Editor

Editor

नई दिल्ली:-जर्मनी की लक्जरी कार निर्माता कंपनी मर्सडीज बेंज ने भारत में अपनी कारों या अन्य वाहनों में जैव-डीजल का प्रयोग करने से मना करते हुए कहा कि उसने कभी भी केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से इस तरह की किसी संभावना के लिए वादा नहीं किया। कंपनी के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी रोनाल्ड फोजर ने कहा, हमारी कई अवसरों पर मुलाकात हुई है।हमने उनके (गडकरी) और उनके अधिकारियों के साथ सभी वाहनों में 100 प्रतिशत भारत स्टेज-4 उपलब्ध कराने के बारे में बता की। उन्हें शायद इसे लेकर गलतफहमी हो गई कि हम जैव-डीजल के वाहन लेकर आ रहे हैं। अभी इस समय हमारी ऐसी कोई संभावना नहीं है और ना ही ऐसा करने का इरादा है। उन्होंने यह बात यहां माय मर्सडीज, माय सर्विस कार्यक्रम को भारत में शुरू किए जाने के बाद पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान यह बात कही।इससे पहले गडकरी ने कहा था कि कंपनी ने उन्हें उसकी कारों और ट्रकों में 100 प्रतिशत जैव-डीजल प्रयोग किए जाने का वादा करते हुए एक पत्र भेजा है। गडकारी ने यह भी कहा था कि मर्सडीज के प्रमुख ने उनसे मुलाकात की है और वायदा किया है कि जो मानक हमने वायो-डीजल के बारे में सुक्षाए हैं, उन्हें मर्सडीज की कारों और अन्य वाहनों में भी लागू किया जा सकता है। 

लाहौर:-दिवंगत पाकिस्तानी मॉडल कंदील बलोच की मां ने आरोप लगाया है कि एक चर्चित मौलवी मुफ्ती अब्दुल कवी ने उनकी बेटी की हत्या के लिए उनके बेटे को भड़काया। सोशल मीडिया स्टार के साथ विवादास्पद वीडियो में सामने आने पर ये मौलवी सुर्खियों में आए थे।26 वर्षीय मॉडल की मां का यह बयान ऐसे समय में आया है जब पुलिस ने घोषणा की है कि दिवंगत मॉडल की हत्या की जांच के मामले में मुफ्ती कवी को भी शामिल किया जाएगा।वीडियो पोस्ट आने पर विवाद के बाद कवी को रूएत ए हिलाल कमेटी से हटा दिया गया था।जीओ न्यूज से बात करते हुए कंदील की मां ने आरोप लगाया कि मुफ्ती कवी, उनकी बेटी के पूर्व पति आशिक हुसैन और शाहिद नाम का व्यक्ति हत्या में संलिप्त था।गौरतलब है कि कंदील ने इस साल जून में मौलवी मुफ्ती अब्दुल कवी के साथ एक सेल्फी फेसबुक पर पोस्ट की थी, जो वायरल हो गई थी।

नई दिल्ली:-संयुक्त राष्ट्र के एक सर्वे के मुताबिक भारतीय सबसे ज्यादा विदेशों में रहना पसंद करते हैं। सर्वे के मुताबिक पूरी दुनिया में करीब 25 करोड़ लोग विदेशों में रहते हैं और भारतीय 1.6 करोड़ के साथ इस लिस्ट में टॉप पर हैं। इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर मेक्सिको 1.2 करोड़ के साथ जबकि रूस 1.1 करोड़ के साथ मौजूद है।बता दें कि यूएन के इस सर्वे के मुताबिक अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस रहने के लिए ज्यादातर देशों के लोगों की पहली पसंद है। चीन के एक करोड़ लोग, बांग्लादेश के 70 लाख, पाकिस्तान के 60 लाख, यूक्रेन के भी 60 लाख, फिलीपींस के 50 लाख, सीरिया के 50 लाख, ब्रिटेन के 50 लाख और अफगानिस्तान के भी 50 लाख लोग विदेशों में बसे हुए हैं. यूएन ने सर्वे रिपोर्ट में ये भी साफ़ किया है कि यूक्रेन, अफगानिस्तान और सीरिया के लोग गृहयुद्ध जबकि भारत, रूस, बांग्लादेश और पाकिस्तान जैसे देशों के लोग अच्छे जीवन की चाह में देश छोड़कर विदेशों में बसे हुए हैं।

क्लीवलैंड (अमेरिका):-अमेरिका में रिपब्लिकन पार्टी के वरिष्ठ नेता न्यूट गिंगरिच ने कहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप स्वाभाविक जोड़ीदार होंगे तथा उनके नेतृत्व में दो सबसे बड़े लोकतांत्रिक देशों के बीच संबंध नई ऊंचाइयों पर पहुंचेंगे और दुनिया पहले से सुरक्षित एवं बेहतर होगी।अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के पूर्व स्पीकर गिंगरिच ने मंगलवार को रिपब्लिकन हिंदू कोअलिशन की ओर से आयोजित सुबह के नाश्ते के दौरान कहा, ट्रंप (राष्ट्रपति के तौर पर) अमेरिका के बहुत प्रखर रक्षक होंगे। मोदी भारत के बहुत प्रखर रक्षक हैं। दोनों को इस बात की समझ है कि वे अपने देशों के लिए चीजें हासिल करने और संभालने का प्रयास कर रहे हैं।ट्रंप के नजदीकी माने जाने वाले गिंगरिच ने कहा कि ट्रंप स्वभाविक रूप से सबको साथ लाने वाले व्यक्ति हैं, जबकि मोदी भी जानते हैं कि लोगों को कैसे साथ लाना है।गिंगरिच ने एक सवाल के जवाब में कहा, वे दोनों जानते हैं कि कैसे बातचीत करनी है। मुझे लगता है कि उस समय लोग हैरान रह जाएंगे जब ये दोनों कमरे में बैठकर बातचीत करेंगे और चीजों का हल निकालेंगे। इसलिए मुझे लगता है कि दोनों बहुत आत्मविश्वासी हैं। दोनों को एक दूसरे का साथ पसंद आयेगा।गिंगरिच उन नेताओं में से एक हैं जिन्होंने मोदी के गुजरात का मुख्यमंत्री रहते उनके साथ संबंध स्थापित किया था।उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री मोदी बेहतरीन नेता हैं जो भारत में उद्यमियों और स्वतंत्र उपक्रमों की पैरोकारी करते हैं। गुजरात में उनके रिकॉर्ड को देखिए, वास्तव में बेहतरीन चीज हुई है। देखिए, दिल्ली में वह क्या हासिल करने का प्रयास कर रहे हैं। वह कम से कम नौकरशाही, कम से कम लाल फीताशाही को रखने का प्रयास कर रहे हैं।रिपब्लिकन नेता ने कहा कि वह मोदी के हालिया वाशिंगटन दौरे और कांग्रेस के संयुक्त सत्र को संबोधित किए जाने से उत्साहित हैं।उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान के परमाणु हथियारों के गलत हाथों में जाने का खतरा है और ऐसे में उसके हथियारों को सुरक्षित करने की जरूरत है।

क्लीवलैंड:-अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रम्प ने 16 प्रतिद्वंदियों को पछाड़ते हुए आधिकारिक रूप से राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन उम्मीदवारी जीत ली है।उनके बड़े बेटे डोनाल्ड ट्रम्प जूनियर ने रिपब्लकिन पार्टी कन्वेंशन में ट्रम्प की जीत की घोषणा की। ट्रम्प को डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के खिलाफ आठ नवम्बर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के आवश्यक 1237 प्रतिनिधियों के समर्थन की जरूरत थी और उन्हें कुल 1725 प्रतिनिधियों का समर्थन प्राप्त हुआ।ट्रम्प के बाद अमेरिकी सीनेटर टेड क्रूज को 475 जनप्रतिनिधियों, ओहियो के गवर्नर जॉन सिच को 120 और फ्लोरिडा की अमेरिकी सीनेटर मार्को रूबियो 114 जनप्रतिनिधियों का समर्थन मिला। तीन अन्य उम्मीदवारों को कुल 12 जनप्रतिनिधियों का समर्थन मिला।ट्रम्प की आधिकारिक जीत के बाद उनकी मुख्य डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंदी हिलेरी ने ट्वीट कर कहा, 'डोनाल्ड ट्रम्प सिर्फ रिपब्लिकन उम्मीदवार बने हैं, लेकिन वह राष्ट्रपति कार्यालय में अपना कदम कभी नहीं बढ़ा पायेंगे।'

इस्लामाबाद:-पाकिस्तान के पूर्व सैनिक शासक जनरल परवेज मुशर्रफ देशद्रोह के मामले में घिर गए हैं। उनके खिलाफ सुनवाई कर रही विशेष अदालत ने आज उनके बैंक खातों को सील करने और संपत्ति जब्त करने का आदेश दिया।पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक पेशावर उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश मजहर आलम मियांखेल की अध्यक्षता वाली विशेष अदालत की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने बार-बार नोटिस भेजे जाने के बावजूद सुनवाई के दौरान अदालत में उनके अनुपस्थित होने के मामले की सुनवाई के दौरान यह फैसला सुनाया। विशेष अदालत ने जनरल मुशर्रफ के बैंक खातों को सील करने और उनकी संपत्ति को जब्त करने का आदेश अधिकारियों को दिया।न्यायाधीश मियांखेल ने अपने आदेश में कहा कि जनरल मुशर्रफ की अनुपस्थिति में अदालत मामले की आगे की सुनवाई नहीं कर सकती। कानून के अनुसार उन्हें इस मामले में अदालत में उपस्थित होना होगा। उन्होंने कहा कि आरोपी के रवैये के कारण उनके सामने दूसरा कोई विकल्प नहीं बचा है। उन्होंने जनरल मुशर्रफ के बैंक खातों को सील करने और उनकी संपत्ति को जब्त करने का आदेश अधिकारियों को दिया। अदालत के आदेश की अनुपालना रिपोर्ट को अदालत में जमा करने का आदेश भी दिया गया है।अदालत में उपस्थित होने के लगातार नोटिस दिये जाने के बाद भी वे वहां नहीं जा रहे थे। अदालत ने मामले की सुनवाई तब तक के लिये स्थगित कर दी है जब तक वे आत्मसमर्पण नहीं करते या उन्हें गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता। वहीं पूर्व राष्ट्रपति के वकील ने कहा कि उनका मुवक्किल बीमार है और इलाज के लिये विदेश में है। वकील ने स्काइप के जरिये जनरल मुशर्रफ का बयान दर्ज करने का आग्रह किया जिसे अदालत ने नामंजूर कर दिया। इससे पहले अदालत ने पूर्व राष्ट्रपति के गारंटर राशिद कुरैशी की ओर से जमा किये गये जमानती बांड को भी जब्त कर लिया था और 25 लाख रुपये की जमानत राशि विशेष अदालत के रजिस्ट्रार के पास जमा करने का आदेश दिया था।

इस्तांबुल:-तुर्की ने तख्तापलट के संदिग्ध साजिशकर्ताओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई में लगभग 9,000 अधिकारियों को बर्खास्त कर दिया है। वायुसेना के पूर्व प्रमुख ने इस सप्ताहांत विफल हुए तख्तापलट के प्रयास की साजिश रचने की बात से इंकार किया है। पश्चिमी देश इस बात की आशंका जाहिर कर रहे हैं कि अंकारा शुक्रवार को तख्तापलट के लिए हुए नाटकीय प्रयास के जवाब में मौत की सजा को बहाल कर सकता है। जनरल अकिन ओजतुर्क को जब अदालत में पेश किया गया, तो वह दुबले-पतले दिख रहे थे और उनके कान पर पट्टी बंधी थी।सरकारी समाचार एजेंसी एनादोलू ने अभियोजकों को उनकी ओर से दिए गए बयान के हवाले से कहा, मैं वह व्यक्ति नहीं हूं, जिसने तख्तापलट की योजना बनाई या इसका नेतृत्व किया। इसकी योजना किसने बनाई और किसने इसके लिए निर्देश दिया, मैं नहीं जानता।तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैययप एरदोगन ने तख्तापलट करने वालों के सफाए का संकल्प लिया है। इन लोगों की ओर से सत्ता हासिल करने की कोशिश में 300 से ज्यादा लोग मारे गए थे। लेकिन कथित साजिशकर्ताओं को अधिकारियों द्वारा पकड़े जाने के बाद अमेरिका, यूरोपीय संघ और संयुक्त राष्ट्र ने रेसेप को अत्यधिक कठोर सजा के खिलाफ आगाह किया है।अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने यूरोपीय संघ के विदेश मंत्रियों के साथ वार्ताओं के बाद संवाददाताओं से कहा, हम तुर्की की सरकार से अपील करते हैं कि वह देश के लोकतांत्रिक संस्थानों के प्रति सम्मान के उच्चतम मानकों को बरकरार रखे। हिरासत में लिए गए कुछ संदिग्धों के इलाज के बाद सामने आई व्यथित कर देने वाली तस्वीरों को देखने के बाद जर्मन चांसलर एंगेला मर्केल के प्रवक्ता ने सड़कों पर सैनिकों से लिए जा रहे बदले और सनक भरे दश्यों की निंदा की है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

नई दिल्ली:-टीम इंडिया और वेस्टइंडीज के बीच गुरुवार से पहला टेस्ट मैच खेला जाना है। यह मैच एंटीगा के सर विवियन रिचर्ड्स ग्राउंड पर खेला जाना है। सोमवार को विव रिचर्ड्स ने टीम इंडिया के बल्लेबाजों से मुलाकात की और उन्हें कुछ टिप्स भी दिए।टीम इंडिया एंटीगा पहुंच गई है और खिलाड़ियों ने मैच में शानदार प्रदर्शन और जीत दर्ज करने के लिए नेट प्रैक्टिस शुरू कर दी है। लेकिन प्रैक्टिस से पहले कप्तान विराट कोहली समेत कई खिलाड़ियों ने वेस्टइंडीज के पूर्व दिग्गज क्रिकेट सर विवियन रिचर्ड्स से मुलाकात की और उनसे टिप्स लिए।भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने ट्विटर पर रिचर्ड्स के साथ भारतीय खिलाड़ियों की तस्वीर पोस्ट की है। इसमें उन्होंने लिखा, 'द किंग विवियन रिचर्ड्स और कप्तान कोहली एंटीगा में साथ-साथ।' बोर्ड ने इसके बाद सर रिचर्ड्स के साथ शिखर धवन, मुरली विजय, स्टुअर्ट बिन्नी और अजिंक्य रहाणे, कप्तान कोहली की फोटो पोस्ट की और लिखा, 'एंटीगा में विवियन रिचर्ड्स के साथ इंडियन क्रिकेट टीम के सदस्य उनसे टिप्स लेते हुए।'बीसीसीआई के पोस्ट के बाद टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने भी ट्विटर पर रिचर्ड्स के साथ अपनी अलग फोटो पोस्ट की और लिखा, 'सर रिचर्ड्स के साथ काफी चर्चा की। खुशी के पल।' भारतीय टीम वेस्टइंडीज दौरे के दौरान चार टेस्ट मैच खेलेगी। इस बार जो टीम वेस्टइंडीज गई है उनमें से अधिकतर खिलाड़ियों को वेस्टइंडीज में खेलने का अनुभव नहीं है। हालांकि दो प्रैक्टिस मैच खेलकर उनमें थोड़ा आत्मविश्वास आया है।

नॉर्थ साउंड (एंटीगा):-भारत के बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ को लगता है कि वेस्टइंडीज के खिलाफ 21 जुलाई से शुरू हो रहे पहले क्रिकेट टेस्ट में विकेट पर कुछ घास छोड़ी जाएगी और उन्होंने कहा कि उनके खिलाड़ी धीमी और जीवंत दोनों की तरह की पिचों पर खेलने को तैयार हैं।

'देखना होगा कितनी घास छोड़ी जाती है':-मैच में जब सिर्फ एक दिन का समय बचा है तब सर विवियन रिचडर्स स्टेडियम की पिच आकर्षण का केंद्र बन गई जिस पर ताजी घास के कुछ हिस्से नजर आ रहे हैं। बांगड़ ने कहा, 'हमें अब पिच पर कुछ घास नजर आ रही है और अगर मैच शुरू होने पर पिच पर कुछ घास छोड़ दी जाएगी तो हमें हैरानी नहीं होगी। लेकिन यह देखना होगा कि कितनी घास छोड़ी जाएगी। हम यह ध्यान में रखते हुए भी तैयारी कर रहे हैं कि घास वाली कुछ पिचें खेल आगे बढ़ने के साथ धीमी हो जाती हैं। हमें इसकी जानकारी है और हम इसी के अनुसार तैयारी कर रहे हैं।'

'काफी अच्छी तैयारी की है हमने:-उन्होंने कहा, 'हमने काफी अच्छी तैयारी की है, बेंगलुरु में कैम्प में भी और यहां सेंट किट्स में दो प्रैक्टिस मैचों में भी। मुझे याद नहीं कि पिछले दो-तीन साल में टेस्ट सीरीज के लिए तैयारी करने को हमें पिछली बार कब इतना समय मिला था।'

दुबई:-आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर-1 ऑस्ट्रेलिया और नंबर-2 टीम इंडिया दोनों को ही अपनी जगह बरकरार रखने के लिए मशक्कत करनी होगी। ऑस्ट्रेलिया को श्रीलंका और टीम इंडिया को वेस्टइंडीज के खिलाफ प्वॉइंट गंवाने से बचना होगा। इसके अलावा अपनी-अपनी टेस्ट सीरीज में ज्यादा से ज्यादा मैचों में जीत दर्ज करनी होगी।वेस्टइंडीज चार टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए भारत की मेजबानी करेगा जिसका पहला मैच गुरुवार से एंटीगा में शुरू होगा जबकि ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जाएगी जिसका पहला मैच 26 जुलाई से पल्लिकल में होगा।भारत आठवें नंबर पर स्थित वेस्टइंडीज से 44 प्वॉइंट आगे है जबकि ऑस्ट्रेलिया को सातवें नंबर के श्रीलंका पर 33 प्वॉइंट्स की बढ़त हासिल है। ऐसी स्थिति में अगर भारत और ऑस्ट्रेलिया सीरीज जीतने में नाकाम रहते हैं तो उन्हें प्वॉइंट्स गंवाने पड़ेंगे।

इस तरह से टीम इंडिया गंवा सकती है रैंकिंग या...:-भारत के अभी 112 प्वॉइंट्स हैं और अगर उसे इन्हें बरकरार रखना है तो सीरीज 3-0 से जीतनी होगी। 3-1 या 2-0 से जीत पर भारत के 110 प्वॉइंट रह जाएंगे। दूसरी तरफ वेस्टइंडीज की 3-1 या 2-0 से जीत पर उसके 79 प्वॉइंट हो जाएंगे और भारत के केवल 98 प्वॉइंट्स रह जाएंगे।इसी तरह से ऑस्ट्रेलिया को मौजूदा 118 प्वॉइंट्स पर बने रहने के लिए श्रीलंका को 2-0 या इससे बेहतर अंतर से हराना होगा। इसके उलट अगर श्रीलंका 1-0 से भी जीत दर्ज कर लेता है तो उसे सात प्वॉइंट्स मिलेंगे और उसके 92 अंक हो जाएंगे जबकि स्टीव स्मिथ की टीम के 111 प्वॉइंट्स ही रह जाएंगे।

आर अश्विन बन सकते हैं टेस्ट के 'बेस्ट' गेंदबाज:-इंग्लैंड और पाकिस्तान अभी चार टेस्ट मैचों की सीरीज खेल रहे हैं और इसलिए रैंकिंग में टॉप स्थानों पर काफी बदलाव की संभावना बनी हुई है। इस बीच भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन गेंदबाजों की रैंकिंग में टॉप पर पहुंचने की कोशिश करेंगे जबकि पाकिस्तान के लेग स्पिनर यासिर शाह लॉर्ड्स में दस विकेट लेने के कारण पहले ही चोटी पर पहुंच गए हैं।यासिर के अश्विन से त प्वॉइंट्स अधिक हैं और उन्हें अभी इंग्लैंड के खिलाफ तीन मैच और खेलने हैं। यह देखना दिलचस्प होगा कि इन दोनों स्पिनरों के बीच टॉर की जंग कैसे चलती है। इससे पहले मार्च 2006 में दो स्पिनर श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन और ऑस्ट्रेलिया के शेन वार्न टॉप दो स्थानों पर काबिज थे।

कोहली करेंगे रैंकिंग में सुधार की कोशिश:-भारत के टॉप दस में शामिल अन्य गेंदबाजों में बाएं हाथ के स्पिनर रविंद्र जडेजा हैं जो छठे स्थान पर हैं। तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा 20वें स्थान पर हैं। वेस्टइंडीज की तरफ से 21वीं रैंकिंग के केमर रोच के चोटिल होने के कारण बाहर हैं। भारत के अजिंक्य रहाणे दोनों टीमों में से सबसे अधिक रैंकिंग के बल्लेबाज हैं। वह अभी 12वें नंबर पर हैं और वह टॉप टेन में शामिल होने की कोशिश करेंगे। वनडे और टी-20 में नंबर एक पर काबिज भारतीय कप्तान विराट कोहली टेस्ट मैचों में कभी आठवीं रैंकिंग से आगे नहीं बढ़ पाए और वह भी अपनी 14वीं रैंकिंग में सुधार करने की कोशिश करेंगे।

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें