Editor

Editor

भारत और अमेरिका नए ट्रंप प्रशासन के कार्यकाल में अपने द्विपक्षीय सुरक्षा संबंधों को और मजबूत करने की दिशा में काम कर रहे हैं और दोनों देशों ने बंधकों के संकट, आतंकवादी हमलों के स्थान पर जांच और साइबर अपराध के मामलों में विनिमय कार्यक्रम जारी रखने का फैसला किया है।अमेरिका के अधिकारियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने पिछले सप्ताह गह मंत्रालय में अपने समकक्षों से मुलाकात की और आतंकवाद निरोधक सहायता (एटीए) संधि के तहत चलाये जा रहे प्रशिक्षण कार्यक्रमों को प्रभावी बनाने के तरीकों पर चर्चा की। भारतीय पुलिस अधिकारी बंधक संकट, आतंकवादी हमलों के स्थानों पर निरीक्षण पर बातचीत के संबंध में अमेरिकी प्रशिक्षण संस्थान में प्रशिक्षण कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। इसके अलावा साइबर अपराध और समुद्री सुरक्षा से संबंधित दो नए पाठ्यक्रमों में भी वह शामिल होंगे।गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि भारत और अमेरिका सुरक्षा के मोर्चे पर द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने की दिशा में काम कर रहे हैं जिनमें प्रशिक्षण कार्यक्रम शामिल हैं। अमेरिका इस साल भारतीय पुलिस अधिकारियों के लिए दो नए पाठ्यक्रम शुरू करेगा। फिलहाल एटीए संधि के तहत भारतीय पुलिस अफसर छह प्रशिक्षण कार्यक्रमों का चुनाव कर सकते हैं। ये पाठ्यक्रम दोनों देशों के बीच आंतरिक सुरक्षा पर द्विपक्षीय सहयोग का आंतरिक हिस्सा रहे हैं।अधिकारी ने कहा कि भारत आतंकवाद के खिलाफ अमेरिका की जंग में उसका प्रमुख रणनीतिक साझेदार है और आईएसआईएस जैसे समूहों द्वारा इंटरनेट का इस्तेमाल करके भारत के युवाओं से संपर्क साधने के मद्देनजर एटीए के पाठ्यक्रमों को अत्यंत प्रासंगिक माना जाता है।

 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार दूसरे दिन अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में रोड-शो कर रहे हैं। शहर के पुलिस लाइन से रोड शो शुरू हो गया है। इस समय पीएम मोदी का रोड शो शहर के पांडेयपुर इलाके में पहुंच चुका है।  इससे पहले वे वाराणसी के एयरपोर्ट पहुंचे। रोड-शो से घंटों पहले ही जगह-जगह लोगों का हुजूम जुट गया। रोड-शो के समय में थोड़ा बदलाव भी किया गया था। पहले दोपहर 2.35 पर पीएम मोदी को वाराणसी पहुंचना था लेकिन वे साढ़े चार बजे पहुंचे। यह रोड शो तकरीबन पांच किलोमीटर का सफर तय करेगा।पीएम मोदी को जिस रास्ते से गुजरना है वहां बीजेपी कार्य़कर्ताओं और काशीवासियों का हुजूम उमड़ पड़ा है। लोग अपने घरों की छतों से पीएम के काफिले पर फूल फेंक रहे हैं। इसके अलावा रोड शो में मोदी-मोदी के नारे लग रहे हैं। पांडेयपुर चौराहे पर बड़ी संख्या में लोग मोदी को देखने के लिए जुटे हैं। पांडेयपुर चौराहे से 100 मीटर दूर पुलिसलाइन मैदान में ही पीएम मोदी का हेलीकॉप्टर उतरा।पीएम मोदी बाबतपुर एयरपोर्ट से हेलीकॉप्टर से पुलिस लाइन मैदान गए और यहां से खुले वाहन में रोड-शो शुरू किया। उनका काफिला पुलिस लाइन से पांडेयपुर, हुकुलगंज, चौकाघाट, तेलियाबाग, मलदहिया होते हुए काशी विद्यापीठ के मैदान पर पहुंचेगा। यहां वह सभा को संबोधित करेंगे। सभा के मोदी सड़क मार्ग से डीरेका पहुंचेंगे। यहां करीब पांच हजार लोगों के साथ संवाद करेंगे। रात में डीरेका के गेस्ट हाउस में रुकेंगे।

कल गड़वाघाट और रामनगर जाएंगे पीएम मोदी:-पीएम मोदी डीरेका में रात्रि विश्राम करने के बाद सोमवार की सुबह सड़क मार्ग से सुंदरपुर, लंका, सामनेघाट होते हुए गंगा किनारे स्थित गड़वाघाट आश्रम जाएंगे। यहां बाबा से आशीर्वाद लेने के साथ ही कुछ लोगों के साथ बातचीत भी करेंगे। गड़वाघाट से मोदी सड़क मार्ग से गंगा पुल पार करते हुए रामनगर स्थित पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री के आवास पर  जाएंगे और श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। कुछ देर यहां रहने के बाद पीएम मोदी हेलीकाप्टर से वाराणसी के रोहनिया में जनसभा को संबोधित करेंगे। यह जनसभा इस विधानसभा चुनाव की अंतिम जनसभा भी होगी। जनसभा के कुछ देर बाद ही प्रचार का समय भी खत्म हो जाएगा।

वाराणसी में है आठ विधानसभा सीटें:-यूपी चुनाव का सातवां चरण 40 सीटों पर आठ मार्च को होगा। इसमें पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी चुनाव होगा। वाराणसी में आठ सीटें हैं। ये पिंडरा, अजगरा (सु), शिवपुर, वाराणसी उत्तरी, वाराणसी दक्षिणी, वाराणसी कैंट, सेवापुरी और रोहनिया की सीट शामिल है।

विवाद के बाद बीजेपी ने मांगी अनुमति:-इससे पहले बिना अनुमति रोड-शो के आरोपों के बाद बीजेपी ने शनिवार की रात रविवार के कार्य़क्रम के लिए जिला प्रशासन से अनुमति मांगी। प्रशासन ने उन्हें अनुमति भी दे दी। बता दें कि राजबब्बर और अन्य नेताओं ने कल आरोप लगाया था कि पीएम मोदी ने बिना अनुमति ही काशी में रो़ड-शो किया। इसके बाद चुनाव आयोग ने वाराणसी के डीएम से इस पर रिपोर्ट भी मांगी थी। आज फिर किसी प्रकार का विवाद न हो इसलिए पार्टी ने देर रात अनुमति ले ली है।

शनिवार को किया था रोड शो:-पीएम नरेंद्र मोदी ने शनिवार को वाराणसी में रोड शो किया जो तकरीबन साढ़े तीन घंटे तक चला था। इस रोड शो के दौरान पीएम मोदी खुली गाड़ी में वाराणसी की सडकों पर जनता का अभिवादन स्वीकार करते रहे। मोदी ने बाबा विश्ववनाथ और काल भैरव की पूजा अर्चना की थी।

 

यूपी के सातवें और अंतिम चरण के चुनाव के प्रचार के लिए रविवार को चंदौली पहुंचे यूपी सीएम अखिलेश यादव कल हुए रोड शो पर बयान दिया। इसके अलावा उन्होंने कहा कि पीएम चाहें तो हमारे पांच साल का हिसाब किताब ले लें। लेकिन अपने तीन साल का हिसाब दे दें।शनिवार को वाराणसी में हुए पीएम मोदी और अखिलेश-राहुल के रोड शो पर अखिलेश ने कहा कि कल का हमारा रोड शो काफी ऐतिहासिक रहा। हमें इतना जन समर्थन मिला, जितना किसी को कभी नहीं मिला था।उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री पहले रोड शो कर चुके थे, आज भी रोड शो कर रहे हैं। वे चुनाव तक रोड शो ही करते रहेंगे।' उन्होंने कहा कि क्या पांच साल पहले यूपी में कोई एंबुलेंस थी? हमनें समाजवादी एंबुलेंस दी है। यूपी सीएम ने रैली में आगे कहा कि वाराणसी के लोगों ने भी समाजवादी पार्टी के पक्ष में मन बना लिया है। गरीबों के गंभीर बीमारियों का इलाज भी हमारी सरकार मुफ्त करा रही है।यूपी विधानसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण की वोटिंग आठ मार्च को होगी। इस चरण में 40 सीटों पर मतदान होना है। बता दें कि यूपी समेत पांच राज्यों के रिजल्ट 11 मार्च को घोषित किए जाएंगे।

केन्द्र सरकार मार्च महीने के आखिरी तक अपने 50 लाख कर्मचारियों और 58 लाख पेंशनभागियों के लिए दो से 4 फीसदी महंगाई भत्ता (DA) बढ़ाने की घोषणा कर सकती है।महंगाई भत्ता और महंगाई राहत कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को उनकी आय पर मुद्रास्फीति के प्रभाव को कम करने के लिए दिया जाता है। श्रमिक यूनियनें हालांकि इस प्रस्तावित वद्धि से खुश नहीं हैं। उनका मानना है कि इससे मूल्यवद्धि के वास्तविक असर की भरपाई करने में मदद नहीं मिलेगी।कन्फेडरेशन ऑफ सेंट्रल गवर्नमेंट एंपलॉइज के अध्यक्ष के. के. एन कुटटी ने कहा, केंद्र सरकार के सहमति वाले फार्मूला के तहत महंगाई भत्ता वृद्धि दो प्रतिशत होगी। यह एक जनवरी, 2017 से प्रभावी होगी। हालांकि, कुटटी ने इतनी मामूली वृद्धि पर निराशा जताते हुए कहा कि महंगाई भत्ता बढ़ाने के लिए बेंचमार्क माना जाने वाले औद्योगिक श्रमिकों का उपभोक्ता मूल्य सूचकांक वास्तविकता से दूर है।उन्होंने कहा कि जिंस कीमतों में कितनी बढ़ोतरी हुई है उसको लेकर श्रम ब्यूरो और कृषि मंत्रालय में मतभेद हैं। सहमति वाले फॉर्मूले के तहत केंद्र महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी खुदरा मुद्रास्फीति के 12 माह के औसत के आधार पर करता है। सरकार दशमलव बिंदु के बाद मूल्यवद्धि पर विचार नहीं करता।ऐसे में यह वृद्धि 2.95 प्रतिशत बैठने के बावजूद सरकार डीए को दो प्रतिशत बढ़ा रही है।

जाम्बिया देश में एक अजीब सी घटना सामने आई है। यहां आसमान में लगभग 100 मीटर लंबी परछाई एक मॉल के ऊपर दिखाई दी है। इसे देख लोग डर कर भागने लगे। जाम्बिया के कितवे इलाके में मुबुबा मॉल में वहां के स्थानीय लोगों ने अचानक ही आसमान में एक काली बहुत बड़ी लगभग 100 मीटर लंबी परछाई देखी जिसके बाद वहां अफरा तफरी का माहौल बन गया। यह परछाई दिखने में एक बहुत बड़े मानव की तरह थी।  शॉपिंग सेंटर के ऊपर बादलों में इस मानव से दिखाई देने वाली काली परछाई में मानव का सिर और धड़ साफ पता लग रहा था। ऐसा लग रहा था मानो घने काले आकार की यह परछाई बादलों के एक अलग सामग्री से बनाया गया था। लोग इसे देखकर घबरा कर भागने लगे थे। लोगों को लग रहा था कि यह शॉपिंग सेंटर के नजदीक आ रहा है जिस कारण लोग और भी तेजी से इधर उधर भागने लगे। यह परछाई आसमान में लगभग आधे घंटे तक दिखाई देता रहा जिसके बाद कई लोग मानने लगे कि यह कोई भगवान का रूप है। कुछ लोगों ने इसे देख पूजा भी करना शुरू कर दिया था। 

पूर्वी अफ्रीकी देश सोमालिया इस समय भीषण सूखे की चपेट में है और पिछले दो दिनों के दौरान इसकी चपेट में आकर करीब 110 लोगों की मौत हो गई है। सरकारी सूत्रों के अनुसार दक्षिणी सोमालिया में सूखे का संकट अपने चरम पर है। इस क्षेत्र की आबादी सूखे की भयंकर चपेट में है। इस झुलसे हुए क्षेत्र के लोग अपने ऊंट और बकरियों के लिए अनाज पैदा नहीं कर पा रहे हैं। मवेशी मर रहे हैं जबकि यहां की ज्यादातर आबादी दूध और मांस के करोबार से जीवनयापन करती है।फरवरी में बच्चों के लिये काम करने वाली संयुक्त राष्ट्र संघ की संस्था यूनीसेफ ने बताया था कि सोमालिया में बढ़ते सूखे के संकट को देखते हुए इस वर्ष करीब दो लाख 70 हजार बच्चे गंभीर कुपोषण का शिकार हो सकते हैं। प्रधानमंत्री हसन अली खैरे के प्रवक्ता ने ने कहा कि देश में चरवाहों की स्थित बदतर होती जा रही है। खाड़ी क्षेत्रों में सूखे की वजह से करीब 110 लोग दम तोड़ चुके हैं। सरकार अपनी तरफ से भरसक कोशिश कर रही है कि इस संकट का समाधान निकाला जाये और लोगों की जान बचाया जा सके।गौरतलब है कि 2011 में अकाल के चलते लगभग ढाई लाख लोग भुखमरी का शिकार हुए थे। इसके अलावा अकाल के बावजूद यहां आतंकवादी संगठन अल शबाब के खिलाफ भी युद्ध जारी है।

 

अमेरिका में भारतीय समुदाय के लोगों के खिलाफ नस्लीय हमलों की घटनाएं तेजी से बढ़ रही है। शनिवार को एक अज्ञात हमलावर ने 39 साल के सिख को गोली मारकर जख्मी कर दिया। हमलावर ने ली मारने के बाद कहा, अपने देश वापस जाओ। हमलावर की तलाश जारी है। घायल सिख वॉशिंगटन स्टेट के केंट शहर में रहता है।सिएटल टाइम्स की खबर के अनुसार, यह सिख व्यक्ति शुक्रवार को वाशिंगटन राज्य के केंट शहर स्थित अपने घर के बाहर अपना वाहन ठीक कर रहा था, तभी वहां एक अज्ञात व्यक्ति आ गया। केंट पुलिस ने कहा कि दोनों व्यक्तियों के बीच कहासुनी हुई। पीड़ित का कहना है कि संदिग्ध व्यक्ति ने अपने देश वापस जाओ जैसी बातें कहीं। इसके बाद अज्ञात व्यक्ति ने पीड़ित की बाजू में गोली मार दी।

नकाबपोश था हमलावर:-पीड़ित के अनुसार, हमलावर छह फुट लंबा एक श्वेत आदमी था। उसने अपने चेहरे के निचले हिस्से को एक नकाब से ढका हुआ था। केंट पुलिस प्रमुख केन थॉमस ने कहा कि सिख व्यक्ति को हालांकि कोई जानलेवा चोट नहीं आई है लेकिन वे इसे एक बेहद गंभीर घटना के तौर पर देख रहे हैं। रिपोर्ट में कहा गया कि केंट पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है और इसके लिए एफबीआई और अन्य कानून प्रवर्तन एजेंसियों से संपर्क किया है।केंट पुलिस कमांडर जेरोड कासनेर ने कहा कि सिख समुदाय और अन्य इस घटना पर नजर बनाए हुए हैं। कासनेर ने कहा, देशभर में हालिया तनाव और चिंता के कारण लोग इससे भावनात्मक रूप से जुड़ सकते हैं, खासतौर पर तब जब अपराध एक किसी व्यक्ति के जीने के तरीके और उसके रूप-रंग, वेशभूषा को लेकर किया गया हो।

पीड़ित को मिली अस्पताल से छुट्टी:-रेंटन में सिख समुदाय के नेता जसमीत सिंह ने कहा कि उन्हें बताया गया है कि पीड़ित को अस्पताल से छुटटी दे दी गई है। उन्होंने कहा कि पीड़ित और उसका परिवार हिल गए हैं। उन्होंने कहा, अभी जो कुछ भी चल रहा है, उसमें हम नुकसान की स्थिति में हैं। घृणा का जो माहौल पैदा कर दिया गया है, वह किसी के बीच फर्क नहीं करता।उन्होंने कहा कि उनके समुदाय के लोगों ने गाली गलौच की घटनाओं में इजाफे की जानकारी दी है। उन्होंने कहा, यह गाली-गलौच एक तरह का पूवार्ग्रह है, विदेशियों से लगने वाला एक प्रकार का डर है, जो हमने पहले कभी नहीं देखा। उन्होंने कहा कि सिख समुदाय को निशाना बनाकर किए जाने वाली घटनाओं की संख्या 11 सितंबर के आतंकी हमलों के बाद हुए हमलों की याद दिलाती है।

दो हफ्तों में तीसरा हेट क्राइम:-आपको बता दें कि 2 मार्च को भारतीय मूल के व्यवसायी की उनके साउथ कैरोलीना के घर के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक गुरुवार की रात, हर्निश पटेल ने रात 11:24 अपनी दुकान बंद की थी और इसके ठीक दस मिनट बाद लैंसैस्टर में पटेल के घर के बाहर उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई। पटेल की यह हत्या, ट्रंप के उस बयान के दो दिन बाद हुई है जिसमें उन्होंने कनसास बार में भारतीय इंजीनियर श्रीनिवास की हत्या को 'घृणा और बुराई से भरा कृत्य' बताया था।इससे पहले पिछले महीने अमेरिका के कनसास में भारतीय इंजीनियर श्रीनिवास कुचिभोटला की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्यारे ने गोली मारने के दौरान चिल्लाकर कहा था 'मेरे देश से निकल जाओ।' इस हमले की कड़ी निंदा की गई थी और इसे घृणा अपराध की श्रेणी में रखा गया था। अमेरिका में विरोधी पार्टियों ने ट्रंप प्रशासन पर रंगभेद को उकसाने का आरोप भी लगाया।श्रीनिवास के साथ साथ उनके दोस्त आलोक मदसानी पर भी गोली चलाई गई थी लेकिन वह बाल बाल बच गए थे। इन दोनों को बचाने के लिए एक अमेरिकी ईयान ग्रिलोट सामने आए थे लेकिन उन्हें भी गोली का शिकार होना पड़ा।

 

 

 

 

भारतीय नौसेना ने डाटा लीक प्रकरण को पीछे छोड़ते हुए फ्रांस द्वारा बनाई गई स्कॉर्पियन पनडुब्बियों को अपने बेड़े में शामिल करने के लिए आखिरकार एक समयसीमा तय कर ली है और पहली दो पनडुब्बियों के इस वर्ष नौसेना में शामिल होने की संभावना है।नौसेना के शीर्ष सूत्रों ने बताया कि पहली अत्याधुनिक पनडुब्बी कलवारी को इस वर्ष के मध्य में शामिल करने की तैयारी है। इसे मिसाइलों और हथियार प्रणाली से लैस करने की प्रक्रिया पूरी होने वाली है। फ्रांस की तकनीक के साथ इन पनडुब्बियों का करीब 3.5 बिलियन डॉलर की कीमत से मझगांव डॉक लिमिटेड में निर्माण किया जा रहा है।योजना के अनुसार दूसरी पनडुब्बी खान्देरी को इस साल के अंत तक नौसेना के बेड़े में शामिल किया जाएगा और इसके बाद नौ महीने के अंतराल पर बाकी की पनडुब्बियों को शामिल किया जाएगा। गौरतलब है कि अगस्त में इन पनडुब्बियों की क्षमताओं पर 22 हजार से अधिक पृष्ठों की अत्यधिक गोपनीय सूचनाएं लीक हो गई थी और ऑस्ट्रेलिया के एक समाचार पत्र ने इनकी जानकारी को अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित किया था।उस समय नौसेना के सूत्रों ने कहा था कि दस्तावेज पुराने हैं और भारतीय पनडुब्बियों के डिजाइन में शुरुआती डिजाइन से लेकर अब तक कई बदलाव किये गए हैं। ऐसे समय में जब चीन हिंद महासागर में अपनी नौवहन गतिविधियों को बढ़ा रहा है तो इन पनडुब्बियों के आने से भारत की नौसैन्य शक्ति के बढ़ने की उम्मीद है। ये सभी छह डीजल-इलेक्ट्रिक आक्रमण पनडुब्बियां जहाज रोधी मिसाइल से लैस है। नौसेना ने बृहस्पतिवार को जहाज रोधी मिसाइल कलवारी का सफल परीक्षण किया था। पहली पनडुब्बी का निर्माण कार्य 23 मई 2009 को शुरू हुआ था और यह परियोजना अपने निर्धारित समय से चार वर्ष पीछे चल रही है।

 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ नवंबर 2016 को नोटबंदी की घोषणा से पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली से विचार-विमर्श किया था या नहीं, इस बारे में वित्त मंत्रालय ने जानकारी देने से मना कर दिया।इससे पहले प्रधानमंत्री कायार्लय और भारतीय रिजर्व बैंक ने भी इस तरह का दावा किया है कि नोटबंदी की घोषणा से पहले वित्त मंत्री और मुख्य आर्थिक सलाहकार से मशविरा करने की जानकारी देना सूचना के अधिकार कानून (आरटीआई) के तहत सूचना के दायरे में नहीं आता है।सूचना का अधिकार कानून के तहत सूचना से आशय किसी भी रूप में उपलब्ध ऐसी जानकारी से है जो सार्वजनिक प्राधिकार के नियंत्रण में है। वित्त मंत्रालय से आरटीआई के जरिये इस संबंध में जानकारी मांगी थी जिसके जवाब में कहा गया है कि इस प्रश्न के संबंध में दस्तावेज हैं लेकिन इन्हें सूचना का अधिकार कानून के तहत सार्वजनिक नहीं किया जा सकता है।वित्त मंत्रालय ने आरटीआई कानून की धारा 8(1)(ए) के तहत इस संबंध में जानकारी देने से मना कर दिया। हालांकि, उसने यह बताने से मना कर दिया कि यह सूचना इस धारा के तहत किस तरह आती है।

दिव्यांका त्रिपाठी और विवेक दहिया की जोड़ी शादी के बाद लगातार चर्चा में दिखती है। अब टीवी जगत की इस खूबसूरत जोड़ी के फैन्स के लिए एक खुशखबरी है। दोनों ही 'नच बलिए-8' में नजर आ सकते हैं।अभी तक नच बलिए-8 के कंटेस्टेंट के नाम का ऑफिशियल अनाउंसमेंट तो नहीं किया गया है, लेकिन दिव्यांका ने खुद इस बात का खुलासा किया है।एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत करते हुए कहा, 'हम दोनों नच बलिए को लेकर काफी उत्साहित है।' उन्होंने कहा, 'ये बहुत खुशी की बात है कि जिन्दगी के हर पहलुओं में हम दोनों साथ है।' दिव्यांका का कहना है कि लोग सोचते हैं कि ये शो सिर्फ सेलिब्रिटी से जुड़ा एक डांसिग शो है, लेकिन ये इतना आसान नहीं। इसकी लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है।बता दें कि दिव्यांका और विवेक की शादी पिछले साल 8 जुलाई को हुई थी।

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें