नई दिल्ली - क्रिकेट के खेल में जब किसी भी खिलाड़ी पर भी दबाव बढ़ता है तो उसके पसीने छूट जाते हैं। इस दबाव में कभी खिलाड़ी बेहतरीन प्रदर्शन करता कर अपनी टीम को जीत दिला देता है, तो कभी बिखर कर अपनी टीम की मुश्किलें बढ़ा जाता है। इस प्रेशर से हर खिलाड़ी को दो-चार होना पड़ता है, ऐसी ही एक स्थिति दुनिया के सबसे खतरनाक बल्लेबाज़ों में से एक ए बी डिविलियर्स के सामने आ गई। ये घटना घटी थी पोर्ट एलिज़ाबेथ में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जा रहे दूसरे टेस्ट के तीसरे दिन यानि की 11 मार्च 2018 को। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस टेस्ट मैच की पहली पारी में डिविलियर्स ने नाबाद 126 रन की पारी खेलकर अपनी टीम को बढ़त दिला दी।
इस वजह से डिविलियर्स के पैर हुए सुन्न
सफेद कपड़ों की क्रिकेट में तीन साल के बाद ये मौका आया जब डिविलियर्स के बल्ले से शतक निकला। इससे पहले उन्होंने वेस्टइंडीज़ के खिलाफ जनवरी 2015 में 148 रन की पारी खेली थी। पिछले 3 साल तक कोई शतक न बना पाने के चलते उनकी काबिलियत पर भी सवाल खड़े होने लगे थे। भारत के खिलाफ भी उन्होंने एक 80 रन की पारी जरूर खेली थी, लेकिन वो उसे शतक में तब्दील नहीं कर सके थे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्होंने इस मौके को हाथ से जाने नहीं दिया और अपने टेस्ट करियर का 22वीं सेंचुरी जड़ दी।
तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद डिविलियर्स ने बताया कि जब वो नर्वस नाइंटीज में थे, तो उनके पैर कांप रहे थे और वो नर्वस फील कर रहे थे। डिविलियर्स ने बताया कि उन्होंने अपने साथी खिलाड़ी फिलेंडर को बातों-बातों में कहा था कि, वो सांस लेने में संघर्ष कर रहे हैं और उनके पैर सचमुच में सुन्न पड़ रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ये शतक उनके लिए काफी मायने रखता है।
खुद को इस तरह निकाला प्रेशर से बाहर
डिविलियर्स ने कहा कि नर्वस नाइंटीज में आने के बाद से ही वह खुद को याद दिला रहे थे कि, अपने शतक के बारे में नहीं टीम के लिए अपने योगदान के बारे में सोचो। इसके साथ ही डिविलियर्स ने कहा कि यह भूलना काफी मुश्किल था, कि आपने पिछले 3 साल से कोई शतक नहीं बनाया है। इसी वजह से ये सेंचुरी मेरे लिए खास मायने रखती है।
डिविलियर्स की पारी की बदौलत द. अफ्रीका को मिली बढ़त
दूसरे दिन के सात विकेट पर 263 रन से आगे खेलने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम ने एबी डिविलियर्स (नाबाद 126) की शतकीय पारी के दम पर तीसरे दिन अपने खाते में 119 रन जोड़े। फिलेंडर ने 36 और केशव महाराज ने 30 रनों का योगदान दिया। डिविलियर्स ने फिलेंडर के साथ आठवें विकेट के लिए 84 रन जोड़े, जबकि महाराज के साथ नौवें विकेट के लिए 58 रन जोड़े। दक्षिण अफ्रीका ने पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया पर 139 रन की बेहद महत्वपूर्ण बढ़त ली। डिविलियर्स ने अपनी इस पारी में 20 चौके और एक छक्का भी लगाया।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें