Editor

Editor


नई दिल्‍ली - वित्‍त मंत्रालय ने पीएनबी की ओर से एलओयू पाने वाल चार भारतीय बैंकों की हांग-कांग शाखाओं को लिखित दिशानिर्देश जारी करते हुए खातों व बैंक में अनियमितताओं की जांच के लिए कहा है। सूत्रों के अनुसार, वित्‍त मंत्रालय ने पहली बार इस मामले में दखल देते हुए स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया, एक्‍सिस बैंक, इलाहाबाद बैंक और बैंक ऑफ इंडिया की हांग कांग के शाखाओं को लिखा है जिन्‍हें पीएनबी से लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (एलओयू) दिया गया है और खाते और बैंक में अनियमितताओं की जांच करने को कहा है।
अकाउंट चेक करने की हिदायत
नीरव मोदी के बाद बैंक से धोखाधड़ी करने के और भी कई मामले सामने आ रहे हैं। मंत्रालय ने उन लोगों के बारे में भी जानकारी मांगी है जिनके लिए उन्होंने LOU जारी किया है। इस बारे में वित्त मंत्रालय सूत्रों ने जानकारी दी है कि सभी सार्वजनिक बैंक से अपने अकाउंट्स चेक करने और विनियामक उपायों पर ध्यान देने को कहा गया है।
जारी हुए थे अनेकों फर्जी एलओयू
एलओयू एक अंडरटेकिंग है जो एक बैंक द्वारा दूसरे को कस्‍टमर के फेवर में दिया जाता है। पीएनबी स्‍कैम में जांच के बाद यह पता चला कि पीएनबी के अधिकारियों ने फर्जी एलओयू जारी किए थे ताकि नीरव मोदी विदेशी बाजारों से कर्ज ले सके। वित्‍त मंत्रालय ने जारी किए गए तमाम एलओयू की जांच के लिए बैंकों को निर्देश दिए हैं। मंत्रालय ने अनेकों रेगुलेटरी नियामकों को भी पेश किया है।
अगर है 250 करोड़ से अधिक का लोन
सूत्रों द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार, पब्‍लिक सेक्‍टर के बैंकों को 250 करोड़ रुपये से अधिक के कर्जों की निगरानी के लिए विशेष प्रतिनिधि या एजेंसी को नियुक्‍त करने का निर्देश दिया गया है। कंसोर्टियम फिनांशिंग के लिए भी मंत्रालय ने दिशानिर्देश जारी किया है और कहा है कि केवल सात बैंकों को ही कंसोर्टियम में रखा जा सकेगा। अब तक कंसोर्टियम में बैंको की संख्‍या को लेकर कोई सीमा नहीं थी।


नई दिल्ली - सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को छात्रों के एक समूह द्वारा दाखिल किए गए एक याचिका पर सुनवाई खारिज कर दी। जानकारी के मुताबिक, छात्रों के एक समूह ने राष्ट्रीय पात्रता एवं प्रवेश परीक्षा (नीट) 2018 में उपस्थित होने के लिए याचिका दायर की थी।
मेडिकल छात्रों के एक समूह ने अपने याचिका में सीबीएसई के फैसले को चुनौती देते हुए कहा था कि नीट की परीक्षा में सामान्य वर्ग के छात्रों की उपस्थिति के लिए आयु सीमा 25 तय कर दी जानी चाहिए, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया। सीबीएसई जो नीट की परीक्षा संचालित करती है ने 9 फरवरी को नीट की प्रवेश सूचना जारी की थी। 2018 की नीट की परीक्षा की योग्यता को नीट 2017 की योग्यता से अलग रखा गया था।
इसमें न्यूनतम आयु सीमा 17 साल रखी गई थी जिसमें कहा गया था कि 31 दिसंबर 2017 तक छात्र की आयु 17 वर्ष पूरे होने चाहिए। इसका मतलब ये हुआ कि छात्र का जन्म 1 जनवरी 2002 को हुआ होना चाहिए। सामान्य वर्ग के छात्रों के लिए अधिकतम आयु सीमा 25 रखी गई थी।
वहीं एससी, एसटी और ओबीसी और डिसएबिलिटी एक्ट के अंदर आने वाले छात्रों के लिए 5 साल की छूट दी गई थी। इसका मतलब है कि वैसे छात्र जो 6 मई 2018 तक 25 वर्ष की आयु पूरे कर लिये हों या उससे कम हों वे नीट 2018 के लिए अप्लाय कर सकते हैं।


नई दिल्‍ली - कनाडा सरकार ने वैंकुवर के सेलिब्रिटी रेस्‍त्रां मालिक और शेफ विक्रम विज को भारत में कनाडाई प्रधानमंत्री जस्‍टिन ट्रूडो के लिए भोजन बनाने को भेजा है। इसमें खास बात यह है कि ये सब टैक्‍सपेयर के पैसे पर हो रहा है। वैंकुवर के विज रेस्‍त्रां के सह-संस्‍थापक विज ट्रूडो के एक सप्‍ताह लंबे भारत दौरे पर आए हैं।
बता दें कि जस्टिन ट्रूडो पर ये आरोप लग रहे हैं कि वो कनाडा के टैक्सपेयर्स के पैसे से भारत में परिवार के साथ छुट्टियां मना रहे हैं। कनाडा में आलोचकों का कहना है कि जस्टिरन का यह 'कूटनीतिक दौरा' महज 'पारिवारिक छु्ट्टी' में बदलकर रह गया है और उनका जोर सिर्फ फोटो खिंचवाने पर है।
कनाडाई हाई कमिश्‍नर व भारतीय प्रतिनिधिमंडल की मीटिंग में विज को डिनर के लिए शुक्रिया अदा किया गया। इस मीडिंग में कनाडाई रक्षा मंत्री हरजीत सज्‍जन व आर्थिक विकास मंत्री नवदीप बैंस भी शामिल थे।
नेशनल रेवेन्‍यू के लिए संसदीय सचिव कमल खेला ने मीटिंग के बारे में सोमवार को ट्वीट किया था। विज ने उस इवेंट के लिए भी भोजन पकाया था जिसमें खालिस्‍तानी आतंकी जसपाल अटवाल भी शामिल था। गुरुवार को कनाडाई हाई कमिश्‍नर द्वारा दिए गए रिसेप्‍शन में भी उन्‍होंने ही भोजन बनाया।
ग्‍लोबल अफेयर्स की कनाडाई प्रवक्‍ता एलिजाबेथ रीड ने कहा कि विज के हवाई किराये व रहन सहन का खर्च ग्‍लोबल अफेयर्स उठा रही है लेकिन उन्‍होंने यह नहीं बताया कि इस ट्रिप का कितना खर्च टैक्‍सपेयर्स की ओर से दिया जा रहा है।


नई दिल्ली - अब तक पंजाब नेशनल बैंक स्‍कैम को लेकर जहां सरकार परेशानियों से घिरी दिख रही है वहीं अब घोटाले के फरार आरोपी नीरव मोदी के खिलाफ उसके सूरत स्‍थित डायमंड कंपनियों के कर्मचारियों ने भी विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। ये कर्मचारी अपने बकाये सैलरी की मांग कर रहे हैं। इनका कहना है कि फ्रीज किए गए खातों में से एक को चालू कर इन सबका बकाया वेतन लौटा दे। बता दें कि कंपनी के सभी बैंक खाते सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने फ्रीज कर दिए हैं।
700 से अधिक कर्मचारी हुए बेरोजगार
पंजाब नेशनल बैंक में हुए साढ़े ग्‍यारह हजार करोड़ घोटाले के आरोपी नीरव मोदी की डायमंड कंपनी में काम करने वाले एक कर्मचारी दीपक इंगले ने बताया, ‘कंपनी प्रबंधन ने एसईजेड में मौजूद दो कंपनियों को बंद कर दिया है। इससे 700 से ज्यादा कर्मचारी बेरोजगार हो गए हैं। कंपनी प्रबंधन ने इन्हें दूसरी नौकरी ढूंढने के लिए कह दिया है। ऐसे में कर्मचारियों के लिए मुश्किलें खड़ी हो गई हैं, क्योंकि उन्हें न तो सैलरी मिली है और नौकरी भी जाती दिख रही है।
खाते को न करें फ्रीज ताकि मिल सके बकाया वेतन
कर्मचारी दीपक इंगले ने बताया कि, प्रबंधन ने हमें कहा है कि वो कर्मचारियों को जनवरी और फरवरी महीने की सैलरी नहीं दे पाएगी, क्योंकि कंपनी के सभी बैंक खाते सीबीआई और ईडी ने फ्रीज कर दिए हैं। ऐसे में कर्मचारी अब सरकार से ये मांग कर रहे हैं कि वो कंपनी के किसी एक खाते को चालू करवाए, ताकि उन्हें बकाया सैलरी मिल सके।
पीएनबी स्कैम का खुलासा होने के बाद प्रवर्तन निदेशालय ने हीरा कारोबारी नीरव मोदी की फायरस्टार डायमंड इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड और फायरस्टार इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड पर छापा मारकर 900 करोड़ से ज्यादा के स्टॉक जब्त कर लिया था। ईडी ने सीबीआई की एफआईआर के आधार पर प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत नीरव मोदी और उसके बिजनेस पार्टनर मेहुल चौकसी के खिलाफ 14 फरवरी को पहला मामला दर्ज किया था। वहीं सीबीआई ने नीरव मोदी के अलावा उसकी पत्नी, भाई और मेहुल चोकसी के खिलाफ पंजाब नेशनल बैंक को 280 करोड़ का चूना लगाने के मामले में 31 जनवरी को एफआईआर दर्ज की थी।


भुवनेश्वर - भारत ने गुरूवार को परमाणु क्षमता से लैस बैलिस्टिक मिसाइल 'धनुष' का सफल परीक्षण किया है। ओडिशा तट के पास नौसेना के एक पोत से इस मिसाइल को प्रक्षेपित किया गया। इससे पहले इसी महीने भारत ने परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम स्वदेश निर्मित 'अग्नि-1' बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया था, जो अग्नि-1 का 18वां संस्करण था। इस मिसाइल की क्षमता 350 किलोमीटर है।
सूत्रों के अनुसार धनुष मिसाइल बिल्कुल सटीक तरीके से अपना निशाना भेदने में सफल है यह धरती और समुद्र दोनों जगहों से 500 किलो तक की वजनी क्षमता के साथ मार करने में सक्षम है। यह मिसाइल हल्के मुखास्त्रों के साथ 500 किलोमीटर तक मार कर सकती है।
इस मिसाइल की मारक क्षमता पर डीआरडीओ की निगरानी की गई। आपको बता दें कि यह मिसाइल समुद्र दोनों जगह पर लक्ष्य को भेद सकती है और इसे पहले ही सशस्त्र बलों में शामिल किया जा चुका है। धनुष मिसाइल का पिछला परीक्षण 9 अप्रैल, 2015 को किया गया था।
अगर भारत की स्वदेशी मिसाइलों की बात करें तो उसके पास नाग मिसाइल है जिसका सफल परीक्षण 1990 में किया गया। इसी तरह भारत ने 1990 में आकाश मिसाइल का परीक्षण किया। जमीन से हवा में मार करने वाली आकाश मिसाइल की तुलना अमेरिका के पेटियॉट मिसाइल से की जाती है। इसके अलावा भारत के पास ब्रह्मोस और अग्नि मिसाइल भी हैं।

 


पलक्कड़ - केरल में एक 35 वर्षीय आदिवासी शख्स की पीट-पीट कर हत्या करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने बताया कि अगाली में एक दुकान से कुछ सामान चोरी करने का आरोप लगाते हुए स्थानीय लोगों ने उसे जम कर पीटा जिसके बाद उस शख्स की मौत हो गई। बताया जाता है कि आदिवासी शख्स दिमागी रुप से बीमार था जिसका नाम मधु था, वह केरल राज्य में सबसे अधिक पिछड़े आदिवासी क्षेत्र अटापड्डी का रहने वाला था। अजीब तरह के कपड़े पहने हुआ मधु पिछले कुछ महीनों से मुक्काली के निकट के जंगलों में रहता था, स्थानीय लोगों के अनुसार, उसे कई बार शहर में घूमते हुए देखा गया था।
स्थानीय लोगों के द्वारा उसके उपर कुछ दुकानों से सामान चुराने का आरोप लगाया गया था जिसके बाद सभी ने उसे जम कर पीटा। अधमरे की हालत में उसे उसे सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। अस्पताल पहुंचने पर पुलिस ने देखा कि उसने उल्टियां की और बेहोश हो गया, अंत में डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।
पुलिस ने घटना के सिलसिले में एक मामला दर्ज किया है साथ ही कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि उनसे पूछताछ की जा रही है और अपराध साबित होने पर उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। स्थानीय चैनलों के मुताबिक, लोगों ने मधु के हाथ बांध दिए थे जिसके साथ लोग तस्वीरें और सेल्फी ले रहे थे।
पुलिस ने कहा थ्रिसुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में पोस्टमार्टम किए जाने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल पाएगा। हालांकि मधु के रिश्तेदारों ने एक मलयालम चैनल से कहा कि वह दिमागी बीमारी से जूझ रहा था और कुछ महीनों से घर से दूर रह रहा था। वे दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।
इस बीच मुख्यमंत्री पीनारायी विजयन ने मामले की घोर निंदा करते हुए कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कदम उठाया जाएगा। कहा कि इस तरह की घटना एक सभ्य राज्य में बरदाश्त नहीं की जाएगी। इस तरह की घटना किसी भी सूरत में स्वीकार्य नहीं है। उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में ये बातें कहीं।


नई दिल्ली - जैसे-जैसे देश और दुनिया की जनसंख्या बढ़ रही है, वैसे-वैसे इंसानों के लिए जमीन कम पड़ती जा रही है। सड़कों पर ट्रैफिक का दबाव लगातार बढ़ता जा रहा है। इसके लिए परिवहन के नए-नए विकल्पों की तलाश हो रही है। हमारे देश भारत में बड़ी संख्या में लोग सार्वजनिक वाहनों पर निर्भर हैं। ऑटो, टैक्सी जैसी सुविधाओं का इस्तेमाल करने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इससे सड़कों पर जाम की स्थिति और भी विकट रूप धारण कर रही है। सड़क पर ट्रैफिक जाम की समस्या से निपटने के लिए एप आधारित टैक्सी सेवा उबर ने एक खास पहल की है।
हवाई सैर कराएगी उबर
ऐप आधारित टैक्सी सेवा उबर ने घोषणा की है कि अब वह फ्लाइंग कार की दुनिया में कदम रखने जा रही है। कंपनी अगले पांच साल में ऐसी टैक्सी सेवा का ट्रायल शुरू कर देगी और 10 वर्षों में उस उद्योग की अग्रणी कंपनी बनने का भी दम कंपनी भर रही है। उबर के सीईओ खुशरोशाही ने जापान की राजधानी टोक्यो में एक इंवेस्टमेंट फोरम में कंपनी के इस महत्वकांक्षी प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी दी। खुशरोशाही इसे क्रांतिकारी कदम करार देते हैं। इससे आम आदमी का अपनी खुद की कार से हवा में उड़ान भरने का सपना भी पूरा हो जाएगा।
2016 में हुआ था एलान
उबर ने साल 2016 में 'उबर एयर' उड़ान भरने वाले एप पर काम शुरू किया था। कंपनी साल 2020 तक इसे लॉन्च करने के प्रति गंभीर दिखती है। 2016 में कंपनी ने व्हाइट पेपर जारी करके अपने इस आगामी प्रोजेक्ट की जानकारी दी थी। इसके अनुसार कंपनी अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा के पूर्व कर्मचारियों के साथ मिलकर 'फ्लाइंग कार' की दिशा में कार्य कर रही है।
किराया कितना होगा फ्लाइंग कार का?
यह प्रश्न आपके भी दिमाग में होगा। कंपनी के अनुसार फ्लाइंग कार का सफर तुलनात्मक रूप से किफायती होगा और उबर एक्स से सफर करने के बराबर ही किराया इस फ्लाइंग कार में भी चुकाना होगा। उबर के चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर जेफ होल्डेन को उम्मीद है कि ओलंपिक तक लॉस एंजलिस के लोग उबर एयर का इस्तेमाल करने लगेंगे। बता दें कि साल 2024 के समर ओलंपिक अमेरिकी शहर लॉस एंजलिस में ही होने वाले हैं। अभी तो कंपनी अमेरिका में ही एयर टैक्सी सेवा देने की बात कर रही है और इसके लिए नासा के साथ मिलकर एक ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम विकसित करने की बात पर भी जोर दिया जा रहा है।
ब्रिटेन में सरकार से बात कर रही है उबर
खुशरोशाही ने बताया कि उनकी ब्रिटेन की सरकार के साथ इस मामले को लेकर बातचीत चल रही है। इसके साथ ही कंपनी पूरी दुनिया की सरकारों के साथ संपर्क में है। मौजूदा दौर में हर एक राज्य, प्रदेश को परिवहन सेवा की जरूरत है, जो कि आम लोगों की पहुंच में हो। इसके साथ ही आम लोग उचित दाम में यह सेवा प्राप्त कर सकें। ऐसे में उबर एक ऐसा प्लेटफार्म है, जो संभावनाओं से भरा है। दारा ने उम्मीद जताई की आने वाले दिनों में उबर सेवा और चुस्त और दुरुस्त होगी।
पर्यावरण के लिहाज से भी सुरक्षित होगी फ्लाइंग कार
उबर के चीफ प्रोडक्ट ऑफिर के मुताबिक यह कार पूरी तरह से इलेक्ट्रिक होगी और इस लिहाज से यह पर्यावरण के लिए भी सुरक्षित होगी। इसका एप प्लेस्टोर से इंस्टाल करना होगा। बुकिंग का मैसेज मिलते ही कंपनी की एक फ्लाइंग कार यूजर के लोकेशन पर ठीक उसी तरह से पहुंच जाएगी, जैसे अभी टैक्सी पहुंचती है। खास बात यह है कि इसमें किसी पायलट की जरूरत नहीं होगी। कार खुद-ब-खुद उड़ान भरेगी। उसे एक कंट्रोल सेंटर से नियंत्रित किया जाएगा और कहा जा रहा है कि यह सफर पूरी तरह से सुरक्षित भी होगा।
स्टार्टअप को मिल रहा Google का साथ
फ्लाइंग कार को लेकर दुनिया की सबसे बड़ी इंटरनेट कंपनी गूगल कई स्टार्टअप को सपोर्ट कर रही है। गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट के सीईओ लैरी पेज के अनुसार उन्हें हजारों की संख्या में इस क्षेत्र में स्टार्टअप से ऑफर मिल रहे हैं। इस क्षेत्र में काम करने के लिए जीरो एयरो और किट्री हॉक जैसे स्टार्टअप शुरू हो चुके हैं। ऐसी कंपनियों ने फ्लाइंग कार बनाने के लिए दर्जनों रजिस्ट्रेशन भी करा लिए हैं। उन्नत किस्म की इलेक्ट्रिक मोटर, बैटरी टेक्नोलॉजी और ऑटोनॉमस सॉफ्टवेयर की मदद से इलेक्ट्रिक एयर टैक्सी की दिशा में तेजी से काम हो रहा है।
उबर एलिवेट के बारे में
उबर के सीईओ खुशरोशाही ने बताया कि उबर एलिवेट एक बैटरी तकनीक आधारित प्रोजेक्ट है, जहां बैटरी के आकार को कम करके उसकी क्षमता और स्टोरेज को बढाने को लेकर काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा, 'हमारा विश्वास है कि इस दिशा में हमारा कदम सकारात्मक होगा। ऐसे वाहन का निर्माण किया जा सकेगा, जो कि पर्यावरण के लिहाज से सुरक्षित होंगे। इसके साथ ही वर्टिकल टेकऑफ करने में सक्षम होंगे। कंपनी इन वाहनों में ध्वनि प्रदूषण को नियंत्रित करने को लेकर कार्य कर रही है। हेलीकाप्टर से प्रदूषण होना लाजिमी है। लेकिन हमारी कंपनी पांच साल के वक्त में ऐसे वाहन बनाने का प्रयास कर रही है, जिसमें यात्रा सुरक्षित और शांत रहेगी। कंपनी की ऐसे वाहन को बनाने को लेकर निर्माण यूनिटों से बातचीत जारी है कि आखिर शहरों में कैसे एयरपोर्ट सेंटर विकसित किए जाएं। दारा खुशरोशाही के मुताबिक बातचीत के जरिए चुनौतियों को दूर करने की कोशिश की जा रही है, जिससे शहरों में हाईस्पीड कॉरीडोर को विकसित किया जा सके, जिसमें प्रदूषण कम हो। ऐसे में इस प्रोजेक्ट को लेकर हम काफी खुश हैं।'

 


पटना - रेलवे भर्ती परीक्षा में आईटीआई की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है। अब ग्रुप डी परीक्षाओं के लिए आटीआई या एनसीटी योग्यता की दरकार नहीं रहेगी। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर इस फैसले की जानकारी दी है। रेल मंत्री ने एक के बाद कई ट्वीट किए हैं। इस निर्णय से उन लाखों छात्रों का प्रयास रंग लाया है जो पिछले कई दिनों से आंदोलन कर रहे थे। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने ITI की अनिवार्यता को समाप्त करने पर रेलमंत्री पीयूष गोयल को बधाई देते हुए कहा कि इस फैसले से बिहार के हजारों छात्र लाभान्वित होंगे।
रेल मंत्री ने ट्वीट कर कहा है कि इस पूरे विषय में सरकार से युवक-युवतियों की, जनता जनार्दन की उम्मीदें हैं। सबको समान मौका मिले, रेलवे भर्ती की तैयारी के लिए पर्याप्त समय मिले, इसलिए जनहित में फैसले लिए हैं। बताया कि कक्षा 10 या ITI या NCVT का प्रमाणपत्र रखने वाले सभी अभ्यर्थी अब लेवल-1 की परीक्षा के योग्य माने जायेंगे। वे वह इन पदों के लिये आवेदन कर सकते हैं। एक अन्य ट्वीट में कहा कि पहले 10वीं कक्षा पास विद्यार्थी लेवल-1 परीक्षा में भाग ले सकते थे। हम इस स्थिति को पुनः स्थापित कर रहे हैं। अब इस परीक्षा के लिये 10वीं पास विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं।
Railways has decided for this exam, there is no insistence on ITI or NTC qualification for the entire group D, we are reverting back to the criteria which were existing earlier: @PiyushGoyal
पूरे बिहार में चल रहा था आंदोलन :
पिछले कई दिनों से ग्रुप डी परीक्षाओं में उम्र सीमा बढ़ाने, आईटीआई अनिवार्यता हटाने और 10वीं शैक्षणिक योग्यता रखने को पूरे बिहार में आंदोलन चल रहा था। पटना में पिछले चार दिनों से लगातार छात्र प्रदर्शन कर रहे थे। गुरुवार को भी पटना के बहादुरपुर में रेलवे की ग्रुप डी परीक्षाओं में आईटीआई की अनिवार्यता समाप्त करने को लेकर छात्रों ने रेलवे ट्रैक को जाम किया।
भारी संख्या में पहुंचे छात्रों ने आगजनी की। प्रदर्शनकारी छात्रों ने कटिहार इंटरसिटी एक्सप्रेस को घंटे भर रोक रखा। इसके साथ ही जयपुर एक्सप्रेस को भी रोका गया। बता दें कि मंगलवार को इसी मुद्दे को लेकर पटना के राजेंद्रनगर में बवाल किया गया था। नया टोला में भी छात्रों ने खूब हंगामा किया था। कोचिंग सेंटर में तोड़फोड़ और पथराव के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया था। सबसे ज्यादा विरोध औरंगाबाद के रफीगंज में देखने को मिला था। इसी तरह आरा में भी छात्रों का आक्रोश रहा था।


केपटाउन - पांच मैचों की ट्वंटी-20 सीरीज में 2-1 की अपराजेय बढ़त हासिल कर चुकी भारतीय महिला क्रिकेट टीम शनिवार को मेजबान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांचवें और आखिरी मैच को जीतकर स्वैग से सीरीज का समापन करना चाहेंगी। भारतीय टीम तीन मैचों की वनडे सीरीज को पहले ही 2-1 से अपने नाम कर चुकी है और वह अब ट्वंटी-20 सीरीज में भी 2-1 से आगे है। सीरीज का चौथा मैच सेंचुरियन में बारिश के कारण रद्द कर दिया गया था।
भारत ने पहले दो मैच क्रमश: सात और नौ विकेट से जीते थे। लेकिन तीसरे मैच में उसे मेजबान टीम के हाथों पांच विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। कप्तान हरमनप्रीत कौर की कप्तानी वाली भारतीय टीम अगर शनिवार को मैच जीतकर सीरीज अपने नाम कर लेती है तो वह दक्षिण अफ्रीका दौरे में एक दौरे पर दो सीरीज जीतने वाली पहली भारतीय टीम बन जाएंगी। भारत ने इससे पहले ऑस्ट्रेलिया में ट्वंटी-20 सीरीज जीती थी।
भारतीय टीम की सीनियर खिलाड़ी मिताली राज सीरीज में अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं और उन्होंने पहले दो मैचो में लगातार अर्धशतक बनाए थे। लेकिन तीसरे मैच में वह खाता भी नहीं खोल सकीं थी। इसके अलावा ओपनर स्मृति मंधाना ने तीन मैचों में क्रमश: 28, 57 और 37 रन बनाकर उपयोगी योगदान दिया है। गेंदबाजी में आफ स्पिनर अनुजा पाटिल पहले तीन मैचों में पांच विकेट झटक चुकी है और टीम को उनसे आखिरी मैच में भी ऐसे ही प्रदर्शन की उम्मीद होगी। इसके अलावा पूनम यादव और पूला वस्त्राकर ने भी अब तक चार-चार विकेट लिए हैं। स्पिन के अलावा तेज गेंदबाजों को दम दिखाना होगा।
वहीं दक्षिण अफ्रीकी महिलाएं भी पांचवें और आखिरी मैच को जीतकर सीरीज का समापन 2-2 की बराबरी से करना चाहेंगी। तीसरा मैच जीतने से मेजबान टीम का मनोबल बढ़ा है और वह इसी ऊंचे मनोबल के साथ आखिरी मैच में उतरेगी। तीसरे मैच में पांच विकेट लेने वाली शबनम इस्माइल के प्रदर्शन ने सीरीज में दक्षिण अफ्रीका की उम्मीदों को बनाए रखा है। शबनम के अलावा एम डेनियल्स और क्लास ने अब तक तीन-तीन विकेट चटकाए हैं।


मेड्रिड - यूरोपा लीग में एथलेटिक बिलबाओ और स्पातार्क मॉस्को के बीच खेले गए मैच से पहले प्रशंसकों के बीच हुई भिड़ंत में एक पुलिस अधिकारी की मौत हो गई। एक रिपोर्ट के अनुसार, 'बॉस्क कंट्री' के पुलिसबल में कार्यरत अधिकारी की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई। इस मैच के आयोजन की निगरानी के लिए 500 से अधिक अधिकारी तैनात किए गए थे और रिपोटोर्ं का कहना है कि इस भिड़ंत में कम से कम पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
बिलबाओ पुलिस ने कहा, “हमारी सांत्वना पुलिस अधिकारी के परिवार, दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ हैं।” सान मामेस स्टेडियम में खेले गए इस मैच के बाद स्पेनिश लीग क्लब नेट्वीट कर कहा, “पुलिस अधिकारी के परिवार और साथी कर्मचारियों के साथ हमारी सांत्वना है। बिलबाओ क्लब फुटबाल से जुड़ी हिंसक घटनाओं की कड़ी रूप से निंदा करता है।” इस हिंसक भिड़ंत की वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि समर्थकों ने एक-दूसरे पर पटाखों का इस्तेमाल किया था।

Page 2 of 2299

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें