नई दिल्ली - भारत के स्टार पहलवान सुशील कुमार ने इंदौर में 15 से 18 नवंबर के बीच होने वाली राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप में भाग लेने की पुष्टि कर दी है लेकिन योगेश्वर दत्त प्रतिस्पर्धी कुश्ती में अभी वापसी नहीं करेंगे।
बीजिंग ओलंपिक में कांस्य और लंदन ओलंपिक में रजत पदक विजेता सुशील तीन साल बाद वापसी कर रहे हैं। वह रेलवे की तरफ से राष्ट्रीय चैंपियनशिप में हिस्सा लेंगे। रेलवे की तरफ से 74 किग्रा भार वर्ग में कौन भाग लेगा इसके लिये सुशील और दिनेश के बीच ट्रायल होना था। दिनेश ने हालांकि अपने इस सीनियर पहलवान को वाकओवर दे दिया।
पूर्व राष्ट्रीय जूनियर चैंपियन दिनेश को पहले 74 किग्रा भार वर्ग में रेलवे बी टीम में चुना गया था। रेलवे की दो टीमें राष्ट्रीय चैंपियनशिप में हिस्सा लेंगी जिसमें सुशील को बी टीम में रखा गया है। प्रवीण राणा 74 किग्रा भार वर्ग में ही रेलवे की ए टीम से चुनौती पेश करेंगे।
सुशील ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेल 2014 के बाद पहली बार किसी प्रतिस्पर्धा में हिस्सा लेंगे। इस 34 वर्षीय पहलवान ने कहा कि अपनी सर्वश्रेष्ठ लय हासिल करने के बाद अब उनकी निगाहें राष्ट्रीय चैंपियनशिप और अगले साल के शुरू में होने वाली पेशेवर कुश्ती लीग (पीडब्ल्यूएल) पर टिकी हैं।
सुशील ने कहा, मैं अभी शारीरिक और मानसिक रूप से अपनी सर्वश्रेष्ठ लय हासिल कर चुका हूं और प्रतियोगी स्तर पर उतरने के लिये पूरी तरह तैयार हूं। मुझे विश्वास है कि कुश्ती प्रेमी पहले राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में और फिर पीडब्ल्यूएल में मुझे एक नए उत्साह से खेलते हुए देखेंगे।
इस बीच लंदन ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता योगेश्वर दत्त ने पुष्टि की कि वह राष्ट्रीय चैंपियनशिप में हिस्सा नहीं लेंगे। उन्होंने कहा, नहीं मैं राष्ट्रीय चैंपियनशिप में हिस्सा नहीं लूंगा। भारतीय कुश्ती महासंघ(डब्ल्यूएफआई) ने पुष्टि की कि रियो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक, फोगाट बहनें गीता और विनेश के भी राष्ट्रीय चैंपियनशिप में भाग लेने की संभावना है। बबिता कुमारी हालांकि चोट के कारण इस टूनार्मेंट में नहीं उतरेंगी।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें