Editor

Editor


नई दिल्ली - भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने कर्ज लौटाने में चूक करने वाले शराब कारोबारी विजय माल्या की अगुवाई वाली युनाइटेड ब्रुअरीज होल्डिंग लिमिटेड (यूबीएचएल) से 18.5 लाख रुपये की वसूली के लिए उसके बैंक खातों के अलावा शेयर और म्यूचुअल फंड हिस्सेदारी को कुर्क करने का आदेश दिया है।
यह फैसला इसलिए लिया गया है कि यूबीएचएल उसके ऊपर लगाए गए जुर्माने को अदा करने में विफल रही है। सेबी ने खुलासा नियमों को पूरा नहीं करने के लिए कंपनी पर 15 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था। कंपनी पर कुल बकाया 18.5 लाख रुपये हो गया है। इसमें 15 लाख रुपये जुर्माना और 3.5 लाख रुपये का ब्याज शामिल है। इसके अलावा 1,000 रुपये वसूली की लागत है।
सेबी के 13 नवंबर को जारी आदेश के अनुसार बैंकों, डिपॉजिटरीज और म्यूचुअल फंडों को यूबीएचएल के खाते से निकासी की अनुमति नहीं देने का निर्देश दिया गया है। हालांकि इन खातों में पैसा जमा कराने की अनुमति होगी। बंबई शेयर बाजार के ताजा आंकड़ों के अनुसार दिसंबर, 2016 तक यूबीएचएल में निजी हैसियत से माल्या की हिस्सेदारी 7.91 प्रतिशत थी। वहीं विभिन्न इकाइयों के जरिये प्रवर्तकों की हिस्सेदारी 52.34 प्रतिशत थी। माल्या 2 मार्च, 2016 को ब्रिटेन चले गए थे।


संयुक्त राष्ट्र - रूस ने गुरुवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सीरिया के विरुद्ध लाए गए रासायनिक हमले की जांच संबंधी प्रस्ताव को दसवीं बार वीटो कर दिया। सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्यों में शामिल रूस के वीटो करते ही प्रस्ताव खारिज हो गया। अमेरिका के इस प्रस्ताव के पक्ष में 11 और विपक्ष में दो वोट पड़े। विपक्ष में वोट करने वालों में रूस और बोलीविया शामिल थे। चीन और मिस्र वोटिंग से अलग रहे।
सुरक्षा परिषद में इस मतदान को लेकर अमेरिका और रूस के प्रतिनिधियों के बीच वाकयुद्ध भी देखने को मिला। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली ने धमकी भरे लहजे में कहा, 'अगर हमें जरूरत पड़ी तो हम दोबारा प्रस्ताव लाएंगे।'
वहीं रूस के राजदूत वैसिली नेबेंजिया ने कहा, 'अमेरिकी प्रस्ताव का प्रारूप संतुलित नहीं था। हमें एक मजबूत व पेशेवर तंत्र की जरूरत है जो क्षेत्र में रासायनिक आतंकवाद के खतरे के प्रसार पर रोक लगाए। आपको (अमेरिका) एक कठपुतली संरचना की आवश्यकता थी जो जनता की राय में हेरफेर करे।' ज्ञात हो कि इस साल चार अप्रैल को पश्चिमोत्तर सीरिया के खान शेखों में विद्रोही गुटों के खिलाफ रासायनिक हमला हुआ था। इसमें कई दर्जन लोग मारे गए थे। सीरिया की असद सरकार पर इस हमले का आरोप लगा है।


वॉशिंगटन - चीनी मामलों के एक शीर्ष अमेरिकी विशेषज्ञ ने कहा है कि पीएम मोदी विश्व के एकमात्र ऐसे नेता हैं जिन्होंने चीन की महत्वाकांक्षी परियोजना 'बेल्ट एंड रोड' की मुखालफ़त की थी। विदेश नीति खासकर चीनी मामलों पर नजर रखने वाले एक बड़े थिंक टैंक ने कहा है कि यहां तक अमेरिका ने भी इस परियोजना पर चुप्पी साध ली है।
अमेरिका के जाने-माने थिंक-टैंक हडसन इंस्टीट्यूट के सेंटर ऑन चाइनीज स्ट्रैटिजी के निदेशक माइकल पिल्सबरी ने अमेरिकी सांसदों के समक्ष कहा कि मोदी और उनकी टीम चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के इस महत्वाकांक्षी परियोजना के खिलाफ मुखर तरीके से विरोध किया है।
पिल्सबरी ने कहा, 'विश्व में अभी तक कोई वैश्विक नेता इसके खिलाफ खड़ा हुआ है तो वह हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। कुछ हद तक ऐसा इसलिए भी है क्योंकि चीन की यह परियोजना चीन भारतीय संप्रभुता के दायरे का भी उल्लंघन करती है।' उन्होंने इस मामले पर अभी तक अमेरिकी सरकार की चुप्पी पर भी निशाना साधा। पिल्सबरी ने कहा, 'बेल्ट एंड रोड परियोजना की शुरुआत के 5 साल हो चुके हैं। शुरुआती समय को छोड़ दिया जाए तो अमेरिकी सरकार इस पर लगभग खामोश ही रही है।'
इंडो-पैसेफिक रणनीति के लिए ट्रंप प्रशासन की तारीफ करते हुए पेंटागन के इस पूर्व अधिकारी कहा कि हालिया दिनों में लोगों ने यह सुना कि ट्रंप प्रशासन और खुद राष्ट्रपति ने 50 से अधिक बार 'स्वतंत्र और खुले' इंडो-पैसेफिक इलाके के बारे में बात की। चीन इसे लेकर लगातार हमलावर है और उसे यह बिल्कुल पसंद नहीं।
क्या है बेल्ट एंड रोड परियोजना
आपको बता दें कि प्राचीन सिल्क रोड को फिर से अस्तित्व में लाने की परियोजना के तहत चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने बेल्ट एंड रोड (बीआरआइ) की शुरुआत की है। इसके जरिये दक्षिण एशियाई देशों के अलावा यूरोप को जोड़ने की चीन की योजना है। बेल्ट एंड रोड का अहम हिस्सा चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपैक) में है। 3,000 किलोमीटर लंबी यह परियोजनाचीन के शिनजियांग को पाकिस्तान के ग्वादर बंदरगाह से जोड़ेगी। यह जम्मू-कश्मीर के गिलगित-बाल्टिस्तान से होकर गुजरेगी जिसे भारत अपना हिस्सा मानता है और इस पर फिलहाल पाकिस्तानी कब्जा है।इस इलाके में चीन की मौजूदगी को भारत अपनी संप्रभुता में दखल के तौर पर देख रहा है। यही वजह है कि भारत इस परियोजना से दूरी बना रहा है

 


वॉशिंगटन - अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की छोटी-सी गतिविधि भी चर्चा का विषय बन जाती है। दरअसल, पांच देशों की यात्रा के बाद राष्ट्र को संबोधित करते हुए ट्रंप दो बार पानी पीने के लिए रुके।
पानी पीते ट्रंप की तस्वीर कैमरों में कैद हो गईं, जिसके बाद उनके चुनावी प्रतिद्वंद्वी रहे रिपब्लिकन सीनेटर मार्को रबियो ने उनका मजाक बनाया। 2015 में ट्रंप ने बार-बार पानी पीने पर रबियो के लिए कहा था कि उन्होंने कभी किसी को इतने पसीना बहाते और इतना पानी पीते नहीं देखा।
रबियो ने ट्रंप के पानी पीने के अंदाज पर मजाकिया लहजे में कहा, 'चीजें एक समान थी, लेकिन उन्हें (ट्रंप) को सुधार की जरूरत है। उन्हें ऐसा एक ही मोशन में और बिना कैमरे से नजर हटाए करना चाहिए था।'

 


टोक्‍यो - समय की पाबंदी के लिए प्रसिद्ध जापान रेलवे के एक अधिकारी ने नियत समय से 20 सेकेंड पहले ट्रेन के खुला जाने को लेकर क्षमा मांगी। दरअसल, टोक्‍यो व राजधानी के उत्‍तरी इलाके को जोड़ने वाली सुकुबा एक्‍सप्रेस लाइन पर एक ट्रेन 9:44:40 के बजाए 9:44:20 बजे खुल गयी। इस स्टेशन पर सुबह प्रत्येक चार मिनट में एक ट्रेन गुजरती है।
ट्रेन के जल्दी रवाना होने से ट्रेन प्रबंधन के अधिकारियों को काफी शर्मिंदगी महसूस हुई। उन्होंने अपनी वेबसाइट पर माफी मांगी। सुकुबा एक्‍सप्रेस कंपनी ने कहा, ‘यात्रियों को हमारी वजह से परेशानी का सामना करना पड़ा इसके लिए हमें खेद है।‘ फर्म ने कहा, ‘इस मामले में किसी तरह की शिकायत नहीं मिली थी और किसी यात्री की ट्रेन छूटी नहीं।‘
टोक्यो के अकिहाबरा और इबारकी प्रांत के सुकुबा के बीच चलने वाली सुकुबा एक्सप्रेस लाइन का संचालन टोक्यो-एरिया मेट्रोपॉलिटन इंटरसिटी रेलवे कंपनी करती है। सुकुबा एक्सप्रेस लाइन 2005 में शुरू हुई थी।

 


जेनेवा - नीलामीघर सोदबे की ओर से सबसे कीमती आभूषण के तौर पर पेश किए जाने के बावजूद दुनिया का सबसे बड़ा गुलाबी हीरा नीलाम नहीं हो पाया। इस हीरे को 'राज पिंक' के नाम से जाना जाता है।
नीलामीघर को उम्मीद थी कि 37.3 कैरेट का यह दुर्लभ हीरा तीन करोड़ डॉलर में बिकेगा, लेकिन बुधवार को जेनेवा में हुई नीलामी में इसे कोई खरीदार नहीं मिला। सोदबे को अपनी प्रतिद्वंद्वी क्रिस्टीज की नीलामी के बाद काफी उम्मीद थी, क्योंकि क्रिस्टीज में 163.41 कैरेट के विशाल हीरे 'आर्ट ऑफ ग्रिसोगोनो' की नीलामी करीब 3.4 करोड़ डॉलर में हुई थी।

 


इस्लामाबाद - पाकिस्तान के विदेश विभाग के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल का कहना है कि उनकी सरकार भारत के साथ कश्मीर, सियाचिन, सर क्रीक व अन्य विवादित मुद्दों पर बातचीत के जरिये समाधान निकालने को तैयार है। पाक रेडियो के हवाले से यह बात कही गई। उनका कहना है कि पाक हमेशा से शांति का पक्षधर है, लेकिन भारत की सर्जिकल स्ट्राइक व सीमा पर धौंस जमाने की प्रवृत्ति के चलते वार्ता शुरू नहीं हो पा रही है।
गौरतलब है कि अमेरिका दोनों परमाणु राष्ट्रों के बीच शांति कायम कराना चाहता है। माना जा रहा है कि पाक विदेश विभाग की तरफ से इस तरह का वक्तव्य अमेरिकी प्रयास की एक कड़ी है। भारत व पाक के बीच संबंध तब ज्यादा तल्ख हुए जब आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद पाक सरकार ने बयानबाजी की और 2016 में पठानकोट में वायु सेना के बेस पर आतंकी हमला किया गया। फैसल का यह भी कहना था कि भारत ने हाल ही में जो मिसाइल परीक्षण किया है वह उससे चिंतित हैं। भारत को इसके बारे में बताना चाहिए था।
जाधव व उनकी पत्नी की मुलाकात कराने को तैयार
मोहम्मद फैसल से कहा कि पाक जेल में बंद कुलभूषण जाधव की उनकी पत्नी से मुलाकात कराने को वह तैयार हैं लेकिन भारत ने अभी तक कोई सकारात्मक जवाब नहीं दिया है। भारत ने पाक से अपील की थी कि जाधव की मां को पाक आने के लिए वीजा जारी किया जाए। जाधव को जासूसी के आरोप में पाक सेना ने गिरफ्तार किया था। उन्हें मौत की सजा दी जा चुकी है। उनकी अपील फिलहाल लंबित है। पाक सरकार ने जाधव को भारतीय राजनयिक से मुलाकात करने की अनुमति नहीं दी थी। उसका कहना है कि 46 वर्षीय भारतीय नागरिक जासूसी का आरोपी है।


मुंबई - बॉलीवुड एक्ट्रैस प्रियंका चोपड़ा इन दिनों अमेरिकन टीवी शो 'क्वांटिको' के सीजन 3 की शूटिंग कर रही हैं। फिल्म की शूटिंग इटली में हो रही है। इसी सिलसिले में प्रियंका लॉस एंजिलिस और न्यूयॉर्क में बिजी रहती हैं।
जल्द ही ये इस शो का फर्स्ट शेड्यूल रैपअप कर लेंगी। हाल ही में सेट से इनकी कुछ फोटोज सामने आई हैं जिसमें ये न्यूयॉक स्ट्रीट पर अपने को-स्टार रसेल टोवी के साथ नजर आ रही हैं।
दरअसल, रसेल का हाल ही में बर्थडे था और इस दिन को खास बनाने के लिए पीसी समेत शो की पूरी कास्ट और क्रू ने छोटा-सा सैलिब्रेशन किया था। ये पिक्स उसी सैलिब्रेशन की हैं। रसेल ने अपनी पूरी टीम का थैंक्स करते हुए ये फोटोग्राफ्स सोशल मीडिया पर पोस्ट किए हैं। बता दें कि प्रियंका इस शो में एलेक्स पारिश का कैरेक्टर प्ले कर रही हैं। इस शो के अलावा प्रियंका दो और हॉलीवुड प्रोजेक्ट्स 'Isn’t It Romantic' और 'A Kid Like Jake' में भी नजर आने वाली हैं।


मुंबई - हाल ही में खबर आई थी कि एक्टर अमिताभ बच्चन कोलकाता के एक इवेंट में शामिल होने के लिए गए जहां उनकी कार का भयानक हादसा हो गया। जब अमिताभ को इस खबर का पता चला तो उन्होंने सोशल मीडिया पर तुरन्त इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए बताया कि ये गलत खबर है और उनके साथ कोई हादसा नहीं हुआ है। बिग बी ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'मुझे कुछ शुभचिंतकों और मीडिया के द्वारा पता चला कि कोलकाता में मेरी गाड़ी के साथ हादसा हो गया था जिसमें मैं बाल-बाल बचा हूं.. ये गलत है.. कोई हादसा नहीं हुआ है.. मैं ठीक हूं।'
दरअसल, खबर के अनुसार ये खबर आई थी। जिसके बाद बिग बी ने अब इसे गलत बताया है। अमिताभ हाल ही में कोलकाता इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में शामिल होने के लिए गए थे। यहां से लौटते वक्त उनके साथ ये हादसा हुआ है। जिसमें उनकी गाड़ी का पिछला पहिया निकल गया था। हालांकि अमिताभ के इस खबर को गलत बताने बाद उनके शुभचिंतको को काफी राहत मिलेगी।


मुंबई - बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान का इन दिनों एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। इस वीडियो में किंग खान ममता बनर्जी की गाड़ी की पिछली सीट पर बैठ कर एयरपोर्ट पहुंचे। इस दौरान ममता के पास सैंट्रो कार थी, जिसमें शाहरुख बैठ कर आए।
लेकिन गाड़ी से उतरते ही उन दोनों को मीडिया ने घेर लिया। मगर ममता को उस वक्त बेइज्जती का सामना करना पड़ा जब एक रिपोर्टर ने शाहरुख से पूछा कि आप आखिरी बार इतनी छोटी गाड़ी में कब बैठे थे। हालांकि ममता और शाहरुख ने इसे इग्नोर कर दिया।
बता दें कि शाहरुख 23वें कोलकाता इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में शिरकत करने पहुंचे थे। यहां कई बड़े सितारें भी शामिल हुए।

 

Page 9 of 1927

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें