नई दिल्ली - द. अफ्रीका के तेज़ गेंदबाज़ कैगिसो रबादा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली जा रही टेस्ट सीरीज़ के दूसरे मुकाबले में दमदार प्रदर्शन किया। पोर्ट एलिजाबेथ में खेले गए इस टेस्ट मैच में रबादा ने कुल मिलाकर 11 विकेट चटकाए। पहली पारी में रबादा ने 96 रन देकर 5 और दूसरी पारी में उन्होंने 54 रन देकर 6 विकेट हासिल किए। रबादा के इस बेहतरीन प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच का खिताब भी मिला, लेकिन इस शानदार प्रदर्शन के बावजूद भी आइसीसी ने रबादा पर इस सीरीज़ के अगले दो टेस्ट मैचों के लिए बैन लगा है। दरअसल इस मैच के दौरान रबादा से कुछ बड़ी गलतियां हो गईं थी, जिसकी वजह से उन्हें इस बैन का सामना करना पड़ा है।
रबादा से हुई थी ये बड़ी गलती
22 साल के रबादा ने दूसरे टेस्ट मैच के पहले दिन ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ को आउट करने के बाद उनकी तरफ देखते हुए ‘यैस-यैस’ कहा था। इसके अलावा जब स्टीव मैदान से लौट रहे थे उस वक्त रबाडा का कंधा उनके कंधे से टकराया था। इसके साथ ही टेस्ट मैच के तीसरे दिन रबादा ने डेविड वॉर्नर को बोल्ड करने के बाद उनकी तरफ हाथ हिलाकर ‘बाय-बाय’ कहने का इशारा किया था। रबाडा पर यह आरोप मैदान पर मौजूद अंपायर्स कुमार धर्मसेना और क्रिस गाफाने ने लगाया था। स्टीव स्मिथ के अलावा रबाडा के खिलाफ लेवल-1 के उल्लंघन प्रकरण को लेकर एक अन्य रिपोर्ट भी दर्ज कराई गई थी।
रबादा ने मानी अपनी गलती
स्टीव स्मिथ के साथ बदसलूकी करने के मामले में खुद रबादा ने कहा था, ‘यह सब होना बंद हो जाना चाहिए। इसकी जरूरत है। मैं ऐसा बार-बार नहीं कर सकता क्योंकि मेरी इस हरकत से टीम को और मुझे खुद को नुकसान हो रहा है।’

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें