हैदराबाद - अमेरिका के कंसास शहर में पिछले सप्ताह अज्ञात बंदूकधारियों नेे भारतीय छात्र शरत कोप्पू की गोली मारकर हत्या कर दी थी। आज उनके शव को गृहनगर वारंगल ले जाया गया जहां अंतिम संस्कार किया जाएगा। कोप्पू केे शव को अमेरिका से राजीव गांधी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डेे लाया गया जहां पूर्व केंद्रीय मंत्री बंडारू दत्तात्रेय भी मौजूद थे। बता दें कि अमेरिका के शहर कंसास में अज्ञात लोगों के द्वारा लूट के प्रयास की घटना में शरत मारा गया था।
इस हत्याकांड में अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है। कंसास पुलिस ने अज्ञात बंदूकधारियों की सूचना देने वाले के लिए 10,000 डॉलर की इनाम राशि की घोषणा की है। इसके लिए पुलिस ने उस घटना से संबंधित एक वीडियो भी जारी किया है।
रिपोर्ट के मुताबिक, कंसास पुलिस को शुक्रवार शाम सात बजे एक रेस्तरां में गोलीबारी की सूचना मिली थी। इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर खून से लथपथ शरत को एक पूल में गिरा पाया। आनन-फानन में युवक को करीब के अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना पर विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने दुख जताया और परिवार से संवेदना प्रकट की थी।
कोप्पू दो माह पहले अमेरिका में मास्‍टर डिग्री की पढ़ाई के लिए आया था। वह कंसास की मिसौरी यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रहा था और रेस्‍टोरेंट पर पार्ट टाइम कर्मचारी के रूप में काम कर रहा था। एक साल में यह दूसरा गोलीकांड है। इससे पहले कंसास के बार में तेलुगू इंजीनियर श्रीनिवास कूचीबोटला की गोली मार कर हत्‍या कर दी गई थी। हैदराबाद में कोप्पू के परिवार ने हत्‍या की आधिकारिक पुष्टि की है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें