खेल

खेल (2460)


नई दिल्ली - भारत के एचएस प्रणॉय और किदांम्बी श्रीकांत टोक्यो में जापान ओपन बैडमिंटन टूनार्मेंट के पुरुष एकल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में हार गए हैं। मिश्रित युगल में प्रणव जेरी चोपड़ा और एन. सिक्की रेड्डी सेमीफाइनल में जगह बनाने में सफल रहे हैं। प्रणॉय को शुक्रवार को चीन के दूसरे वरीय युकी शी ने 45 मिनट चले मैच में 21-15, 21-14 से हराया।
हालांकि प्रणव और सिक्की ने तीन गेम तक चले मुकाबले में दक्षिण कोरिया के सियोंग जेई सियो और हा नाम किम को 21-18, 9-21, 21-19 से हराया। यह मैच 58 मिनट चला। अगले दौर में प्रणव और सिक्की जापान के ताकुरो होकी और सायाका हिरोता से भिड़ेंगे।
दूसरी ओर, टूनार्मेंट के 8वें वरीय खिलाड़ी श्रीकांत को मौजूदा विश्व चैम्पियन डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसेन ने हराया। 40 मिनट तक चले मुकाबले में विक्टर ने श्रीकांत को 21-17, 21-17 से हराया।
इन दोनों खिलाड़ियों के बीच यह 5वां मैच था। इस जीत के साथ विक्टर ने 3-2 की बढ़त हासिल कर ली है। इस मैच से पहले दोनों के बीच की प्रतिस्पर्धा 2-2 से बराबरी पर थी।
बता दें कि महिला एकल में गुरुवार को सायना नेहवाल और पीवी सिंधु की हार के साथ भारत की चुनौती समाप्त हो चुकी है।


नई दिल्ली - गुरुवार को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 5 मैचों की सीरीज का दूसरा वनडे इंटरनेशनल मैच कोलकाता के ईडन गार्डन्स पर खेला गया। इस मैच के दौरान ऐसा कुछ हुआ जिसे जानकर आप भी चौंक जाएंगे। अब जैसा कि आप विराट के बिहेवियर को जानते हैं, उन्हें गुस्सा बहुत जल्दी आ जाता है और ऐसे में अगर कोई खिलाड़ी मैच के दौरान कोई गलती करदे तो सोचिए क्या होगा। दरअसल, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भवुनेश्वर कुमार की बॉल पर ट्रेविस हेड ने स्लिप पर रोहित शर्मा को कैच दे दिया था, लेकिन रोहिट वो कैच नहीं ले पाए और बॉल छोड़ दी।
बस ये सब देख विराट को गुस्सा आ गया और रोहित के पास आए और बोले कैच पकड़ना नहीं आता को स्लिप में खड़ा क्यों होता है। हालांकि विराट ने ये सब हंसते हुए बोला था।
रोहित की परफॉर्मेंस के बारे में बात करें तो दूसरे वनडे में उन्होंने सिर्फ 7 रन बनाए। वहीं विराट ने (92) रन की शानदार पारी खेली। विराट को मैन ऑफ द मैच भी मिला।
भारतीय कप्तान विराट कोहली पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी रिकी पोटिंग का रिकॉर्ड तोड़ने से चूक गए। दरअसल कोहली वनडे मैचों में 30 शतक लगा चुके हैं। वहीं पोटिंग ने भी वनडे मैचों में 30 शतक लगाया है। इसलिए अगर कोहली इस मैच में 8 रन और बना लेते तो वो 31वें वनडे शतक के साथ पोटिंग से आगे निकल जाते।
वहीं एक अहम बात यह भी है कि इस मैच में कोहली छठी बार नर्वस नाइंटीज का शिकार हुए हैं। इससे पहले वो 5 बार 100 से कम और 90 या इससे ज्याद रन बनाकर आउट हुए हैं।
5 बार कोहली हुए नर्वस नाइंटीज के शिकार
2010 में ढाका में बांग्लादेश के खिलाफ़ 91
2011 में किंग्सटन में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ 94
2013 में ही वाइज़ैक में वेस्टइंडीज़ के खिलाफ़ 99
2016 में पर्थ में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ वे 91 रन पर आउट हो गए थे
बता दें कि कोहली वनडे में शतक लगाने के मामले में सिर्फ मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर से पीछे हैं। वहीं पोटिंग भी उनकी बराबरी पर हैं। सचिन के नाम पर विश्‍व में सबसे ज्‍यादा 49 शतक है
सचिन हुए हैं सबसे ज्यादा नर्वस नाइंटीज के शिकार
नर्वस नाइंटीज के मामले में भारत में सबसे ज्‍यादा बार आउट होने का रिकॉर्ड भी सचिन तेंदुलकर के नाम है। वह अपने क्रिकेट करियर में 17 बार नर्वस नाइंटीज का शिकार हो चुके हैं। सचिन के बाद गांगुली 6 बार नर्वस नाइंटीज का शिकार हुए हैं। सहवाग और कोहली 5-5 बार नर्वस नाइंटीज से बराबर पर हैं।


नई दिल्ली - ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए दूसरे वनडे मैच में भारत ने शानदार जीत हासिल की। विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने लगातार 11 मैचों जीत हासिल की। कोहली टीम इंडिया को लगातार सबसे ज्यादा जीत दिलाने वाले कप्तान बन गए हैं। इन 11 मैचों के 11 हीरो ये खिलाड़ी हैं...
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (दूसरा वनडे, कोलकाता)
इस मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज करते हुए 251 रन बनाए। भारत की ओर से कप्तान कोहली ने 92 रनों की शानदार पारी खेली। वहीं गेंदबाज में कुलदीप यादव की हैट्रिक और भुवनेश्वर की किफायती गेंदबाजी ने भारत को जीत तक पहुंचाया। इस मैच में विराट मैन ऑफ द मैच रहे।
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (पहला वनडे, चेन्नई)
पहले वनडे में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 281 रन बनाए। इस मैच ओपनर रहाणे 5 और रोहित 28 रन बनाकर आउट हुए। वहीं कोहली और मनीष शून्य पर पवेलियन लौटे। इसके बाद धौनी 79 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली और हार्दिक पांड्या ने ऑलराउंडर प्रदर्शन किया। उन्होंने 83 रन बनाने के साथ 2 महत्वपूर्ण विकेट झटके। इस मैच में पांड्या मैन ऑफ द मैच चुने गए। यह मैच भारत डकवर्थ लुइस नियम से 26 रनों से जीता था।
श्रीलंका बनाम भारत (टी-20 मैच, कोलंबो)
श्रीलंका दौरे पर गई टीम इंडिया एक मात्र टी-20 मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया। श्रीलंका ने निश्चित ओवरों में 170 रन बनाए। इस दौरान यजुवेन्द्र चहल ने 3 और कुलदीप यादव ने 2 विकेट झटके। भारत की ओर से खेलते हुए विराट कोहली ने 82 रनों की शानदार पारी खेली। इस मैच के हीरो कोहली रहे और उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।
श्रीलंका बनाम भारत (5वां वनडे, कोलंबो)
इस मैच में श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 238 रन बनाए। इस दौरान भुवनेश्वर कुमार ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 5 विकेट झटके। वहीं बल्लेबाजी में विराट कोहली ने नाबाद 110 रन बनाकर भारत को जीत दिलायी। इस मैच के हीरो कोहली तो थे ही लेकिन उनसे पहले भुवनेश्वर ने अहम भूमिका निभाई थी। लिहाजा भुवी को मैन ऑफ द मैच चुना गया।
श्रीलंका बनाम भारत (चौथा वनडे, कोलंबो)
चौथा वनडे टीम इंडिया के लिए बेहद खास रहा था। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निश्चित ओवरों में 5 विकेट खोकर 375 रन बनाए। इस दौरान ओपनर रोहित ने 104 रनों की पारी खेली। वहीं कोहली ने भी जबर्दस्त शतक जड़ते हुए 131 रन बनाए। इस मैच के हीरो भी कोहली ही रहे, उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।
श्रीलंका बनाम भारत (तीसरा वनडे, पल्लेकेले)
इस मैच में श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 217 रन बनाए। इस दौरान जसप्रीत बुमराह ने बेहद किफायती गेंदबाजी करते हुए 10 ओवर में सिर्फ 27 रन दिए और 5 विकेट झटके। भारत की ओर से बल्लेबाजी करते हुए रोहित ने 124 रनों की जबर्दस्त पारी खेली। मैच के हीरो बुमराह रहे और उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।
श्रीलंका बनाम भारत (दूसरा वनडे, पल्लेकेल)
यह मैच भी बारिश की वजह से बाधित रहा था। लिहाजा डकवर्थ लुइस नियम से भारत ने 3 विकेट से जीत हासिल की थी। श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 236 रन बनाए थे। इस दौरान बुमराह ने 4 विकेट झटके थे। वहीं बल्लेबाजी में रोहित ने 54 और धवन 49 रन बनाए। इन दोनों के आउट होने के टीम इंडिया हार की ओर बढ़ रही थी। लेकिन धौनी और भुवनेश्वर की शतकीय साझेदारी ने भारत को मैच जिता दिया। भुवी ने नाबाद 53 रन और माही ने नाबाद 45 रन बनाए थे।
श्रीलंका बनाम भारत (पहला वनडे, दांबुला)
भारत अगस्त महीने में श्रीलंका दौरे पर गया था। इस दौरान पहला वनडे 20 अगस्त को दांबुला में खेला गया था। इस मुकाबला में पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका 216 रनों पर ऑल आउट हो गई थी। इस दौरान अक्षर पटेल ने 3 विकेट चटकाये थे। इसके जवाब में उतरी भारतीय टीम महज 1 विकेट खोकर मैच जीत गई। इस मैच के हीरो धवन रहे। उन्होंने नाबाद 132 रनों की पारी खेली थी और उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया था। वहीं कोहली ने भी नाबाद 82 रनों की पारी खेली थी।
श्रीलंका बनाम भारत ( तीसरा टेस्ट, पल्लेकेले)
इस मैच में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 487 रन बनाए। इस दौरान शिखर ने 119 और हार्दिक पांड्या ने 108 रनों की जबर्दस्त शतकीय पारी खेली। इसके जवाब में उतरी श्रीलंकाई टीम पहली पारी में 135 रन पर ऑल आउट हो गई। इस दौरान हार्दिक पांड्या ने 1 विकेट हासिल किया। कोहली ने दूसरी पारी में बल्लेबाजी न करते हुए श्रीलंका को दोबारा बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। दूसरी पारी में भी श्रीलंका 181 रनों पर ऑल आउट हो गई। इस दौरान अश्विन ने 4 विकेट हासिल किए। पांड्या को मैन ऑफ द मैच चुना गया।
श्रीलंका बनाम भारत (दूसरा टेस्ट, कोलंबो)
इस मैच में भारत ने पारी और 53 रनों से जीत हासिल की थी। इस मैच के हीरो जडेजा रहे थे। उन्होंने नाबाद 70 रन बनाने के साथ ही दोनों पारियों में 7 विकेट झटके थे। जडेजा ने पहली पारी में 2 और दूसरी पारी में 5 विकेट हासिल किए थे।
श्रीलंका बनाम भारत (पहला टेस्ट, गाले)
यह टेस्ट भारत ने 304 रनों से जीत था। इस मैच में धवन ने 190 रनों की जबर्दस्त पारी खेली थीय़ इस दौरान उन्होंने 31 चौके लगाए थे। धवन को इस मैच के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया था।


कोलकता - गुरुवार को कोलकता के ईडन गार्डन में खेले गए रोमांचक मैच ने सभी का दिल जीत लिया। भारत की खराब शुरूआत के बावजूद टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन किया और 50 रन से सीरीज का दूसरा मैच भी जीत गई। 2-0 से आगे चल रही टीम इंडिया की खुशी देखने लायक थी। भारत की जीत का जश्न सिर्फ टीम ने ही नहीं बल्कि क्रिकेट प्रेमियों ने भी जमकर मनाया। सोशल मीडिया पर टीम इंडिया की जमकर तारीफ हुई। वहीं, फैंस ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों का मजाक उड़ाने में भी पीछे नहीं रहे। सीरीज शुरू होने से पहले ही भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच जुबानी जंग शुरू हो जाती है। और यह सीरीज शुरू होने से पहले भी ऐसा ही देखने को मिला। दरअसल, मैच सीरीज से पहले ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार ने 'टीम को स्वीपर' कहा था, जिसका फैंस ने करारा जवाब दिया था।
59 रन पर हुए थे आउट
ऑस्ट्रेलिया की ओर से इस मजाक का करारा जवाब मैच के दौरान बिना कुछ कहे ही दे दिया। दरअसल, कल इंडियन टीम में जडेजा को शामिल नहीं किया गया था, लेकिन फिल्डिंग के टाइम उन्हें किसी कारण से टीम में शामिल कर लिया गया। क्रीज पर जमे स्टीव स्मिथ को 59 रन पर आउट कर दिया गया। दरअसल, पांड्या की बॉल पर जडेजा ने स्मिथ को कैच आउट किया। जडेजा द्वारा आउट होने पर उन्हें ट्विटर पर खूब ट्रोल किया गया।


कानपुर - कानपुर के युवा स्पिनर कुलदीप यादव ने गुरुवार को आस्ट्रेलिया के खिलाफ हैट्रिक लेकर इतिहास बना दिया। इससे पहले यह कारनामा इंडिया के लिए सिर्फ दो ही गेंदबाजों ने किया है। कुलदीप इंडिया के महज तीसरे व यूपी के पहले गेंदबाज हैं, जिन्होंने वनडे क्रिकेट में हैट्रिक ली है। इससे पहले सिर्फ चेतन शर्मा (1987) और कपिल देव (1991) ही वनडे में हैट्रिक जमा चुके हैं। कुलदीप के इस कारनामे के बाद कानपुर में उनके माता-पिता की खुशी का ठिकाना ही नहीं रहा।
कपिल क्लब में शामिल हुअा अपना कुलदीप
भारत के लिए चेतन शर्मा ने न्यूजीलैंड के खिलाफ, जबकि कपिल देव ने श्रीलंका के खिलाफ यह करिश्मा किया था। कुलदीप ने 32.2 ओवर में मैथ्यू वेड, 32.3 ओवर में एस्टन एगर व 32.4 ओवर में पैट कमिंस को आउट कर इतिहास रचा। अभी तक पूरे विश्व से 39 गेंदबाज इस करिश्मे को अंजाम दे चुके हैं। जिसमें श्रीलंका के पेसर लसिथ मलिंगा ने सबसे ज्यादा 3 बार तो पाकिस्तान के वसीम अकरम, आकिब जावेद और सकलेन मुश्ताक ने 2-2 बार यह करिश्मा किया है। कुलदीप के पिता राम सिंह यादव ने कहा कि कुलदीप ने आज शहर का नाम रोशन किया है। उसने अपने चयन को आज सही साबित किया है।
ऑस्ट्रेलिया सीरीज से पहले किया कड़ा अभ्यास
कुलदीप यादव के कोच कपिल देव पांडे के मुताबिक, कुलदीप ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के लिए खास तैयारी की थी। उसे पता था कि अगर यहां उसका प्रदर्शन अच्छा रहता है, तो टीम में उसकी जगह पर्मानेंट बन सकती है। इसी के मद्देनजर उसने आस्ट्रेलियाई टीम के हर खिलाड़ी के खिलाफ रणनीति तैयार की थी। खुद कपिल देव पांडे को यकीन नहीं हो रहा कि उनके शिष्य ने इतनी जल्दी इंटरनेशनल क्रिकेट में हैट्रिक लेने का कारनामा कर दिखाया। हिन्दुस्तान से बातचीत में ंउन्होंने कहा कि कुलदीप लगातार अच्छी गेंदबाजी कर रहा था। पता था कि वो सफल होगा, लेकिन हैट्रिक की उम्मीद नहीं थी। आस्ट्रेलिया सीरीज के लिए रवाना होने से पहले उसने रोवर्स मैदान पर काफी मेहनत की थी। मैंने उसे लाइन लेंथ सही रखने को कहा था। खासतौर पर ग्लेन मैक्सवेल को लेकर वो थोड़ा परेशान था तो उसे यही सलाह दी थी कि गेंद को उससे दूर रखने की कोशिश करना। मैक्सवेल के खिलाफ राउंड द विकेट गेंदबाजी करने को भी कहा था, लेकिन उसने मैच की स्थिति के अनुसार गेंदबाजी की। उसे गेंद को ग्रिप करने में भी दिक्कत आ रही थी, लेकिन अब उसे देखकर नहीं लगता कि ये दिक्कत कायम है। मैं उसके लिए खुश हूं कि उसकी मेहनत रंग ला रही है। कुलदीप की इस सफलता पर रोवर्स मैदान पर जश्न होगा।
हैट्रिक के ये हैं रिकॉर्ड
-हैट्रिक लेने का सबसे पहला मौका पाकिस्तानी गेंदबाज जलालुद्दीन को मिला था, जिन्होंने 20 सितंबर 1982 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ लगातार 3 विकेट चटकाए थे।
-श्रीलंकाई पेसर लसिथ मलिंगा ने 2007 गुयाना में लगातार चार गेंदों पर चार विकेट चटकाए थे, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है।
-पाकिस्तान के आकिब जावेद 19 साल 81 दिन की उम्र में हैट्रिक लेने वाले यंगेस्ट बॉलर थे।


कोलकाता - भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 5 मैचों की सीरीज का दूसरा वनडे इंटरनेशनल मैच कोलकाता के ईडन गार्डन्स पर खेला गया। इस मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 50 रन से हराया। 5 वनडे मैचों की सीरीज में भारत 2-0 से आगे हो गया है। इस मैच के लिए विराट कोहली को मैन ऑफ द मैच चुना गया। इस जीत के साथ टीम इंडिया वनडे इंटरनेशनल रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर पहुंच गई है। इसी के साथ भारत ने लगातार 11वीं जीत दर्ज की है।
इस मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए ऑस्ट्रेलिया को 253 रनों का लक्ष्य दिया। इसके जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम 202 रन बनाकर ऑल आउट हो गयी। टीम इंडिया की ओर से बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए कुलदीप यादव ने वनडे करियर की पहली हैट्रीक ली। वहीं कप्तान कोहली शतक बनाने से चूके।
इस तरह रही टीम इंडिया की बैटिंग :
ओपनर रोहित शर्मा 7 रन बनाकर आउट हुए। रोहित के आउट होने के बाद कोहली और रहाणे ने पारी को संभाला। लेकिन रहाणे 55 रन बनाकर रन आउट हो गए। वहीं कोहली शानदार शतक बनाने से चूके। कोहली 92 रन बनाकर कॉल्टर नाइल की गेंद पर आउट हुए। इससे पहले मनीष पांडे 3 और केदार जाधव 24 रन बनाकर पवेलियन लौटे।
इसके बाद महेन्द्र सिंह धौनी बैटिंग के लिए आए, लेकिन वो भी महज 5 रन बनाकर आउट हो गए। माही के बाद हार्दिका पांड्या और भुवनेश्वर कुमार ने स्कोर बोर्ड को धीरे- धीरे आगे बढ़ाया। लेकिन भुवी 20 और पांड्या 20 रन बनाकर आउट हो गए। वहीं कुलदीप यादव भी बिना खाता खोले पवेलियन लौटे। अंत में जसप्रीत बुमराह 2 चौकों की मदद से 10 रन बनाकर नाबाद रहे।
कूल्टर नाइल और रिचर्डसन की बेहतरीन गेंदबाजी :
ऑस्ट्रेलिया की ओर से बॉलिंग करते हुए नाथन कूल्टर नाइल ने 10 ओवरों में 51 रन देकर 3 विकेट झटके। वहीं केन रिचर्डसन ने भी 10 ओवरों में 55 रन देकर 3 विकेट चटकाये। पैट कमिंस ने किफायती बॉलिंग करते हुए 10 ओवरों में 34 रन देकर 1 विकेट लिया और 1 मेडन ओवर भी निकाला। इसके अलावा एस्टन एगर को 1 विकेट मिला।
इस तरह रही ऑस्ट्रेलियाई पारी :
ऑस्ट्रेलिया के लिए डेविड वार्नर और कार्टराइट ने पारी की शुरूआत की। लेकिन कार्टराइट महज 1 रन बनाकर भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर आउट हो गए। वहीं वार्नर भी 1 रन बनाकर भुवी की गेंद का शिकार हुए। वार्नर के बाद ट्रेविस हेड 39 रन बनाकर चहल की गेंद पर आउट हुए। टीम का चौथा विकेट मैक्सवेल के रूप में गिरा। उन्हें धौनी ने फुर्ती दिखाते हुए स्टम्प आउट किया।
मैक्सवेल के बाद स्मिथ 59 रन बनाकर पांड्या की गेंद पर आउट हुए। वहीं मैथ्यू वेड, एस्टन एगर और पैट कमिंस कुलदीप यादव की हैट्रिक का शिकार हुए। कुलदीप ने इन बल्लेबाजों को 34वें ओवर में आउट किया। टीम का 9वां विकेट कुल्टर नाइल के रूप में गिरा। नाइल 8 रन बनाकर हार्दिक की गेंद पर आउट हुए। इनके बाद रिचर्डसन बिना खाता पवेलियन लौटे और अंत में मार्कस स्टोयनिस 62 रन बनाकर नाबाद रहे।
टीम इंडिया की शानदार बॉलिंग :
कुलदीप यादव ने 10 ओवरों में 54 रन देकर 3 विकेट झटके। उन्होंने वनडे करियर की पहली हैट्रिक ली। वहीं भुवनेश्वर कुमार ने भी बेहरीन बॉलिंग करते हुए 6.1 ओवर में महज 9 रन देकर 3 विकेट झटके। उन्होंने 1 मेडन ओवर भी फेंका। यजुवेन्द्र चहल ने किफायती गेंदबाजी करते हुए 10 ओवरों में 34 रन देकर 2 विकेट झटके और पांड्या ने भी 10 ओवरों में 56 रन देकर 2 विकेट झटके। बुमराह ने 7 ओवरों में 39 रन दिए।

दिल्ली - इंडिया क्रिकेट टीम के पूर्व कैप्टन धौनी को 'कैप्टन कूल' के नाम से ऐसे ही नहीं जाना जाता। धौनी किसी भी स्थिति में खुद को शांत रखते हैं और बहुत कम ही ऐसा होता है कि धौनी की किसी बात पर गुस्सा आ जाए। लेकिन धौनी के मैच करियर में ऐसा कई बार देखा गया है कि उन्हें फील्ड पर ही गुस्सा आ गया। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले…
नई दिल्ली - भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 5 मैचों की सीरीज का दूसरा वनडे इंटरनेशनल मैच कोलकाता के ईडन गार्डन्स पर खेला गया। इस मैच में भारतीय कप्तान विराट कोहली पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी रिकी पोटिंग का रिकॉर्ड तोड़ने से चूक गए। दरअसल कोहली वनडे मैचों में 30 शतक लगा चुके हैं। वहीं पोटिंग ने भी वनडे मैचों में 30 शतक लगाया है। इसलिए अगर कोहली इस मैच में 8…
कोलकाता (HH)- दूसरे वन डे मैच में टीम इंडिया ने ऑस्‍ट्रेलिया को कप्‍तान विराट कोहली की शानदार बल्‍लेबाजी और फि‍र कुलदीप यादव की ऐतिहासिक हैट्रिक की बदौलत 50 रन से हराकर सीरीज में 2-0 से बढ़त ले ली है. इससे पहले भारतीय क्रिकेट टीम ने गुरुवार को ईडन गार्डंस स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया के साथ जारी दूसरे वनडे मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया. भारत ने 50 ओवर…
कोलकाता - भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच मैचों की सीरीज का दूसरा एकदिवसीय मैच कोलकाता के ईडन गार्डन्स मैदान पर खेला जा रहा है। इस दौरान ऑस्ट्रेलियाई टीम बुरी तरह परेशान नजर आई। कोलकाता की गर्मी और ह्यूमिडिटी में ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों की बैंड बज गई है।इंडियन क्रिकेट टीम के पेज पर एक वीडियो शेयर किया गया है, जिसमें ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों की खस्ता हालत दिख रही है। कोलकाता में भारत…
Page 1 of 176

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें