Editor

Editor

लंदन:-प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से अलग होने के बाद शुक्रवार को कहा कि वह अक्टूबर तक पद छोड़ देंगे। कैमरन ने ब्रेक्सिट नतीजों के बाद डाउनिंग स्ट्रीट के बाहर कहा, ‘‘ब्रिटेन के लोगों ने दूसरा रास्ता चुना है। इसलिए उन्हें नया प्रधानमंत्री चुनने की जरूरत है।’’यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के निकलने के बाद कैमरन पर दबाव है। ब्रिटेन 43 वर्षों बाद ऐतिहासिक जनमत संग्रह में ईयू से बाहर निकल गया है। ‘ब्रेक्सिट’ के पक्ष में 52 प्रतिशत, जबकि ‘रीमेन’ के पक्ष में 48 प्रतिशत मत पड़ा। नतीजों के तुरंत बाद लेबर पार्टी के हिलेरी बेन ने कहा कि इस तरह की परिस्थितियों में कैमरन के लिए पद पर बने रहना बहुत मुश्किल है।बेन ने एक बयान में कहा, ‘‘यदि आप प्रधानमंत्री हैं। आपने जनमत संग्रह का आह्वान किया। आपने अपनी प्रतिष्ठा दांव पर रखी है। मुझे लगता है कि यह बहुत मुश्किल होने जा रहा है।’’कैमरन ने कहा कि वह ‘‘अपने सिद्धांतों को लेकर बहुत स्पष्ट हैं कि ब्रिटेन यूरोपीय संघ के भीतर मजबूत, सुरक्षित और बेहतर है। मैंने बहुत स्पष्ट किया था कि यह जनमत संग्रह सिर्फ इसके बारे में है न कि किसी नेता के बारे में।’’उन्होंने कहा कि वह आगामी महीनों में प्रधानमंत्री के रूप में सब कुछ करेंगे। उन्होंने कहा,‘‘लेकिन मुझे नहीं लगता कि इस स्थिति में देश की बागडोर संभाले रहना मेरे लिए उचित होगा। मेरा विश्वास है कि स्थिरता लाना देश हित में है और इसके लिए एक नए नेतृत्व की जरूरत है।’’हालांकि, उन्होंने देश के नए प्रधानमंत्री द्वारा पद संभालने के लिए समय निर्धारित नहीं किया। उन्होंने कहा, ‘‘आज सटीक टाइमटेबल की जरूरत नहीं है। मेरे विचार में हमें अक्टूबर में कंजरवेटिव पार्टी के सम्मेलन से पहले नया प्रधानमंत्री नियुक्त करने का लक्ष्य रखना चाहिए।’’

बीजिंग:-चीन के पूर्व में स्थित जियांग्सू प्रांत में भारी बारिश के कारण कम से कम 98 लोगों की जान चली गई और 800 से अधिक घायल हो गए। सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ की खबर में कहा गया है कि बारिश, ओले और तूफान के कारण यानचेंग शहर में जनजीवन बाधित हो गया और कई मकान ध्वस्त हो गए हैं। यानचेंग के उपनगर फुनिंग और शेयांग काउंटी के कई इलाकों में भी खराब मौसम बेहद खराब होने की खबरें हैं।एजेंसी के अनुसार, प्रांत में हुई भारी बारिश के कारण अब तक 98 लोगों की जान जा चुकी है और 800 से अधिक घायल हुए हैं। फुनिंग काउंटी में 125 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आए तूफान ने फुनिंग काउंटी के कई बाहरी नगरों में तबाही मचाई। शेयांग में हवाओं की गति 100 किमी प्रति घंटा रही।तूफान के कारण कई मकान ध्वस्त हो गए, 51 लोगों की मौत हो गई और दर्जनों घायल हो गए। कुछ इलाकों में बिजली ठप हो जाने तथा संचार सेवाओं के बाधित होने की भी खबरें हैं। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि उन्होंने बड़े बड़े पेड़ों को गिरते और पूरे-पूरे गांवों को मटियामेट होते देखा। शिन्हुआ के अनुसार, लोगों को उनके ध्वस्त हुए मकानों के मलबे से खींच कर निकाला गया और अस्पताल ले जाया गया।यानचेंग शहर में शीर्ष अधिकारी प्रभावित गांवों में राहत एवं बचाव अभियान चला रहे हैं। नागरिक मामलों के मंत्रालय ने बुधवार को बताया था कि चीन के 10 प्रांत स्तर के क्षेत्रों में बीते पांच दिन में तेज बारिश के कारण 42 लोग मारे गए और 25 लापता हैं। मंत्रालय के अनुसार, क्षेजियांग, जियांग्शी, हुबेई और सिचुआन सहित, देश के दक्षिणी हिस्सों से लगातार मूसलाधार बारिश के कारण 4,60,000 से अधिक लोगों किसी दूसरी जगह ले जाया गया और 3,21,000 लोगों को तत्काल राहत की जरूरत है। चीन में मौसमी बारिश के कारण हर साल भीषण बाढ़ आती है और मई के आखिर से करीब दो माह तक देश इस आपदा से प्रभावित रहता है।

लंदन:-ब्रिटेन के यूरोपीय संघ में रहने या इसे छोड़ने का फैसला करने वाले ऐतिहासिक जनमत संग्रह में लाखों ब्रितानियों द्वारा मतदान कर दिए जाने के बाद अब पूरे देश में मतगणना चल रही है। हालांकि मतदान के बाद कोई एग्जिट पोल तो नहीं आए थे लेकिन यूगव की ओर से किए गए ऑन द डे सर्वेक्षण के जरिए कल देर रात यूरोपीय संघ में रहने के पक्षधर रिमेन खेमे को 52 प्रतिशत और 28 देशों के आर्थिक ब्लॉक यूरोपीय संघ को छोड़ने के पक्षधर ब्रेग्जिट खेमे को 48 प्रतिशत वोट मिलने का पूर्वानुमान जताया गया।अंतिम राष्ट्रीय परिणाम की आधिकारिक घोषणा ब्रिटेन के निर्वाचन आयोग की प्रमुख मतगणना अधिकारी जेनी वाटसन मैनचेस्टर टाउन हॉल से करेंगी। इससे पहले उन्होंने कहा था कि उनका फैसला स्थानीय समयानुसार आज सुबह जलपान के समय के आसपास आ सकता है। ब्रिटेन के भाग्य के बारे में फैसला करने के लिए कल बड़ी संख्या में लोगों ने मतदान किया।विशेषज्ञों का कहना है कि भारी मतदान से रिमेन अभियान को फायदा होगा। शुरूआती संकेतों में पाया गया कि कुछ क्षेत्रों में तो 80 प्रतिशत तक मतदान हुआ है। अंतिम घोषणा के साथ ही रिमेन और ब्रेग्जिट पक्षों की ओर से किए जा रहे धुंआधार प्रचार से बना माहौल थम पाएगा।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

न्यूयॉर्क (हम हिन्दुस्तानी)-यूनीर्वसिटी ऑफ मिसौरी की वैबसाइट गाइड लाइन पर हिंदू धर्म के प्रति की गई आपत्तिजनक शब्दवली का मामला सामने आने के उपरांत हिंदूओं द्वारा किए गए रोष प्रदर्शन के उपरांत मिसौरी यूनीर्वसिटी के प्रबंधकों ने वैबसाइट की गाइड लाइन से हिंदू धर्म के प्रति की गई शब्दावली को हटा लिया गया है। इस संदर्भ में यूनिवर्सल सोसायटी ऑफ हिंदूज्म के अध्यक्ष राजन जैद ने कहा कि बड़ी ही हैरानी की बात है कि यूनीर्वसिटी की गाइड में हिंदू धर्म की उपेक्षा की गई। थी। उन्होंने कहा कि जब अन्य धर्मों का विस्तृत वर्णन करने में यूनीर्वसिटी को कोई आपत्ति नहीं है तो हिंदू धर्म के साथ ऐसा अन्याय क्यों किया गया जबकि हिंदू धर्म सबसे पुरान धर्म है। उन्होंने कहा कि  यूनीर्वसिटी प्रबंधकों ने अपनी गलती को स्वीकारते हुए इसमें सुधार कर लिया है, जो सराहनीय कदम है। 

 

न्यूयॉर्क (हम हिन्दुस्तानी)-दिल्ली के डी.सी.पी. संजय भाटिया के न्यूयॉर्क पहुंचने पर भारतीय-अमेरिकन्स कम्युनिटी द्वारा उनका एस समागम में भव्य स्वागत किया गया। इस अवसर पर उनके साथ फ्रैंड्स फॉर गुड हैल्थ यू.एस.ए. के चेयरमैन बॉबी कुमार कलोटी व अन्य। 

 

न्यूयॉर्क (हम हिन्दुस्तानी)-सिखों के 5वें गुरु शहीदों के सरताज श्री गुरु अर्जुन देव जी के शहीदी दिवस को समॢपत सिख कल्चरल सोसायटी न्यूयॉर्क की ओर से ठंडे-मीठे जल की छबील आयोजित की गई। इस अवसर पर सोसायटी के समूह पदाधिकारियों ने योगदान डाला और आने-जाने वाली संगतों को ठंडा-मीठा जल पिलाया। 

 

न्यूयॉर्क (हम हिन्दुस्तानी)-यूनिवर्सल सोसायटी ऑफ हिंदूज्म के अध्यक्ष राजन जैद ने कैलीफोर्निया शिक्षा विभाग के अधिकारियों से मांग की कि स्कूली छात्रों के स्वास्थ्य को देखते हुए समूह स्कूलों में योग सत्र शुरू करने की प्रक्रिया शुरू की जाए ताकि विद्यार्थी जहां  योग से हृष्ट-पुष्ट रह सकें वहीं पर योग साधना का भी प्रचार एवं प्रसार हो सके।  श्री जैद ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा इस बात को प्रमाणित किया गया है कि योग शरीर को स्वस्थ रखने का समय अच्छा साधन है। इसलिए मांग की जाती है कि कैलीफोर्निया के समूह स्कूलों में योग सत्र शीघ्र से शीघ्र शुरू किया जाए। 

 

न्यूयॉर्क (हम हिन्दुस्तानी)-ओरलैंडों समलैंगिक नाइट क्लब में की गई अंधाधुंध फायरिंग में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि एवं पीडि़त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करने हेतु नासाऊ काऊंटी कमीशन के व ह्यूमन राइट्स की ओर से नासाऊ काऊंटी एग्जीक्यूटिव एडवर्ड पी. मनगानो की अध्यक्षता में विभिन्न धर्मों के अनुयायियों की ओर से शोक सभा का आयोजन किया गया। इस शोक सभा में हिंदू, सिख, मुस्लिम, क्रिश्चियन, बौध एवं अन्य धर्मों के अनुयायियों ने भाग लिया तथा अपने-अपने सम्बोधन में जहां मृतकों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई वहीं पर पीडि़त परिवारों के साथ संवेदना व्यक्त करते हुए विश्व शांति हेतु प्रार्थना की गई। इस प्रार्थना सभा में नासाऊ काऊंटी एग्जीक्यूटिव एडवर्ड मनगानो, डिस्ट्रिक अटार्नी मैडेलाइन सिंगास, नासाऊ काऊंटी कम्पट्रोलर जार्ज मार्गेस, मैजेयोरिटी लीडर नोरमा गोनस्लेवस, मिनियोरिटी लीडर केवन अब्राहिम, पैटे कार्ने, डायरैक्टर प्राइड ऑफ यूथ बिशप फिलिप इलियट, डा. इब्राहिम नाजिम, भाई कुलदीप सिंह, इंदू जयसवाल, बॉबी कुमार कलोटी, जाहिद सैयद, माइक एवं श्री लोदी, हम हिंदुस्तानी का चीफ एडीटर जसबीर 'जे' सिंह आदि उपस्थित थे।  उल्लेखनीय है कि 11 जून को  फ्लोरिडा के ओरलैंडो में एक बंदूकधारी युवक ने समलैंगिक नाइट क्लब पर हमला कर 50 से ज्यादा लोगों को मौत के घाट उतार डाला था। जबकि इस हमले में 53 लोग जख्मी हुए थे। हमलावर की पहचान उमर मतीन नाम के युवक के तौर पर की गई थी। जो अफगानी मूल का अमेरिकी नागरिक बताया गया था।

 

*भारतीय सांस्कृतिक प्रोग्राम से बांधा समां

न्यूयॉर्क (हम हिन्दुस्तानी)-विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले भारतीय-अमेरिकन्स को विशेष रुप से सम्मानित करने के लिए इंडिया एसोसिएशन ऑफ लांग आइलैंड की ओर से 37वें वार्षिक अवार्ड गाला डिनर का आयोजन हिंगस्टन हिल्टन में इंडिया एसोसिएशन ऑफ लांग आइलैंड की अध्यक्षा बीना कोठारी के नेतृत्व में किया गया। इस समारोह में जहां भारी संख्या में मुख्यातिथि उपस्थित थे वहीं पर भारतीय-अमेरिकन्स कम्युनिटी के लोग भी विशेष रूप से उपस्थित हुए और इंडिया एसोसिएशन ऑफ लांग आइलैंड  के कार्यों के प्रति विस्तृत जानकारी प्राप्त की। समागम की अध्यक्षता करते हुए इंडिया एसोसिएशन ऑफ लांग आइलैंड के कोषाध्यक्ष विमल गोयल ने जहां उपस्थित अतिथियों का स्वागत किया वहीं पर इंडिया एसोसिएशन ऑफ लांग आइलैंड की ओर से किए जा रहे कार्यों के बारे में उपाध्यक्ष गुंजन रस्तोगी द्वारा विस्तृत जानकारी उपस्थिति को दी गई। इसके उपरांत प्रोग्राम शुभारंभ कृति शुक्ला की ओर से भारत एवं अमेरिका के राष्ट्रीय गान के साथ किया गया जबकि विशेष प्रार्थना कृष रूद्रा की ओर से की गई। इस गाला अवार्ड डिनर की विशेष बात यह रही कि भारतीय संस्कृति पर आधारित सांस्कृति कार्यक्रम लगातार 45 मिनट तक नॉन स्टॉप चलता रहा और समूह उपस्थिति ने खूब लुत्फ उठाया। 

आर्य डांस अकादमी की ओर से कलपिता चाकोते एवं रोनी यारी द्वारा बॉलीवुड गीतों के साथ-साथ पॉप गीतों पर बहुत ही अच्छी तरह से परफार्मैंस का प्रदर्शन किया गया। इस अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली शख्सियतों को सम्मानित किया गया तथा अंत में इंडिया एसोसिएशन ऑफ लांग आइलैंड के सचिव ललित ऐरी ने जहां समूह अतिथियों एवं गण्यमान्यों का आभार व्यक्त किया वहीं पर अतिथियों को स्मृति चिन्ह प्रदान करके सम्मानित भी किया गया। 

 

इन शख्सियतों को किया गया सम्मानित

इंडिया एसोसिएशन ऑफ लांग आइलैंड की ओर से विभिन्न क्षेत्रों में योगदान डालने वाली शख्सियतों जिनमें विजयनाथ चकोते, श्रीमति ऊषा, डा. प्रवीण चोपड़ा, डा. अवतार जोसन, डा. अभया मल्होत्रा, डा. देव रत्नम, डा. गद्दम रैड्डी,  श्री एच.के. व मालती शाह के अलावा विशेष अवार्ड के साथ पीटर बडेहा एवं पद्मश्री पंडित तृप्ति मुखर्जी के साथ-साथ शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्रों ऋत्विक रूद्रा एवं आकाश वासिल को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर श्रीमति ऊषा एवं डा. प्रवीण चोपड़ा द्वारा उक्त छात्रों को स्कॉलरशिप देने का भी ऐलान किया गया। 

 

भविष्य में भी यूं ही मिलता रहेगा सहयोग: डा. गुप्ता

इंडिया एसोसिएशन ऑफ लांग आइलैंड के पूर्व अध्यक्ष एवं गाला चेयर डा. जगदीश गुप्ता ने सम्बोधित करते हुए कहा कि इंडिया एसोसिएशन ऑफ लांग आइलैंड की ओ से जो कार्य किए जा रहे हैं सराहनीय हैं। उन्होंने कहा कि इंडिया एसोसिएशन ऑफ लांग आइलैंड की अध्यक्षा बीना कोठारी द्वारा संगठन को निरंतर रूप से और अधिक सशक्त बनाया जा रहा है जोकि काबिल-ए-तारीफ है। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा भविष्य में भी इसी तरह से सहयोग दिया जाता रहेगा ताकि एसोसिएशन के पदाधिकारियों को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। 

 

भविष्य में आयोजित किए जाते रहेंगे प्रोग्राम : बीना कोठारी

समागम को सम्बोधित करते हुए इंडिया एसोसिएशन ऑफ लांग आइलैंड की अध्यक्षा बीना कोठारी ने कहा कि आज समागम में जितने भी भारतीय-अमेरिकन्स उपस्थित हुए हैं, को अगर 'ज्वैल्स ऑफ इंडिया' कहा जाए तो अनुचित नहीं होगा क्योंकि इन्होंने यहां पर वह कर दिखाया है जिससे समूह भारतीयों का सिर गर्व से ऊंचा हो रहा है। उन्होंने कहा कि वे इस बात के लिए सभी की आभारी हैं जिन्होंने अपने कीमती समय में से कुछ समय निकाल कर यहां आए और समागम को चार नहीं अपितु छ: चांद लगाए। उन्होंने ऐलान किया कि इंडिया एसोसिएशन ऑफ लांग आइलैंड की ओर से भविष्य में भी इस तरह के प्रोग्राम आयोजित किए जाते रहेंगे ताकि भारतीय-अमेरिकन्स कम्युनिटी एकमंच पर एकत्रित हो सके। उन्होंने  इस अवसर पर इंडिया एसोसिएशन ऑफ लांग आइलैंड की ओर से विभिन्न क्षेत्रों में किए जा रहे कार्यों के प्रति भी उपस्थिति को जानकारी दी। 

 

न्यूयॉर्क (हम हिन्दुस्तानी)-वुशू काऊंटी में संयुक्त प्रार्थना सभा के 5 वर्ष पूरे होने पर काऊंटी के पदाधिकारियों की ओर से विशेष समागम का आयोजन करके संयुक्त प्रार्थना सभा के पदाधिकारियों को 'वल्र्ड इंटरफेथ लीडर अवार्ड' से सम्मानित किया गया। यह सम्मान वुशू काऊंटी कमीशन चेयर किट्टी के. जंग की ओर से प्रदान किया गया। जिसमें यूनिवर्सल सोसायटी ऑफ हिंदूज्म के अध्यक्ष राजन जैद के अलावा फादर रॉबर्ट डब्ल्यू. कोर्ने, डा. स्टीफ बांड (क्रिश्चियन चर्च), डा. शैरिफ ए. एल्फास (मुस्लिम), रैवनर्ड मैथ्यू टी. फिशर, रूबी एलीजाबेथ वैब ब्रेवर, फादर स्टीफन आर. क्राचर, सारला एस. हेल्स, डा. ब्रैडली एस. क्रोबिन, डा. कैनथ जी. लूसी तथा ब्रायन ई. मैलेडज शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि उपरोक्त विभिन्न धर्मों के अनुयायियों द्वारा वुशू काऊंटी में गत 5 वर्षों से सप्ताह के एक बार संयुक्त प्रार्थना सभा का आयोजन विश्व शांति के लिए अपने-अपने धर्म के अनुसार प्रार्थना की जाती है। इस संयुक्त प्रार्थना सभा को 5 वर्ष होने पर विभिन्न धर्मों के अनुयायियों को वल्र्ड इंटरफेथ लीडर अवार्ड से सम्मानित किया गया। 

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें