्रोन्ये को टीम की कमान सौंपी गई। एडिलेड में खेले गए इस मैच में क्रोन्ये ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच में पहली बार कप्तानी की। तब वो महज 24 साल के थे और मरे बिसेट (1898-1899) के बाद दक्षिण अफ्रीका के दूसरे सबसे कम उम्र के कप्तान बने। हैंसी क्रोन्ये ने दक्षिण अफ्रीका के लिए 138 वनडे मैचों में कप्तानी की, जिसमें से 99 मैचों में क्रोन्ये ने अपनी टीम को जीत दिलाई थी।
क्रिकेट के पहले विलेन बने थे हैंसी
साल 2000 में मैच फिक्सिंग के खुलासे के बाद क्रिकेट की दुनिया में भूचाल आ गया था। दक्षिण अफ्रीका के तत्कालीन कप्तान हैंसी क्रोन्ये क्रिकेट के इस काले अध्याय के पहले विलेन बने थे। भारत के दौरे के बाद ही वो फिक्सिंग को लेकर चर्चा में थे लेकिन उन्होंने इन बातों से साफ इंकार किया था। लेकिन 11 अप्रैल साल 2000 को हैंसी ने खुद ही कबूल कर लिया कि वो फिक्सिंग में शामिल थे उनकी इस खेल में बड़ी भूमिका थी। क्रिकेट जगत के इस सम्मानित कप्तान का ऐेसे काम में संलिप्त है यह सुनकर किसी को भी तगड़ा झटका लगना स्वाभाविक था। होना क्रोन्ये ने दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट बोर्ड के एमडी अली बेचर को खुद फोन करके बताया कि वो इस खेल में पूरी तरह से ईमानदार नहीं थे।
1 जून 2002 को हुआ था हादसा
1 जून 2002 को यानि कि आज से 16 साल पहले दक्षिण अफ्रीका का यह दिग्गज कप्तान एक विमान हादसे का शिकार हो गया। दक्षिण अफ्रीका के एक शहर जॉर्ज के पास यह हादसा हुआ। क्रोन्ये दक्षिण अफ्रीका की आउटनिक्वूआ माउंटेन के ऊपर से हेलिकॉप्टर से यात्रा कर रहे थे उसी समय ये दर्दनाक हादसा हुआ। क्रोन्ये1 जून 2002 को वह हवाई जहाज से जोहानिसबर्ग से जॉर्ज जाने वाले थे। लेकिन तकनीकी खराबी के कारण उन्हें हवाई जहाज की बजाए हेलिकाप्टर से जाना पड़ा।
क्रोन्ये इस हेलिकॉप्टर पर अकेले यात्री थे, उनके साथ दो अन्य पायलट भी थे। जॉर्ज एयरपोर्ट के नजदीक पहुंचने पर अचानक बादलों की वजह से वहां की विजिबिलिटी खत्म सी हो गई और हेलिकाप्टर के नेवीगेशन सिस्टम ने काम करना बंद कर दिया जिसके चलते काफी देर तक लैंड नहीं कर पाया और पहाड़ो से टकरा गया। इस दर्दनाक हादसे में 32 वर्षीय हैंसी क्रोन्ये की मौत हो गई थी।
विमान हादसे के वक्त क्रोन्ये मात्र 32 साल के ही थे क्रोन्ये की लोकप्रियता का अंदाजा हम इस बात से लगा सकते हैं कि उनके अंतिम संस्कार में लगभग 2000 से भी ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया था। क्रोन्ये ने 68 टेस्ट मैच और 188 वनडे मैच खेले थे और 53 टेस्ट मैचों में उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के लिए कप्तानी की थी।

 


नई दिल्ली - टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का अब तक का करियर बहुत ही शानदार रहा है। धौनी ने अपनी कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम को हर वो बड़ी उपलब्धि दिलवाई जो कि अन्य भारतीय कप्तान नहीं दिला सके थे। टीम इंडिया ने धौनी के नेतृत्व में साल 2011 दूसरी बार विश्वकप का खिताब जीता साल 2007 में धौनी की कप्तानी में ही टीम इंडिया ने पहला टी-20 विश्वकप जीता।
धौनी पिछले लगभग डेढ़ दशक से टीम इंडिया के लिए सीमित ओवरों में विकेट कीपिंग कर रहे हैं ऐसे में अगले साल होने वाले विश्वकप के लिए धौनी ही चयनकर्ताओं की पहली पसंद हैं। धौनी को लेकर संभावनाएं ऐसी भी जताई जा रही है कि वो विश्व कप 2019 के बाद संन्यास ले सकते हैं। ऐसे में उनकी जगह के लिए भारतीय टीम में दस्तक देने के लिए कई खिलाड़ी अपनी दावेदारी पेश करेंगे आइये आपको उन खिलाड़ियों से रूबरू करवाते हैं।
दिल्ली डेयरडेविल्स के 20 वर्षीय विकेट कीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने आइपीएल 2018 में अपनी बेहतरीन बल्लेबाज के दम पर जमकर सुर्खियां बटोरी। ऋषभ पंत ने इस सीजन में शानदार बल्लेबाजी करते हुए 14 मैचों में 684 रन बनाए जिसमें 5 अर्धशतक और एक शतक शामिल था। इस दौरान उनका औसत 52.60 रहा।
दूसरे नंबर पर अगर हम बात करें तो लोकेश राहुल भी इस जगह के बड़े दावेदार हैं लोकेश राहुल ने मौजूदा आइपीएल सत्र में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए बेहतरीन खेल दिखाया। किंग्स इलेवन पंजाब ने नीलामी के दौरान केएल राहुल पर 11 करोड़ रुपये का दांव लगाया था, जिसे लोकेश राहुल ने सही साबित किया। मौजूदा आइपीएल सत्र में राहुल ने शानदार बल्लेबाजी की और इस दौरान उन्होंने 14 मैचों में 659 रन बनाए इस दौरान उनका औसत 54.91 रहा।
तीसरा दावा मुंबई इंडियंस के विकेट कीपर बल्लेबाज ईशान किशन का रहेगा उन्होंने आइपीएल के इस सत्र में अपनी टीम के बेहतरीन प्रदर्शन किया है। ईशान को मुंबई इंडियंस ने 5.5 करोड़ रुपये में खरीदा था। अपनी इस कीमत को ईशान किशन ने मुंबई इंडियंस को कई मैच जिताऊ पारियों से चुकता किया है। ईडेन गार्डेंस में ईशान किशन ने कोलकाता के खिलाफ मात्र 17 गेंदों में ही अर्धशतक लगाया था। इस पारी में उन्होंने कुल 62 रन बनाए थे।
चौथे दावेदार के रूप में राजस्थान रॉयल्स के विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन अपना दावा पेश करेंगे। आइपीएल के मौजूदा सत्र में हमने उनकी बल्लेबाजी में गजब का निखार देखा है। इस सत्र में संजू सैमसन ने 15 मैचों में 441 रन बनाए, इस दौरान इनका बल्लेबाजी का औसत 31.5 रन प्रति पारी रहा है।
दिनेश कार्तिक यह एक ऐसा नाम है जो टीम इंडिया के लिए महेंद्र सिंह धौनी से भी पुराना है। धौनी के धाकड़ प्रदर्शन के चलते इस समय के बहुत से विकेट कीपरों को अपने करियर से हाथ धोना पड़ा जिसके एक शिकार दिनेश कार्तिक भी हैं। हालांकि अब कार्तिक में पहले से काफी ज्यादा बदलाव आया है और वो लगातार जिम्मेदारी वाली पारियां भी खेल रहे हैं।

 


नई दिल्ली - आइपीएल 2018 के सफल आयोजन के बाद वर्ष 2019 में इंडियन प्रीमीयर लीग का आयोजन कब होगा इस पर खूब माथापच्ची की जा रही है। दरअसल अगले वर्ष भारत में आम चुनाव होना है साथ ही इंग्लैंड में विश्व कप का आयोजन भी होना है। इसे लेकर अब ये कयास लगाए जा रहे हैं कि इस टूर्नामेंट का आयोजन अप्रैल की जगह मार्च में की जा सकती है। आमतौर पर आइपीएल की शुरुआत अप्रैल के पहले हफ्ते में होती है लेकिन अगले आइपीएल सीजन की शुरुआत 29 मार्च से हो सकती है।
अगले आइपीएल की मुसीबत यहीं खत्म नहीं होती। अनुमान ये भी है कि अगर आमचुनाव का वक्त आइपीएल से टकराता है तो इसे देश के बाहर भी आयोजित किया जा सकता है। इससे पहले भी वर्ष 2009 में इस टूर्नामेंट का आयोजन दक्षिण अफ्रीका में किया गया था और इसके बाद यानी वर्ष 2014 में आम चुनाव की वजह से इस टूर्नामेंट को 19 दिनों के लिए यूएई में कराया गया था। एक अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक देश की मौजूदा सरकार इसी साल के अंत तक आम चुनाव करा सकती है और अगर ऐसा होता है तो आइपीएल फिर भारत में खेला जाएगा। आम चुनाव के दौरान आइपीएल के लिए अगल के सुरक्षा उपलब्ध करवाना किसी भी राज्य के लिए चुनौतीपूर्ण होता है इस वजह से चुनाव की वजह से इसे बाहर कराया जा सकता है।
अगर आम चुनाव इस साल के अंत में हो जाता है तो बीसीसीआइ को ये टूर्नामेंट किसी अन्य देश में नहीं करवाया होगा और इससे उससे राजस्व में बढ़ोतरी होगी। मार्च में आइपीएल को कराने के पीछे एक दूसरी वजह ये भी है कि अगले वर्ष इंग्लैंड में विश्व कप का आयोजन 30 मई से किया जाएगा। इस टूर्नामेंट में कुल 10 टीमों हिस्सा लेंगी। लोढ़ा कमीशन की रिपोर्ट के मुताबिक आइपीएल टूर्नामेंट खत्म होने और दूसरे टूर्नामेंट के शुरू होने के बीच 15 दिन का अंतर होना चाहिए साथ ही आइसीसी का भी ये नियम है कि विश्व कप शुरू होने से पहले कोई भी टीम दो सप्ताह पहले ही प्रमोशन के लिए उन्हें उपलब्ध होना चाहिए। इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए भी आइपीएल का आयोजन पहले कराया जाएगा।
हालांकि अभी इस पर फैसला नहीं लिया गया है क्योंकि बीसीसीआइ की नजर सरकार की घोषणा पर है कि आम चुनाव कब होने हैं। अाम चुनाव के तारीखों की घोषणा के बाद ही बीसीसीआइ कोई फैसला लेगी तब तक आइपीएल कब और कहां खेला जाएगा इस पर सस्पेंस बना रहेगा।

नई दिल्ली। 2 अप्रैल 2011 को भारत ने श्रीलंका को हराकर विश्व कप जीता था। उस समय भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी थे और उस टीम में उनके साथ हरभजन सिंह भी थे। आइपीएल 2018 का खिताब चेन्नई सुपर किंग्स ने जीता और इस टीम में भी ये दोनों खिलाड़ी मौजूद थे।2011 विश्व के जीतने के उस लम्हे को याद करते हुए टीम इंडिया के दिग्गज स्पिनर हरभजन…
नई दिल्ली। चेन्नई सुपर किंग्स ने आइपीएल 2018 का खिताब अपने नाम कर लिया। इस सीजन में चेन्नई के लिए ओपनिंग करने वाले मुरली विजय को बहुत ज्यादा मौके नहीं मिले। विजय को आइपीएल के 11वें सीजन में सिर्फ एक ही मैच खेलने का मौका मिला। हालांकि सीजन की शुरुआत में तो वो चोट से उबर रहे थे, लेकिन चोट ठीक होने के बाद भी उन्हें सिर्फ एक ही मैच…
नई दिल्ली। बीसीसीआइ ने तीनों राष्ट्रीय चयनकर्ताओं के मेहनताना राशि को बढ़ाने के अलावा अंपायरों, स्कोरर्स और वीडियो विश्लेषकों की फीस को दोगुना करने का फैसला किया है। यह फैसला बीसीसीआइ के क्रिकेट ऑपरेशन के प्रमुख सबा करीम की अध्यक्षता में लिया गया। प्रशासकों की समिति (सीओए) को भी लगता है कि मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद और उनके साथियों को उनके काम का इनाम मिलना चाहिए।हैरान करने वाली बात यह…
नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का अब तक का करियर बहुत ही शानदार रहा है। धौनी ने अपनी कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम को हर वो बड़ी उपलब्धि दिलवाई जो कि अन्य भारतीय कप्तान नहीं दिला सके थे। टीम इंडिया ने धौनी के नेतृत्व में साल 2011 दूसरी बार विश्वकप का खिताब जीता साल 2007 में धौनी की कप्तानी में ही टीम इंडिया ने पहला…
Page 9 of 287

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें