टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने मौजूदा कप्तान विराट कोहली और टीम मैनेजमेंट के एक फैसले पर सवाल खड़ा किया है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट के लिए प्लेइंग इलेवन में शिखर धवन और रोहित शर्मा को शामिल किए जाने को लेकर गांगुली खुश नहीं दिखे।भारत को मेजबान दक्षिण अफ्रीका के हाथों पहले टेस्ट मैच में 72 रन से हार का सामना करना पड़ा था। पहले टेस्ट में भारत का टॉप ऑर्डर पूरी तरह फ्लॉप रहा था। शिखर ने इस मैच में 16-16 और और रोहित ने 11 और 10 रन बनाए थे। टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच शनिवार से सेंचुरियन में खेला जाना है। गांगुली ने मंगलवार को एक टीवी चैनल से कहा, 'विदेशी पिचों पर शिखर और रोहित का इतिहास अच्छा नहीं रहा है। अगर आप घर के बाहर और विदेशों में उनके रिकॉर्ड को देखेंगे तो आपको सबकुछ समझ में आ जाएगा। विदेशों में उनके विफल होने के कारण हमें मुरली विजय और विराट कोहली पर कुछ ज्यादा ही निर्भर होना पड़ता है।'पूर्व कप्तान ने कहा, 'आप चेतेश्वर पुजारा को देखिए, उन्होंने उपमहाद्वीप में करीब 13-14 सेंचुरी बनाई हैं। मैं लोकेश राहुल के बारे में बात करना चाहता हूं। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज और श्रीलंका में रन बनाए हैं। ये सिर्फ फॉर्म की बात नहीं है, बल्कि हमें ये भी देखना होगा कि कौन कहां रन बनाता हैं।'
'मैं मैच रिजल्ट से हैरान नहीं हूं':-उन्होंने साथ ही कहा, 'लेकिन अभी भी ज्यादा कुछ नहीं हुआ है, मैं मैच के रिजल्ट से हैरान नहीं हूं। हमारे पास विराट के रूप में शानदार कप्तान है और हम अगले मैच में जरूर अपनी गलतियों को सुधारेंगे और अच्छा रिजल्ट देंगे।' गांगुली का मानना है कि बेशक हम पहला मैच हार गए हों, लेकिन भारतीय टीम मैनेजमेंट को अपने रणनीति में बदलाव नहीं करना चाहिए।पूर्व कप्तान ने कहा, 'मुझे नहीं लगता है कि कप्तान और कोच टीम की रणनीतियों में बदलाव करेंगे। हां, इस बात की संभावना जरूर है कि रहाणे और राहुल में से एक को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया जा सकता है। अगर रहाणे को रोहित की जगह शामिल किया जाता है, तो टॉप आर्डर में राहुल को मौका मिलने की संभावना है।'गांगुली ने सेंचुरियन की पिच को लेकर कहा, 'सेंचुरियन का भी विकेट भी तेज ही रहेगा। वहां की विकेट तो केपटाउन से भी तेज और ऊछाल भरी होगी। हलांकि तेज गेंदबाजों को उतनी स्विंग नहीं मिल सकती है, जितनी कि उन्हें केप टाउन में मिली थी। लेकिन विकेट में पेस जरूर होगा।'

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें