नई दिल्ली। अफगानिस्तान के कप्तान असगर स्टेनिकजई का मानना है कि उनकी टीम के 'विश्वस्तरीय' स्पिनर 14 जून से बेंगलुरु में होने वाले एकमात्र टेस्ट मैच में भारत के दमदार बल्लेबाजों को गंभीर चुनौती पेश करेंगे।अफगानिस्तान टेस्ट क्रिकेट में अपना बहुप्रतीक्षित पदार्पण बेंगलुरु के चिन्नास्वामी स्टेडियम में भारत के खिलाफ करेगा। स्टेनिकजई ने कहा कि उनका लक्ष्य भारत को अच्छी चुनौती पेश करना है जो अपने नियमित कप्तान विराट कोहली के बिना इस मैच में उतरेगा। उन्होंने कहा, 'कोहली खेलें या न खेलें तब भी भारत शीर्ष टीम है और अपनी सरजमीं पर तो वह बेहद दमदार है। कोहली बहुत बड़े खिलाड़ी हैं और हम उनके खिलाफ खेलने का लुत्फ उठाते। हर कोई जानता है कि भारत का उसकी सरजमीं पर सामना करना कितना मुश्किल है। यह सीखने के लिए लिहाज से बहुत अच्छा अनुभव होगा, लेकिन हम निश्चित तौर पर चुनौती से परेशान नहीं हैं। हम जीत के लिए खेलेंगे। हमारे पास विश्वस्तरीय स्पिनर हैं और वे भारत को परेशानी में डाल सकते हैं।कोच फिल सिमंस जहां टीम को पांच दिवसीय चुनौती के लिए शारीरिक और मानसिक तौर पर तैयार करने पर जोर दे रहे हैं। वहीं, स्टेनिकजई का मानना है कि चार दिवसीय से टेस्ट ढांचे में ढलना कोई बड़ा मसला नहीं होगा। स्टेनिकजई अब तक 86 वनडे मैच खेल चुके हैं। उन्होंने कहा, 'हम उनके खिलाडिय़ों से सीखना चाहते हैं और वे हमसे सीख सकते हैं। हां, हम अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे हैं, लेकिन हम प्रथम श्रेणी मैचों के पर्याप्त अनुभव के साथ इस मैच में उतरेंगे। हम एक साल में लगभग 10 चार दिवसीय मैच खेलते हैं और दो बार आइसीसी अंतरमहाद्वीपीय कप जीत चुके हैं। टेस्ट निश्चित तौर पर भिन्न होगा, लेकिन मैं यह नहीं कहूंगा कि इसमें बहुत बड़ा अंतर है। स्पिन हमारी ताकत है और इसमें कोई संदेह नहीं। हमारे पास दौलत और शापूर जादरान जैसे अच्छे तेज गेंदबाज भी हैं जो 140 किमी की रफ्तार से गेंदबाजी कर सकते हैं। इसलिए हमारे पास संसाधन हैं।अफगानिस्तान टीम के मुख्य खिलाड़ी स्पिनर राशिद खान और मुजीब तथा ऑलराउंडर मुहम्मद नबी अभी आइपीएल में खेल रहे हैं। राशिद चोटी के लेग स्पिनर के रूप में उभरे हैं तथा मुजीब, जाहिर खान और कैस अहमद भी तेजी से सुधार कर रहे हैं। अफगानिस्तान की टीम ग्रेटर नोएडा में अभ्यास कर रही हैं और वह इस सप्ताह के बाद देहरादून रवाना होगी जहां उसे बांग्लादेश के खिलाफ अगले महीने की शुरुआत से तीन मैचों की टी-20 सीरीज खेलेगा

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें