प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रमंडल देशों के प्रमुखों के सम्मेलन चोगम में शिरकत करने 17-20 अप्रैल तक ब्रिटेन का दौरा करेंगे. इस दौरान वो ब्रिटेन और दूसरे राष्ट्रमंडल देशों के साथ द्विपक्षीय वार्ता भी करेंगे. यहां प्रधानमंत्री भारत की बात सबके साथ कार्यक्रम के ज़रिए भारतीय समुदाय के साथ संवाद स्थापित करेंगे. स्वीडन के बाद तीन दिवसीय यात्रा पर प्रधानमंत्री लंदन में होंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 17 अप्रैल मंगलवार देर शाम ब्रिटेन की राजधानी लंदन पहुंचेंगे. यूं तो लंदन में इन दिनों चोगम सम्मेलन की धूम है और शहर 53 राष्ट्रमंडल देशों के प्रतिनिधियों का स्वागत करने को तैयार है. लेकिन प्रधानमंत्री के आगमन को लेकर यहां के भारतीय समुदाय में जबरदस्त उत्साह है. ये लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 14 नवंबर, 2015 को वेंबले स्टेडियम के उस शानदार भाषण को नहीं भूले हैं, जिसमें उन्होंने भारत की ही बात की थी लेकिन पूरे ब्रिटेन का मन मोह लिया था. इस बार प्रधानमंत्री ब्रिटेन में मौजूद भारतीय समुदाय के लोगों से दो तरफा संवाद करेंगे. लंदन के वेस्टमिंस्टर में 18 अप्रैल को भारत की बात सबके साथ कार्यक्रम का आयोजन किया गया है, जिसमें पहले नामांकन के आधार पर 1,500 लोग शिरकत कर सकेंगे. यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सीधी बातचीत का विशेष आयोजन है, जिसमें वे भारत से संबंधित प्रश्नों के जवाब देंगे. अपने तीन दिन के लंदन प्रवास के दौरान प्रधानमंत्री न सिर्फ ब्रिटेन के साथ द्विपक्षीय रिश्तों को प्रगाढ़ करेंगे बल्कि राष्ट्रमंडल देशों के प्रमुखों के सम्मेलन चोगम में भी भारत की बात रखेंगे. प्रधानमंत्री इस दौरान ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे के साथ द्वपक्षीय वार्ता करेंगे और महारानी एलिज़ाबेथ और प्रिंस चार्ल्स से मुलाकात करेंगे. प्रधानमंत्री का यहां सांइस म्यूज़ियम और भारत से जुड़े दूसरे स्थानों पर जाने का कार्यक्रम भी है. चोगम के दौरान प्रधानमंत्री तमाम देशों के प्रमुखों के साथ संवाद करेंगे और राष्ट्रमंडल देशों के साथ देश के रिश्ते प्रगाढ़ करेंगे. इन वार्ताओं में विदेश व्यापार, वाणिज्य, प्रत्यर्पण, जलवायु परिवर्तन और आतंकवाद जैसे मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है. चोगम सम्मेलन के आखिरी दिन प्रधानमंत्री विंडसर कैसल में महारानी एलिज़ाबेथ की ओर से आयोजित रिट्रीट में शिरकत करेंगे. कुल मिलाकर अपने अति व्यस्त दौरे में प्रधानमंत्री यहां के हर फोरम पर पूरी मज़बूती से भारत की बात रखेंगे.

Share this article

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें