प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके इजरायली समकक्ष बेंजामिन नेतनयाहू तीन मूर्ति चौक का नाम बदलकर तीन मूर्ति हाइफा चौक करने के मौके पर तीन मूर्ति मेमोरियल में रविवार को एक औपचारिक समारोह में हिस्सा लेंगे। सरकारी सूत्रों ने बताया कि, दोनों नेता स्मारक पर पुष्पांजलि देंगे और आगंतुक पुस्तिका में दस्तखत करेंगे।नेतनयाहू छह दिन की भारत यात्रा पर आ रहे हैं। तीन मूर्ति पर कांस्य की तीन मूर्तियां हैदराबाद, जोधपुर और मैसूर लैंसर का प्रतिनिधित्व करती हैं, जो 15 इंपीरियल सर्विस कैवलरी ब्रिगेड का हिस्सा थे। ब्रिगेड ने प्रथम विश्व युद्ध के दौरान 23 सितंबर 1918 में इजरायली शहर हाइफा पर हमला किया था और उसे जीत लिया था। प्रथम विश्व युद्ध में इजरायली शहर की आजादी के लिए 44 भारतीय सैनिकों ने अपने प्राण का बलिदान दिया था। आज तक, 61वीं कैवलरी ब्रिगेड 23 सितंबर को स्थापना दिवस या 'हाइफा' दिवस मनाती है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें