नई दिल्ली - संजू सैमसन और मोहम्मद शमी को यो-यो टेस्ट में फेल होने के कारण टीम इंडिया से बाहर कर दिए गए। IPL-11 में अपने बल्लेबाजी से धूम मचाने वाले युवा विकेट कीपर बल्लेबाज संजू सैमसन का चयन इंग्लैंड दौरे के लिए भारत की ए टीम में चुने गए थे लेकिन शनिवार को जब भारत ए टीम के खिलाड़ी इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना हो रहे थे तब केरल का ये युवा विकेटकीपर टीम के साथ नहीं गया।
संजू सैमसन यो-यो टेस्ट में फेल हुए
बाद में सूत्रों से पता चला कि संजू सैमसन टीम के साथ यो-यो टेस्ट न पास कर पाने के कारण नहीं गए। बेंग्लुरु में नेशनल क्रिकेट एकेडमी मे 3 दिन पहले भारत ए टीम के खिलाड़ियों का यो-यो टेस्ट हुआ था जिसमें संजू सैमसन फेल हो गए थे। मीडिया में आयीं खबरों की माने तो संजू सैमसन 16.1 का स्कोर करने में नाकाम रहे।
संजू के बाद शमी भी हुए फेल
भारत और अफगानिस्तान के बीच खेले जाने वाले ऐतिहासिक टेस्ट मैच से पहले टीम इंडिया को बड़ा झटका लगा है। इस मुकाबले में टीम इंडिया के तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद शमी हिस्सा नहीं ले पाएंगे। शमी फिटनेस टेस्ट पास नहीं कर सके। इस वजह से उनके स्थान पर अब दिल्ली के तेज़ गेंदबाज़ नवदीप सैनी को उनके रिप्लेसमेंट के तौर पर चुना गया है।
वाशिंगटन सुंदर
आपको बता दें युवराज, रैना, शमी और सैमसन के अलावा भी एक ऐसा क्रिकेटर है जिसे यो-यो टेस्ट में फेल होना पड़ा है। तमिलनाडु के खिलाड़ी वाशिंगटन सुंदर भी यो-यो टेस्ट में फिटनेस लेवल को नहीं क्रॉस कर पाए थे और उन्हें भी टीम से बाहर बैठकर इस बात का खामियाजा भुगतना पड़ा था। वाशिंगटन सुंदर साल 2017 में पहली बार तब सुर्ख़ियों में आये थे जब पुणे सुपरजाइंट के साथ मैदान में उतरे थे। लेकिन आइपीएल के इस सीजन में वो रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की तरफ से खेलते नजर आये थे।
युवराज और रैना भी हो चुके हैं यो-यो टेस्ट में फेल
आपको बता दें कि क्रिकेट के इतिहास में यह कोई पहला मौका नहीं जब किसी क्रिकेटर को यो-यो टेस्ट में फेल होने के चलते टीम से बाहर बैठना पड़ा हो। अगस्त 2017 में श्रीलंका के दौरे के लिए भारतीय टीम का एलान हुआ तो बेहतरीन फॉर्म में चल रहे टीम इंडिया के बल्लेबाज सुरेश रैना और युवराज सिंह को भी यो-यो टेस्ट का कोपभाजन बनना पड़ा था।
आपको बता दें कि साल 2019 विश्वकप को देखते हुए कप्तान विराट कोहली, कोच रवि शास्त्री और चयन समिति के अध्यक्ष एमएसके प्रसाद टीम के चयन को लेकर किसी तरह की लापरवाही नहीं बरतना चाहते हैं। इन तीनों ने बीसीसीआइ से भी साफ कह दिया है कि क्रिकेट के ग्राउंड पर कितना ही बड़ा नाम क्यों न हो खिलाड़ी की फिटनेस से कोई समझौता नहीं किया जाएगा।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें