कराची - 1992 वर्ल्ड कप विजेता कप्तान इमरान खान ने कहा है कि पाकिस्तान के पास चैम्पियंस ट्रॉफी फाइनल के जरिए भारत से पहले मैच में मिली हार का बदला चुकता करने का सुनहरा मौका है ।
इमरान ने एक टीवी चैनल से बात करते हुए कहा, 'मुझे लगता है कि हमारे पास फाइनल के जरिए खोया सम्मान हासिल करने का सुनहरा मौका है क्योंकि हम पहला मैच बहुत बुरी तरह से हारे थे। हम पहले मैच में जिस तरह से हारे, वह बहुत शर्मनाक है। हम उसका बदला ले सके।
पाकिस्तान को विश्व कप 1992 दिलाने वाले कप्तान ने कहा कि पाकिस्तानी टीम को कल गलतियों से सबक लेकर उतरना होगा। उन्होंने कप्तान सरफराज अहमद को सलाह दी कि वे टॉस जीतने पर भारत को पहले बल्लेबाजी नहीं करने दें।
उन्होंने कहा, 'भारत के पास बेहतरीन बल्लेबाज हैं और उन्होंने बड़ा स्कोर बना दिया तो हम पर दबाव बन जायेगा। हमें टॉस जीतकर बल्लेबाजी करनी चाहिये क्योंकि गेंदबाजी हमारी ताकत है।'
उन्होंने सरफराज की तारीफ करते हुए कहा, 'वह काफी साहसी कप्तान साबित हुआ है और मैं इससे बहुत प्रभावित हूं।' वहीं पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद ने कहा कि चैम्पियंस ट्रॉफी फाइनल भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट की बहाली की शुरूआत होनी चाहिये।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें