नई दिल्ली। एक तरफ क्रिकेट में बीसीसीआइ के पास पैसों की कोई कमी नहीं है तो कई देश ऐसे भी है जिनकी हालत इतनी पतली है कि वह मुश्किलों से ही मैचों का आयोजन करा पाती है। अब जिम्बाब्वे को ही ले लीजिए, पैसों की तंगी के चक्कर में उसे इंटरनेशनल लेवर पर अपमानित होना पड़ा है। दरअसल जिम्बाब्वे दौरे पर गइ पाकिस्तान टीम को जिम्बाब्वे के कारण काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। दरअसल शुक्रवार को पाकिस्तान को मेजबान देश के खिलाफ बुलावायो में होने वाले मैच के लिए हरारे से रवाना होना था लेकिन वहां के होटल ने उन्हे जाने की अनुमति नहीं दी। इसकी वजह भी बड़ी चौंकाने वाली है। पाकिस्तान टीम को बुलवायो में जिस होटल में रुकवाने का प्रबंध किया गया था उसके भुगतान के लिए जिम्बाब्वे बोर्ड के पास पैसे ही नहीं थे। इस वजह से पाकिस्तान टीम तय वक्त पर रवाना नहीं हो पाई। जिम्बाब्वे बोर्ड की आर्थिक हालत बहुत खराब है, जिसके कारण हाल ही में उसे अपने घरेलू टूर्नामेंट तक स्थगित करने पड़े हैं. उसके पास अपने खिलाड़ियों और कर्मचारियों तक का भुगतान करने के पैसे नहीं हैं. जिसकी वजह से कई खिलाड़ियों ने टीम में शामिल होने से मना कर दिया। अब नए शेड्यूल की हिसाब से पाकिस्तान को गुरुवार को बुलावायो रवाना होना है। पाक ने ट्राइ सीरीज के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को 6 विकेट से हराकर खिताब पर कब्जा किया था और उसे अब मेजबान देश के खिलाफ 5 वनडे मैचों की सीरीज खेलनी है। पाकिस्तान इस समय शानदार फॉर्म में है, टीम के गेंदबाज और बल्लेबाज दोनों ही जबरदस्त प्रदर्शन कर रहे हैं, हालांकि उसके मुख्य तेज गेंदबाज हसन अली का फॉर्म अभी अच्छा नहीं चल रहा है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें