नई दिल्ली - कुआलालंपुर में खेले जा रहे अंडर-19 एशिया कप में भारतीय टीम को रविवार को नेपाल जैसी कमजोर टीम के खिलाफ की क्रिकेट टीम के हाथों चौंकाने वाली हार मिली। नेपाल की जीत के नायक रहे कप्तान दीपेंद्र सिंह रहे जिन्होंने ऑलराउंड खेल दिखाया।
17 साल के दीपेंद्र ने शानदार 88 रन बनाए, जिससे उनकी टीम भारत के खिलाफ 50 ओवर में किसी तरह 8 विकेट पर 185 रन बनाने में सफल रही। मलेशिया के खिलाफ आसानी से मात देकर टूर्नामेंट में विजयी आगाज करने वाली भारतीय टीम के पिछले रिकॉर्ड को देखते हुए यह लक्ष्य आसान नजर आ रहा था। कप्तान हिमांशु राणा और मनजोत कालरा ने 74 बॉल पर 65 रन जोड़कर टीम को मजबूत शुरुआत भी दिलाई। इसके बावजूद टीम लक्ष्य तक नहीं पहुंच सकी।
टीम ने 23 ओवर में एक विकेट पर 91 रन बना लिए थे और उसे जीत के लिए अब सिर्फ 95 रन की जरूरत थी, जबकि उसके 9 विकेट बाकी थे। लेकिन दीपेंद्र ने एक बार फिर अपनी मीडियम पेस बोलिंग से भारतीय बल्लेबाजी की कमर तोड़ दी। उन्होंने 39 रन देकर 4 विकेट झटके, जिससे भारतीय टीम 49वें ओवर की पहली गेंद पर 166 के स्कोर पर ऑलआउट हो गई।
युवा भारतीय टीम के लिए यह हार इसलिए भी बड़ा झटका है, क्योंकि भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों में सबसे संयमित और अनुशाषित खिलाड़ी राहुल द्रविड़ इस टीम के कोच हैं, जिन्हें मौजूदा समय में भारत का सर्वश्रेष्ठ कोच माना जाता है।
माना जा रहा है कि राहुल द्रविड़ के निर्देशन में ऐसी टीमें तैयार हो रही हैं, जो आने वाले समय में दुनिया में अपनी प्रतिभा का डंका फहराएंगी। ऐसे में युवा भारतीय टीम को इस हार का विश्लेषण कर अपने लिए नए लक्ष्य और रणनीति तय करनी होगी।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें