Editor

Editor


मुंबई - टीवी कॉमेडियन स्टार कपिल शर्मा की फिल्म ‘फिरंगी’ बहुत जल्द रिलीज होने वाली हैं। इन दिनों कपिल अपनी फिल्म की जोरोशोरों से प्रमोशन करते नजर आ रहें हैं। हाल ही में कपिल गुरुनानक जी के दरबार में पहुंचे। इस दौरान वह माथा टेकते हुए नजर आए। उनके साथ इशिता दत्ता भी नजर आईं। उन्होंने ने भी बड़े श्रद्धा भाव से गुरुनानकजी के सामने नतमस्तक होते हुए उनकी आराधना की। पिछले कुछ दिनों से कपिल दुबई में हैं। उन्होंने वहां पर गुरुनानक दरबार में जाकर दर्शन लिया और मनोकामना मांगी। कपिल ने इस बात की जानकारी अपने ट्विटर अकाउंट पर कुछ तस्वीरें शेयर करते हुए दी हैं।
गुरुनानक दरबार के दर्शन के बाद कपिल दुबई में मीडिया से मिले और उनके सवालों के जवाब दिए। बता दें, कपिल की तबियत अभी भी पूरी तरह ठीक नहीं हुई हैं। जिस वजह से उनको फिल्म के प्रमोशन में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैं। बता दें, कपिल अक्षय कुमार के कॉमेडी रियलिटी शो पर अपनी फिल्म ’फिरंगी’ का प्रचार करने जाने वाले थे लेकिन ख़राब सेहत के कारण उन्हें अपना शूट कैंसल करना पड़ा।
बता दें, इस फिल्म के एक गाने में उनकी मां जानकी रानी और बहन पूजा देवगन और भाभी मुस्कान पुंज भी छोटे लेकिन एहम रोल में नजर वाले हैं। इस सीन की शूटिंग के वक्त कपिल और उनके परिवार में काफी मजे किए। उन्होंने कैमरे को बहुत अच्छी तरह फेस भी किया। फिल्म में उनका स्पेशल अपियरेंस है।
बता दें कि कपिल में साल 2015 में आयी फिल्म ‘किस किसको प्यार करूं’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। ‘फिरंगी’ उनकी दूसरी बॉलीवुड फिल्म है। ये एक कॉमेडी फिल्म हैं। इस फिल्म में कपिल और ईशिता के अलावा मोनिका गिल भी नजर आएंगी। कपिल शर्मा दो साल बाद सिल्वरस्क्रीन पर लौट रहे हैं। फिल्म में कपिल एक देहाती पुलिसवाले के किरदार में दिखेंगे। इस फिल्म का निर्देशन राजीव धींगरा ने किया है। ‘फिरंगी’ 24 नवंबर को सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है।


मुंबई - ऐश्वर्या राय बच्चन और अभिषेक बच्चन बेटी आराध्या 6 साल की हो गई है। और पूरे परिवार और करीबी दोस्तों के साथ बेटी का छठवां जन्मदिन मनाया गया। सबसे पहले बिग बी ने सोशल मीडिया पर ट्वीट के जरिए अपनी पोती को जन्मदिन की बधाईयां दी थीं।
इसके बाद पूरा बच्चन परिवार घर की सबसे छोटी सदस्य का जन्मदिन खूब धूमधाम से मनाते नजर आए। इस दौरान आराध्या फ्रॉक में काफी क्यूट लग रही थी। उनकी मस्ती कैमरे के सामने भी जारी रही।
बेटी का हाथ थामे ऐश्वर्या काफी खूबसूरत लग रहीं थीं। हाई हील्स और शॉर्ट ड्रेस में ऐश्वर्या से नजरे हटाना जरा मुश्किल सा हो रहा था।
कैमरे को पोज देती आराध्या. बॉलीवुड ही नहीं देश की सबसे पॉपुलर स्टार डॉटर आराध्या का जन्म 6 नवंबर, 2011 को हुआ था।


नई दिल्ली - बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त जेल से आने के बाद अब अपने करियर पर ध्यान दे रहे हैं। संजय दत्त ने अपनी लाइफ में कई उतार-चढ़ाव देखे, लेकिन इस दौरान उनकी पत्नी मान्यता ने उनका पूरा सपोर्ट किया। जब संजय जेल में थे, तब भी मान्यता ने अपने दोनों बच्चों को पिता की कमि महसूस नहीं होने दी। अब जेल से बाहर आने के बाद संजय बच्चों के साथ काफी अच्छा समय बिता रहे हैं। लेकिन हाल ही में मान्यता ने संजय दत्त और बच्चों को लेकर एक बड़ी बात कही है।
दरअसल, हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान मान्यता ने कहा कि वो चाहती हैं कि उनके बच्चों को अपने पिता की लाइफ के बारे में पता हो। अभी नहीं क्योंकि अभी वो छोटे हैं, लेकिन जब वो ऐसी बातों को समझ सकेंगे तब उन्हें ये सब पता जरूर होना चाहिए कि उनके पिता ने एक बड़ी गलती की थी जिसके लिए उन्हें सजा भी मिली थी।
शाहरान और इकरा के लिए उसके पिता हीरो है, लेकिन उनको ये पता होना चाहिए कि उनके पिता गलत थे और उन्होंने इसकी भारी कीमत भी चुकाई। मान्यता ने कहा, 'उन्हें मालूम होना चाहिए कि ये सब क्यों और कैसे हुआ, लेकिन इसके लिए वो अभी छोटे हैं और हम नहीं चाहते कि उनके बचपन पर किसी प्रकार का कोई बोझ पड़े।'
जेल से वापस आने के बाद संजय ने फिल्म भूमि से फिल्मों में वापसी की। इस फिल्म के प्रमोशन के दौरान उन्होंने इस बात का खुलासा किया था कि उन्हें मान्यता जूतों से मारती है।
पहले तो हम आपको बता दें कि ये सब संजय ने सीरियसली नहीं बल्कि मजाक में कहा था। दरअसल, संजय उस दौरान अपने जूतों की बात करते हुए कह रहे थे कि ये जूते हाथ से बने हुए हैं। इस जूते को कोई आम मोची नहीं बना सकता। जिसने मेरे जूते बनाए हैं वो मैक्सिको का है जो मुझे बहुत परेशानियों के बाद मिला है।
जब मैं जूते लेने जाता हूं तो वो मुझे कैटालॉग भेजते हैं और कहते हैं कि आप खुद पसंद कर लें। उन्होंने आगे ये भी बताया कि ये जूते लैदर के नहीं बल्कि प्लास्टिक के हैं और हंसते हुए कहा, मेरे पास ऐसे कई जूते हैं जो मेरी पत्नी मेरे सिर पर मारती हैं।


नई दिल्ली - टीम इंडिया के खिलाड़ी यूसुफ पठान ने इंटरनेशनल मैचों के साथ ही घरेलू मैचों में भी लम्बे-लम्बे छक्के मारकर खुद को बेहतर साबित किया है। पठान भारतीय टीम के उन खिलाड़ियों में शुमार हैं, जो अपने दमदार प्रदर्शन की बदौलत मैच जिताने की काबीलियत रखते हैं। आज यूसुफ का जन्मदिन है। उनके जन्मदिन पर एक खास रिपोर्ट..
यूसुफ पठान का जन्म 17 नवंबर 1982 को बड़ौदा में हुआ था। उन्होंने भारत के लिए कई यादगार पारियां खेली हैं। पठान के नाम वैसे तो कई रिकॉर्ड्स हैं, लेकिन आईपीएल में उनके कारनामे हमेशा चर्चा में रहे हैं। वो इकलौते ऐसे बल्लेबाज हैं, जिन्होंने अपनी एक पारी के दौरान लगातार 11 बाउंड्री जड़ी हैं।
यूसुफ ने 11 गेंद पर 54 रन बनाए थे। उन्होंने राजस्थान रॉयल्स की ओर से खेलते हुए मुंबई इंडियंस के खिलाफ ये कारनामा किया था। इस दौरान उन्होंने लगातार चार छक्के फिर दो चौके, फिर एक छक्का और फिर लगातार चौके जड़े थे। 6, 6, 6, 6, 4, 4, 6, 4, 4, 4, 4 इस तरह से उन्होंने 11 गेंद के अंदर 54 रन बनाए।
इसी पारी में पठान ने 37 गेंदों पर शतक बनाया था, जो उस समय आईपीएल की सबसे तेज सेंचुरी थी। हालांकि तीन साल बाद क्रिस गेल ने 30 गेंद पर सेंचुरी जड़ यूसुफ का ये रिकॉर्ड तोड़ डाला। आईपीएल 2014 में कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से खेलते हुए यूसुफ पठान ने सनराइजर्स हैदारबाद के खिलाफ 15 गेंद पर पचासा ठोका था, जो आज भी आईपीएल का सबसे तेज पचासा है।
पठान ने भारत के लिए पहला इंटरनेशनल मैच 2007 टी20 वर्ल्ड कप का फाइनल मैच खेला था। इस मैच में वो 15 रन बनाकर आउट हुए थे। इस पारी में एक बड़ा छक्का भी शामिल था। पठान ने भारत के लिए 57 वनडे मैचों में 113.60 के स्ट्राइक रेट और 27 की औसत से 810 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने दो शतक और तीन अर्धशतक लगाए हैं। वहीं उनके नाम 41.36 की औसत से 33 विकेट भी दर्ज हैं।
टी20 इंटरनेशनल की बात करें तो पठान ने 22 मैचों में 18.15 की औसत से 236 रन और 33.69 की औसत से 13 विकेट झटके हैं। पठान ने आईपीएल में अब तक कुल 149 मैच खेले हैं, जिनमें 2904 रन बनाए हैं।

 


नई दिल्ली - पीवी सिंधू की खिताब बरकरार रखने की उम्मीद शुक्रवार को चीन के फुजोउ में चाइना सुपर सीरीज प्रीमियर के क्वार्टरफाइनल में चीन की गाओ फांगजेई से सीधे गेम में हारकर टूट गयी। सिंधू 38 मिनट के दौरान रंग में नहीं दिखी। फांगजेई ने दुनिया की दूसरे नंबर की खिलाड़ी सिंधू को एक तरफा मुकाबले में 21-11, 21-10 से मात दी। सिंधू की हार से भारत का चाइना ओपन अभियान भी खत्म हो गया क्योंकि साइना नेहवाल और एचएस प्रणय कल प्री क्वार्टरफाइनल में हारकर बाहर हो गये थे।
हैदराबाद की खिलाड़ी पिछले तीन हफ्तों से लगातार खेल रही हैं। उन्होंने डेनमार्क ओपन, फ्रेंच ओपन के बाद नागपुर में राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में हिस्सा लिया था। वह अपनी प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ थकी हुई लग रही थी और खेलते हुए जूझ रही थी। फांगजेई ने लगातार अलग अलग तरह के शॉट खेलते हुए लंबी रैलियों से दबदबा बनाये रखा। सिंधू अब अगले हफ्ते हांगकांग ओपन में खेलेंगी। वह इसके पिछले चरण के फाइनल्स में पहुंची थी।

 


कोलकाता - भारत और श्रीलंका के बीच तीन मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट कोलकाता के ईडन गार्डन्स में खेला जा रहा है। भारत का स्कोर जब 74 रनों पर पांच विकेट था, तभी मैच बारिश के चलते रोकना पड़ा। मैदान को कवर्स से ढक दिया गया। चेतेश्वर पुजारा 47 और साहा 6 रन बनाकर नॉटआउट लौटे हैं। इसी दौरान लंच ब्रेक की भी घोषणा कर दी गई। लंच ब्रेक खत्म होने तक बारिश नहीं रूकी। इसके बाद काफी देर इंतजार करने के बाद दूसरे दिन के खेल को रोक दिया गया।
इससे पहले 17 रन पर तीन विकेट से आगे खेलते हुए दूसरे दिन टीम इंडिया को 30 रनों पर चौथा झटका लगा। उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे महज चार रन बनाकर दासुन शनाका की गेंद पर आउट हुए। इसके बाद आर अश्विन आए और कुछ देर चेतेश्वर पुजारा का साथ देने के बाद चार रन बनाकर पवेलियन लौटे। अश्विन भी शनाका की गेंद पर आउट हुए। टीम इंडिया ने 50 रनों तक पांच विकेट गंवा दिए थे।
दूसरे दिन का खेल समय से 15 मिनट पहले शुरू किया गया। मैच का पहला दिन बारिश से काफी प्रभावित रहा और महज 11.5 ओवर की खेल हो सका। टीम इंडिया ने 17 रनों तक तीन विकेट गंवा दिए हैं। के.एल. राहुल और विराट कोहली तो बिना खाता खोले आउट हुए, जबकि शिखर धवन आठ रन बनाकर पवेलियन लौटे।
चेतेश्वर पुजारा 8 रन और अजिंक्य रहाणे बिना खाता खोले नॉटआउट लौटे। श्रीलंका की ओर से सुरंगा लकमल ने छह ओवर फेंके और बिना कोई रन खर्चे तीनों विकेट झटके। मैच के पहले दिन भारत को पहली ही गेंद पर राहुल के रूप में पहला झटका लगा था। राहुल ने विकेट की पीछे निरोशन डिकवेला को कैच थमाया।
स्कोर 13 रनों तक पहुंचा था, तभी लकमल ने धवन को क्लीन बोल्ड कर दिया। इसके बाद कप्तान विराट 11 गेंद पर बिना खाता खोले एलबीडब्ल्यू आउट हुए। मैच के पहले दिन की खराब शुरुआत से उबरने के लिए टीम इंडिया दूसरे दिन खास रणनीति बनाकर उतरेगी। वहीं श्रीलंकाई टीम मैच पर अपनी पकड़ को और मजबूत करना चाहेगी। मैच के दूसरे दिन भी बारिश की आशंका बनी रहेगी।

 


नई दिल्ली - फीफा के किसी टूनार्मेंट की पहली बार मेजबानी के बाद देश में फुटबॉल की बढ़ी हुई लोकप्रियता को भुनाने की कवायद में इंडियन सुपर लीग के चौथे सत्र का शुक्रवार को आगाज होगा। इसमें नये रूप में अधिक टीमें और घरेलू खिलाड़ी अपने प्रदर्शन की छाप छोड़ने को बेताब होंगे। आईएसएल अब चार महीने तक खेला जायेगा जबकि पिछले तीन सत्र में यह दो महीने तक ही चलता था।
पिछले सीजन में चैम्पियन रही एटीके और केरला ब्लास्टर्स शुक्रवार को कोच्चि में शुरूआती मैच खेलेंगे। इसी मैदान पर 2016 में फाइनल खेला गया था, जिसमें केरला ब्लास्टर्स को एटीके ने हराया था। देश की शीर्ष फुटबॉल लीग के विजेता को एएफसी कप में सीधे प्रवेश मिलेगा। अब देखना यह है कि पिछले महीने अंडर 17 विश्व कप की मेजबानी से फुटबॉल में लोगों की दिलचस्पी जो बढी है, उसका यह लीग कितना फायदा उठा सकती है।
इस सत्र में दो नयी टीमें टाटा समूह की जमशेदपुर एफसी और बेंगलूरू एफसी को भी जोड़ा गया है। बेंगलूरू ने आईलीग छोड़कर आईएसएल में प्रवेश किया है। क्रिकेट के दीवाने देश में फुटबॉल को लोकप्रिय बनाने की कवायद में शुरू की गई आईएसएल को एशियाई फुटबाल परिसंघ से मान्यता मिलने के बाद उनका यह कदम उठाना लाजमी था। भारतीय फुटबॉल में पेशेवरपन की मिसाल मानी जाने वाली बेंगलूरू एफसी आईलीग की सबसे सफल टीम रही है जिसने दो बार खिताब जीता और एक बार उपविजेता रही।
इस बार आईएसएल में अधिक भारतीय खिलाड़ी, अधिक टीमें, अधिक मैच और अधिक समय है। इसके अलावा इस बार मारकी खिलाड़ी के साथ करार की बाध्यता भी खत्म कर दी गई है। इसी के तहत विश्व कप विजेता स्टार अलेजांद्रो देल पियारो, मार्को मातेराज्जी और रॉबर्ट कार्लोस इस लीग से जुड़े थे। आईएसएल में विदेशी खिलाड़ियों की संख्या कम कर दी गई है लेकिन एटीके में अभी भी मैनचेस्टर युनाइटेड के पूर्व खिलाड़ी दमितार बरबातोव और टोटेनहाम हाटसपर के पूर्व फॉरवर्ड राबी कीन शामिल हैं।
अब फोकस घरेलू खिलाड़ियों पर आ गया है जिसके तहत छह भारतीयों को टीम में रखना जरूरी है। कोचों के मामले में अभी भी विदेशियों का बोलबाला है। इनमें एटीके के कोच टैडी शेरिंम और दिल्ली डायनामोस के कोच रीयाल मैड्रिड के पूर्व मिडफील्डर मिगुल एंजेल पोर्तुगाल शामिल हैं। अन्य टीमों में चेन्नइयिन एफसी, मुंबई सिटी एफसी, एफसी पुणे सिटी, नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी और एफसी गोवा शामिल है। फाइनल 17 मार्च को कोलकाता में खेला जायेगा।
1. टीम: दिल्ली डायनमोज
मैनेजर: मिगुएल एन्जिल पुर्तगाल
होम ग्राउंड: जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम, दिल्ली
2. टीम: गोआ एफसी
मैनेजर: सर्जियो लोबरा
होम ग्राउंड: फास्टोर्ड स्टेडियम, मडगांव
3. टीम: नॉर्थ-ईस्ट यूनाइटेड
मैनेजर: जोआओ डे देस
होम ग्राउंड: इंदिरा गांधी एथलेटिक्स स्टेडियम, गुआहाटी
4. टीम: पुणे सिटी
मैनेजर: रैंको पॉपोविक
होम ग्राउंड: बलदेव स्टेडियम, पुणे
5. टीम: जमशेदपुर एफसी
मैनेजर: स्टीव कॉपल
होम ग्राउंड: जेआरडी टाटा स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, जमशेदपुर
6. टीम: एटीके
मैनेजर: टेडी शेरिंगम
होम ग्राउंड: साल्ट लेक स्टेडियम, कोलकाता
7. टीम: बेंगलुरु एफसी
मैनेजर: अल्बर्ट रोका
होम ग्राउंड: श्री कांतीवीरा स्टेडियम, बेंगलुरु
8. टीम: चेन्नईयन एफसी
मैनेजर: जॉन ग्रेगरी
होम ग्राउंड: जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम, चेन्नई
9. टीम: केरला ब्लास्टर्स
मैनेजर: रेने मेउलेन्स्टीन
होम ग्राउंड: जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम, कोच्चि
10. टीम: मुंबई सिटी
मैनेजर: एलेक्जेंडर गिमारायस
होम ग्राउंड: मुंबई फुटबॉल अरीना, मुंबई

 


नई दिल्ली - बॉलीवुड में खिलाड़ियों के जीवन पर बन रही बायोपिक की रेस में राष्ट्रीय बैडमिंटन कोच पुलेला गोपीचंद भी शामिल हो गए हैं और गुरूवार को उनके जन्मदिन पर फॉक्स स्टार स्टूडियोज ने पुलेला गोपीचंद के जीवन पर फिल्म बनाने की घोषणा की।
गोपीचंद 44 साल के हो गए। भारत को सायना नेहवाल, पी.वी. सिंधू और किदाम्बी श्रीकांत जैसे दिग्गज खिलाड़ी देने वाले गोपीचंद ने अपने जन्मदिन पर इस घोषणा में कहा, देश में बैडमिंटन तेजी से लोकप्रिय होता जा रहा है और मुझे इस बात की बहुत ख़ुशी है युवा वर्ग इस खेल की तरफ आकर्षित हो रहा है।
उल्लेखनीय है कि हाल ही में स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल के जीवन पर फिल्म बनाने की घोषणा हुई थी और अब उनके कोच गोपीचंद पर बायोपिक का ऐलान हो गया है। प्रकाश पादुकोण के बाद पुलेला ही ऑल इंग्लैंड ओपन चैंपियन जीतने वाले दूसरे भारतीय हैं।
गोपी ने कहा, 'मुझे इस बात पर गर्व होगा कि मैं एक फिल्म के माध्यम से अपनी कहानी को साझा कर सकूंगा और लोगों को अपने सपने पूरा करने के लिए प्रेरित कर सकूंगा। मैं रोमांचित हूँ कि विक्रम और स्टार फॉक्स इस फिल्म को जनता तक ले जाएंगे।'
यह भी दिलचस्प है कि फॉक्स स्टार ने पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान महेंद्र सिंह धौनी के जीवन पर फिल्म एम.एस. धौनी द अनटोल्ड स्टोरी बनाई थी। गोपीचंद की मातृभाषा तेलुगु होने के कारण इस फिल्म को दो भाषाओं में रिलीज किया जाएगा। इसे हिंदी के साथ-साथ तेलुगू में भी बनाया जाएगा क्योंकि गोपी आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं। कहा जा रहा है कि साल 2018 में फिल्म की शूटिंग शुरू होगी।
वैसे इन दिनों गोपी सायना की बायोपिक में सायना का रोल करने जा रहीं श्रद्धा कपूर को ट्रेनिंग दे रहे हैं। गोपी पर बनने वाली फिल्म की कमान विक्रम मल्होत्रा को सौंपी गई है जो एयरलिफ्ट, बेबी और शेफ जैसी फिल्में प्रोड्यूस कर चुके हैं।
फिलहाल इस फिल्म की स्क्रिप्ट पर काम चल रहा है। भारत में पिछले कुछ वषोर्ं में खिलाड़ियों के जीवन पर फिल्म बनने का चलन तेजी से बढ़ा है। मिल्खा सिंह, पान सिंह तोमर, एम सी मैरीकॉम और महेंद्र सिंह धौनी पर फिल्में बन चुकी हैं। विश्व कप विजेता कप्तान कपिल देव के जीवन पर भी फिल्म बनाने की घोषणा की गयी है।


नई दिल्ली - हॉकी इंडिया (एचआई) ने भुवनेश्वर में खेले जाने वाले ओडिशा हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल के लिए 18 सदस्यीय पुरुष टीम की घोषणा कर दी है। 1 दिसम्बर से भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में खेले जाने वाले इस टूनार्मेंट के लिए भारत को ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और जर्मनी के साथ पूल-बी में शामिल किया गया है।
मनप्रीत की कप्तानी में भारतीय टीम अपने अभियान का आगाज ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जाने वाले पहले मुकाबले से करेगी। टीम के मुख्य कोच शुअर्ड मरेन ने कहा, “टीम में रुपिंदर पाल जैसे अनुभवी खिलाड़ी का होना अच्छी बात है। इसके साथ ही हमारे पास बीरेंद्र लाकड़ा भी हैं। दोनों ही खिलाड़ी 100 प्रतिशत फिट हैं और भारतीय जर्सी को पहन मैदान पर उतरने के लिए आतुर भी।”
इस टीम में जूनियर विश्व कप में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले युवा खिलाड़ियों हरमनप्रीत सिंह, वरुण कुमार और दिपसान तिकेर् को शामिल किया गया है। इसके अलावा, अमित रोहिदास को भी टीम में जगह मिली है। उन्हें कोथाजीत सिंह के स्थान पर शामिल किया गया है।
भारतीय टीम :
गोलकीपर : आकाश अनिल चिकते, सूरज कारकेरा
डिफेंडर : हरमनप्रीत सिंह, अमित रोहिदास, दिपसान तिर्के, वरुण कुमार, रपिंदर पाल सिंह, बीरेंद्र लाकड़ा
मिडफील्डर : मनप्रीत सिंह (कप्तान), चिंग्लेसाना सिंह (उप-कप्तान), एसके उथप्पा, सुमित, कोथाजीत सिंह
फॉरवर्ड : एसवी सुनील, आकाशदीप सिंह, मनदीप सिंह, ललित कुमार उपाध्याय, गुरजंत सिंह


नई दिल्ली - खिताब के प्रबल दावेदार रोजर फेडरर ने मारिन सिलिच को हराकर लंदन में खेले जा रहे एटीपी फाइनल्स के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया जबकि जैक सोक ने जर्मनी के अलेक्जेंडर ज्वेरेव को 6-4, 1-6, 6-4 से हराकर अंतिम चार में जगह बनाई।
पिछले दस साल में सोक सत्र के इस आखिरी टूनार्मेंट के सेमीफाइनल में पहुंचने वाले पहले अमेरिकी हैं। इससे पहले एंडी राडिक 2007 में यहां सेमीफाइनल में पहुंचे थे। ग्रिगोर दिमित्रोव अंतिम चार में पाब्लो कारेनो बस्टा से खेलेंगे। फेडरर का सामना बेल्जियम के डेविड गोफिन या आस्ट्रिया के डोमिनिक थियेम से होगा। फेडरर ने सिलिच को 6-7, 6-4, 6-1 से मात दी।
अपने अब तक के करियर में फेडरर का सामना सीलिक से नौ बार हो चुका है और उन्होंने आठ बार क्रोएशियाई खिलाड़ी को मात दी है। मैच के बाद एक बयान में फेडरर ने कहा, “मैंने बहुत अच्छा खेला और इसलिए, मैं इस स्तर का प्रदर्शन कर काफी खुश हूं।” फेडरर का अगला मैच बेल्जियम के डेविड गोफिन या आस्ट्रिया के डोमिनिक थीम में से किसी एक खिलाड़ी से होगा। सीलिक इस टूनार्मेंट में सेमीफाइनल की दौड़ से पहले ही बाहर हो गए हैं।

 

Page 10 of 1927

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें