Editor

Editor

सीमा पर लगातार हो रही गोलीबारी और दोनों तरफ शहीद हो रहे जवानों के बीच जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने दोनों देशों से शांति की अपील की है। सीएम महबूबा ने पाकिस्तान और भारत के प्रधानमंत्री से अपील करते हुए कहा कि वे जम्मू कश्मीर को जंग का अखाड़ा ना बनाएं बल्कि इसे दोस्ती का पुल बनाए।नए पुलिस कांस्टेबल के पासिंग आउट परेड में महबूबा ने कहा- “हमारे बॉर्डर पे इस वक्त खुदा ना खास्ता एक तरह से खून की होली चल रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश विकास के रास्ते पर है लेकिन राज्य में इसके बिल्कुल विपरीत हो रहा है।इसके साथ ही, मुख्यमंत्री महबूबा ने नए पुलिस कांस्टेबल को संबोधित करते हुए कहा- “जम्मू कश्मीर पुलिस का काम सबसे कठिन है क्योंकि आपके सामने बड़ी चुनौती है। कानून व्यवस्था को बहाल करते वक्त आपको अपने लोगों से ही सामना करना पड़ेगा और ऐसे वक्त में अपने धैर्य से उन चुनौतियों से पार पाना होगा।गौरतलब है कि पाकिस्तान सीमा पर लगातार तनाव चरम पर है। पाकिस्तान की तरफ से संघर्ष विराम उल्लंघन कर की गई गोलीबारी में घायल हुए एक जवान ने शनिवार आखिरी सांसें ली। पुलिस के मुताबिक, गुरूवार से अब तक सीमा पार से की गई फायरिंग में मरनेवालों की तादाद बढ़कर 11 हो चुकी है। भारत की तरफ से की गई जवाबी कार्रवाई में भी अब तक पाकिस्तान को भी काफी नुकसान हुआ है।

आम आदमी पार्टी के 20 विधायक अयोग्य करार दिए गए है। लाभ के पद (ऑफिस ऑफ प्रॉफिट) के मामले में आप विधायकों को अयोग्य घोषित करने की चुनाव आयोग की याचिका को राष्ट्रपति ने स्वीकार कर लिया है। अब दिल्ली एक छोटा विधानसभा चुनाव देख सकती है, जिसमें 70 सदस्यीय सदन की 20 सीटों पर चुनाव होगा। दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने कहा, पार्टी राष्ट्रपति से मिलकर अपना पक्ष रखना चाह रहे थे, बीच में ही यह खबर आ गई। अब हम हाई कोर्ट जाएंगे, अगर जरूरत पड़ी तो सुप्रीम कोर्ट भी जाएंगे।विधायकों की सदस्यता रद्द होने पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, इन्होंने हमे खूब प्रताड़ित किया, हमारे विधायकों पर फ़र्ज़ी केस करवाये, मेरे ऊपर सीबीआई रेड करवाई ,लेकिन उन्हें कुछ नहीं मिला अंत में आज इन्होंने हमारे 20 विधायक अयोग्य करार कर दिए। वहीं दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने कहा कि बीजेपी और चुनाव आयोग ने मामले को 3 सप्ताह से ज्यादा फंसाकर रखा, इससे आम आदमी पार्टी को राज्यसभा चुनाव में फायदा हुआ।
इन विधायकों की सदस्यता रद्द:
1. नरेश यादव(महरौली)
2. सोमदत्त(सदर बाजार)
3. प्रवीन कुमार(जंगपुरा)
4.नितिन त्यागी (लक्ष्मी नगर)
5. आदर्श शास्त्री(द्वारका)
6. संजीव झा(बुरारी)
7.जरनैल सिंह(तिलक नगर)
8.सुखवीर सिंह(मुंडका)
9.मदन लाल(कस्तूरबा नगर)
10.सारिका सिंह(रोहतास नगर)
11.अल्का लांबा(चांदनी चौक)
12. राजेश ऋषि(जनकपुरी)
13.अनिल कुमार बाजपेई(गांधी नगर)
14.मनोज कुमार(कोंडली)
15.कैलाश गहलौत(नजफगढ़)
16.अवतार सिंह(कालकाजी)
17.विजेंदर सिंह(राजिंदर नगर)
18.राजेश गुप्ता(वजीरपुर)
19.शरद कुमार(नरेला)
20.शिवचरन गोयल(मोती नगर)
ये है पूरा मामला:-आम आदमी पार्टी ने 13 मार्च 2015 को अपने 20 विधायकों को संसदीय सचिव बनाया था। इसके बाद 19 जून को एडवोकेट प्रशांत पटेल ने राष्ट्रपति के पास इन सचिवों की सदस्यता रद्द करने के लिए आवेदन किया। राष्ट्रपति की ओर से 22 जून को यह शिकायत चुनाव आयोग में भेज दी गई। शिकायत में कहा गया था कि यह 'लाभ का पद' है इसलिए आप विधायकों की सदस्यता रद्द की जानी चाहिए।इससे पहले मई 2015 में इलेक्शन कमीशन के पास एक जनहित याचिका भी डाली गई थी। आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि विधायकों को संसदीय सचिव बनकर कोई 'आर्थिक लाभ' नहीं मिल रहा। इस मामले को रद्द करने के लिए आप विधायकों ने चुनाव आयोग में याचिका लगाई थी।वहीं राष्ट्रपति ने दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार के संसदीय सचिव विधेयक को मंजूरी देने से इनकार कर दिया था। इस विधेयक में संसदीय सचिव के पद को लाभ के पद के दायरे से बाहर रखने का प्रावधान था।

अस्सी हजार किताबों के खजाने से भरी कश्मीर की एक बुकशॉप को लिम्का बुक ऑफ रिकॉडर्स 2018 में जगह मिली है। घाटी के प्रमुख प्रकाशक हाउस गुलशन बुक्स को रिकॉडर्स बुक के नए संस्करण में जगह मिली है। गुलशन बुक्स डल झील के मध्य में नेहरू पार्क पर बुकशॉप के साथ-साथ कैफे चलाता है। एक झील पर एकमात्र बुकशॉप पुस्तकालय शीर्षक के साथ लिम्का बुक ऑफ रिकॉडर्स में लिखा है मई 2016 में स्थापित गुलशन बुक्स में पढ़ने के लिए एक कमरा, एक कैफे और 80,000 से अधिक पुस्तकें हैं।इसमें कहा गया है कि बुकशॉप तक शिकारा नाव के जरिए पहुंचा जा सकता है और दुकान के मालिक शेख एजाज अहमद (46) कश्मीर और उसके साहित्य पर किताबें पढ़ने के इच्छुक लोगों को शिकारा की मुफ्त में सवारी कराते हैं। एजाज ने कहा कि वह गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं तथा यह उनके लिए एक ताज्जुब की बात रही।

आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता समाप्त हो गई है। लाभ के पद का विवाद खड़ा होने के बाद चुनाव आयोग ने आप के 20 विधायकों को अयोग्य घोषित कर अपनी सिफारिश राष्ट्रपति को सौंपी थी। राष्ट्रपति ने इसे अपनी मंजूरी दे दी है। अब दिल्ली एक छोटा विधानसभा चुनाव देख सकती है, जिसमें 70 सदस्यीय सदन की 20 सीटों पर चुनाव होगा। आपको बता दें कि आप विधायकों के खिलाफ राष्ट्रपति के पास युवा वकील प्रशांत पटेल ने अर्जी डाली थी। 30 साल के प्रशांत ने साल 2015 में वकालत शुरु की थी। सितंबर 2015 में उन्होंने तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के सामने याचिका दायर कर संसदीय सचिवों की गैरकानूनी नियुक्ति पर सवाल खड़े किए थे।प्रशांत पटेल ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से बीएससी के बाद नोएडा के एक कॉलेज से एलएलबी की है। वह इसके पहले बॉलीवुड एक्टर आमिर खान और डायरेक्टर राजकुमार हिरानी के खिलाफ भी फिल्म PK में हिंदू देवी देवताओं का गलत चित्रण करने को लेकर एफआईआर दर्ज करा चुके हैं। पटेल उत्तर प्रदेश के फतेहपुर के रहने वाले हैं।चुनाव आयोग के फैसले के बाद पटेल ने आप विधायकों के उन आरोपों बेबुनियाद बताया है है जिसमें कहा गया है कि फैसला देने से पहले उन्हें पक्ष रखने का मौका नहीं दिया गया। पटेल ने बताया कि 14 जुलाई, 2016 से 27 मार्च, 2017 तक इस मामले में कुल 11 सुनवाई हुई। उन्होंने कहा कि सभी सुनवाई ढाई से तीन घंटे की हुई। पटेल ने कहा कि ऐसे में आप विधायकों द्वारा यह कहना कि आयोग में पक्ष रखने का उन्हें मौका नहीं दिया गया, यह काफी हास्यास्पद है। शिकायतकर्ता पटेल ने कहा कि लाभ के पद मामले में सभी 21 विधायक अपने वकीलों के माध्यम से आयोग में पक्ष रख चुके हैं। आयोग ने उन्हें मौखिक व लिखित में पक्ष रखने का भरपूर मौका दिया।पटेल ने आम आदमी पार्टी के उन आरोपों को भी आधारहीन बताया जिसमें कहा गया कि संसदीय सचिव बने विधायकों को एक रुपये भी नगद पैसे नहीं दिए गए, ऐसे में यह लाभ का पद नहीं है। इस बारे में प्रशांत पटेल ने कहा कि सीधे तौर पर पैसे लेना ही लाभ का पद नहीं है। उन्होंने कहा कि संसदीय सचिव बनने के बाद इन विधायकों ने सरकारी फाइलों को देखा और इस आधार पर निजी कंपनियों को टेंडर भी जारी किए। प्रशांत ने कहा कि इस बार में दिल्ली सरकार के ही मुख्य सचिव ने आयोग में 1200 पन्नों का दस्तावेज पेश किया। जिसमें यह बताया गया कि कौन से संसदीय सचिव ने किन फाइलों का मुआयना किया और ठेका जारी किया। जबकि उनको अधिकार नहीं है।

राजधानी दिल्ली के बवाना में एक पटाखा फैक्ट्री में लगी भीषण आग में 17 लागों की जान चली गई। इस घटना में जहां ढेरों लापरवाहियां सामने आ रही हैं तो वहीं दूसरी तरफ इसे लेकर सियासत भी तेज हो गई है। घटना के बाद आप और बीजेपी एक बार फिर आमने-सामने आ गए हैं।दरअसल हादसे के बाद सीएम अरविंद कजेरवील ने एक वीडियो री-ट्वीट किया जिसमें दिल्ली एमसीडी मेयर प्रीति अग्रवाल ये कहती हुई नजर आ रही हैं कि 'इस फैक्टरी का लाइसेंस हमारे पास है इसलिए इस पर हम कुछ नहीं बोल सकते'।इस वीडियो को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने री-ट्वीट किया, जिसके बाद इस पर विवाद बढ़ता गया और राजनीति तेज हो गई । इस घटना पर जहां 'आप' बीजेपी को घरने की कोशिश रही है तो वहीं बीजेपी इस वीडियो को पूरी तरह फेक बता रही है और आम आदमी पार्टी से माफी की मांग कर रही है।
मनोज तिवारी ने किया बचाव :प्रीति अग्रवाल के वायरल हो रहे इस वीडियो पर मनोज तिवार ने कहा कि लोग इस फेक वीडियो को वायरल करने की कोशिश कर रहे हैं। पार्टी पर गलत आरोप लगाया जा रहा है। सीएम केजरीवाल को ऐसी ओछी पॉलिटिक्स करने और वीडियो को री-ट्वीट करने के लिए माफी मांगनी चाहिए।
प्रीति अग्रवाल ने दी सफाई :जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसे सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी री-ट्वीट किया है वो फेक वीडियो है। मैं सिर्फ अपने साथ खड़े को वर्कर से हादसे के बारे में जानकारी ले रही थी। मेरे कहने का मतलब था, हमें इस दुखद हादसे पर अभी कुछ नहीं कहना चाहिए। ये इंडस्ट्रियल इलाका DSIDC के अंदर आता है और इसकी जमीन दिल्ली सरकार द्वारा अलॉट की गई है। उन्हें ये फेक वीडियो बनाने और लोगों को भटकाने की जगह वहां जाकर देखना चाहिए कि वहां क्या हो रहा है? मैं अरविंद केजरीवाल से मांफी की उम्मीद करती हूं।
सामने आ रही ये लापरवाही :पटाखा फैक्ट्री में लगी भीषण आग के पीछे लापरवाही भी उभरकर सामने आ रही है। सबसे बड़ा सवाल यह है कि भीड़भाड़ वाले इलाके में पटाखा फैक्ट्री कैसे चल रही थी। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने फैक्ट्री की वैधता के प्रश्न को जांच का विषय बताया। उन्होंने कहा कि इस बात की जांच की जाएगी कि फैक्ट्री ने किन नियमों का उल्लंघन किया है। इतनी बड़ी घटना से एक बात तो तय है कि इस फैक्ट्री में आग से निपटने के लिए उपकरणों का प्रबंध नहीं था।
कुछ सवाल :मौके पर पहुंचे 25 साल के रूपकिशोर ने डॉक्टरों को बताया कि वह प्लास्टिक की नहीं , बल्कि पटाखे बनाने की फैक्ट्री में काम कर रहा था। वह खुद यहां पटाखे बनाता है। ऐसे में यह बड़ा सवाल है कि जब फैक्ट्री प्लास्टिक बनाने की थी, तो फैक्ट्री में पटाखे कैसे बन रहे थे। पुलिस की नाक के नीचे यह फैक्ट्री कैसे चल रही थी, यह बात भी काफी अहम है।

दिल्‍ली में अरविंद केजरीवाल के नेतृत्‍व वाली आम आदमी पार्टी सरकार के 20 विधायकों की सदस्यता को अयोग्य ठहरा दिया गया है। चुनाव आयोग ने विधायकों की सदस्यता खत्म करने के लिए राष्ट्रपति से सिफारिश की है। 20 विधायकों के लाभ के पद के आधार पर अयोग्य करार दिए जाने से पार्टी पर संकट गहरा गया है। लेकिन इन सबके बीच बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने आप का समर्थन किया है।शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा 'आप' आए, 'आप' छाए, 'आप' ही 'आप' चर्चा के विषय। घर घर में, हर खबर में तो फिर किस बात की फिक्र 'आप' को? अगले ट्वीट में सिन्हा ने लिखा कि 'मैं उम्मीद और कामना करता हूं कि आप को जल्दी ही न्याय मिलेगा। 'आप' टीम और खासकर 'आप' को बहुत-बहुत बधाई, ध्यान रखें हितों की राजनीति ज्यादा दिन तक नहीं चलती। चिंता मत करें। खुश रहें, सत्यमेव जयते..जय हिंद'।बता दें कि साल 2018 कि शुरुआत आम आदमी पार्टी के लिए कुछ अच्छी नहीं रही है। पहले पार्टी के 20 विधायकों को चुनाव आयोग द्वारा अयोग्य करार दिए जाने के बाद दिल्ली का सियासी पारा गरमा गया है। तो वहीं दूसरी तरफ बवाना की पटाखा फैक्ट्री में लगी आग को लेकर भी बीजेपी, आप को घेरने में लगी हुई है। अब इस मुश्किल घड़ी में शत्रुघ्न सिन्हा का आप को ये सपोर्ट किस बात की तरफ इशारा करता है ये तो वक्त की बताएगा। बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा के इस ट्वीट को अरविंद केजरीवाल ने भी री-ट्वीट किया है।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि भारत की दुनिया में अब एक मजबूत देश के रूप में छवि बन चुकी है। हिंदुस्तान ने पूरी दुनिया को संदेश दे दिया है कि वह सरहद के इस पार ही नहीं बल्कि जरूरत पड़ने पर उस पार भी घुसकर दुश्मन को मार सकता है।राजनाथ सिंह ने भारतीय रेलवे माल गोदाम श्रमिक संघ के एक दिवसीय महाधिवेशन को संबोधित करते हुए पाकिस्तान का जिक्र किया। गृहमंत्री ने कहा कि भारत अपने पड़ोसी के साथ अच्छे संबंध रखना चाहता है लेकिन पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है।गृह मंत्री ने कहा कि दुनिया में भारत अब कमजोर नहीं बल्कि ताकतवर देश के रूप में जाना जाता है। हमने पूरी दुनिया को यह संदेश दे दिया है कि हम सीमा के इस पार ही नहीं बल्कि जरूरत पड़ने पर उस पार भी घुसकर दुश्मन को मार सकते हैं। सिंह ने कहा कि वह देश को यकीन दिलाना चाहते हैं कि हमारी सरकार हिंदुस्तान का सिर नहीं झुकने देगी। गृह मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में देश की अर्थव्यवस्था बहुत तेजी से आगे बढ़ रही है और अब अंतर्राष्ट्रीय अर्थशास्त्री तथा विशेषज्ञ भी इसे स्वीकार करते हैं।सिंह ने कहा कि वह रेलवे माल गोदाम श्रमिक संघ की समस्याओं को लेकर रेल मंत्री तथा श्रमिक संघ के प्रतिनिधियों के साथ बैठकर चर्चा करेंगे। उन्होंने विश्वास दिलाया कि वह रेलवे माल गोदाम श्रमिकों की मांगों की मजबूती से पैरवी करेंगे।

 

पाकिस्तान की तरफ से संघर्ष विराम उल्लंघन कर की गई गोलीबारी में घायल हुए एक जवान ने शनिवार आखिरी सांसें ली। पुलिस के मुताबिक, गुरूवार से अब तक सीमापार से की गई फायरिंग में मरनेवालों की तादाद बढ़कर अब 11 हो चुकी है।पूंछ जिले के मनकोट सेक्टर में अग्रिम चौकी पर तैनात सिपाही सी.के. रॉय शनिवार को पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग में जख्मी हो गए थे। पुलिस अधिकारी के मुताबिक, उन्हें मिलिट्री हॉस्पीटल लेकर जाया गया लेकिन उनकी जान नहीं बचायी जा सकी।सी.के. रॉय के शहीद होने के बाद गुरूवार से लेकर अब तक नियंत्रण रेखा (एलओसी) और अंतरराष्ट्रीय सीमा (इंटरनेशनल बॉर्डर) से जलते पांच जिलों जम्मू, कठुआ, सांबा, पूंछ और राजौरी में अब तक ग्यारह जानें जा चुकी हैं। मरनेवालों में छह नागरिक, तीन आर्मी के जवान और दो बीएसएफ जवान शामिल हैं।गुरूवार को जहां एक बीएसएफ जान और एक युवती की जान चली गई तो वहीं दूसरी तरफ शुक्रवार को पाकिस्तानी फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई। इनमें दो नागरिक और एक बीएसएफ के जवान और एक आर्मी का जवान शामिल था। जबकि, इस घटना में दो बीएसएफ जवान समेत 40 से ज्यादा लोग घायल हो गए।

किसी का जन्मदिन हो तो उसे स्नो स्प्रे से ढकना तो आजकल आम बात है। लेकिन कितना खतरनाक हो सकता है ये आपको भी नहीं पता होगा। सोशल मीडिया पर आजकल कुछ वीडियो वायरल हो रहे हैं। इस वीडियो में एक बर्थ डे पार्टी में एक लड़का केक काटता नजर आ रहा है। काट काटते हुए उस लड़के का दोस्त उस पर स्नो स्प्रे करता है। जिसके कुछ सेकेंड बाद ही उसका चेहरा आग की लपटों में नजर आ रहा है। यह वीडियो देखने में बहुत ही भयानक नजर आ रहा है।दरअसल ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि स्नो स्प्रे में कई ऐसे ज्‍वलनशील केमिकल्स होते हैं जो केक पर जल रही कैंडल्‍स के संपर्क में आते ही आग पकड़ लेते हैं जिस वजह से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। सोशल मीडिया पर ऐसे कई वीडियो वायरल हो चुके है इस वायरल वीडियो के द्वारा चेतावनी जारी की गई है।

बाहरी दिल्ली के बवाना बवाना इंडस्ट्रियल एरिया में शनिवार शाम एक पटाखा फैक्ट्री में भीषण आग लगने से 17 लोगों की मौत हो गई, जबकि दो लोग घायल हो गए। मरने वालों में 9 महिलाएं, 7 पुरुष और एक नाबालिग लड़की बताई जा रही है। दिल्ली दमकल सेवा के एक अधिकारी ने बताया कि दो मंजिला एक इमारत के भूतल पर एक गोडाउनम में आग लगी, जो पूरी इमारत में फैल गई। फिलहाल दिल्ली सरकार ने इस घटना के जांच के आदेश दे दिए हैं।
10 Points में जानें शनिवार से अब तक क्या क्या हुआ :
1.शनिवार को शाम 6 बजकर 21 मिनट पर पुलिस और दमकल विभाग को कॉल आया कि बवाना इंडस्ट्रियल एरिया के सेक्टर 5 में एक फैक्ट्री में आग लगी है, जैसे ही मौके पर दमकल की करीब 15 गाड़ियां पहुंचीं और स्थानीय पुलिस पहुंची तो पता चला कि ये पटाखे की है और आग तीनों फ्लोर तक पहुंच चुकी है।
2.फायर ब्रिगेड ने करीब 1 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर तो काबू पा लिया लेकिन उस वक़्त फैक्ट्री में जो भी था वो आग की चपेट में आ गया।
3. अब तक मिली जानकारी के अनुसार हादसे में 17 लोगों की जान गई है। जिसमें 9 महिलाएं, 7 पुरुष और एक नाबालिग लड़की बताई जा रही है।
4. मारे गए सभी लोग यूपी के सीतापुर जिले से बताया जा रहा हैं। मरने वालों के नाम हैं बेबी देवी (40 साल), अफसाना (35 साल) , सोनम (23 साल), रीता (18 साल), मदीना (55 साल), रज्जो (65 साल) , धर्मा देवी ( 45 साल), मुख्तयार, विश्वनाथ, बाबूराम, मनीपाल।
5. आग इतनी भीषण थी की जान बचाने के लिए लोग खिड़की से कूद गए। मौके पर मौजूद 25 साल के रूपकिशोर ने बताया रोज की तरह ही मैं फैक्ट्री पहुंचा था और साथियों के साथ काम कर रहा था। शाम के समय अचानक धुआं दिखा तो पता चला कि आग लग गई है। पटाखों की आवाज आने लगी। कुछ समझ नहीं आया कि क्या करूं। बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं था तो मैं ऊपर की तरफ भागा और वहां से नीचे छलांग लगा दी। अभी भी मेरे साथी वहां फंसे हुए हैं। पता नहीं आग में क्या हुआ होगा।
6. घटना के बाद फैक्टरी के मालिक मनोज जैन को हिरासत में ले गैर इरादतन हत्या की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है। उधर इस हादसे के बाद घटना स्थल पर पहुंची नॉर्थ एमसीडी मेयर और बीजेपी नेता प्रीति अग्रवाल ने कहा कि इस फैक्टरी का लाइसेंस हमारे पास है इसलिए इस पर हम कुछ नहीं बोल सकते।
7.दिल्ली सरकार ने घटना के जांच के आदेश दे दिए हैं। वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी हादसे पर दुख जताया है। केजरीवाल ने ट्वीट किया कि वह बचाव अभियानों पर नजर रख रहे हैं।
8. सीएम ने हादसे में मारे गए लोगों के लिए 5 लाख रुपये और घायलों के लिए 1 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है।
9. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रेसिडेंट रामनाथ कोविंद ने भी हादसे पर दुख जताया है। पीएम मोदी ने ट्वीट किया की बवाना की फैक्ट्री में आग की खबर से दुखी हूं। इस घटना में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। वहीं कोविंद ने ट्वीट किया की पटाखा फैक्ट्री में आग की खबर से मैं बेहद हैरान हूं। मारे गए लोगों के परिजनों के लिए शोक और घायल के जल्द ठीक होने की कामना करता हूं।
10.केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने स्वास्थ्य सचिव को आदेश दिया है कि बवाना अग्निकांड के पीड़ितों को तुरंत सहायता उपलब्ध कराई जाए। इसके अलावा नड्डा ने एम्स ट्रॉमा सेंटर को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं। फिलहाल आग पर काबू कर लिया गया है। मौके पर दमकल की एक दर्जन से ज्यादा गाड़ियां मौजूद हैं।

Page 9 of 2166

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें