बर्मिन्घम में वर्ष 2022 में दोबारा मिलने के वादे के साथ ही रविवार को ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में 21वें राष्ट्रमंडल खेलों का समापन हो गया।
खेल भावना और सौहार्द के साथ 4 से 15 अप्रैल के बीच आयोजित इन खेलों विश्व के 71 देशों और टेरेटरीज के 6,600 से अधिक खिलाडिय़ों ने हिस्सा लिया। खेलों के अंतिम रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए गए, जिसमें विभिन्न कलाकारों ने अपनी कला का बेहतरीन प्रदर्शन किया। आस्ट्रेलिया के पोएट्री स्लैम प्रतियोगिता के सबसे युवा विजेता 13 वर्ष के सोली राफाएल ने एक कविता भी सुनाई। जमैका के दिग्गज फर्राटा धावक यूसेन बोल्ट ने एक डीजे बनकर भी समारोह में मौजूद दर्शकों का मनोरंजन किया।
ऑस्ट्रेलिया में हुए 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के आखिरी दिन कल भारत ने 26 स्वर्ण सहित कुल 66 पदकों के साथ अपने अभियान का शानदार समापन किया। यह भारत का खेलों के इतिहास में तीसरा सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा। यह पिछले ग्लास्गो कॉमनवैल्थ गेम्स से दो मैडल ज्यादा है। लेकिन गोल्डकोस्ट कॉमनवैल्थ इसलिए खास है क्योंकि इसने कई भारतीय खेल की कई परंपराएं तोड़ीं। हमें नए खेलों में नए चैंपियन मिले। पहलवानी हो, बॉक्सिंग हो चाहे बैडमिंटन भारतीय खिलाडिय़ों ने उम्मीद मुताबिक अच्छा प्रदर्शन किया।

Share this article

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें