Editor

Editor

जम्मू-कश्मीर की दो दिवसीय यात्रा से लौटे गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कश्मीर की स्थिति से अवगत कराया। एक घंटे तक चली इस बैठक में गृह मंत्री ने प्रधानमंत्री को राज्य की जमीनी स्थिति के बारे में जानकारी दी। यह जानकारी चार और पांच सितंबर के लिए श्रीनगर एवं जम्मू गए सर्वदलीय शिष्टमंडल की ओर से किए गए आकलन पर आधारित थी।राजनाथ ने प्रधानमंत्री आवास पर मोदी से मुलाकात करने के बाद ट्वीट में कहा, प्रधानमंत्री को सर्वदलीय शिष्टमंडल की जम्मू-कश्मीर यात्रा के बारे में जानकारी दी और उन्हें राज्य की स्थिति से अवगत कराया।प्रधानमंत्री वियतनाम और चीन की यात्रा के बाद सोमवार की रात नई दिल्ली लौटे हैं। गृह मंत्री भी जम्मू-कश्मीर की यात्रा करने के बाद सोमवार शाम ही वापस आए हैं। सूत्रों ने कहा कि सर्वदलीय शिष्टमंडल के सदस्य अपने इस दौरे के दौरान निकाले गए निष्कर्षों पर चर्चा के लिए कल यहां बैठक कर सकते हैं और जम्मू-कश्मीर के लिए भविष्य की योजनाएं तय कर सकते हैं।

अहमदाबाद के तलाजा शहर के भावनगर जिला में सोमवार को एक युवक ने तीन लड़कियों पर तेजाब फेंक डेम में छलांग लगा दी।गौरतलब है कि उन तीन लड़कियों में दो लड़कियां 18 साल से कम उम्र की थीं। मामले की जांच कर रही तालाजा पुलिस ने घटना के बारे में बताया कि युवक का नाम सुनिल सर्विया है, जो तालाजा का निवासी है। तीनों बहने जीन पर एसिड अटैक किया गया उनमें से एक की उम्र 21 साल, दूसरी की 17 और तीसरी की 16 साल बताई गई है। तीनों का इलाज भावनगर के सर टी अस्पताल में किया जा रहा है। घटना में तीनों बहनों के हाथ जल गए हैं।जानकारी के मुताबिक तलाजा में रहनेवाली तीनों लड़कियां मजदूरी कर घर का गुजारा करती हैं। सोमवार को तीनों लड़कियां मजूर सोसायटी में एक मकान में काम कर रही थी। इसी समय सुनील सर्विया नामक युवक मोटरसाइकिल पर अपने एक मित्र के साथ आया। उसने अपने पास रखी बोटल में से एसिड तीनों लड़कियों पर फेंक दिया। इसके बाद वह फरार हो गया। सूचना पाते ही पुलिस काफिला आ पहुंचा। पुलिस ने तीनों लड़कियों को भावनगर सिविल अस्पताल में भर्ती कराया है। तीनों लड़कियों के हाथ झुलस गए हैंपुलिस के अनुसार, लड़कियों ने बयान दिया कि सुनील सर्विया नामक युवक उन्हें पिछले कई दिनों से परेशान करता था। वह उसकी छोटी बहन से प्रेम करता था। उल्लेखनीय है कि लड़कियों पर एसिड फेंकने के बाद सुनील ने सोमवार देर शाम चेकडैम में कूदकर आत्महत्या कर ली। युवक का शव डैम से बाहर निकाल लिया गया है। उसके परिजनों को सूचना दे दी गई है। घटनास्थल से उसकी बाइक भी बरामद कर ली गई। उधर युवक के साथ एक अन्य व्यक्ति कौन था उसकी तलाश की जा रही है। सर्विया तालाजा के व्यस्त बाजार में ही एक शॉप में मोबाइल रिपेयरिंग का काम करता था।

कश्मीर घाटी के कुछ इलाकों तथा पुराने श्रीनगर शहर में मंगलवार को 59वें दिन भी कर्फ्यू जैसे हालात हैं। अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक, घाटी में जारी हिंसक घटनाओं में मरने वालों की संख्या बढ़ कर 75 हो गई है।कश्मीर के सोपोर कस्बे के वादूरा इलाके में चार सितम्बर को सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में घायल हुए 17 वर्षीय युवक मुसैब मजीद की श्रीनगर के एक अस्पताल में मौत हो गई। मजीद, कमीर के कुपवाड़ा जिले के सोनारवानी जिले का रहने वाला था।अधिकारियों ने मंगलवार को श्रीनगर शहर के छह पुलिस थाने के इलाकों में कर्फ्यू जैसा प्रतिबंध लगा दिया है। इसमें नौहप्ता, खानयार, सफाकदल, एम.आर, गुंज, रैनावारी और मैसुमा शामिल हैं। पुलिस का कहना है कि मंगलवार को घाटी में कहीं भी कर्फ्यू नहीं लगाया गया है। जिन स्थानों पर प्रतिबंध लगाया गया है, वहां सुरक्षा बलों द्वारा किसी प्रकार की आवाजाही की अनुमति नहीं दी जा रही थी। कुपवाड़ा जिले के रहने वाले युवक की मौत के बाद जिले के सभी मोबाइल फोनों का संचालन निलंबित कर दिया गया है।केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व वाले प्रतिनिधिमंडल से मिलने के प्रस्ताव को अलगाववादियों द्वारा खारिज कर दिया गया, जिसके कारण यहां शांति स्थापित करने के प्रयासों को एक बड़ा झटका पहुंचा है। यहां मंगलवार को लगातार 59वें दिन भी जारी बंद के कारण सभी शैक्षिक संस्थान, प्रमुख बाजार, सार्वजनिक परिवहन तथा अन्य व्यवसाय ठप पड़े हुए हैं। हालांकि, बैंक, सरकारी कार्यालयों तथा डाक घरों में काम जारी है लेकिन कर्मचारियों की संख्या कम है।

बस्ते का भारी बोझ छात्रों को जीवनभर के लिए पीठ दर्द का मरीज बना सकता है या उनमें कूबड़ निकलने का कारण बन सकता है। हाल में हुए एक सर्वेक्षण के मुताबिक सात से 13 साल की उम्र के 68 फीसदी स्कूली छात्रों पर इस समस्या का खतरा मंडरा रहा है। यह सर्वेक्षण दिल्ली, लखनऊ और देहरादून समेत देश के 10 बड़े शहरों में किया गया। इसमें 2500 छात्रों और एक हजार अभिभावकों से बात की गई।एसोचैम की स्वास्थ्य देखभाल समिति के इस शोध में पाया गया कि देश में सात से 13 साल की उम्र में 68 फीसदी छात्र पीठ में हल्के दर्द से पीड़ित हो सकते हैं। समिति के अध्यक्ष बी.के. राव ने कहा, यह हल्का दर्द बाद में गंभीर दर्द और कूबड़ में बदल सकता है। 

अपने वजन से 45 फीसदी ज्यादा भार:-सर्वेक्षण में पाया गया कि इस आयु वर्ग के 88 प्रतिशत छात्र अपने वजन के 45 प्रतिशत से अधिक भार ढोते हैं। इससे उनकी रीढ़ की हड्डी को गंभीर नुकसान हो सकता है और पीठ संबंधी गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। उन्हें स्लिप डिस्क, स्पॉन्डिलाइटिस, स्पॉन्डिलोलिस्थीसिस, पीठ में लगातार दर्द, रीढ़ की हड्डी कमजोर होने और कूबड़ निकलने की आशंका रहती है।

कानून में है व्यवस्था:-बाल स्कूली बस्ता अधिनियम 2006 के अनुसार बस्ते का वजन बच्चे के वजन के 10 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए। कानून के अनुसार नर्सरी और प्लेग्रुप के छात्रों पर स्कूलबैग का बोझ नहीं होना चाहिए। और स्कूल के प्राधिकारियों को बस्तों के संबंध में दिशानिर्देश जारी करने चाहिए।

अभिभावकों की चिंता:-सर्वे के दौरान अधिकतर अभिभावकों ने शिकायत की कि उनके बच्चे दिन में औसतन 20 से 22 किताबें और सात से आठ पीरियडों की कॉपियां लेकर जाते हैं।

नई दिल्ली - जम्मू एवं कश्मीर के राज्यपाल एन.एन. वोहरा ने यहां मंगलवार को कहा कि सीमा की रखवाली के लिए आंतरिक सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था का रखरखाव बेहद महत्वपूर्ण है। फिक्की द्वारा आयोजित एक सेमीनार में वोहरा ने यह बात कही। उन्होंने कहा, ‘‘यह बेहद महत्वपूर्ण है कि सीमावर्ती इलाकों में लोगों के हित और सुरक्षा का ध्यान बेहतर रूप से रखा जाए।’’वोहरा ने कहा, ‘‘अगर आप सीमा पर रहने वाले लोगों को देखें, तो सीमा सुरक्षा उपलब्ध कराने और राज्य में सुरक्षा स्थिति में सुधार के लिए काफी आगे जाने की जरूरत है।’’राज्यपाल ने इस मामले में पंजाब में 1965 साल का उदाहरण दिया, जिसमें युद्ध के दौरान राज्य के लोगों ने अपनी ओर से समर्थन दर्शाया था और खुफिया जानकारी साझा की थी।आईएएनएस से बातचीत के दौरान पूर्व गृह सचिव जी. के. पिल्लई ने स्थानीय लोगों तथा जम्मू-कश्मीर में स्थानीय पंचायतों को सशक्त बनाने के महत्व पर जोर दिया और इसके साथ ही कहा कि यह सीमावर्ती इलाकों को सुरक्षित करने लाभदायक साबित होगा तथा राज्य में महत्वपूर्ण बदलाव लाएगा।पिल्लई ने कहा, ‘‘जम्मू-कश्मीर में वर्तमान में स्थानीय पंचायतों के पास शक्तियां नहीं हैं और इसे सशक्त बनाने के लिए कई कदम उठाए जाने चाहिए। इससे राज्य में स्थानीय नेताओं के लिए नए सेटअप तैयार करने हेतु मदद मिलेगी।’’

नई दिल्ली - केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के जम्मू एवं कश्मीर के दौरे और कश्मीर घाटी के हालात की जानकारी दी। बाद में राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘प्रधानमंत्री को सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के जम्मू एवं कश्मीर के दौरे और राज्य के हालात से अवगत कराया। ’’सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई करते हुए राजनाथ सिंह ने सोमवार को कश्मीरी अलगाववादी नेताओं पर दौरे पर गए दल से बातचीत से इनकार करने पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका आचरण कश्मीरियत की भावना का अनादर है।हिजबुल मुजाहिदीन के आंतकवादी बुरहान बानी के 8 जुलाई के सुरक्षा बलों द्वारा मारे जाने के बाद राज्य में फैले हिंसक अशांति के करीब दो महीने बाद सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल ने राज्य का दौरा किया। इस अशांति भरे हफ्तों में कम से कम 75 लोगों की मौत हो गई और 12,000 से ज्यादा लोग घायल हो गए। कश्मीर में छह वर्षों में यह हताहतों की सबसे बड़ी संख्या है।

 

नई दिल्ली - उत्तर प्रदेश के रुद्रपुर से शुरू हुई कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की किसान यात्रा के दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर जमकर हमला बोला। किसानों को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि यूपीए सरकार ने किसानों का 70 हजार करोड़ रुपये माफ किया। वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने बड़े उद्योगपतियों का कर्ज माफ किया है।उन्होंने कहा, 'संसद में मैंने प्रधानमंत्री मोदी से सवाल पूछे थे लेकिन उसका कोई जवाब नहीं मिला। मैंने उनसे पूछा था कि जो दाल किसान 40 रुपयों में बेचता है, वह 200 रुपयों में क्यों बिकती है?' प्रधानमंत्री मोदी पर हमला बोलते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा वे किसानों के सवाल पर नहीं बोलते हैं। इसके अलावा वे किसानों पर ध्यान भी नहीं देते हैं। उन्होंने कहा, 'किसानों की बात प्रधानमंत्री तक हम पहुंचाएंगे।' राहुल गांधी ने रैली में आए किसानों का शुक्रिया अदा किया।बता दें कि महायात्रा के दौरान कांग्रेस नेता अगले साल होने वाले महत्वपूर्ण चुनाव से पहले लोगों तक पहुंचने के लिए 225 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों का दौरा करेंगे। यह यात्रा पिछले महीने के शुरू में सोनिया गांधी के सफल रोड शो और राज्य के विभिन्न जिलों में राज्य के पार्टी नेताओं की दो यात्राओं के बाद हो रही है ।

रैली के बाद खाट के लिए मची मारामारी :-राहुल गांधी की रैली के बाद रैली स्थल पर खाट घर ले जाने के लिए मारामारी मच गई। रैली में आए लोग खाट उठाकर घर ले जाने लगे। इस दौरान भगदड़ जैसी स्थिति भी बन गई। रैली के लिए तकरीबन दो हजार खाट मंगाई गई थीं।

नई दिल्‍ली - जल्‍द ही आप बिना ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्‍ट्रेशन सर्टिफिकेट (आरसी) के भी वाहन चला सकेंगे। सरकार बुधवार को डिजिटल लाकर के तेहत यह योजना लॉन्च करेगी जिसमे आप अपने डीएल और आरसी की सॉफ्ट कॉपी को सुरक्षित कर रख सकेंगे। इसकी मदद से आप सभी जरूरी कागजात की डिजिटल कॉपी अपने पास संभाल कर रख सकते हैं। ट्रैफिक पुलिस के मांगने पर यही डिजिटल कॉपी मान्‍य मानी जाएगी। अधिकारियों के मुताबिक इसकी शुरुआत कम से कम दो राज्यों – तेलंगाना और दिल्ली में होगी।

बुधवार को लॉन्च होगी यह योजना :-परिवहन और आईटी मंत्रालय बुधवार को इस सिस्टम की शुरुआत करने जा रही है। एनआईसी द्वारा तैयार किए गए एम-परिवहन में आप अपना ड्राइविंग लाइसेंस, रजिस्‍ट्रेशन पेपर, व्हीकल इंश्योरेंस और पॉल्यूशन सर्टिफिकेट की स्‍कैन कॉपी अपने मोबाइल फोन में सुरक्षित रख सकते हैं। एनआईसी के मुताबिक यह इंटरफेस और फीसर्च के मामले में तेलंगाना सरकार द्वारा लॉन्च की गई आरटीए-एम वॉलेट से कहीं बेहतर होगी।

एम एप में मिलेंगी 20 से 30 सर्विस:-एनआईसी के एक वरिष्‍ठ अधिकारी के मुताबिक सरकार जल्द ही एम-परिवहन एप को भी लांच करेगी जिसमे परिवहन से जुड़ी सभी जानकारियां उपलब्‍ध होंगे। वहीं इसकी मदद से यूजर्स लाइसेंस रिन्युअल जैसी 20 से 30 अलग अलग सर्विस का भी फायदा उठा सकते हैं। अधिकारी के मुताबिक इस एप से जुड़ी सबसे बड़ी मुश्किल डेटा सिक्‍योरिटी की थी। लेकिन इस एप में सभी बातों का ख्याल रखा गया है।

मुजफ्फरपुर - विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के नेता प्रवीण भाई तोगड़िया ने यहां कहा कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव तक राम मंदिर को लेकर विहिप कोई आंदोलन नहीं करेगी। हालांकि उन्होंने राम मंदिर निर्माण के लिए पहल जारी रखने की बात कही।तोगड़िया मुजफ्फरपुर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जाएगा, लेकिन प्रदेश चुनाव तक कोई आंदोलन नहीं होगा। उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद आंदोलन पर विचार होगा।विहिप के कार्याध्यक्ष तोगड़िया ने बिहार सरकार की शराबबंदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि देश में शराब, तंबाकू और मादक पदार्थों के सेवन से 40 करोड़ लोग किसी न किसी बीमारी से ग्रसित हैं।उन्होंने कहा कि विहिप शराब, तंबाकू व मादक पदार्थ से मुक्ति के लिए अभियान चला रही है। बिहार में शराबबंदी स्वागत योग्य है। उन्होंने किसी भी राजनीतिक दल के शराबंदी करने की पहल का स्वागत किया।

 

 

नई दिल्ली - चीन में हुए जी-20 2016 सम्मेलन में दुनियाभर के नेताओं ने कई बड़े मुद्दो जैसे आतंकवाद, व्यापार, ग्लोबल गवर्नेंस पर चर्चा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस इंवेट में उपस्थित थे। इस इंवेट के मीडिया कवरेज के दौरान एक खास फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। ट्विटर पर इस फोटो को लेकर लोग काफी ट्वीट कर रहे हैं।तस्वीर में पीएम मोदी ओबामा के पीछे चल रहे हैं और फोटोग्राफर ने सही समय पर सही क्लिक कर लिया। इस फोटो में दिख रहा है कि पीएम मोदी ओबामा से बात कर रहे हैं और वो भी फिंगर प्वाइंट करके। यही वजह है कि फोटो को लोग ट्विटर पर खूब शेयर कर रहे हैं।ये कोई पहली बार नहीं हो रहा है इससे पहले भी पीएम मोदी की जादू की झप्पी वाली इमेज भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी।

Rare pic of Modi warning Obama..

" You can run, you can hide.. but you can't escape my love..."

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें