Editor

Editor


नई दिल्ली - हरियाणवी लोक गायिका हर्षिता दहिया की हत्या के मामले को पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है। पुलिस का कहना है कि इस हत्या की साजिश जेल में रची गई थी। ये साजिश किसी और ने नहीं बल्कि हर्षिता के जीजा दिनेश पाठक ने रची है। वहीं इससे पहले हर्षिता की बहन ने भी कहा था कि उसके पति ने ही मेरी बहन की हत्या कराई है।
सब इंस्पेक्टर और जांच अधिकारी कंवर सिंह ने बताया कि दिनेश पाठक पर हर्षिता की मां की हत्या और उसके बलात्कार का भी आरोप है। उन्होंने कहा कि हर्षिता अपनी मां की हत्या के मामले में गवाह भी थी और उसकी हत्या गवाह को रास्ते से हटाने के लिए किया गया। पुलिस ने हर्षिता की हत्या के बाद दिनेश को जेल से प्रोडक्शन वारंट पर रिमांड पर लिया था। पूछताछ के दौरान दिनेश ने बताया कि उसने अपने साथी जितेंद्र गोगी के साथ मिलकर जेल में हत्या की साजिश रची थी।
पुलिस का कहना है कि जितेंद्र गोगी एक हिस्ट्रीशीटर है और जेल से भगोड़ा है। पुलिस अब दिनेश से अब गोगी और उसके साथी कुलदीप उर्फ फज्जा के ठिकानों का पता लगा रही है। जांच अधिकारी ने बताया कि हर्षिता की हत्या 7 एमएम की पिस्टल से की गई थी।
हर्षिता के शव का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर राजीव मान ने कहा कि उसके शरीर पर 7-8 गोलियों के घाव थे। तीन गोलियां बरामद हुई हैं। इनमें से एक गोली हर्षिता के छाती के नीचे वाले हिस्से व दो पिछले हिस्से से मिली हैं। शेष गोलियां शरीर के पार हो गईं। गोलियों के अलावा शरीर के किसी हिस्से में चोट का कोई निशान नहीं मिला है।
गौरतलब है कि मंगलवार शाम काले रंग की कार में सवार बदमाशों ने हर्षिता को गोलियों से छलनी कर डाला था। हर्षिता कुरुक्षेत्र के सांसद राजकुमार सैनी की प्रस्तावित रैली के विरोध में हुई एक बैठक से लौट रही थी। वह अपनी कार से सोनीपत की तरफ जा रही थी। पानीपत के पास इसराना में एक कार ने उन्हें ओवरटेक किया। बदमाशों ने हर्षिता की कार में सवार तीन अन्य लोगों को नीचे उतारकर उसे गोली मार दी।


नई दिल्ली - प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को केदारनाथ मंदिर के भव्य और दिव्य पुनर्निमाण की रूपरेखा का अनावरण किया। उन्होंने राज्य सरकारों के साथ-साथ उद्योग और व्यापार जगत से भी इसमें आगे आकर योगदान का आह्वान किया और कहा कि देश इस काम के लिये धन की कमी को आड़े नहीं आने देगा। जानिए पीएम मोदी ने केदारनाथ के विकास को लेकर क्या-क्या घोषणाएं की है- 10 खास बातें
1. केदारनाथ धाम पहुंचकर भगवान शिव की पूजा अर्चना करने के बाद जनता को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, केदानाथ भव्य, दिव्य और प्रेरणा का स्थान बनेगा। मोदी ने कहा कि इस काम के लिये देश धन की कमी नहीं रखेगा। उन्होंने कहा, मैं जानता हूं कि इसमें खर्च होगा। जैसा पुनर्निमार्ण होना है, वैसे पुनर्निमार्ण के लिये देश धन की कमी नहीं रखेगा। मैं देश की (विभिन्न राज्य) सरकारों को भी इसमें सहभागी होने के लिये निमंत्रित करूंगा। कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (सीएसआर) के तहत मैं उद्योग और व्यापार जगत के लोगों को भी इसमें हाथ बंटाने के लिये निमंत्रण दूंगा।
2. इस संबंध में पीएम मोदी ने जेएसडब्लू (कंपनी) का आभार जताया और कहा कि उन्होंने प्रारंभिक काम के लिये जिम्मेदारी उठाना स्वीकार कर लिया है।
3. पीएम मोदी ने यह भी कहा कि जब इतना सारा धन लगेगा, इतना सारा आधारभूत ढांचा तैयार होगा तो इसमें पयार्वरण के नियमों का भी पूरा-पूरा ध्यान रखा जायेगा। विकास के साथ यहां की संस्कृति और परंपरा को बनाया रखा जाएगा। मोदी ने बताया कि हम एक आधुनिक उत्तराखंड बनाना चाहते हैं लेकिन इस दौरान हम पर्यावरण के सभी नियमों का पालन भी करेंगे।
4. प्रधानमंत्री ने कहा कि केदारनाथ में पुनर्निमार्ण के बाद यात्रियों की सुविधाओं का पूरा इंतजाम किया जाएगा। यहां 24 घंटे बिजली रहेगी और टेलीफोन और इंटरनेट सुविधा का भी पूरा ख्याल रखा जाएगा।
5. पीएम मोदी ने कहा कि केदारपुरी को पूरी तरह से आधुनिक बनाया जाएगा और उन्हें विश्वास है कि बाबा केदारनाथ के आशीर्वाद से आजादी की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर 2022 तक उनका यह संकल्प पूरा हो जाएगा।
6. पीएम मोदी ने कहा कि केन्द्र यह सुनिश्चित करने के लिए कदम उठा रही है कि पहाड़ी संसाधनों को केवल पहाड़ों के विकास के लिए ही सुरक्षित रखा जाए।
7. यहां पीएम मोदी ने 5 विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया। पीएम ने बताया कि आपदा के बाद नई केदारपुरी के विकास और पुनर्निर्माण का खांका खींचा गया है। अब पुरोहितों को जो मकान मिलेंगे, वे 3 इन 1 होंगे। बिजली, पानी और स्वच्छता का पूरा प्रबंध होगा।
8. पीएम ने कहा कि गौरीकुंड से केदारनाथ धाम के पैदल ट्रैक को चौड़ा करने का काम भी सरकार करेगी।
9. पीएम मोदी ने कहा कि योजनाओं के तहत मंदाकिनी और सरस्वती नदी के तट पर घाट बनाए जाएंगे। मंदाकिनी और सरस्वती के तट को लाइटिंग के साथ बेहतर किया जाएगा।
10. मोदी ने कहा कि आदि गुरू शंकराचार्य की समाधि का भी पुनर्निर्माण भी होगा।

 


नई दिल्ली - वरिष्ठ अधिवक्ता रंजीत कुमार ने निजी कारणों से सॉलिसिटर जनरल पद से इस्तीफा दे दिया है। यह देश का दूसरा सबसे वरिष्ठ विधि अधिकारी का पद है।
विधि एवं न्याय मंत्री रवि शंकर प्रसाद के कार्यालय को रंजीत कुमार का त्याग पत्र शुक्रवार को मिला।
रंजीत कुमार ने सॉलिसिटर जनरल पद से इस्तीफा देने की पुष्टि की जबकि उनके नजदीकी सूत्रों ने बताया कि यह निजी कारणों से दिया गया है।
मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद जून 2014 में रंजीत कुमार को सॉलिसिटर जनरल नियुक्त किया गया था। सॉलिसिटर जनरल के रूप में उनका दूसरा कार्यकाल हाल ही में शुरू हुआ था।
कुछ महीने पहले यह चर्चा थी कि उच्चतम न्यायालय की कोलेजियम शीर्ष अदालत के न्यायाधीश पद के लिये उनके नाम पर विचार कर रही है।
हाल ही में, वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने अटॉर्नी जनरल के पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने सरकार को लिखे पत्र में कहा था कि अटॉर्नी जनरल के रूप में दूसरे कार्यकाल में उनकी दिलचस्पी नहीं है। रोहतगी के इस्तीफे के बाद वरिष्ठ अधिवक्ता के के वेणुगोपाल को नया अटॉर्नी जनरल नियुक्त किया गया था।

 


नई दिल्ली - बीजेपी विधायक संगीत सोम के ताज महल को लेकर दिए बयान के बाद शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। ताजमहल को लेकर छिड़ी जुबानी जंग में अब हरियाणा सरकार में मंत्री अनिल विज भी कूद पड़े हैं। अपने बयानों को लेकर अकसर चर्चा में रहने वाले विज ने कहा है कि ताजमहल एक खूबसूरत कब्रिस्तान है।
दरअसल यह विवाद संगीत सोम के बयान के बाद शुरू हुआ था। सोम ने कहा था कि ताजमहल भारतीय संस्कृति पर एक धब्बा है। उन्होंने इतिहास को गलत तरीके से पेश करते हुए यह भी कहा कि 17वीं शताब्दी में संगमरमर की यह इमारत बनवाने वाले शाहजहां ने अपने पिता को जेल में डाल दिया था और वह देश से हिंदुओं का नामो निशान मिटा देना चाहता था।
घमासान पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि यह मायने नहीं रखता कि इसे (ताजमहल) किसने और क्यों बनाया। यह भारतीय मजदूरों के खून-पसीने से बनाया गया है।
आजम खान ने कहा था कि मैं पहले से इस राय का हूं कि गुलामी की उन तमाम निशानियों को मिटा देना चाहिए जिससे कल के शासकों की बू आती हो। जाहिर है ये सच है कि मुगल हिंदुस्तान पर काबिज हुए। किन हालात में आए। कौन लेकर आया। ये बहस अगर होगी तो बहस पर कड़वाहट आ जाएगी। और लोग हमारी बात का बुरा मानेंगे। आजम खा ने कहा कि मैंने तो पहले ही कहा था कि अकेले ताजमहल ही क्यों पार्लियामेंट, राष्ट्रपति भवन, कुतुबमीनार, दिल्ली का लाल किला ये सब गुलामी की निशानियां हैं। हम बादशाह से अपील करते हैं और हमने छोटे बादशाह से तो कहा है कि चलो आप आगे, हम आपके साथ चलेंगे।
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे मामले को खत्म करने का प्रयास करते हुए कहा था- 'यह मायने नहीं रखता कि ताज महल को किसने और क्यों बनवाया। भारत के मजदूरों के खून और पसीने से बना है। हमारे लिए यह बेहद महत्वपूर्ण है।
बीजेपी नेता विनय कटियार ने कहा था कि मुगलों ने देवस्थानों को तोड़ने का काम किया है। उन्होंने कहा, 'ताज महल हिंदू मंदिर है, वहां देवी देवताओं के सारे चिह्न हैं। ताज महल में बरसात के समय में पानी टपकता है। दरअसल वह हिंदू मंदिर था। जिस जगह पानी टपकता है, वहां शिवलिंग था ताकि पानी सीधा उस पर गिरे। शिवलिंग को हटाकर वहां पर मजार बनाई गई थी।'


शिमला - कांग्रेस नेता और छह बार हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे वीरभद्र सिंह ने 9 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए शुक्रवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल किया।
वीरभद्र सिंह सोलन जिले की अर्की विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने जीत हासिल की थी।
कांग्रेस के मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित किए गए 83 वर्षीय वीरभद्र सिंह, भारतीय जनता पार्टी के युवा उम्मीदवार रतन सिंह पाल के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं। इस सीट से भाजपा ने अपने मौजूदा विधायक गोविंद राम की जगह पाल को टिकट दिया है।
वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह के टिकट को लेकर अभी भी संदेह बरकरार है, जो शिमला (ग्रामीण) से अपने चुनावी पदार्पण का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। इस सीट पर उनके पिता ने 2०12 में 19,०73 वोटों के रिकॉर्ड अंतर से जीत दर्ज की थी।
विक्रमादित्य वर्तमान में राज्य युवा कांग्रेस के अध्यक्ष हैं और उनके पिता ने पहले ही घोषित कर दिया था कि उनका बेटा शिमला (ग्रामीण) से अगला चुनाव लड़ेगा।
भाजपा ने शिमला (ग्रामीण) से प्रमोद शर्मा को मैदान में उतारा है, जो कभी पहले वीरभद्र सिंह के करीबी सहयोगी के रूप में जाने जाते थे।
कांग्रेस ने बुधवार को 59 उम्मीदवारों के साथ अपनी पहली सूची जारी कर दी और बाकी बचे 9 उम्मीदवारों की सूची आज घोषित किए जाने की उम्मीद है।
हिमाचल की 68 सदस्यीय विधानसभा के 2०12 चुनाव में 73.92 प्रतिशत मतदान हुआ था। चुनाव में कांग्रेस के 36, भाजपा के 26 सदस्य और छह निर्दलीय निर्वाचित हुए थे।
2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने प्रदेश की सभी चार सीटों को 53.85 प्रतिशत वोट प्रतिशत के साथ जीता था। उस समय, राज्य में कांग्रेस को 41.०7 प्रतिशत वोट मिले थे।


नागापटिटनम - नागापटिटनम जिले में तमिलनाडु राज्य परिवहन निगम की पोरयार शाखा में छह दशक से अधिक पुरानी एक इमारत का हिस्सा गिर जाने के कारण शुक्रवार सुबह चालक दल के आठ सदस्यों की मौत हो गयी।
पुलिस ने बताया कि हादसे में तीन अन्य लोग घायल हो गये।
उन्होंने बताया कि 1952 में बनायी गयी इमारत में टीएनएसटीसी के चालक दल के सदस्य सो रहे थे और तड़के करीब साढ़े तीन बजे इसका एक हिस्सा गिर गयी। इमारत गिरने से आठ लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। तीन अन्य घायल को कराईकल जनरल अस्पताल ले जाया गया है। नागापटिटनम के जिला क्लेक्टर डॉक्टर सी सुरेश कुमार ने घटनास्थल का दौरा किया और हादसे की जानकारी ली। अधिकारियों ने बताया कि राज्य के परिवहन मंत्री एमआर विजयभास्कर पोरयार के लिए रवाना हो गये हैं।


नई दिल्ली - दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट की ओर से पटाखों की बिक्री पर रोक लगाने का कोई असर नहीं देखा गया। दिवाली की रात राष्ट्रीय राजधानी में जमकर आतिशबाजी की गई जिससे धुंध छा गई। शहर के प्रदूषण निगरानी स्टेशन के ऑनलाइन संकेतक ने हवा की गुणवत्ता बहुत खराब बताई क्योंकि शाम करीब सात बजे पीएम 2.5 और पीएम 10 की मात्रा हवा में तेजी से बढ़ गई। यह कण श्वसन प्रणाली में चले जाते हैं और ब्लडस्ट्रेम में पहुंच जाते हैं।
दूसरी ओर राष्ट्रीय राजधानी में आज सुबह प्रदूषण का सूचकांक बढ़कर 350 के पार पहुंच गया। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की वेबसाइट के अनुसार आज सुबह छह बजे दिल्ली में प्रदूषण सूचकांक 351 दर्ज किया गया जो बेहद खराब की श्रेणी में आता है। इस स्थिति में मौसम की अन्य परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए उसने शनिवार और रविवार को दिल्ली में प्रदूषण गंभीर स्तर तक पहुंचने की चेतावनी दी है। शनिवार को सूचकांक 471 पर और रविवार को 409 पर पहुंच सकता है।
दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) के आर के पुरम निगरानी स्टेशन ने रात करीब 11 बजे पीएम 2.5 का स्तर 878 माइक्रोग्राम पर क्यूबिक मीटर और पीएम 10 का स्तर 1,179 माइक्रोग्राम पर क्यूबिक मीटर था। प्रदूषक ने 24 घंटे के दौरान सुरक्षा की सीमा का 10 गुणा तक उल्लंघन किया जो क्रमश: 60 और 100 होनी चाहिए थी।
ग़ाज़ियाबाद में दिवाली की रात pm 2.5 का स्तर 500 और pm 10 का स्तर 800 से ज्यादा आया है। वातावरण में सल्फर डाई ऑक्साइड की मात्रा भी रात 12 बजे तक मानकों से 5 गुना तक बढ़ गई थी।
क्या है पीएम 2.5
दिल्ली की हवा जहरीली गैसों की मौजूदगी से प्रदूषित नहीं है बल्कि यह सूक्ष्म कणों से प्रभावित है जिसे पीएम 2.5 के नाम से जाना जाता है। पीएम कण के बारे में बताता है जबकि उसके आगे की संख्या उस कण के आकार को बताता है। इसलिए पीएम 2.5 बेहद छोटे सूक्ष्म कण है जिसका साइज 2.5 माइक्रॉन है। यह साइज हवा की मोटाई से 30 गुणा कम है। छोटे साइज की वजह से इन कणों को शरीर में घुसने से नहीं रोका जा सकता। दिल्ली की हवा में इसकी मौजूदगी निर्धारित मानक से कहीं ज्यादा है। 2015 में दिल्ली मैराथन के वक्त यह अपनी तय मात्रा से 48 गुणा ज्यादा था।


दिल्ली - जदयू के असंतुष्ट नेता शरद यादव की राज्यसभा सदस्यता को समाप्त करने के बारे में उनकी पार्टी द्वारा दी गयी याचिका पर उनका पक्ष जानने के लिए राज्यसभा सभापति एम वेंकैया नायडू ने उन्हें 30 अक्तूबर को बुलाया है। राज्यसभा में जदयू के नेता रामचंद्र प्रसाद सिंह ने एक याचिका में शरद एवं पार्टी के एक अन्य राज्यसभा सदस्य अली अनवर अंसारी पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलग्न होने का दावा करते हुए उन्हें राज्यसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराने का अनुरोध किया था।
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार शरद को 18 अक्तूबर को एक पत्र जारी कर उनसे कहा गया है कि इस याचिका के संदर्भ में उनका पक्ष जानने के लिए उन्हें एक अवसर दिया जा रहा है। उनसे कहा गया है कि वह 30 अक्तूबर को सुबह साढ़े नौ बजे सभापति नायडू के कक्ष में उनके समक्ष अपना पक्ष पेश करें।
जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार ने राजद एवं कांग्रेस के साथ महागठबंधन तोड़कर भाजपा से हाथ मिला लिया था। शरद एवं उन्हीं की पार्टी के राज्यसभा सदस्य अली अनवर अंसारी ने पार्टी के इस फैसले से असहमति जतायी थी। शरद को पहले उच्च सदन में पार्टी नेता के पद से हटाया गया था। उन्होंने लालू प्रसाद नीत राजद की पटना रैली में भाग लिया, जिसके बाद जदयू ने उन्हें अयोग्य घोषित करने की याचिका दी।
वास्तविक जदयू होने का दावा करते हुए उनके गुट ने चुनाव आयोग से सम्पर्क कर पार्टी का चुनाव चिह्न मांगा। उन्होंने दावा किया कि वास्तविक जदयू उनके साथ है तथा नीतीश के साथ जो है वह सरकारी जदयू है।
जदयू के असंतुष्ट नेता शरद यादव की राज्यसभा सदस्यता को समाप्त करने के बारे में उनकी पार्टी द्वारा दी गयी याचिका पर उनका पक्ष जानने के लिए राज्यसभा सभापति एम वेंकैया नायडू ने उन्हें 30 अक्तूबर को बुलाया है। राज्यसभा में जदयू के नेता रामचंद्र प्रसाद सिंह ने एक याचिका में शरद एवं पार्टी के एक अन्य राज्यसभा सदस्य अली अनवर अंसारी पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलग्न होने का दावा करते हुए उन्हें राज्यसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराने का अनुरोध किया था।
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार शरद को 18 अक्तूबर को एक पत्र जारी कर उनसे कहा गया है कि इस याचिका के संदर्भ में उनका पक्ष जानने के लिए उन्हें एक अवसर दिया जा रहा है। उनसे कहा गया है कि वह 30 अक्तूबर को सुबह साढ़े नौ बजे सभापति नायडू के कक्ष में उनके समक्ष अपना पक्ष पेश करें।
जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार ने राजद एवं कांग्रेस के साथ महागठबंधन तोड़कर भाजपा से हाथ मिला लिया था। शरद एवं उन्हीं की पार्टी के राज्यसभा सदस्य अली अनवर अंसारी ने पार्टी के इस फैसले से असहमति जतायी थी। शरद को पहले उच्च सदन में पार्टी नेता के पद से हटाया गया था। उन्होंने लालू प्रसाद नीत राजद की पटना रैली में भाग लिया, जिसके बाद जदयू ने उन्हें अयोग्य घोषित करने की याचिका दी।
वास्तविक जदयू होने का दावा करते हुए उनके गुट ने चुनाव आयोग से सम्पर्क कर पार्टी का चुनाव चिह्न मांगा। उन्होंने दावा किया कि वास्तविक जदयू उनके साथ है तथा नीतीश के साथ जो है वह सरकारी जदयू है।

 


नई दिल्ली - गुरुवार को भारत समेत पूरी दुनिया में दिवाली का त्योहार धूम-धाम से मनाया गया। पाकिस्तान और चीन की सेना ने भी भारत को मिठाइयां भेजीं। बदले में भारतीय सेना ने भी अपने पड़ोसियों को त्योहार की मिठाई दी। इसके अलावा अमेरिका, ब्रिटेन सहितं दुनिया के दूसरे मुल्कों ने दिवाली पर भारत और भारतीय समुदाय को अपने शुभकामना संदेश भेजे।
गुरुवार को पीएम मोदी ने एलओसी के पास भारतीय सेना के जवानों के साथ दिवाली मनाई। पीएम मोदी ने जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि सेना ही उनके लिए परिवार है। दिवाली के दिन पड़ोसी देशों चीन और पाकिस्तान की तरफ से भी दोस्ती का भाव दिखाते हुए भारत को मिठाई भिजवाई गई। एक तरफ नाथु ला दर्रे पर जहां आईटीबीपी और चीनी सेना के बीच आपस में मिठाई बांटी गई वहीं वाघा बॉर्डर पर बीएसफ ने पाकिस्तान के साथ त्योहार का प्यार साझा किया। इसके अलावा अखौरा सीमा पर भी बीएसएफ और बांग्लादेश के जवानों के बीच आपस में मिठाई बांटी गई।
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने अपने देश के हिंदू समुदाय को दिवाली की बधाई दी और कहा कि उनकी सरकार अल्पसंख्यकों के अधिकारों की सुरक्षा करने को प्रतिबद्ध है। ब्रिटेन की पीएम टरीजा मे ने दिवाली के मौके पर ब्रिटिश समाज में योगदान के लिए भारतीयों का आभार जताया और उन्हें ब्रिटेन की महानता का जीता-जागता उदाहरण बताया।
इसी तरह अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस और कई अन्य सांसदों ने भारतीय-अमेरिकियों और पूरे विश्व में रोशनी के इस त्यौहार को मनाने वाले लोगों को दिवाली की शुभकामनाएं दी हैं। पेंस ने एक ट्वीट कर कहा, दोस्तों और परिवार के साथ दिवाली मनाने वालों को शुभकामनाएं। अमेरिकी उपराष्ट्रपति ने कहा, हम सभी शांति, समृद्धि और अंधकार पर प्रकाश की जीत के लिए प्रयास करें।


लाहौर - पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के न्यायिक समीक्षा बोर्ड ने मुम्बई हमले के षडयंत्रकार और प्रतिबंधित जमात-उद-दावा के प्रमुख हाफिज सईद की नजरबंदी को आज और 30 दिनों के लिए बढ़ा दिया। हालांकि बोर्ड ने उनके चार सहयोगियों की हिरासत को बढ़ाने से इनकार कर दिया।
सईद की 30 दिन की हिरासत अवधि 24 अक्तूबर से लागू होगी। सईद के सहयोगियों अब्दुल्ला उबैद, मलिक जफर इकबाल, अब्दुल रहमान आबिद और काजी काशिफ हुसैन को यदि किसी अन्य मामले में हिरासत में नहीं लिया गया तो वे 25 सितम्बर के हिरासत आदेश की समाप्ति पर मुक्त हो सकते है।
सईद और उनके चार सहयोगी लाहौर हाईकोर्ट में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आज प्रांतीय न्यायिक समीक्षा बोर्ड के समक्ष पेश हुए। पंजाब न्यायिक समीक्षा बोर्ड के तीन सदस्यों में न्यायमूर्ति यावार अली (प्रमुख), न्यायमूर्ति अब्दुल समी और न्यायमूर्ति आलिया नीलम ने सुनवाई की।
सुनवाई के बाद कोर्ट के एक अधिकारी ने पीटीआई को बताया कि पंजाब सरकार के गह विभाग ने जन सुरक्षा कानून के तहत सईद और अन्य की हिरासत तीन महीने बढ़ाने का अनुरोध किया था। उन्होंने कहा, न्यायिक बोर्ड ने सरकार के विधि अधिकारी की दलीलों को सुनने के बाद उनके अनुरोध को नहीं माना और लाहौर में सईद की नजरबंदी की अवधि केवल 30 दिनों के लिए बढ़ाई।
उल्लेखनीय है कि पंजाब सरकार ने 31 जनवरी को सईद और अन्य चार को आतंकवाद निरोधक अधिनियम 1997 के तहत एहतियातन 90 दिनों के लिए हिरासत में लिया था। हालांकि हिरासत की अंतिम दो अवधि जन सुरक्षा कानून के तहत बढ़ाई गई।

Page 1 of 1805

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें