Editor

Editor

नई दिल्ली:-मोबाइल पर बहुत जल्द आप एक साथ गेम खेलते हुए वीडियो भी देख सकेँगे या ऑफिस का अर्जेंट मेल करना हो तो वीडियो stop करने की जरूरत नहीं होगी। गूगल ने अपना नया एंड्रॉएड N डेवलपर्स के लिए लांच कर दिया है।हालांकि आम यूजर्स के लिए ये नहीं है। इसका मकसद गूगल के नए एंड्रॉयड को लेकर प्रयोग करने वाले डेवलपर इसके अनुरूप नए एप या फीचर डिजाइन कर सकें।गूगल के इस नए एंड्राएड से आम यूजर्स को कई नई और बेहतर सुविधाएं भी मिलेंगी। इसके अलावा अब बाजार में उतरने वाले नए एंड्राएड फोन भी इसके अनुरूप ही नए नए एप डिजाइन कर सकेंगे।चलिए अब अगर साधारण मोबाइल यूजर्स की बात करें तो ये देखते हैं कि उनके लिए इस एंड्राएड N में क्या नया मिलने वाला है। आइए जानते हैं इसकी पांच नई खूबियां जो यूजर्स को भा जाएंगीः

1. एक स्क्रीन पर कई काम:-आमतौर पर यूजर्स को शिकायत रहती है कि वो मोबाइल पर एक साथ दो या तीन विंडो खोलकर काम नहीं कर पाते हैं। उन्हें हर बार अलग-अलग विंडो पर जाना पड़ता है। इसका इंटरनेट खर्च पर भी जबरदस्त असर पड़ता है। जबकि गूगल ने अपने नए एंड्राएड में इस बात का ख्याल रखा है। इसका मतलब है कि अब मोबाइल यूजर्स अपने डिवाइस के स्क्रीन पर दो अलग अलग एप खोलकर स्क्रीन को दो भागों में बांट सकते हैं। अभी तक इस तरह के फीचर एपल और सैमसंग के कुछ डिवाइस में ही देखने को मिला है।

2. सिर्फ ड्रैग करने से जा सकेंगे एक विंडो से दूसरे विंडो में:-जब आप अपने मोबाइल पर एक साथ दो स्क्रीन खोलेंगे तो ऐसे में आप सिर्फ टच के माध्यम से ड्रैग करके एक विंडो से दूसरे विंडो में जा सकेंगे। मोबाइल कंपनियां अपने बड़े डिवाइस में यूजर को स्क्रीन छोटा बड़ा करने की आजादी होगी। ताकि यूजर दो विंडो एक साथ खोल सकें।

3. नोटिफिकेशन का सीधे जवाब दे सकेंगे:-एंड्राएड N का एक फीचर होगा कि आप मोबाइल नोटिफिकेशन का सीधे जवाब भी दे पाएंगे। यानी अगर किसी मोबाइल नोटिफिकेशन से यूजर्स अपने कीबोर्ड से टेक्स्ट मैसेज बतौर जवाब भेजेगा तो वह संबंधित एप के एडमिन को फौरन पहुंच जाएगा। इस फीचर का बड़ा इस्तेमाल न्यूज एप और यूजर इंटरफेस वाली कंपनियां फीडबैक और जवाब लेने के लिए कर सकेंगी।

4. कम रैम पर भी चलाने की कोशिश:-गूगल की कोशिश है कि नया एंड्राएड N कम से कम रैम पर काम करे ताकि दुनियाभर के ज्यादा से ज्यादा स्मार्टफोन मार्केट को ये सुविधा दी जा सके। इसका फायदा ये भी है कि इस एंड्रायड पर बैकग्राउंड में चलने वाले एप कम रैम पर चलें ताकि फोन की स्पीड प्रभावित न हो।

5. एंड्राएड TV:-एंड्राएड N में ये सुविधा भी होगी कि एंड्राएड टीवी से किसी भी वीडियो की रिकॉर्डिंग हो सकेगी और उसे अपने अनुसार प्ले कर सकेंगे। रिकॉर्डेड वीडियो आपकी टाइम के अनुसार कंट्रोल भी किया जा सकेगा।

संयुक्त राष्ट्र:-संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर मुद्दे को उठाते हुए पाकिस्तान ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र में वीटो के इस्तेमाल के कारण लंबे समय से चल रहे विवाद का समाधान नहीं हो सका और मामले में संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव को लागू करने में बाधा आई है।संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की राजदूत मलीहा लोधी ने नौ मार्च को सुरक्षा परिषद सुधार को लेकर अंतर सरकारी समझौता विषय पर कहा कि सुरक्षा परिषद में वीटो के इस्तेमाल से कश्मीर का लंबे समय से चल रहे विवाद पर प्रस्ताव रूक गया और इस मुददे पर संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव को लागू करने में बाधा आई।संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तानी दूतावास की तरफ से जारी विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई है। संयुक्त राष्ट्र रिकॉर्ड के मुताबिक सुरक्षा परिषद के एक स्थाई सदस्य रूस ने 1962 में आयरलैंड के एक प्रस्ताव पर वीटो लगा दिया था जिसमें भारत और पाकिस्तान से आग्रह किया गया था कि कश्मीर विवाद के समाधान के लिए समझौता करें।लोदी ने वीटो पर पाकिस्तान के रूख को दोहराते हुए कहा कि वह परिषद में वीटो के साथ या वीटो के बगैर किसी नए सदस्य को शामिल करने के खिलाफ हैं। विज्ञप्ति में कहा गया है कि उनका मानना है कि नीति निर्णय में विशेषाधिकार के साथ भूमिका सुरक्षा परिषद को ज्यादा लोकतांत्रिक, प्रतिनिधित्व और जवाबदेह बनाने के खिलाफ है।

वाशिंगटन:-अमेरिका के सीनेटरों ने करदाताओं के धन से पाकिस्तान को 70 करोड़ डॉलर के आठ एफ-16 लड़ाकू विमान खरीदने में सैन्य मदद देने का कड़ा विरोध जताते हुए आतंकी संगठनों के खिलाफ लड़ने की इस्लामाबाद की प्रतिबद्धता पर सवाल उठाया है। हालांकि अपने राजनीतिक कारणों के चलते इन सीनेटरों ने पाकिस्तान को आठ एफ-16 लड़ाकू विमानों की बिक्री न करने वाले प्रस्ताव को पटल पर रखने की मंजूरी नहीं दी।हालांकि सीनेट की विदेश संबंधों की समिति की उपेक्षा करते हुए पाकिस्तान को एफ-16 विमानों की बिक्री के खिलाफ फैसला लेने के कदम को सीनेट ने 71-24 वोटों के अंतर से नामंजूर कर दिया। कांगे्रस के सूत्रों ने बताया कि लगभग दो दर्जन प्रभावशाली सीनेटर कांग्रेस में मौजूद पाकिस्तान-विरोधी भावनाओं को प्रतिबिंबित करते हैं। सीनेटरों ने पाकिस्तान को एफ-16 की बिक्री न करने से जुड़े प्रस्ताव को पटल पर रखने से रोकने के पक्ष में मतदान किया लेकिन किसी भी सीनेटर ने इस्लामाबाद के समर्थन में बात नहीं कही।वास्तव में, अपनी पार्टी लाइनों से उपर उठते हुए सीनेटरों ने पाकिस्तान के दोहरे रवैये की ओर इशारा किया और एक आवाज में कहा कि वे ओबामा प्रशासन को करदाताओं के धन का इस्तेमाल पाकिस्तान को एफ-16 लड़ाकू विमानों की बिक्री के लिए नहीं करने देंगे। सीनेट की शक्तिशाली विदेश संबंधों की समिति के अध्यक्ष और सीनेटर बॉब कोरकर ने कहा कि वह पाकिस्तान को लड़ाकू विमान देने के लिए अमेरिकी सब्सिडी पर से पकड़ नहीं छोड़ने वाले।दूसरे देशों को की जाने वाली सैन्य बिक्री इसी समिति के अधिकार क्षेत्र में आती है। कोरकर ने सीनेट में कहा, इस समय इस बिक्री को मदद पहुंचाने के लिए किसी भी करदाता के डॉलरों का इस्तेमाल करने का मेरा विरोध जारी है क्योंकि पाकिस्तान आतंकी समूहों को पनाहगाह उपलब्ध करवा रहा है और अमेरिकी सैनिकों पर हमला बोलने वाले एवं अफगानिस्तान के भविष्य को खतरे में डालने वाले हक्कानी नेटवर्क को निशाना बनाने से इंकार करता है।कोरकर ने कहा, करदाता सब्सिडी पर रोक लगाकर पाकिस्तान को एक जरूरी संदेश दिया जा सकता है कि उसे अपने रवैया बदलने की जरूरत है। लेकिन अमेरिकी विमान की खरीद से रोकने पर अच्छे से ज्यादा बुरा हो जाएगा क्योंकि तब रूस और चीन जैसे देशों के लिए पाकिस्तान को बिक्री करने का रास्ता खुल जाएगा और आतंकवाद-रोधी कदमों में वहद सहयोग भी अवरूद्ध हो जाएगा।

 

संयुक्त राष्ट्र:-संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की-मून ने उत्तर कोरिया से अपील की है कि वह कल दिन के समय किए गए दो मिसाइल परीक्षणों की तरह के अस्थिरताकारी कार्यों को करना बंद कर दे। बान के प्रवक्ता स्टीफन डुजैरिक ने कल कहा, बान कोरियाई प्रायद्वीप की स्थिति को लेकर बेहद चिंतित हैं।उत्तर कोरिया ने कल छोटी दूरी की दो मिसाइलें दागी थीं और यह घोषणा की थी कि वह उसके क्षेत्र में मौजूद दक्षिण कोरिया की सारी संपत्ति बेचेगा। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने एकबार फिर उत्तर कोरिया से अपील की कि वह संयुक्त राष्ट्र के प्रासंगिक प्रस्तावों के पूर्ण पालन की ओर लौटे और आज दो मिसाइलों के प्रक्षेपण जैसे अस्थिरताकारी कार्यों को करना बंद करे।संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के तहत उत्तर कोरिया के बैलिस्टिक मिसाइल या परमाणु कार्यक्रम चलाने पर प्रतिबंध है। जनवरी में उत्तर कोरिया ने चौथा परमाणु परीक्षण किया था। इसके बाद सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया पर अब तक के सबसे कड़े प्रतिबंध लगा दिए।

सोल:-उत्तर कोरिया ने गुरुवार को अपने पूर्वी तट के बोनसन से 500 किलोमीटर की दूरी तक मार करने वाली दो बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया। इससे कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव और बढ़ गया है। इस बीच, इन प्रक्षेपणों के बाद जापान सरकार ने उत्तर कोरिया से विरोध दर्ज कराया है। उधर, उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया के साथ अपने सभी समझौतों तथा परियोजनाओं को रद्द कर दिया है। साथ ही अपने क्षेत्र की उसकी फर्मों की परिसंपत्ति जब्त करने की घोषणा की है।सोमवार को अमेरिका और दक्षिण कोरिया ने वार्षिक संयुक्त सैन्याभ्यास शुरू कर दिया था, जो अप्रैल के अंत तक चलेगा। इस सैन्याभ्यास में दोनों देशों कीलगभग 3,15,000 सैन्य टुकडि़यां हिस्सा ले रही हैं। उत्तर कोरिया ने इसी संयुक्त सैन्याभ्यास के विरोध में मिसाइलें दागी हैं। इससे पहले उत्तर कोरिया ने तीन मार्च को छोटी दूरी की छह मिसाइलों को परीक्षण किया था। मालूम हो कि उत्तर कोरिया के पास कम दूरी की काफी मिसाइलें हैं और वह अब लंबी दूरी तक मार करने वाली मिसाइलों को विकसित कर रहा है।

किम ने पहले ही दिए थे संकेत:-उत्तर कोरिया के नेता ने किम ने बुधवार को कहा था कि उसने छोटे परमाणु अस्त्र बना लिए हैं जो बैलिस्टिक मिसाइलों से दागे जा सकते हैं। अमेरिका के विदेश विभाग के प्रवक्ता जान किर्बी ने इस दावे पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया था। पेंटागान ने कहा था कि उसने परमाणु अस्त्र ले जा सकने वाली मिसाइलों को विकसित करने की उत्तर कोरिया की क्षमता नहीं देखी है। दक्षिण कोरिया के रक्षा अधिकारियों के मुताबिक, 'सेना इस स्थिति पर करीब से नजर रख रही है और वह उत्तर कोरिया के किसी भी उकसावे वाले कृत्य से निपटने के लिए तैयार है।'

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

सोल:-उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने देश की रक्षा क्षमता को बढ़ाने का हवाला देते हुए और अधिक परमाणु परीक्षण करने का आदेश दिया है।उत्तर कोरिया की सरकारी न्यूज एजेंसी केसीएनए ने आज कहा कि बैलिस्टिक मिसाइलों को परीक्षण का मुआयना करने के बाद उन्होंने परमाणु हमले की क्षमता में सुधार करने के लिए और उसे बढ़ाने के लिए ज्यादा से ज्यादा परमाणु परीक्षण करने का आदेश दिया।इस रिपोर्ट में यह नहीं बताया गया है किम ने ये बातें कब कहीं, लेकिन माना जा रहा है कि उन्होंने ये आदेश कल 500 किलोमीटर की दूरी तक मार करने वाली दो बैलिस्टिक मिसाइलों के परीक्षण के वक्त दिया है।केसीएन ने किम के हवाले से कहा, 'हमें अपने परमाणु हमले की क्षमता में सुधार करने के लिए नव विकसित परमाणु हथियार की शक्ति का आकलन करने के लिए परीक्षण जारी रखना होगा।'

वाशिंगटन:-अमेरिका के नेतृत्व में गठबंधन सेना के हवाई हमले में आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के इराक स्थित रासायनिक हथियारों को आज निशाना बनाया गया।अमेरिकी रक्षा विभाग के मुख्यालय पेंटागन के प्रवक्ता ने कहा कि आईएस के गिरफ्तार आतंकवादी से मिली सूचना के आधार पर ये हवाई हमले किये गए, जिसमें आईएस के रसायनिक हथियारों के नष्ट होने की संभावना है।गठबंधन सेना ने पिछले माह आईएस के रासायनिक और पारंपरिक हथियारों के विनिर्माण के प्रमुख सुलेमान दउद अल-बकर को इराक से गिरफ्तार किया था।उन्होंने कहा, 'हम मानते हैं कि अल-बकर से हमें जो जानकारी प्राप्त हुई है उससे हम इराक में आतंकवादियों के दूसरे ठिकानों पर भी कार्रवाई कर सकेंगे। उसने हमे रासायनिक हथियारों के निर्माण में शामिल लोगों के बारे में भी जानकारी दी है।'

नई दिल्ली:-बॉलीवुड एक्टर सिद्धार्थ मल्होत्रा, आलिया भट्ट और फवाद खान ने अपनी आने वाली फिल्म 'कपूर एंड संस' के रिलीज होने में बचे दिन को फनी अंदाज में बताते हुए अपना एक वीडियो शेयर किया है।शकुन बत्रा के डायरेक्शन में बनी 'कपूर एंड संस' 18 मार्च को रिलीज होगी। ऋषि कपूर इस फिल्म में काफी उम्रदराज नजर आ रहे हैं।

मुंबई:-बॉलीवुड अर्जुन कपूर ने कहा कि फिल्म निर्माता करण जौहर अगर उन्हें 'स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2' के लिए संपर्क करते हैं तो वह निश्चित रूप से इसके लिए हामी भरेंगे।अर्जुन का मानना है कि वह फिल्म के किरदार के साथ न्याय कर सकते हैं। हालांकि, अर्जुन ने इससे पहले एक पुरस्कार समारोह में टिप्पणी की थी कि उन्होंने नहीं लगता कि वह 'स्टूडेंट ऑफ द ईयर' में कॉलेज छात्र का किरदार निभाने में फिट रहेंगे, लेकिन अब उन्होंने कहा कि यह बात उन्होंने यूं ही कह दी थी।यह पूछे जाने पर कि आमिर खान ने फिल्म 'थ्री ईडियट्स' में कॉलेज स्टूडेंट की भूमिका निभाई थी तो क्या वह नई 'स्टूडेंट ऑफ द ईयर' के लिए उपयुक्त नहीं हैं, अर्जुन ने कहा, 'मैं 'हाफ गर्लफ्रेंड' में भी छात्र की भूमिका निभा रहा हूं लेकिन 'स्टूडेंट ऑफ द ईयर' का किरदार कुछ-कुछ किशोर के किरदार जैसा है और यह उस पर भी निर्भर करता है कौन फिल्म बना रहा है, मैं पर्दे पर किसके साथ हूं, पटकथा किस तरह लिखी गई है।'उन्होंने कहा, 'मुझसे जब पहले इस बारे में पूछा गया था तो मैं इस तरह के सवाल की उम्मीद नहीं कर रहा था। मैंने वह जवाब जल्दबाजी में यूं ही दे दिया था। लेकिन यह सही है कि मुझे पर्दे पर ऐसा नहीं दिखना चाहिए कि मैं कॉलेज छात्र की भूमिका जबरन निभा रहा हूं।'अर्जुन ने 'की एंड का'  प्रचार के दौरान कहा, 'मैं हर फिल्म में काम करने के लिए तैयार हूं। इसलिए, अगर करन मुझे 'स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2' के लिए संपर्क करते हैं तो मैं निश्चित रूप से यह फिल्म करूंगा।'

मुंबई:-बॉलीवुड एक्टर अर्जुन कपूर ने कहा कि जब करीना कपूर ने बतौर एक्ट्रेस फिल्म जगत में कदम रखा था, तब वह केवल 15 वर्ष के थे।अर्जुन को आर. बाल्की द्वारा निर्देशित आगामी फिल्म 'की एंड का' में करीना के सह-कलाकार की भूमिका में देखा जाएगा।अभिनेता ने कहा, 'मैं 15 साल का था, जब करीना ने बॉलीवुड में कदम रखा था। मैं इससे पहले उनसे मिल चुक था और तब से मैं उन्हें जानता हूं। वह अब भी वैसी ही हैं। मैं अब भी उनका मजाक बनाता हूं, जैसे पहले करता था।'करीना ने 2000 में आई फिल्म 'रिफ्यूजी' से बॉलीवुड में कदम रखा था। अर्जुन ने कहा, 'वह एक बेहतरीन अदाकारा हैं और उनके साथ काम करना एक शानदार अनुभव रहा।'अभिनेता ने यह खुलासा भी किया कि दोस्त होने के कारण ही फिल्म में दोनों का तालमेल बेहतर हो पाया है। अर्जुन, करीना अभिनीत फिल्म 'की एंड का' एक अप्रैल को सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है।

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें