खेल

खेल (4013)

नई दिल्ली। भारतीय टीम के स्पिन गेंदबाज युजवेंद्र सिंह चहल ने पूर्व कप्तान महेंद्र सिहं धौनी की तारीफ की है। चहल ने हाल के दिनों में टी- 20 और वनडे क्रिकेट में अपनी गेंदबाजी से दुनिया भर के बल्लेबाजों को प्रभावित किया है। चहल अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने के बाद से लगातार बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं अपने इसी प्रदर्शन की बदौलत आज वो भारतीय टीम का अभिन्न अंग बन चुके हैं। हाल में ही चहल ने मीडिया को दिए एक इंडरव्यू में पूर्व कप्तान धौनी की तारीफ की और साथ ही मौजूदा कप्तान विराट कोहली को लेकर भी अपना अनुभव साझा किया है।युजवेंद्र चहल ने स्पोर्ट की एक वेबसाइट से बातचीत में बताया कि, ‘मैच के दौरान पहले दस ओवर के बाद जब मैं और कुलदीप गेंदबाजी के लिए आते हैं तब तक धौनी पिच के मिजाज को पढ़ लेते हैं और साथ ही साथ बल्लेबाज के दिमाग में क्या चल रहा है इस बात का अंदाजा लगाकर वो भी हमसे साझा करते हैं साथ ही हमें दिशा निर्देश भी देते हैं कि इस बल्लेबाज को कैसे गेंद फेंकनी है, उनकी इन बातों को जानने के बाद हमें गेंदबाजी करने में काफी आसानी हो जाती है।’वहीं जब चहल से कोहली के बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने बताया कि भारतीय कप्तान हमेशा सकारात्मक रहते हैं और गेंदबाजों के ऊपर अपना पूरा भरोसा दिखाते हैं। आपको बता दें कि आइपीएल 2018 में चहल ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था। उन्होंने इस टूर्नामेंट में बहुत ही किफायती गेंदबाजी की और कुल 7.26 की औसत से रन दिए इस दौरान उन्होंने 12 विकेट भी हासिल किए।अब तक युजवेंद्र चहल ने भारत के लिए 23 वनडे मैचों में 43 विकेट और 21 टी- 20 में 35 विकेट हासिल किए हैं। चहल अगर ऐसे ही अपनी गेंदों में पैनापन लाते रहे तो वो भारत के लिए अगले साल इंग्लैंड में होने वाले विश्वकप में अहम किरदार निभा सकते हैं। कुलदीप यादव के साथ चहल की जोड़ी ने भारतीय टीम के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया है विश्वकप से पहले चहल को उनके विदेशी दौरों का फायदा मिलेगा।

 

 

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम कप्तान विराट कोहली की अगुवई में 23 जून को आयरलैंड के लिए रवाना होगी, जहां टीम इंडिया आयरलैंड और इंग्लैंड का दौरा करने करेगी। आयरलैंड में भारतीय टीम दो टी20 मैचों की सीरीज खेलेगी जिसके बाद भारतीय टीम को इंग्लैंड का दौरा करना है इस दौरे पर भारतीय टीम 5 टेस्ट मैचों की सीरीज, 3 एकदिवसीय मैचों की सीरीज और 3 टी- 20 मैचों की सीरीज खेलेगी।भारतीय टीम 27 जून को आयरलैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज की शुरूआत करेगी इस सीरीज का दूसरा और अंतिम मुकाबला 29 जून को खेला जाएगा। इस दौरे के लिए भारत की 15 सदस्यीय टीम की घोषणा हो चुकी है जिसकी अगुवाई विराट कोहली करेंगे। इस टीम में आइपीएल टूर्नामेंट के दौरान बढ़िया प्रदर्शन न कर पाने के बावजूद मनीष पांडे भी जगह बनाने में कामयाब रहे हैं।आयरलैंड में टी-20 सीरीज के बाद भारतीय टीम इसके जुलाई में इंग्लैंड का दौरा करेगी और सबसे पहले वहां 3 टी-20 मैचों की सीरीज खेलेगी। सीरीज का पहला टी-20 मैच 3 जुलाई को मैनचेस्टर में, दूसरा मुकाबला 6 जुलाई को कार्डिफ में और तीसरा मुकाबला 8 जुलाई को ब्रिस्टल में खेला जाएगा। इसके अलावा भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ 3 मैचों की वनडे सीरीज और 5 मैचों की टेस्ट सीरीज भी खेलेगी। आपको बता दें कि एकदिवसीय टीम में मनीष पांडे की जगह श्रेयस अय्यर टीम में शामिल होंगे वो मौजूदा समय इंग्लैंड के दौरे पर भारत ए टीम की कप्तानी कर रहे हैं।विराट कोहली (कप्तान), सुरेश रैना, मनीष पांडे, महेंद्र सिंह धौनी, शिखर धवन, रोहित शर्मा, के एल राहुल, दिनेश कार्तिक, उमेश यादव, सिद्धार्थ कौल, कुलदीप यादव, वाशिंगटन सुंदर, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पांड्या और युजवेंद्र चहल।

नई दिल्ली। इंग्लैंड के दौरे पर जाने से पहले कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री ने भारतीय क्रिकेट फैंस को वहां पर सीरीज जीतने का भरोसा जताया है। कोहली ने कहा हम वहां शानदार क्रिकेट खेलने की कोशिश करेंगे। कोहली ने मीडिया से बातचीत में बताया वो पूरी तरह से फिट हैं और पूरी सीरीज के दौरान बेहतरीन प्रदर्शन करने को आतुर हैं। अपने गेंदबाजों की तारीफ करते हुए कोहली ने कहा कि, इस दौरे में उनके गेंदबाज 20 विकेट चटकाने में सफल होंगे।कप्तान कोहली और कोच रवि शास्त्री ने इंग्लैंड दौरे पर रवाना होने से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपनी रणनीति का खुलासा भी किया। कोहली ने कहा कि इंग्लैंड के इस दौरे पर वो एकबार फिर से दक्षिण अफ्रीका की तरह क्रिकेट खेलने की कोशिश करेंगे और हमारी टीम भी अफ्रीका में किए गए प्रदर्शन को दोहराने की पूरी कोशिश करेगी। उन्होंने कहा, 'हमारे गेंदबाज टेस्ट में 20 विकेट चटका सकते हैं।'कोहली ने अपनी फिटनेस कहा कि, 'मेरी गर्दन ठीक है और मैं पूरी तरह से फिट हूं। एक दिन में छह से सात सेशन का अभ्यास कर रहा हूं और मुझे लगता है कि इस तरह की ट्रेनिंग मेरे लिए काफी सही है।' यो-यो टेस्ट को लेकर भारतीय कोच रवि शास्त्री ने कहा, 'अगर आप यो-यो टेस्ट नहीं पास कर पाते तो आप टीम से बाहर बैठ सकते हैं, यो-यो टेस्ट यहां टीम में जगह बनाने के लिए है। गलती के लिए टीम में कोई जगह नहीं है। कैप्टन आगे आकर टीम का नेतृत्व कर रहे हैं।'कोहली ने कहा, 'इंग्लैंड में स्विंग करती हुई गेंदें सबको परेशान करती है। अगर ऐसा नहीं होता तो हमारे गेंदबाज भी स्विंग वाली विकटों पर विकेट नहीं चटका पाते। हम इंग्लैंड के वातावरण में बेहतर खेले दिखाएंगे। हमारी गेंदबाजी अच्छी है। तेज गेंदबाज और स्पिनर विकेट लेने की क्षमता रखते हैं। हमारे पास बुमराह जैसे तेज गेंदबाज हैं जो लगातार 140 की रफ्तार से गेंद फेंक सकते हैं।' गौरतलब है कि भारत का इंग्लैंड दौरा 3 जुलाई से शुरू हो रहा है। इसमें 5 टेस्ट मैच, तीन वनडे मैच और 3 टी 20 खेले जाएंगे।

नई दिल्ली। श्रीलंका के खिलाफ खेले जा रहे सीरीज के दूसरे टेस्ट में श्रीलंका के कप्तान दिनेश चांदीमल, कोच चंडिका हाथुरुषे और टीम के मैनेजर असंका गुरुसिंहां को दोषी पाया है आइसीसी के सीईओ डेव रिचर्डसन ने इन लोगों को ऑर्टिकल 2.3.1 के उल्लंघन का दोषी पाया। लेवल 3 वह आचरण है जो खेल की भावना के विपरीत है। इसके पहले श्रीलंकाई कप्तान दिनेश चांदीमल को बॉल टेंपरिंग मामले में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) ने दोषी पाते हुए उन पर 100 प्रतिशत मैच फीस का जुर्माना और एक टेस्ट मैच का प्रतिबंध लगाया था।चांदीमल पर बॉल टेंपरिंग के ये आरोप वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच के दौरान लगे थे। दिनेश चांदीमल ने आईसीसी के इन आरोपों को एक सिरे से नकार दिया था और ऐसा कुछ भी करने से साफ इंकार कर दिया था। लेकिन फुटेज में साफ जाहिर हो रहा था कि वो गेंद पर मुंह से कुछ लगा रहे थे। अब प्रतिबंध के चलते चांदीमल बारबाडोस में वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे टेस्ट में नहीं खेल पाएंगे।बॉल टेंपरिंग मामले में निलंबित किए गए श्रीलंकाई कप्तान दिनेश चंडीमल ने आईसीसी के फैसले के खिलाफ अपील की। आईसीसी ने बॉल टेंपरिंग के कारण वेस्ट इंडीज के खिलाफ चल रहे मौजूदा दौरे के तीसरे टेस्ट से निलंबित करने का फैसला किया था।उन्हें दूसरे टेस्ट के दौरान आईसीसी ने गेंद से छेड़छाड़ का दोषी पाया और विडियो सबूत में भी दिखा कि उन्होंने अपने मुंह में मीठी चीज निकाल कर गेंद पर लगाई है। सुनवाई के दौरान मैच रैफरी जवागल श्रीनाथ ने संहिता के मुताबिक थोड़ समय लेकर फैसला सुनाया जिसमें चांदीमल को अधिकतम सजा सुनाई गई थी, जिसके मुताबिक चांदीमल के निलंबन में 2 अंक जुड़े और उनकी मैच फीस सौ फीसदी जुर्माना लगाया था।

नई दिल्ली। भारतीय टीम के सफतलतम कप्तान और स्टार क्रिकेटर महेंद्र सिंह धौनी को लेकर कई विकेटकीपरों ने बहुत सी बयानबाजियां की हैं। धौनी के बार में अभी हाल में ही दिनेश कार्तिक ने बयान दिया था कि ‘जब धौनी टीम इंडिया में फिट हो गए तो उन्होंने सोचा था कि अब क्रिकेट से संन्यास ले लूं या फिर विकेट कीपिंग छोड़ दूं।’ इसके बाद से यह भी कहा जाने लगा कि भारतीय टीम में धौनी के आ जाने के बाद से इस दौर के विकेट कीपर बल्लेबाजों के करियर खत्म हो गए।इन विकेट कीपरों के बारे में कहा जाने लगा कि ये विकेट कीपर गलत दौर में क्रिकेट में आ गए। लेकिन एक और विकेट कीपर पार्थिव पटेल इस बात को नहीं मानते हैं। ब्रेकफास्ट विद चैंपियंस के साथ एक इंटरव्यू के दौरान पार्थिव ने अपने जीवन के संघर्षों के बारे में बताते हुए इस सवाल के जवाब में कहा कि, ‘मुझे ऐसा नहीं लगता है, आज ज्यादातर लोग ऐसा बोल रहे हैं लेकिन ये हमारे खराब प्रदर्शन के चलते हुआ अगर हमने खराब प्रदर्शन कर धौनी को मौका नहीं दिया होता तो आज ये दिन नहीं देखने पड़ते हम अपने टीम से बाहर होने के लिए खुद जिम्मेदार हैं। अगर हमने अपने मौके का सही तरह से फायदा उठाया होता तो धौनी आज टीम में नहीं होते।’इस इंटरव्यू में पार्थिव ने अपने संघर्षों के बारे में बताया जिनके बाद वो आज इस मुकाम तक पहुंचे हैं और अपनी पहचान बनाई। पढ़ाई के दिनों में 12-13 किमी तक बैग टांगकर साइकिल से स्कूल जाना और साइकिल के पीछे उनका किट बैग भी होता था। स्कूल की पढ़ाई से समय बचने के बाद क्रिकेट पर फोकस करना होता था।

इंग्लैंड के दौरे पर आई ऑस्ट्रेलियाई टीम का हार का सिलसिला बरकरार है। पांच वनडे मैचों की सीरीज के चौथे मैच में इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को छह विकेट करारी शिकस्त दी है इस जीत के साथ ही मेजबान टीम ने मेहमानों पर 4-0 की अजेय बढ़त बना ली है। गुरुवार को डरहम के चेस्टर ली स्ट्रीट के रिवरसाइड ग्राउंड पर सीरीज का चौथा मैच खेला गया था। इस मैच में एक बार फिर से दोनों टीम की ओर से रनों की बरसात देखने को मिली। इस मुकाबले में तीन बल्लेबाजों ने शतक जमाए तो वहीं तीन बल्लेबाजों ने अर्धशतक भी लगाए। इंग्लैंड के खिलाफ चौथे वनडे में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। ऑस्ट्रेलिया ने एरोन फिंच और शॉन मार्श के शतकों की बदौलत पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में आठ विकेट के नुकसान पर 310 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया। इस बड़े स्कोर को देखकर एक समय ऐसा लग रहा था कि ऑस्ट्रेलिया इस मुकाबले को आसानी से जीत लेगा लेकिन होनी को कुछ और ही मंजूर था। इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने सधी शुरुआत की और मैच पर शुरू से ही अपनी पकड़ बनाए रखी जिसका नतीजा इस चौथे मैच भी उन्हें जीत के रूप में हासिल हुआ 311 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेजबान टीम ने बेहतरीन शुरुआत की, इनफॉर्म बल्लेबाज जेसन रॉय और जॉनी बेयरस्टो ने पहले विकेट के लिए 23.4 ओवर में 174 रन जोड़ जोड़कर टीम के जीत की आधारशिला तैयार कर दी। इंग्बेलैंड को पहला झटका बेयरिस्टो के रूप में लगा वो 66 गेंद पर 79 रन बनाकर आउट हुए।

नई दिल्ली। श्रीलंका क्रिकेट टीम के कप्तान दिनेश चांदीमल ने उन पर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट बोर्ड (आइसीसी) द्वारा लगाए गए एक टेस्ट मैच के प्रतिबंध के खिलाफ अपील की है। आइसीसी ने गुरुवार को इसकी पुष्टि की।ऑन-फील्ड अंपायरों अलीम दार, इयान गोउल्ड और तीसरे अंपायर रिचर्ड केटलबोरो ने चांदीमल पर वेस्टइंडीज के खिलाफ जारी दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन बॉल टेम्परिंग का आरोप लगाया था।आइसीसी ने अपने ट्वीट पर कहा,…
नई दिल्ली। पाकिस्तान की टीम को एक बड़ा झटका लगा है। इस टीम का एक खिलाड़ी डोप टेस्ट में फेल हो गया है। पाकिस्तान के ओपनिंग बल्लेबाज़ अगमद शहज़ाद डोप टेस्ट में फेल हो गए हैं। हालांकि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने तो शहज़ाद के डोप टेस्ट में फेल होने को लेकर कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है, लेकिन पाकिस्तान के लोकल अखबारों में उनके नाम का खुलासा हो गया…
दुबई। पहली विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) की अपनी शुरुआती सीरीज खेलने के लिए भारतीय टीम वेस्टइंडीज का दौरा करेगी। यह जानकारी बुधवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) द्वारा अगले पांच साल (2018-2023) के फ्यूचर टूर प्रोग्राम (एफटीपी) में दी गई।आइसीसी ने बताया कि डब्ल्यूटीसी के तहत भारत वेस्टइंडीज में दो टेस्ट सीरीज खेलेगा।15 जुलाई 2019 से 30 अप्रैल 2021 तक चलने वाली टेस्ट चैंपियनशिप के पहले सत्र में नौ शीर्ष…
रांची। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी को जेड श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है। घर पर अलग से पुलिस बल है। बावजूद इसके , उनकी पत्‍‌नी आत्मरक्षा के लिए पिस्तौल लेना चाहती हैं और उन्होंने इसके लिए आवेदन दिया है। आवेदन पर जिला पुलिस ने सकारात्मक टिप्पणी के साथ उपायुक्त के पास निर्णय के लिए भेज दिया है।इसलिए चाहिए साक्षी को पिस्तौल;-साक्षी धौनी ने प्वाइंट 32…
Page 1 of 287

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें