न्यायालय ने सिमी सरगना अबु फैजल सहित स्टुडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) के तीन आतंकियों को मंदसौर जिले के पिपल्या मंडी में स्टेट बैंक ऑफ इंदौर की शाखा में डकैती डालने के मामले में उम्रकैद की सजा सुनाई है। डकैती डालने में शामिल रहे तीन आतंकी पुलिस मुठभेड़ में पहले ही मारे जा चुके हैं।विशेष न्यायाधीश गिरीश दीक्षित ने मामले की सुनवाई के बाद गुरुवार को अबु फैजल, मोहम्मद इकरार और मोहम्मद साजिद को दोषी सिद्ध होने पर आजीवन कारावास और एक हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई है।अभियोजन के अनुसार 1 जून 2010 की शाम को मंदसौर के पिपल्या मंडी में स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंदौर की शाखा में जाकिर, मोहम्मद असलम, शेख मुजीब, मोहम्मद एजाजुद्दीन, अबु फैजल, मोहम्मद इकरार और मोहम्मद साजिद हथियारों के साथ घुस गए और बैंक कर्मचारियों से मारपीट कर उन्हें बंधक बना लिया। आतंकियों ने बैंक में रखे कटे फटे 84 हजार रुपये और 16,339 रुपये नगद लूट लिए थे।इस मामले में पिपल्या मंडी पुलिस ने प्राथमिक जांच पड़ताल के बाद आतंकियों के खिलाफ डकैती, लूट, आर्म्स एक्ट और विधि विरुद्ध कार्यकलाप का अपराध कायम कर अदालत में चालान पेश किया था।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें